पेहला सेक्स
05-22-2014, 09:56 AM,
#1
पेहला सेक्स
हेल्लो। मैन रिचा हून पतिअला से। मैन बतेच कि सतुदेनत हून। मैन आपको अपनि कहनि बतने जा रहि हून जो मेरे सथ उस समय बीति जब मैन 12थ सलस्स के एक्समस देकर फ़री हुयी थि। मेरे परेनतस अरे गोवत। एमपलोयी हैन। इस लिये मैन घर मैन अकेलि रेहति थि। हमरा एक नौकर जिसका नाम कल्लु है, भि हमरे सथ रेहता है। उसकि उमर करीब 30 साल है और वूह एक अछा सेहत मनद और तकतवर आदमि है।।
एक दिन मैन अकेलि बैथि थि। परेनतस अभि अभि ओफ़्फ़िसे गये थे। कल्लु मेरे पास अया और केहने लगा, कया कर रहे हो। मैन बोलि, कुछ भि तो नहिन। वूह बोला, मेम सहिब अगर बुरा ना मनो तो एक बात बोलून। मैन बोलि, कहो।।
उसने कहा, मेम सहिब आज मुझे अपनि घर वलि कि बहुत याद आ रहि है। उसकि घरवलि नेपल के गऔन मे रेहति है। मैने कहा, बोलो मैन कया कर सकति हून। वहो बोला मेम सहिब मेरे सथ थोरि देर बात कर लेन। इस्से मेरा जी थोरा हलका हो जयेगा। मैने कहा, नो परोबलेम। मैन उसके घर परिवर के बरे मैन पुछने लग गयी। बातोन बातोन मैन वोह बोला मेम सहिब हुम अपनी विफ़े के सथ बहुत मज़ा लेते हैन। मैने बोलि, तुम कया बात कर रहे हो। कौन सा मज़ा लेते हो? वहो बोला मेम सहिब सेक्स का बहुत मज़ा लेते हैन। मैन पूछ बैथि, येह सेक्स मैन कया मज़ा होता है। उसने कहा, मेम सहिब आज आपको पूरि देतैल मैन समझता हून।
फिर उसने कहा, पेहले मैन उसके सारे कपरे उतर देता हून, फिर उसके सारे शरिर को छूमता हून, फिर उसके बदन पर अपना हाथ फिरता हून, ऐसा करने से वूह भि मसत हो जाती है। मैन फिर उसके मम्मे चूसता हून। मैने उसको तोक दिया, मुझे कुछ भि समझ नहिन आ रही है। वहो बोला मेम सहिब फ़िकर नोत, मैन आपको परसतिसल करके बतता हून। इस्से पेहले मैन कुछ समझ सकति वूह मुझे चूमने लगा। मैने उसको एक जबरदसत धक्का दिया और वूह दूर जकर गिरा। वूह मेरे पास आया और बोला आज तो मैन तुमहे नहिन छोदुनगा। उसने मुझे बालोन से पकर लिया और अफि तरफ़ खीनच लिया। मैन उस दिन सकिरत तोप पेहने थि। उसने मेरे दोनो हाथो को पकर लिया और एक हाथ से पीथ के पीछे अपने एक हाथ से कस दिये। और वूह मेरे लिपस को चूसने लगा। उसकि सानसो से शरब के समेल्ल आ रहि थि। मैन उस्से छूतने के लिये जोर लगा रहि थि पर वूह एक तकतवर आदमि था। वूह बोला रिमपि मेम सहिब, तुमहरे लिपस बहुत रसदार हैन।
इतने रसभरे लिपस तो मेरि घर वलि के भि नहिन हैन। इ सैद, कल्लु बहुत हो गया। अब मुझे छोद दो वरना मैन तुमहरा बहुत बुरा हाल करवऊनगि। वहो बोला मेम सहिब, मैन आज 4 बजे कि गादि पकर कर निकल जऔउनगा। तुम लोग मुझे धूनधते हि रह जओगे। पर जने से पेहले मैन तुमहरि अछि तरह चुदै करना चहता हून। अब मैन बुरि तरह दर गयी और छूतने के लिये जोर लगने लगी। अचनक मेरा एक हाथ उसकि गिरफ़त से छूत गया और मैने उसके एक जोरदर पुनच लगा दिया। वहो बोला मेम सहिब, तुमहरे हाथ तो सिरफ़ पयर करने के लिये हैन। उसने मुझे पीथ के पीछे से पकर लिया और मुझे लेकर सोफ़ा पर बैथ गया। मैन उसकि गोद मैन बैथि थि। उसने अपने हाथ मेरे पैत पर चलना शुरु कर दिया। फिर धीरे धीरे वूह अपना हाथ को उपर मेरि छति पर लने लगा। मैन भि उस्से बचने के लिये जोर लगने लगी और उसके हाथोन को पिछे करने लगी। अचनक उसका हाथ मैरि छति पर आ गया। वूह मेरि छति को कस कर दबने लगा। येह मेरे लिये बहुत पैनफ़ुल था।
मैन चिल्लये, ऊऊऊईईईईईई छोद दो मुझे, पर उसने मेरे मम्मो को मसलना जरी रखा। फिर दूसरे हाथ से उसने मेरे तोप का बुत्तोन खोल दिया। वहो अपना हाथ तोप के अनदर ले गया। और मेरे मम्मोन को दबने लगा। जीवन मैन पेहलि बार किसि का हाथ मेरे मम्मोन पर लगा था। कुछ समय के लिये उसका तौच मुझे अछा लगा पर वूह बहुत जोर जोर से दबा रहा था। मुझे दरद भि बहुत हो रहा था। फिर उसने मेरे निप्पले को धूनध कर उसे मसलना शुरु कर दिया। अब मेरे तन बदन मैन एक मसति सि छनि शुरु हो गयी थि। पर वूह इस्से अनजन था। थोरि देर के बद उसने अपने दूसरे हथ से मेरे तोप को थोरा उपर उथया और फिर दोनो हाथोन से एक झतके साथ तोप को उतर कर फैनक दिया।। फिर उसने मेरि बरा के सत्रप नीचे कर दिये और मेरे मम्मे बरा से बहर आ गये। उसने दोनो मम्मोन को पकर लिया और धीरे धीरे दबने लगा। पर अब मैन कोइ सत्रुग्गले नहिन कर रहि थि। उसने मुझे खरा किया और मेरि सकिरत का हूक खोल दिया और एक झतके के सथ मेरि सकिरत और पनती को उतर दिया। इस तरह उसने मुझे पूरि तरह ननगि कर दिया। फिर उसने अपनि शिरत और लुनगि खोल दी। वहो भि पूरि तरह ननगा था।
उसका शरिर बहुत सत्रोनग था और उसका लुनद करीब 9 इनच का था और करीब 2 इनच मोता था। मैन उसे देख कर बहुत दर गयी। उसने मुझे पकर कर बेद पर लिता दिया और मेरे उपर सवर हो गया। पेहले उसने मेरे सरे शरिर को चूमा फिर उसने मेरे मम्मो को दबया फिर उनहे अपने मूह मैन लेकर बरि बरि चूसने लगा। एक मसति का एहसास मेरे दिलो दिमग पर हावि होने लगा। मेरि चूत मैन एक मसति भरि खरिश होने लगी। मेरे निप्पले तन कर खरे हो गये थे। उसने अपना लनद मेरि चूत पर तिका दिया और एक झतका लगा दिया। लुनद थोरा सा अनदर चला गया।
मैन चीख परि, आआयययययीईईईईईईए
आआआआआआआआआआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह
ऊऊऊऊऊओह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह
हैईईईईईईई माआआअर्रर्रर्रर्रर्रर्रर्र गाआआयययययीईईईईईईईईईईईईई
नाआअह्हह्हह्हह्हीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईइन्नन्न
फिर उसने एक जोरदर झतका मर दिया और लनद करीब अधा अनदर चला गया। मेरि सील भि तूत गयी। मेरि चूत से खून बेहने लगा। मैन चीखना चहति थि पर उसने मेरे लिपस को अपने लिपस मैन लेकर दबा रखा था। वहो बोला मेम सहिब तुम बहुत मसत हो। आज तुमहरि सेअल तोरने मैन मज़ा आ गया। उसने एक और जोरदर झतका लगया और उसका लुनद पूरि तरह मेरि चूत मैन घुस चुका था। मैन चीखना चहति थि पर चीख नहिन सकति थि। मैरि आनखो से आनसु तपक रहे थे। वहो बोला थोरि देर रुक जता हून। फिर उसने मेरे मम्मोन को चूसना शुरु कर दिया। इस्से मुझे बहुत आरम मिला और मेरा दरद कम हो गया। फिर उसने धीरे धीरे लुनद को अनदर बहर करना शुरु कर दिया। फिर दरद कि एक लेहर उथि पर अब साथ मैन मज़ा भि आ रहा था। कुछ देर बाद दरद पूरि तेरह खतम हो गया। अब तो बस मज़ा हि मज़ा था। उसने पूरि मसति के सथ मेरि चुदै कि। मैने भि अपनी गानद को उथा कर उसका सथ दिया। थोरि देर के बद मैन ओवेर हो गयी। पर वूह अभि तक पूरि जोर से चुदै कर रहा था।
उसने मेरि तानगे उपर उथा दि। फिर उनको लेफ़त घुमा दिया और मेरि गानद से पकर कर मुझे घोरि बना दिया। इस पोसितिओन मैन मुझे बहुत मज़ा आया और मैन एक बार फिर से सलिमक्स तक पहुनच गयी। पूरे ओने हौर कि चुदै के बाद वूह थनदा हुअ। 15 मिनुते के बद उसने फिर से मुझे पकर लिया और मेरि चूत को चातने लगा। उसने अपने तोनगुए मेरि चूत के अनदर घुसा दी। मैन फिर से अननद के सगर मैन गोते लगने लगी। अब कि बार उसने मुझे लिता दिया और अपना लुनद मेरे मूनह मैन दाल दिया। और तोनगुए से मेरि चूत को चातने लगा। इस तेरेह मैन एक बार फिर ओवेर हो गयी। अब कि बार उसने मुझे बेद के सहरे खरा कर दिया और मेरि गानद मैन अपना लनद गुसेर दिया। उस्से मुझे बहुत जयदा दरद हुया। करीब हलफ़ हौर तक पुमप करने के बाद वूह थनदा हो गया। मेरा एक एक अनग दुख रहा था। उसके बाद उसने 330 तक मेरि पानच बार चुदै कि और फिर जलदि से अपने कपरे लेकर भग गया। जते जते उसने कहा, मेम सहिब मैन आपको हमेशा याद रखूनगा। तुम मेरि सेक्स कि देवि हो। जो मज़ा तुमने मुझेदिया है वूह आज तक किसि भि औरत मैन नहिन है।
उस दिन के बद येह बात मैने किसि को भि नहिन बतयी, पर मैन अपनि पेहलि चुदै को हमेशा याद रखुनगि। सच मैन, मैने भि इसमे कफ़ी मज़ा लिया था।
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Kamukta Kahani अहसान sexstories 61 186,843 02-15-2020, 07:49 PM
Last Post: lovelylover
Thumbs Up bahan sex kahani बहना का ख्याल मैं रखूँगा sexstories 82 33,802 02-15-2020, 12:59 PM
Last Post: sexstories
  mastram kahani प्यार - ( गम या खुशी ) sexstories 60 127,170 02-15-2020, 12:08 PM
Last Post: lovelylover
Star Adult kahani पाप पुण्य sexstories 220 921,021 02-13-2020, 05:49 PM
Last Post: Ranu
Lightbulb Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा sexstories 228 722,222 02-09-2020, 11:42 PM
Last Post: lovelylover
Thumbs Up Bhabhi ki Chudai लाड़ला देवर पार्ट -2 sexstories 146 72,443 02-06-2020, 12:22 PM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार sexstories 101 198,667 02-04-2020, 07:20 PM
Last Post: Kaushal9696
Lightbulb kamukta जंगल की देवी या खूबसूरत डकैत sexstories 56 23,477 02-04-2020, 12:28 PM
Last Post: sexstories
Thumbs Up Hindi Porn Story द मैजिक मिरर sexstories 88 96,311 02-03-2020, 12:58 AM
Last Post: Kaushal9696
Star Hindi Porn Stories हाय रे ज़ालिम sexstories 930 1,125,810 01-31-2020, 11:59 PM
Last Post: Kaushal9696



Users browsing this thread: 1 Guest(s)