Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
11-23-2020, 01:24 PM,
#11
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति

[color=#80000]महा मेगा अपडेट ~ 10[/color]



मेरे डर और आश्चर्य की कोई सीमा ही नही थी। क्योंकि पहले मेरा लंड सामान्य तौर से गोरा 7" लम्बा & 2" मोटा था। वही सिर्फ रात के इन तीन घंटों मे मेरा लंड 11" लम्बा & 3.5" मोटा हो गया था। और पहले से अब हल्का-सा काला हो गया था। और मुझे अपने शरीर के अंदर और बाहर दोनों तरफ ही बहुत बदलाव और कुछ अलग , कुछ ज्यादा ही हो रहा था।

यही नही सिर्फ इन कुछ घंटों मे मेरी हवस , कामना और चुदाई की क्षमता भी बहुत ज्यादा बढ़ गई है। मुझे ऐसा महसूस हो रहा है।

मैं सबसे ज्यादा तो अपने शरीर को कमर के ऊपर से देखकर चौंक गए क्योंकि मेरा रोज जिम , योगा और दौडने से शरीर तो फिट था। पर अभी मेरे 6 पैक एब्स वो भी खतरनाक और मेरे सीने & हाथों पर काले रंग के कई आकृतियाँ आ गई थी। जो मेरे बिल्कुल भी नही थे। ये सब मेरे साथ क्या हो रहा है मुझे कुछ समझ नही आ रहा था।

मैं इन सब के बारे मे सोचकर परेशान हो रहा था कि मेरी नजर फिर मॉम की ओर चली गई। जो मेरे द्वारा कमर के नीचे से एकदम नंगी थी। और उनके बूब्स भी नाईटी के बाहर थे। जिससे मेरा ध्यान उन सब बातों से निकलकर वापस मॉम की सेक्शी गांड पर आ गया।

मैं उन सब बातों को झटक कर पहले मॉम के सेक्शी चूतड़ पर एक किस्स करता हूँ। फिर वापस अपनी जगह पर लेटकर मॉम से चिपक जाता हूँ।

मॉम के नर्म और गरम चूतड़ पर अपने घोड़े जैसे लंड को उन महसूस करके मुझे बहुत मजा आ रहा था।

पहले मॉम की इतनी बड़ी और चौड़ी कामुक गांड तक पीछे से अपना लंड पहुंचाने के लिए मुझे अपनी कमर के नीचे भी एक तकिया लगाना पड़ता पर अब मेरा लंड पहले से बहुत लम्बा और मोटा हो गया था। अब मेरा लंड ऐसे ही पहुंच जाता बिना तकिए के भी।

मेरे गरम शरीर को मॉम के कामुक , नर्म और गोरे शरीर से चिकपने / लगे रहने मे बहुत मजा आ रहा था साथ ही मस्ती की लहरें भी दौड रही थी मेरे पूरे जिस्म मे।

मैं अपने शरीर को मॉम से चिपकाए और अपने लंड उनके चूतड़ के मजे लेते हुए , अपने एक से उनकी गांड के पट्ट पर हाथ घुमाते हुए उसी हाथ कुछ समय बाद उनके बूब्स की तरह ले गया और उन्हें अपने हाथ मसलने लगा।

ऐसे कुछ देर करने के बाद मैंने अपने हाथ को नीचे लाने लगा। और नीचे मॉम के आगे उनकी चूत की तरह हाथ ले जाकर उनकी चूत पर अपने हाथ ले जाकर रख देता हूँ।

हाए! उनकी गरम भटी जैसे-सी चूत से मदमस्त , बहुत कामुक रस की कुछ बुँदे बहा रहा था। जो मेरे हाथ की 2 अंगुली को कुछ गीला कर दी थी। मैं अपने की अपने मुंह के पास लाकर पहले उस रसभरी चूत के रस को सूंघता हुँ। फिर उन्हें मुंह मे लेकर चाटता हूँ क्या मस्त नमकीन भरा कुछ खट्टासा स्वाद था।

मैं तो पागल हुए जा रहा था इन सबसे , मैं कुछ और सोच ही नही पा रहा था। अब तो हवस मेरे सर चढ़कर बोल रही थी। ये सब रात के 3 घंटों के बाद हुए परिवर्तन की वजह से हो रहा था। अब तो मुझे केवल चुदाई ही करनी थी।

फिर मैं अपने लंड को अपनी मुंह के पानी से गीला कर उसे पीछे से ही मॉम की चूत मे घुसाने लगता हूँ। शायद मॉम की चूत मेरे लंड के मुकाबले चौड़ी नही थी। क्योंकि अभी मैंने लंड को मॉम की चूत मे डालना ही शुरू किया था कि मुझे मेरा लंड जकड़ता हुआ महसूस हो रहा था साथ ही इस जकड़न के कारण मेरे मोटे लंड के सुपाडे के ऊपर की चमड़ी भी उसके ऊपर से हटकर रगड़ते हुए पीछे की ओर जा रही थी।

मैं जैसे-जैसे मॉम की चूत के अंदर अपने लंड को डाल रहा था वैसे-वैसे ही अंदर मुझे गर्मी और जकड़न बढ़ती ही जा रही थी। और मेरे मुंह से मस्ती & कामुकता & दर्द की आह निकल रही थी। ऐसे ही करते हुए मेरा लंड 5" इंच तक चला गया था।

मैं- आहहह...इइइईई....इइससस ...आ.....आह.....ओ
......ओहो.....आ......यायाहहह......ओ.......मॉम.....इ
..उउऊऊऊ......एएएऐ...ककक.....चीचीची.....ओ..
....ओओ.... ययययहहह......आ...मॉमममम....।

अब मैं भी मस्ती मे मॉम की ऊपर वाला एक पैर उठाकर मेरे लंड को और अंदर किए जा रहा था। मॉम की चूत भी अब तक काफी गीली हो गई थी। यानी वो पानी छोड़ रही थी पर उनकी चूत की गर्मी कम नही हुए। जो मेरे लंड को पिघलाने मे लगी हुई है।

अब मुझसे और रहा नही गया मैं लंड को वैसे ही डाले हुए रखे उठकर बैठ गया और मॉम को सीधा लिटाकर उनकी दोनों टाँगों को चौड़ा किया। और उनके लाल रसीले होठों को देखकर पहले उन्हें किस्स किया। तो मुझे उनके मुंह से शराब की स्मेल आयी पर मैंने ज्यादा इस बात पर ध्यान न देते हुए वाइल्ड तरह से किस्स करते हुए उनके होठों का रस निचोडने लगा।

और जो अब तक बड़ी मुश्कत के बाद मैंने मॉम की चूत मे 7" इंच तक जो लंड डाला था। उसे ही अंदर-बाहर करके चोदे भी जा रहा था। मैं ये सब कैसे कर रहा था इसका मुझे को होश नही था। न ही मुझे किसी बात की सूद थी। ये हवस जो ऐसी छाई की क्या कर रहा हूँ जैसे इससे मुझे कोई वास्ता ही न हो बस मुझे तो चूत चोद कर अपने खडे का पानी निकालकर उसे ठंडा करना था बस |

मॉम शायद नशे और गहरी नींद मे होने के बाद भी उनके मुंह से हल्की-हल्की और कभी कुछ तेज आहहह निकल रही थी। और उन्हें किस्स करते वक्त भी मुंह मे दबी हुई आँहों की आ रही थी।

मॉम- आ..आआ...आआआह...इईइई....इइइईई....ओ
.......ओओओओओ......... ईईससस.......उउउससस.
.....अअआ....मम्म्मम......राराराराजजजज.......ओ...
क्ककमममम......यायाहहह...... उउउऊऊऊ......उउई
...औ....(किस्स के वक्त)....गगघघघ.....आ..गग..आइ
गूँगगगग.......ससस्स्स्...... अअहहह......गघघगघगघ
......चच्चण.... णणत....एएएई.....।

कुछ देर होठों का रस चुसने के बाद उससे अलग हो कर अपने लंड को जितना अंदर गया था उसे आधा बाहर निकाल कर एक जोरदार सॉट मारता हूँ। जिससे मेरा 11" इंच लम्बा और 3.5" इंच मोटा सटटटट की आवाज़ करता हुआ मॉम की चूत को फारड़ता हुए पूरा का पूरा अंदर चला जाता है।

मॉम एकदम से पूरी तरह से न खुलती हुए आँखों से चिल्लाते हुए उठकर बैठ गई और फिर बेहोश हो गई।

मैं मॉम के चिल्लाने से होश मे आया। इससे मैं डर भी गया। फिर उनके बेहोश होने के बाद मे मैं सँम्भला और कभी अपने आप तो कभी मॉम को देखता। मैं अपनी ही सोच मे होते हुए जब अपने लंड & मॉम की चूत की ओर देखता हूँ। जो पूरा उनकी चूत मे था और मॉम की चूत से खून निकल रहा था। ये सब देखकर तो डर गया।

मैं मन मे सोचने लगा ( बहनचोद ये क्या ? मॉम की चूत & गांड से खेलते-खेलते मैं कब मॉम की चूत मे लंड डालकर चोद दिया। साला इनकी चूत से तो खून भी निकल रहा है। 'अबे चूतये इतना बड़ा और मोटा लंड किसी की चूत मे डालेगा तो खून तो निकले ही गा।' ( मैं अपने आप से मन मे बोला )

मैं अपनी इन्ही सोचो मे गुम था। मुझे फिर से मस्ती और चुदाई की खुमारी चढ़ने लगी। जो मॉम के उठने & चिल्लाने से कम हो गई थी। पर मेरा लंड अभी भी ऐसे ही कडक था। वो चूत की गर्मी और स्मैल के कारण मुझे पर वापस काम वासना को ला रहा था। मैं वापस रंग मे आकर अपने लंड को धीरे-धीरे आगे-पीछे करना शुरू कर दिया था।

मुझे मॉम की चुदाई करने मे बहुत मजा आ रहा था। फिर ऐसे ही चोदते हुए मैंने लम्बे और तगड़े सॉट लगाने शुरू कर दिए। कुछ देर बाद मॉम भी होश में आ गई पर वो अभी भी नशे & नींद मे थी। और वो वैसे ही लेटी हुई दर्द & मस्ती की आहहह भर रही थी। और मैं भी चुदाई की कुछ दर्द और उससे ज्यादा मजे के मिले हुई रूपी आह निकल रही थी।

मॉम- ओओओओ.......रररररहा....... इईईउउ.....आ..
.....आआआह..... उउउऊऊ......आआ...आह.. आह.
ओ..आ...इईई...उऊऊमम......एएए.....ययहहेएऐइ....येएएए.......आआइइ....आआ......।

मैं- ओ.....ययययहहह......यायाआआहह......इइई.....
यययस्सससस........ओ.......मॉम....... सोओओओ....
हहहहॉटठठ......यहहहा.....मममयह......ओ.......फ्फ
क्कक......आआआह...... ययहह......ईई.....ओह...।

इसी तरह मे मैं मॉम को चोदता रहा न जाने कितने पोज मे , कितने घंटे पर फिर भी न मॉम का और न ही मेरा जोश कम हो रहा था। वो नींद मे होने के बाद भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। इसी बीच मॉम न जाने कितनी बार झड़ी कुछ पता नही पर इससे पूरा बेड और इसके आजू-बाजू भी मॉम की चूत और मेरे लंड का पानी-पानी फैला हुआ था।

मैं लास्ट चुदाई के बाद अलग होकर मै और मॉम वही गीले बेड पर ही बेसुध होकर सो गए।

मैंने मॉम को 5:30 बजे से चोदना शुरू किया और 11:30 बजे बंद किया। इन 6 घंटों की लगातार चुदाई मे मैं कोई 6-7 झड़ा था। इसमें मॉम की चूत की बहुत बुरी हालत थी। और उनकी चूत की ही बल्कि खुद मॉम की भी। मेरे लंड की भी हालत ठीक नही थी पर मैं बस बहुत थका हुआ ही था।

उसके बाद.........................।।।।।

By

Lust Fighter

( शब्द संख्या - 5500 )


Reply

11-23-2020, 01:24 PM,
#12
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति


अपडेट ~ 11

( राज की ओर & अवी की जुबानी...

थौड़ासा फ्लेशबैक मे....

अवी की बर्थडे पार्टी के खत्म होने के बाद डेड मॉम को बेडरूम मे बुलाता हूँ। कुछ देर बाद वो भी आ जाती है-

मॉम - क्या हुआ क्यों बुलाया मुझे , पता है कितना काम है।

डेड - अरे यार पहले आराम से तो बैठो। फिर बताता हूँ।

फिर डेड और मॉम दोनों बेड पर आराम से बैठ जाते है।

डेड - तुम्हें पता है ना की आज अवी के 18 साल के होने वाली रात है।

मॉम - हाँ । तो....।

डेड - यार तुमको तो कुछ याद ही नही है। आज रात के 12:00 बजे के बाद अवी कुछ शक्तियाँ मिलेगी।

मॉम (गम्भीरता से) -हम्मम । मुझे याद है।

डेड (कमीनी मुस्कान के साथ) - तो ये भी याद होगा कि आज उसकी कामुकता , हवस और चुदाई की काम इच्छाएँ और क्षमता साधारण इंसानों से 10 गुना ज्यादा बढ़ जाएगी।

मॉम (राज की मुस्कान का जवाब उसी की तरह कमीनी मुस्कान के साथ पर न समझते हुए) - तो तुम कहना क्या चाहते हो।

डेड (मुस्कान बरकरार रखते हुए) - यही की उसे आज घर की किसी न किसी औरत या लड़की के पास सोना होगा। जिससे वो उसके साथ चुदाई करके अपने आप को शांत कर सके वरना जब भी उसकी चुदाई की कामना होगी तो वो आउट ऑफ कन्ट्रोल होके सभी की जबरदस्ती चूत फाड देगा और उसे कोई रोक भी नही सकेगा। इसलिए तुमको ही उसके पास सोना होगा क्योंकि कोई कुँवारी आज उसको झेल नही पाएगी। और फिर घर मे ये बात किसी को पता भी तो नही है।

मॉम (परेशान होती हुई) - हाँ । वो तो है पर अब उसकी शक्तियो के मिलने से उसकी क्षमता बहुत बढ़ गई है मैं कैसे उसे झेल पाउँगी।

डेड (वैसे ही मुड मे) - अरे यार तुमने उसे इसी चूत मे से तो निकाला है। जब उसे निकाल सकती हो तो उसका लंड लेने मे कैसा डर ।

मॉम (वैसे ही परेशानी मे) - लेकिन राज....

बीच मे ही डेड मॉम को रोकते हुए बोलते है..

डेड - अरे डार्लिंग इसे छोडो़। चलो साथ मे पैक लगाओ । क्यों टेंशन ले रही हो वो कौनसी तुम्हारी चूत की धज्जियां उड़ा देगा। शक्तियाँ मिली है तो क्या हुआ है तो अभी बच्चा ही । कितनी देर तुम्हारी मारेगा आखिर।

(बात करते हुए डेड ने साइड मे रखे हुए दो वोडका के गिलासो को उठाकर उनमे से जो सॉलिड & वायग्रा मिलाया हुआ गिलास मॉम की ओर बढा़ते है )

मॉम (मना करते हुए) - नही राज मेरा मूड नही है।

डेड - ऐसे कैसे नही आज डबल खुशी का दिन है

यह कहते हुए डेड जबरदस्ती मॉम को गिलास की पूरी वोडका पिला देते है। फिर पीने के बाद डेड भी पीते है।

डेड - गुड , वेरी गुड।

मॉम - क्या बात है राज तुम्हे बडी खुशी है अपनी बीबी को अपने बेटे से चुदाने की। कई मुझे चुदवाकर झुमरी की चूत मारने की तो नही सोच रहे।

डेड सिर्फ वही कमीनी स्माईल देते है। जिससे मॉम सब समझ जाती है।

मॉम - क्या मेरी और तुम्हारी सेक्रेटरी मौना की मारते हुए मन भर गया है क्या। हम्मम वैसे काफी गदरायी हुई है।

डेड - अरे नही मेरी जान तुम्हारी रसीली चूत की तो बात ही कुछ और। ये सब तो बीच-बीच मे टेस्ट डराइव के लिए है बस।

मॉम - हम्मम मैं सब जानती हूँ।

डेड (बात को घुमाते हुए) - वैसे आज तो तुम्हारी हमारे बेटे के साथ लॉग डराइव है। जाओ उसकी तैयारी करो।

मॉम (फिर टेंशन से) - लेकिन....

डेड - नही कुछ नही चलो जाओ।

फिर मॉम भी ये सब सोचती रहती है। फिर जब मैं मॉम को उनके साथ सोने के लिए बोलता हूँ। तो वो और टेंशन मे आकर परेशान हो जाती है पर खुद को नॉर्मल करके मुझे उनके बेडरूम मे सोने के लिए बोलती है।

मॉम बस यही सोच रही होती है कि 10 आदमी के जितनी चुदाई को वो अकेले कैसे सभांल पाएगी। ऐसे ही बहुत देर तक सोचते हुए जब बेडरूम मे आकर मुझे सोया हुआ देखकर उनकी टेंशन कम हुई। पर अब उन्हें नींद नही आ रही तो उन्होंने नींद की टेबलेट ले ली। एक तो वोडका , एक नींद की टेबलेट और वायग्रा भी ।
ऐसे ही फिर मॉम गहरी नींद मे सो जाती है। फिर डेड की स्पेशल वायग्रा की टेबलेट जो 3 घंटे बाद असर दिखाना शुरू करती है।

( वापस वर्तमान में......

आज घर मे सभी सुबह के 11:00 बजे के बाद उठने थे। क्योंकि हर संडे को सभी 11:00 बजे के बाद ही उठते थे। आज वैसे ही हो रहा था। सबसे पहले झुमरी उठती है और वो तैयार होकर नाश्ते की तैयारी करने मे जुट जाती है। फिर नैना दीदी उठती है वो भी फ्रेश होने के लिए बाथरूम मे चली जाती है।

फिर उसके बाद.......

Continue.....

(Raj ki aur & avi ki jubani......

Thoda flashback me.....

Avi ki birthday party k khatm hone k bad dad ne mom ko bedroom m bulaya jo kuch der me aa jati h .

Mom - kya huaa kyo bhulaya mujhe , pta h kitna kaam h .

Dad - are yr pahle aaram se to baithi fir btata hu .
Fir dad or mom dono bed pr aaram se baith jate h .

Dad - tumhe pta h na ki aaj avi k 18 saal k hone wali raat h .

Mom - ha to....

Dad - yr tumko to kuch yaad hi nhi h aaj raat k 12:00 bhaje k bad avi ki kuch shaktiya jaag jayengi .

Mom (serias) -hmm mujhe yaad h .

Dad (kamini muskan k sath) - to ye b yaad hoga ki aaj uski kaam vasana , hawas or chudai ki ichhye or samta normal insaan se 10x jyada bad jayegi .

Mom (raj ki tarh smile but n samjhte huye) - to tum kahna kya chahte ho .

Dad (kamini smile) - yhi ki use aaj gr ki kisi n kisi aurat ya ladki k sath sona hoga , jisse vo uske sath chudai krke apne aapko sant ko thanda kr ske varna jb usko chudai ki kaamna hogi to vo out of control ho jayega or sbi ki jabardasti chut fad dega or use koye rok b nhi sakega , isliye tumko hi uske pas sona hoga kyoki koi kuwari aaj usko jhel nhi payegi or fir gr me ye baat kisi ko pta b to nhi h .

Mom - ha vo to h pr uski k milne se uski samta bahut bad gyi hogi mai kese use jhel paungi .

Dad - are yr tumne use isi chut me se to nikala h jb use nikl sakti hi to uska lund lene me kesa dar .

Mom - likin raj....
Bich me hi rokte hue .

Dad - are darling ise chhodo , cholo sath me drink krte h , or kyo tension le rhi hi vo konsi tumhari chut ki dhajjiya uda dega , shakti mili h to kya huaa h to abi bachha hi , kitni der tumhari marega aakhir .
(Baat krte huye dad ne sayed me rakhe gilaso ko uthkar unme se jo solid or vaygra milaya huaa gilas mom ko dete h)

Mom - nhi raj mera mud nhi h .

Dad - ese kese nhi aaj to double piyenge .

Ye kahte huye dad jabardasti mom ko gilas ki puri vodka pila dete h fir dad b pite h .

Dad - gud , very gud .

Mom - kya baat h raj tumhe bdi khushi h apni bibi ko apne bete se chudwane ki , kahi mujhe chudwakr jhumri ki chut marne ki to nhi soch rhe .

Dad sirf vahi kamini smile deta h jisse mom sb samjh jati h.

Mom - kya meri or tumhari secretary mona ki marte huye man br gya h kya ,
Hmm vese kafi gahrayi huye h .

Dad - are nhi meri jaan tumhari rasili chut ki to baat hi kuch or h , ye sb to bich bich me test drive k liye h bas .

Mom - hmm mai sb janti hu .

Dad (baat change krte hue) - vese aaj to tumhari hamre bete k sath long drive h , jayo uski taiyari kro .

Mom - likin....

Dad - nhi kuch nhi chlo jaou .

Fir mom b ye sb soch rahi hoti h ki mene mom ko sath sone k liye bola h , to vo kuch tension me aa jati ab un pr vodka ka nasha hone lgta h to vo sone k liye bedroom me jati h or mujhe soya dekhkr kuch relex hoti h pr in sb k bare me sochne ki vajah se nind nhi aa rhi hoti h to mom ek seeping tablet le leti h . Ab kya hoga ek to vodka , ek nind ki tablet or badhta ki tablets .

Ese hi fir mom gahri nind me so jati h fir dad ki special vaygra ki tablets b 3 ghante k bad asr suru kr deti h .

(Present me.....

Aaj gr me sbi subah k 11:00 bhaje bad hi uthenge kyoki har sunday ko sbi 11:00 bhaje k bad hi uthte h or aaj b vesa hi ho raha h sabse pahle jhumri uthti h or ready hokr breakfast ki taiyari suru kr deti h , fir naina didi uthke ready hokr jim krti h .

Usk bad........

Reply
11-23-2020, 01:35 PM,
#13
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
अपडेट ~ 12

फिर उसके बाद आज डॅड भी रेडी होकर आ गये . डॅड को तो आज 12 बजने का इंतज़ार था क्योकि जो कुछ भी डॅड ने दिया था उसका असर 12 से पहले ख़त्म नही होने वाला था .

डॅड वहाँ बैठे इंतज़ार कर रहे थे पर उनका दिमाग़ घोड़े की तरह दौड़ रहा था जो बहुत सोच या प्लान कर रहा था जो उनक चेहरे पर बार-2
आ रहे भाव ऑर विजयी कमिनि मुस्कान इस बात का सबूत दे रही थी .

डॅड शायद मेरा रूम से बाहर आने का वेट कर रहे पर क्यो ये समझ नही आ रहा था यदि वो चाहते तो हमे रंगे हाथ पकड़ सकते थे फिर क्या चल रहा था उनके दिमाग़ मे .....?

ऑर कुछ देर मे घर के सब मेंबर रेडी होकर आ जाते है .

डॉली दी - ये मोम क्या अभी तक नही आई हम सभी से पहले ही उठ जाती थी फिर आज क्या हुआ ऑर ये अवी भी नही नही आया , किसी को पता है क्या .

डॅड मन मे - साला रात भर मेरे माल को रगड़ रगड़ के चोद रहा होगा तो उठेगा कैसे .

नैना दी - नही दी पता नही आज मोम क्यो नही उठी अभी तक ऑर वो बंदर भी नही है रूम मे शायद मोम के साथ अभी तक सो रहा है .

रिया दी - कोई बात नही दी मैं अभी उन्हे उठा देती हूँ .
ओर वो ये कहकर उठकर जाने लगती हैं तो डॅड डर जाते हैं क्योकि उनका सालो का प्लान बर्बाद हो जाएगा यदि उसने जाकर देखा तो ......

डॅड डर कर फटाफट से सिचुयेशन को समहालते हुए कहते - रूको रिया बेटा , वो क्या है कि तुम्हारी मोम बहुत देर से सोई थी तो उन्हे
थकान है ऑर कल मेरे साथ रति ने भी ड्रिंक की थी तो उन्हे सोने दो ओर अवी भी अपनी मोम के साथ उठकर ब्रेकफास्ट कर लेगा .

रिया दी - ओके डॅड

सभी ये बात सही लगती है तो सभी नाश्ता करने लगते है ऑर अपने अपने काम मे बिज़ी हो जाते हैं तो कोई आपस मे बाते करने लगते हैं .

इधर डॅड राहत की सास लेते हैं फिर पता नही क्या क्या सोचने लगते है , इधर झुमरी जो ये सब बाते सुन रही थी पर उसके मन को कुछ
अजीब लग रहा था ...

झुमरी बाई मन मे - ये साहब क्या कह रहे थे पर पहले भी मालकिन ने वो सब किया है पर उनके सभी बच्चो क बर्तडे पर फिर भी वो 12 बजे तक उठ जाती थी आज तो 1 बाज गया ओर मेमसहब अभी तक नही उठी .

ऐसे ही की बाते सोचते हुए झुमरी अपना कम कर रही थी पर ये बात केवल झुमरी क़ मन मे ही नही बल्कि सभी के मन मे भी आई किसी ने
इस बात को ज़्यादा तूल नही दिया ऑर अपने रूम मे जाकर काम करने लगे .

पर डॅड नाश्ता करने के बाद हॉल मे ही बैठ गये फिरसे अपनी सोच मे गुम हो गये .

कंटिन्यू......
Reply
11-23-2020, 01:35 PM,
#14
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
अपडेट ~ 13

इधर बेडरूम मे मैं ऑर मोम दुनिया से बेख़बर होकर नंगे ही सो रहे थे , मोम तो अपने दोनो पैरो को खोलकर सो रही थी .

मैं भी गहरी नींद मे था , मेरी नींद दिन के 2 बजे जाकर खुलती है मैं पहले अपने आपको ऑर फिर मोम को देखता हूँ ऑर सिचुयेशन को
समझने की कोसिस करता हूँ .

मैं मन मे - ऊ.... य क्या कर दिया मेने , अब तो लोडे ले गये लॉड्यू , पर इतनी एनर्जी ऑर लस्ट कैसे बढ़ गयी मेरे अंदर , कि मोम की सॅक्सी गान्ड देखकर ही साला डबल हो गया ऑर तो ऑर ये मेरी बॉडी पर ये सभी टेटू कहाँ से आ गये ऑर मेरे लोडे मे इतनी ताक़त कहाँ से आई
ऑर मेरे लंड का नशा मेरे दिमाग़ पर कैसे हावी हो गया , साला चूत भी मारी तो किसकी अपनी मोम की ही , अब सब मिलकर मेरी अच्छे से गान्ड मारेंगे .

मैं ये सब सोचते हुए मोम की चूत को देखता हूँ जो अब सूज गयी थी . साली ये तो डबल पाव की तरह हो गयी है .

तभी मोम पलट जाती हैं जिससे मेरा ध्यान वापस मोम की सेक्सी गान्ड पर चला जाता है , क्या सेक्सी ऑर कातिलाना टाइट गान्ड है यार अब
ये देखकर लंड खड़ा ना हो तो फिर किस ओकात कम हो जाती है .

अब नंगा तो था ही तो मेरा लंड फिर ओकात मे आ जाता है फिर लंड का नशा मेरे दिमाग़ मे भर जाता है , चूत ऑर गान्ड के अलावा कुछ
नही दिख रहा था तो मैं उनकी गान्ड पर हाथ फेरने लगता हूँ ऑर दूसरे हाथ से लंड हिलाने लगता हूँ .

फिर कुछ देर करने क बाद लंड को पकड़कर दोनो चूत के बीच मे रगड़ने लगता हूँ , फिर कुछ देर रगड़ने के बाद मस्ती छाने लगती है तो
लंड को चूत के छेद पर रखकर दबाव डालने लगता हूँ .

जब मे लंड रगड़ रहा था तभी मोम कुछ कसमसाई पर मुझपे तो चूत मारने का सुरूर था मुझे कुछ पता नही चला .

जब लंड चूत मे 2" चला गया तो मेने एक ज़ोर्से सॉट मारा जिससे आधा लंड अंदर चला गया ऑर मोम चिल्लाते हुए उठ गयी . वो तो काफ़ी सॉक मे थी मुझे नंगा ऑर खुद की चूत मारते देख मुझे एक बहुत ज़ोर का चत्त्ताअक्कक थप्पड़ मार देती है , जिससे मे आकाश से ज़मीन पर आकर गिरता हूँ मैं गाल पर हाथ रखकर मोम को देखता हूँ जो आँखो मे आसू लिए रो रही थी .

मोम - यू मोम फकर , छी अवी तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरे साथ ये करने की मैं तुम्हे छोड़ूँगी नही , अभी के अभी निकल जा मेरे रूम से ,
कमिने कही के .

मैं तो बस मोम को फटी आखो से देख रहा था मोम के कहते ही मैं पिछे होकर अपना लंड निकालता हूँ एक झटके मे जो अभी भी उनकी
चूत मे था मेरे झटके से निकालने पर मोम की तेज आह निकल जाती है दर्द के कारण , मैं उठकर फटाफट डोर की ओर भागता हूँ .

फिर डोर पर पहुँच ते ही मुझे अपने नंगे होने का एसस होता है तो वापस डरते हुए मोम की और आता हूँ , मुझे आता देख मेरी तरफ़
देखकर मों गुस्से से घूरती है .

मोम ( गुस्से से ) - अब क्या है गया क्यो नही , वापस क्यो आगया , अभी भी मन नही भरा क्या तुम्हारा जलील इंसान .

मैं ( डरते हुए ) - वो.. वो .. मूओ मोम्म मेरा कच्छा बेड पर्रर राहह गया ववववो लेने आयाआ थाआ .

फिर मोम गुस्से से बेड पर से मेरा कच्छा उठा कर मेरी तरफ़ फैकती है ऑर कहती है ........

मोम ( गुस्से से ) - ये लो फटाफट पहनो ऑर निकलो यहाँ से .

मैं कुछ ना कहकर कच्छा उठा कर जल्दी से पहनने लगता हूँ . मैं कपड़े पहनने मे बिज़ी था तब पहली बार मोम मुझे गोर से देखती मेरी बॉडी ऑर मेरे टेटू जो पहले कभी नही थे . फिर उनकी नज़र जब मेरे लंड पर पड़ती है जो ठीक से सोया नही था 8.5" का लग रहा था उसे
देखते ही मोम के तो होश उड़ जाते है , जो अब तक गुस्से मे थी वो अब हैरत ऑर शॉक मे होकर घुरे जा रही थी .

Reply
11-23-2020, 01:35 PM,
#15
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति

मैं इस बात से बेख़बर कि मोम मेरे लंड को घूर रही है जल्दी से कच्छा पहन कर रूम से निकल जाता हूँ .

मैं (निकलते हुए ) - सॉरी मॉम , पता नही कल रात मुझे क्या हो गया था .

मैं रूम से निकलकर जब बाहर आया तो डॅड हॉल मे ही घूम रहे थे उन्हे देखकर तो मेरी सॉलिड फट गयी पर जल्द ही खुद को कंट्रोल
करता हूँ . डॅड मुझे देखकर अजीब सी स्माइल देते हैं मैं उन्हे देखकर फीकी ऑर डरी हुए स्माइल देकर अपने रूम की ओर भागता हूँ .
ऑर अपने रूम मे पहूचकर डोर लॉक करके अपने डर को कंट्रोल करता हूँ .

इधर मोम की मेरी आवाज़ से तंद्रा टूटती है ऑर वो सोच ती है यानी रात मे भी बहुत कुछ हुआ है , फिर उनका ध्यान अपनी चूत की तरफ़ जाता है जो डबल पाव की तरह सूजी हुई थी , उसे देखकर मोम को अपनी सिचुयेशन का पता चलता हूँ ऑर उन्हे धीरे-धीरे रात का सेक्स
कुछ याद आने लगता है . क्यो उनका पूरा सरीर दर्द कर रहा है ऑर उनकी चूत तो फटी पड़ी है जो अब तक गुस्से ऑर उस टाइम की
सिचुयेशन की वजह से उनका ध्यान ही नही गया था .

जब उनको उनका चीखकर उठना याद आता है तो वो एक बार तो डर ही जाती है कि......

मोम सोचती है कि रात भर अवी ने मेरे साथ सेक्स किया जिसकी वजह से फिर उठते ही फिर कैसे सुरू हो गया ये बात याद आते ही उनका उनका मूह खुला का खुला ही रह गया , वो रोने लगती है फिर अचानक ही डोर खुलता है ऑर राज अंदर आता है जो आते ही डोर लॉक कर
देता है .

मोम डॅड को देखकर ज़ोर्से राज्ज्जज कहते हुए नंगी ही राज के गले लग जाती हैं ऑर रोने लगती हैं .

जब मोम इस तरह से हरकत करती हैं तो डॅड बस शॉक मे खड़े-खड़े ही बुत बन जाते हैं .

डॅड मन मे ये कैसे हो सकता है , उन्हे कुछ समझ ही आ रहा था , उनकी शक्ल एसी हो गयी थी जैसे खड़े-खड़े गान्ड मार ली हो , उन्हे लगा कही उनके प्लान की ना रेड मर जाए फिर खुद को कंट्रोल करके कुछ बड़बड़ाने लगते हैं पर उसका भी असर न होता देख उनकी सॉलिड फटती है ये नामुमकिन है कि उनके गुरु तांत्रिक लोलो का मन्त्र शक्ति आज काम क्यो नही कर रही है , जो इतने साल से नही हुआ वो आज कैसे हो गया . ऑर रति कैसे तांत्रिक लोला के " काम शक्ति सम्मोहन " से बाहर कैसे आ गयी ऑर तो ऑर मेरे द्वारा गुरुजी के सम्मोहन मन्त्र का भी असर ही हो रहा ही . डॅड ये सभी सोच ही रहे थे कि मोम अब शांत हो जाती हैं पर राज के गले लगी हुई ही थी फिर उसे पार्टी के पहले की बात
याद आ जाती है .

मोम को ये बात के साथ अब तक की सभी बाते याद आती है ऑर खुद को नंगी होने का पता चलते ही मोम ने डॅड को एक ज़ोर का धक्का
देते हुए झट से अलग होकर बेड की ओर जाकर बेडशीट उठकर अपने जिस्म से लपेट लेती है .

डॅड मोम के द्वारा दिए गये धक्के से अपनी सोच से बाहर आते है , वो सोचते हैं कहीं मोम उनपर शक तो नही हो गया , वो कुछ ऑर सोचते
या बोलते उससे पहले मोम ही बोल पड़ती है .

मोम - यू रास्कल , यू डॉग , कॉन हो तुम , तुम राज नही हो सकते , बताओ कॉन हो तुम .

राज सिचुयेशन को समझकर अपना नाटक जारी रखते हुए - रति ये तुम क्या कह रही हो डार्लिंग , मैं राज हूँ राज .

मोम ( चिल्लाते हुए ) - नही तुम राज नही हो सकते क्योकि आज तक जो कुछ भी तुम ने किया ऑर मुझे करवाया एसा कभी राज नही कर
सकता वो एसा बिल्कुल भी नही था , समझे तू कमिने , मक्कार कहीं के .

डॅड - अरे ये तुम क्या कह रही हो आज तक जो कुछ भी हुआ हम ने मिलकर किया ऑर तुम्हारी भी तो ' हाँ ' होती थी उन सब मे मेरी जान .

मोम - कमिने इंसान अब तक जो कुछ भी हुआ उसमे मेरी कोई मर्ज़ी नही थी , पता नही मैं होश होते हुए भी होश मे क्यो नही थी
, तुम्हारी सभी हर्कतो ऑर बातो मे पता नही मे कैसे साथ दे रही थी पर अब मे पूरे होश मे हूँ , तुम इतने गिरे हुए हो कि तू ने मुझे मेरे बेटे
के साथ ही सेक्स करा दिया , छी .

डॅड - अरे मेने क्या किया जो कुछ भी किया वो तुम्हारे बेटे ने किया , मुझे क्यो दोष दे रही हो , तुम ही तो अपने बेटे की पावर को संभालना चाहती थी .

मोम - यू बस्टर्ड , कल तुमने ज़रूर ड्रिंक मे कुछ मिलाया होगा फिर मुझे स्लीपिंग टॅबलेट लेने को भी कहा , ऑर ऑर ऑर.......

कंटिन्यू......
Reply
11-23-2020, 01:36 PM,
#16
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
अपडेट ~ 14

मोम - ऑर ये क्या पावर के बारे मे बोल रहे , कल पार्टी से पहले भी तुमने अवी को पावर मिलने की बात कही थी पर कोन्सि ऑर केसी , मुझे ठीक से याद क्यो नही आ रहा .

डॅड (कामिनी स्माइल के साथ) - तुम्हे कैसे याद होगा मेरी चूत रानी .

मोम (बहुत ज़्यादा डरते हुए) - तुम्म....
तूमम्म....उूओ.....तो नही..... नही...नही.... य नही हो सकता वो.... वो मररर गया था .....

डॅड (कमिनि स्माइल क साथ) - तुम सही कह रही हो चूत रानी मैं मर गया था पर मेरे लंड को तुम्हारी चूत के पानी की प्यास है जो साली
मरने के बाद भी नही बुझी इसलिए फिर जिंदा होकर आ गया (लंड को मसलते हुए) .

मोम - तूमम्म.....तूमम्म ज़िंदाअ हो.......
यानी तुम राज की जगह लेने आए हो..... ऑर तुम यहाँ हो तो राज कहाँ है.....बताओ मुझे राज्ज्जज कहाँ है .

डॅड (कामिनी हसी के साथ) - हा....हा....हा..
....अभी जिंदा है पर तुमने थोड़ी भी चू-चा की तो साले का लंड काट दूँगा फिर तड़प्ते हुए मरेगा तुम्हारा पति .

मोम (रोते हुए) - नही तुम एसा कुछ भी नही करोगे समझे , मैं अभी पोलीस को बुलाती हूँ.

मोम जैसे ही फोन उठकर नंबर डाइयल करती तभी राज 2 कहता है

राज 2 - अगर तुमने एसा कुछ किया तो मैं राज ऑर तुम्हारे बच्चो मार दूँगा , ऑर तुम जानती हो मुझे मारने मे तकलीफ़ नही होगी .

मोम - तुम एसा क्यो कर रहे हो मेरे साथ.....

राज 2 - (रति के बाल पकड़े हुए) - साली रंडी तू नही जानती मैं तेरे साथ एसा क्यो कर रहा हूँ
, साली छिनाल तेरी वजह से वो साली जो मेरे जुतो के नीचे रहती थी वो मुझे बहन की लोडी अपनी चूत दिखा कर खुद की चुदाई की कनाहिया सुनाती थी ऑर कहती है कि मैं कितना बड़ा गधा ऑर गान्डू हूँ कि कोई उसकी बीवी की चूत कभी उसके सामने , कभी चोरी छिपे
मार जाता है ऑर मैं कुछ नही कर सका , साला यही नही बल्कि उसकी बीवी की चूत से धड़ाधड़ बच्चे भी किए .

मोम (रोते ऑर डरते हुए) - पर इसमे मेरी क्या ग़लती है .

डॅड - साली मैं सब जानता था वो कॉन है ऑर क्या-क्या हुआ , सब कुछ जानकार भी चुप था बस सही मोके के इंतज़ार मे था ऑर वो मिला
भी पर पकड़ा गया पर तू चिंता मत कर इस बार ना मेरा प्लान कमजोर हैं ऑर न नही मैं ......
हा..हा...हा...हाहहाहा.....हहा..हाहाहा
तू देखेगी कैसे मे सब कुछ बर्बाद कर दूँगा ऑर तू कुछ नही कर सकेगी ......

मोम (बहुत ज़्यादा डरते हुए) - मेने जो किया वो मेरी बहन के लिए अच्छा था समझे
तुमने उसकी जिंदगी जहनुम कर रखी थी , ऑर तुमने तो मेरा भी जीना हराम कर रखा था , मेने तो बस अपनी बहन की जांदगी मे थोड़ी
ख़ुसीया दी है .(कुछ हिम्मत के साथ)......
,ऑर अब क्याअ....करने वाले हो तुम हमारे साथ , इतना कुछ होने के बाद भी तुम्हारी अकल ठिकाने नही आई , तुम कुत्ते की पूछ की तरह
हो जो कभी सीधी नही हो सकती .

राज 2 (कमिनि हसी के साथ) - हा....हाहाहा तो तुम मुझे कुत्ता कह रही हो पर मेरी चूत रानी तुम तो मुझे पहले ही ना जाने कितनी गंदी
गालियाँ दे चुकी हो ऑर मैं वो सब डिजर्ब भी करता हूँ हैं ना डार्लिंग .

मोम - छी....मेने तुम जेसा कमीना इंसान नही जानवर नही देखा .

राज 2 - जानवर नही मेरे लंड की रानी हैवान
हूँ मैं , जो चूत के लिए कुछ भी कर सकता है .

मोम - तू हैवान नही है वो तो एक बार खून चूस कर छोड़ देता है पर तू ....तुम तो हवस के एक कीड़े हो एक कीड़ा जो कभी पिच्छा नही
छोड़ता .

राज 2 - हाँ सही कहा ऑर देखो इस कीड़े ने तुम्हे तुम्हारे ही बेटे से चुदवा दिया . ऑर अब तो वो भी तुम्हारी मस्त चूत का दीवाना हो गया होगा , एक तो तुम मस्त माल हो ऑर दूसरा वो पहली औरत जिसकी चूत का पानी तुम्हारे बेटे के लंड ने जवानी के पहले दौर मे पहली बार
मज़ा लिया है . ऑर वैसे भी जन्म से ही उसमे चुदाई ऑर हवस इतनी है कि तू सोच भी नही सकती , उसके सामने मैं तो कुछ भी नही , अब
देखना वो अपने उस ख़तरनाक दिमाग़ से क्या-क्या कुल खिलाएगा .

Reply
11-23-2020, 01:36 PM,
#17
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
फिर मोम को भी वो वापस याद आ जाता है ऑर रूम से बाहर निकलते वक्त अवी की कही गयी बात भी फिर वो सब समझ जाती है .

मोम - इसका मतलब वो जो कुछ भी अवी ने किया वो तुम्हारी वजह से हुआ , यू लस्टी मैं तुम्हे छोड़ूँगी नही ( ये कहके मोम राज 2 पर
झपटती है ) .

राज 2 बस कुछ मन्त्र बुदबुदाकर दोनो हाथ मोम की तरफ़ करता है ऑर मोम के दोनो हाथ उपर बँध जाते हैं , वैसे भी नंगी तो वो पहले ही थी .

मोम जब आगे बढ़ कर राज2 की तरफ़ जाती पर आगे नही जा पाती ऑर खुद को बँधा हुआ पाती हैं तो वो चॉक कर ऑर आखे फाड़
-फाड़ कर राज2 को देखती हैं ऑर राज 2 बस अपनी कमिनि हँसी हँसता रहता है .

मोम (चॉक & डरकर) - तुमने ये कैसे किया क्या तुम वो नही .....

राज 2 - मेने कहा था ना रसीली चूत रानी कि अब मैं वो नही रहा , इतना आसान नही है मुझ तक पहुचना , समझी अब चुप-चाप खड़ी रहो
वरना तुम समझ ही गयी होगी कि मैं क्या कर सकती हूँ .

मोम अब बहुत दर गयी थी इसलिए वो चुप ही रहती हैं ऑर अब क्या होगा ऑर वो कैसे राज 2 की गान्ड फाडे यही सोच रही थी .

फिर राज 2 एक तरफ़ आकर किसी को फोन करता है
राज 2 - गुरु गुडमॉर्निंग , मैं बहुत टेन्षन मे हूँ
, मुझे कुछ समझ नही आ रहा है .

आप सब समझ ही गये होगे इसने अपने गुरु यानी तांत्रिक लोलू को फोन किया है .....

तांत्रिक लोलू - गूडमॉर्निंग बच्चा , बोलो क्या प्राब्लम होगयि कि तुम इतने टेन्षन मे हो .

राज 2 फिर वो सब बताता है कि कैसे रति होश मे आ जाती है यानी सम्मोहन से ऑर उसके द्वारा मंत्र बोलने पर भी कुछ नही हुआ .

तांत्रिक लोलू भी टेन्षन मे आ जाते हैं ये कैसे हो सकता है फिर वो कुछ सोचकर बोलते हैं मैं तुम्हे कुछ देर मे फोन करता हूँ .

राज 2 ठीक है गुरु जी बोल कर फोन कट जाता है....

.............

अवी की बर्तडे पार्टी की रात जब मोम ऑर राज 2 बात कर रहे थे तभी कोई ऑर भी था जो इतने सालो से मोम के बदलाव को देखकर चकित ऑर उनपर बहुत गुस्सा था फिर जब ये बात सुनी तो उसकी हेरत की कोई सीमा ही नही थी उसने उनपे अटॅक भी किया पर कुछ
नही हुआ .तो आप लोग समझ ही गये होगे कि ये एक आत्मा है पर किसकी ये आगे पता चलेगा .

फिर जब अवी रति को चोद रहा था तभी उसको रोकना चाहता था पर वो भी जानता था कि वो कुछ नही कर सकता . वो बस कुछ आसू
बहाता हुआ देखता रहता है , फिर जब अवी का लंड देखता है तो चॉक जाता है .

फिर जब दिन मे रति ने जब अवी को थप्पड़ मारा तो उसे झटका लगा पर वो इस झटके को झेल पाता उससे पहले एक ऑर बड़ा झटका
मिलता है कि रति अब तक " काम शक्ति सम्मोहन " मे थी , फिर अब ये राज 2 ऑर मोम की जो बात सुन रहा था तभी वो 18 साल पहले
हुई ग़लती के बारे मे सोच रहा था काश वो ग़लती नही हुए होती .

फिर उन्हे वो दिन याद आता है जब हवस का नंगा नाच सुरू हुआ था पर वो ये भी जानता था ये सिर्फ़ अभी नही बल्कि उसके कमिने बाप
के हवसीपन की वजह से कयी साल पहले ही सुरू हो गया था .

फिर उस आत्मा को अवी की पावर के बारे मे सुन कर एक उम्मीद की किरण नज़र आती है जिसका उसे भी इंतज़ार था पर वो अभी भी
उसके बारे मे पूरा सच नही जानता था ऑर बिना पूरा सच जाने वो अपने काम को अंजाम नही दे सकता था .

वो इन सब के बारे मे ही सोच रहा था कि फिर राज 2 का आना ऑर उसके बाद जो कुछ भी होता है वो गुरु देख ऑर सुन रहा था उसे राज
2 पर बहुत गुस्सा भी आ रहा था पर कुछ कर नही सकता था फिर जब वो रति को यू बँधते हुए देखता है तो एक बार तो वो भी डर जाता है .

उसे भी समझ नही आ रहा था ये ऐसे कैसे कर पा रहा है फिर किसी से फोन पर बात करते हुए वो बड़े ध्यान से सुन रहा था ऑर अब वो
जो दूसरी तरफ़ वाला क्या कहता उसका इंतज़ार करने लगता है .

कंटिन्यू........
Reply
11-23-2020, 01:36 PM,
#18
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
अपडेट ~ 15

न्यू इंट्रो

1. तांत्रिक लोलू......(एक बहुत बड़ा तांत्रिक , एज - 40 पर असली एज है 130 , हाएट - 4 फिट , लंड तो बेचारे का अपनी इंडेक्स फिंगर के
जितना लंबा ऑर उसका जितना ही मोटा था , पर लोलू के तांत्रिक मन्त्र बहुत ख़तरनाक हैं , इसकी एक छोटी कहानी जो आगे पता चलेगी )

2. मारलो.......(तांत्रिक लोलू की एक गुलाम / चेली विदेशी लड़की , एज - 21 , हाएट - 5"10 , फिगर - 33-30-37 , ये स्वाभाव से मस्त चालू ऑर
लालची है , हिन्दी जानती है , लोलू के साथ ही रहती है )

............

राज 2 सोचता है कि जब तक गुरुजी का फोन नही आता तब तक रति की चुदाई ही कर ले , वैसे भी उसका बेटा तो मज़े ले ही गया चूत रानी के अब मैं भी ले लेता हूँ ये सोचकर वो रति के पास आता है ऑर एक हाथ उसके बूब्स पर ऑर एक उसकी चूत पर रखता है पर जैसे ही
उसका हाथ रति की चूत पर लगता है....

रति तो बस डर से राज 2 को देख रही थी क्योकि वो उसको जादू करते हुए देखी वो भी खुद पर .

राज 2 के चूत पर हाथ रखते ही उसे एक तेज झटका लगता है उसे समझ ही नही आया ये उसके साथ क्या हुआ ऑर रति ये देखकर खूश
हो जाती है आज फिर उसने राज 2 की बजा दी चाहे इसका कोई भी कारण हो पर दोनो मे से बोल कोई नही रहा था .....

कुछ 1 घंटे के बाद तांत्रिक लोलू का फोन आता है .....

तांत्रिक लोलू - हेलो

राज 2 - हेलो गुरुजी
राज 2 कुछ ऑर बोलता उससे पहले ही तांत्रिक लोलू बोलना सुरू कर देता है.....

तांत्रिक लोलू - सुनो रति सम्मोहन से इसलिए बाहर आई क्योकि अवी मे हमारे मालिक की शक्तिया ऑर उसके द्वारा रति से सेक्स करने के
कारण वो बाहर आई है जैसे सम्मोहन मे गयी थी .

राज 2 - पर अभी भी उसपर वापस मेरे सम्मोहन मंत्र की शक्ति काम क्यो नही कर रही है जो आपने मुझे दी है .

तांत्रिक लोलू - क्योकि उसे जो भी शक्ति मिली है वो मालिक ने ही दी है ऑर अवी ने आपना कामरस उसकी चूत मे ही छोड़ा है , उसे भी
हमारे मालिक की शक्ति के काले घेरे मे ही ले लिया है जब तक उसकी चूत से रस नही निकलेगा कोई उसकी चूत को छू भी नही पाएगा .

राज 2 - पर गुरुजी अब मे अपना बदला , अपनी काम इच्च्छा ऑर आपका काम कैसे पूरा करूँगा .

तांत्रिक लोलू - राज 2 ये तुम्हारी लालसा है कि तुम उसे कैसे पूरा करते हो पर मेने तुम्हे जो मालिक का काम दिया था वो करने का टाइम
आ गया है यदि तुमने ये नही किया तो अंजाम बहुत बुरा होगा ये तुम भी जानते हो .

राज 2 - जी गुरुजी , प्लीज़ मेरी कुछ हेल्प करे क्योकि अब रति सम्मोहन से बाहर आगयी है इसलिए ये बहुत मुश्किल हो गया है .

तांत्रिक लोलू - ठीक है मैं तुम्हारी हेल्प करूँगा क्योकि यदि वो काम नही हुआ तो मालिक तुम्हे ही नही मुझे भी मार डालेंगे .
एक काम करो रति के पास जाकर पहले उसे मुताओ .

राज 2 बड़े मालिक के द्वारा मरने की सुन कर डर जाता है इसलिए वो वही करता है जो तांत्रिक लोलू उससे करने को कहता है और
वो रति के पास जाकर उसे मूतने के लिए कहता है .

रति - छी.....कमिने अब क्या मेरा मूत पिएगा क्या .

राज 2 (कमिनि मुस्कान के साथ) - मेरी चूत रानी तुझे पता नही इतने साल तक मेने तेरी चूत बजाई ही नही बल्कि चूत को निचोड़ के पिया भी है , पर अभी मेरे पास टाइम नही समझी अभी जो मैं कह रहा हूँ वो कर वरना तू जानती है कि मैं कितना बड़ा हवसी हूँ .

रति भी जानती है अभी वो कुछ नही कर सकती पर ये कर सकता है इसलिए वो भी जो ये कह रहा है वो करना ही सही समझती है ऑर वैसे भी अब चुदाई के बीच मूतने के बाद वो अब मुतेगि इसलिए उसे भी मुतना था तो वो एक तेज आवाज़ ऑर धार के साथ मुतना सुरू कर देती .

राज 2 - अब क्या करना है गुरुजी ....

तांत्रिक लोलू - अब रति की चूत पर हाथ रखकर जो मंत्र मे बोलू वो तुम भी बोलना .

राज 2 भी वेसा ही करता है जो गुरुजी बोलने को कहते है , मंत्र बोलने के बाद मे....

Reply
11-23-2020, 01:36 PM,
#19
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
इधर रति जो राज 2 किसी गुरुजी से बात करते हुए उसके साथ कर रहा था वो बहुत गोर से देख रही रही उसे कुछ समझ मे तो नही आ रहा था पर वो य समझ गयी थी कि ये जो कर रहा है इससे कुछ तो होगा ही फिर भी वो चुप ही रहती है क्योकि अभी बाजी राज 2 के हाथ
मे है . जब राज 2 उसकी चूत पे हाथ रखकर मंत्र पढ़ता है तो बेहोश हो जाती है .

राज 2 - गुरुजी इससे क्या होगा ?

तांत्रिक लोलू - अब मेने तुम्हारी मुश्किले आसान बना दी है अब तुम अपना काम कर सकते हो , अब रति सम्मोहन मे तो नही होगी पर अब वो जो कल ऑर आज हुआ वो भूल जाएगी ऑर अब वो बहुत मॉडर्न हो जाएगी पहनावे से भी ऑर सोच से भी ऑर उसकी कामुकता भी
बढ़ने लगेगी , यही नही इससे उसकी बेटियो की काम शक्ति बढ़ेगी पर अवी के सेक्स करते रहने पर धीरे-धीरे रति को सब याद आना सुरू हो जाएगा .

राज 2 (बहुत ज़्यादा खूस होकर) - थॅंक यू गुरुजी , वेरी थॅंक यू , मैं आपका ये अहसान हमेशा याद रखूँगा ....

तांत्रिक लोलू - ज़्यादा खूष होनी की ज़रूरत नही है समझे , अपने मज़े की मत सोचो पहले अपना काम करो वरना अंजाम बहुत बुरा होगा .

ऑर फोन कट जाता है .....

राज 2 तांत्रिक लोलू की बात सुन कर फिर डर जाता है क्योकि वो जानता है कि यदि काम नही हुआ तो उसकी मौत पक्की है .

फिर राज 2 रति के पास जाकर पहले रस्सियाँ गायब करता है फिर नंगी रति को उथ कर बेड पर सीधा सुला देता है ऑर रति के उपर चादर
को ऐसे डालता है कि जिससे उसकी चूत ऑर उसके बूब्स ही ढँक सकें .

इधर अवी की तरफ़

मैं डॅड के ऐसे देखने ऑर स्माइल करने से डर कर अपने रूम की तरफ़ भागता हूँ ऑर अंदर आकर रूम लॉक कर लेता हूँ ऑर डोर से
पीठ टिका कर अपने डर पर काबू पाने की कोसिस करता हूँ .

मैं सोचने लगता हूँ कि मेरे साथ बर्तडे के दिन से ही क्या हो रहा है , मैं जो अब तक हो रहा था उसके बारे मे ही सोच रहा था कि मुझे एक
आवाज़ सुनाई देती है .

(आवाज़ को बीड़ी लिखुगा क्यो वो.आगे पता चलेगा)

बीड़ी - हेलो माइ फ्रेंड

मैं ये आवाज़ सुनकर बहुत डर जाता हूँ क्योकि ये आवाज़ बहुत ख़तरनाक थी पर फिर भी हिम्मत करके बोलता हूँ .
मैं - क्क्कोन्न्न है.... कॉन बोल रहा है , सामने आओ .

बीड़ी - डरो मत यार , मैं तो तुम्हारे अंदर से ही बोल रहा हूँ , मुझे अपना सबसे बड़ा जिगरी ऑर सबसे बड़ा कमीना दोस्त समझो .

मैं ये सुन कर ऑर डर गया ऑर अपने मन मे सोचा कि ये क्या गान्डूपन है यार साला सबसे बड़ा दोस्त भी बोलता है पर खुद को कमीना भी
बोल रहा है , लगता इसका दिमाग़ भी इसकी गान्ड मे ही है .

बीड़ी - अबे लोडे अपने आपको ही गाली दे रहा है , अब अपनी ही मोम को चोद दिया अब कमीना न बोलू तो क्या बोलू ऑर वैसे भी इस
कामीनेपन का फुल फॉर्म तुम्हे आगे पता चलेगा .

मैं - ये तुम्हे मेरे दिमाग़ की बात कैसे पता चल रही है ऑर वो वो वो मेने मोम को नही चोदा समझे .

बीड़ी - अबे गान्डू बहरा नही हूँ चिल्ला क्यो रहा है यार , मन मे बोल सब सुन लूँगा .

मैं - पर कैसे ऑर तुम हो कॉन ?

बीड़ी - मैं कैसे सुन रहा हूँ ये तुझे बाद मे पता चल जाएगा ऑर मैं कॉन तो मैं पहले ही बता चुका हूँ कि मैं तेरा दोस्त हूँ वो भी सबसे बड़ा
जिगरी ऑर सबसे बड़ा कमीना भी .

मैं - ये तू कमीना क्यो बोल रहा है ऑर यदि तू दोस्त है तो सामने क्यो नही आ रहा है .

बीड़ी - मैं वही हूँ जो तुम्हारे सीने पर टेटु है ऑर तुम्हारी असली पहचान ऑर यदि ऑर अच्छे से देखना चाहते हो तो अपने रूम के आईने के सामने चले जाओ तुम्हे पता चल जाएगा .

अबतक उसने कुछ किया नही था ऑर उपर से जो मेरे साथ हो रहा था ऑर मेरे सीने पर उन टॅटू का आना ऑर मेरी बॉडी मे बदलाव होना ये सब होने के बाद अब ऑर ज़्यादा चोकने की मुझे गुंजाइश नही थी तो मैं भी चल दिया आईने के सामने पर मेने उसकी अपनी असली
पहचान वाली बात को तो अच्छे से ध्यान दिया ऑर कुछ रिक्ट नही किया .....

मैं जाकर आईने के सामने आगया पर कुछ सेकेंड तक कुछ नही ऑर ना नही वो आवाज़ आई तो मैने सोचा ये सब ऐसे ही हो रहा है , शायद मेरे दिमाग़ का.......

मैं सोच ही रहा था कि आईने मे धीरे-धीरे कुछ चित्र बनने सुरू हुए या बदलाव होने लगा ये मेरे लिए ऑर शॉक की बात थी ....

फिर कुछ ही देर मे जो चेहरा मेरे आमने आया उसे देखकर तो मैं डर के 2 कदम पिछे चला गया

फिर कुछ देर बाद वो बदलने लगता है जो एकदम काले कपड़ो मे ऑर एक अजीब सा हथियार ....

मैं सब देखकर इतना डर गया था जो मैं अपनी लाइफ मे कभी नही डरा था .

फिर.......

कंटिन्यू......
Reply

11-23-2020, 01:36 PM,
#20
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
फिर कुछ देर बाद वो बदलने लगता है जो एकदम काले कपड़ो मे ऑर एक अजीब सा हथियार ....

मैं सब देखकर इतना डर गया था जो मैं अपनी लाइफ मे कभी नही डरा था .

फिर भी हिम्मत करके - क्क्कोन्न्न हो तत्तूमम्म , मेरे दोस्त नही हो सकते , तुम्म तो एक डेविल हूओ .

बीड़ी - तो क्या हुआ , मैं तुम्हारा डेविल फ्रेंड हूँ ऑर वैसे भी इस दुनिया मे हर किसी मे एक डेविल होता ह , बस तुम्हारा कुछ सॉरी बहुत
अलग है .

मैं - नही मुझे तुम्हारी कोई ज़रूरत नही है , तुम जाओ यहाँ से
.....

बीड़ी - जैसी तुम्हारी इच्छा पर तुम्हे मेरी ज़रूरत है ऑर आगे भी रहेगी ओर्रर्र तुम्हे मुझे स्वीकार(आक्सेप्ट) करना ही पड़ेगा माइ
फ्रेंड ....हाहहहहाहा

ऑर बीड़ी चला गया पर साला अपना डर छोड़ गया मेरे अंदर , ऑर साले की हसी तो ऑर भी डरावनी है

मैं मन सोचता हूँ ये क्या चोदु जिंदगी है साला क्या हो रहा है कुछ समझ ही नही आ रहा है ऑर तो ऑर क्या सच ऑर क्या झूठ नही कुछ पता नही चल रहा है , इस मॉडर्न दुनिया मे एसा भी होता है क्या . भेन्चोद साला जिंदगी झंड हो गयी है पहले साला बाहर कोई चेन से जीने
नही देता ऑर अब तो घर मे भी मोम के लोडे ....

मैं इन सब बातो के बारे मे सोच ही रहा था कि अचानक मेरी नज़र सामने सीसे पर जाती है ऑर मैं क्या देखता हूँ कि जो टॅटू पहले कुछ
समझ नही आ रहा था वो अब क्लियर समझ मे आ रहा है .

फिर मैं उसे देखता हूँ कि ये एक डेविल का टॅटू है ऑर वो भी ब्लॅक , बिल्कुल उसकी(बीड़ी) तरह पर वो लाल भी था , पर अभी तो ऑर भी
था पर अभी क्लियर नही था.... साला ये सब क्या लोचा है .

मैं अपनी इन्हीं उलझनों मे खोया था ऑर उधर राज 2 की तरफ़......

रति को वैसे ही सुला कर अपने फॅमिली डॉक्टर को फोन करता है जो मेल है ऑर इसकी ऑर राज 2 ऑर रति की मस्त दोस्ती भी है ....

इंट्रो

1. रजत गुप्ता......(राज 2 का फॅमिली डॉक्टर , एज - 45 , हाईट - 5"6 , ठीक दिखता है पर पेट इसका भी निकाला हुआ है , लंड की साइज 4.5" एल + 1.5"म

, अनमॅरीड , ये भी कमीनपन मे राज 2 से कम नही है , ऑर राज 2 का कमीना दोस्त है ऑर दोनो कमिने मिल कर बहुत कुछ करते हैं क्या
ये आगे पता चलेगा....)

ये राज 2 के घर के दूसरी तरफ़ , राज 2 की तरह 3 कि.मी दूर एक सुनसान जगह पर रहता है ऑर यही पर इसका क्लिनिक है .

राज 2 - हेलो

रजत - हेलो राज 2 बोलो कैसे याद किया .

राज 2 - साले कहा ह तू अभी .

रजत - अपने घर , क्यो क्या हुआ

राज 2 - साले जल्दी से घर आजा वो रति बेहोश हो गयी है .

रजत - क्यो एसा क्या कर दिया बे , साले मैं कहता था ना कि आराम से चूत मारा कर साले तेरा लंड बड़ा है पर तू तो साला रति की चूत
देखी नही कि जोश मे आजाता है .

{अब इन चूतियो को कॉन समझाए कि अपने हीरो के सामने तो बस सबकी लुली ही है}
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up Maa Sex Story आग्याकारी माँ desiaks 155 394,887 01-14-2021, 12:36 PM
Last Post: Romanreign1
Star Kamukta Story प्यास बुझाई नौकर से desiaks 79 72,099 01-07-2021, 01:28 PM
Last Post: desiaks
Star XXX Kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार desiaks 93 52,342 01-02-2021, 01:38 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb Mastaram Stories पिशाच की वापसी desiaks 15 17,771 12-31-2020, 12:50 PM
Last Post: desiaks
Star hot Sex Kahani वर्दी वाला गुण्डा desiaks 80 30,969 12-31-2020, 12:31 PM
Last Post: desiaks
Star Antarvasna xi - झूठी शादी और सच्ची हवस desiaks 49 86,327 12-30-2020, 05:16 PM
Last Post: lakhvir73
Star Porn Kahani हसीन गुनाह की लज्जत sexstories 26 105,458 12-25-2020, 03:02 PM
Last Post: jaya
Star Free Sex Kahani लंड के कारनामे - फॅमिली सागा desiaks 166 243,048 12-24-2020, 12:18 AM
Last Post: Romanreign1
Thumbs Up Hindi Sex Stories याराना desiaks 80 86,604 12-16-2020, 01:31 PM
Last Post: desiaks
Star Bhai Bahan XXX भाई की जवानी desiaks 61 185,240 12-09-2020, 12:41 PM
Last Post: desiaks



Users browsing this thread: 6 Guest(s)