Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
11-23-2020, 01:50 PM,
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
तांत्रिक लोलू में जो गुइडा बनाया था वो पहले ही इरावना था, और अब ऐसे टाइम और जगह में में सब करने में बो और डरावना लग रहा था। फिर लालू ने कुछ मंत्र पढ़कर उस गुइई की आधी बाडी पे पूरा साइड पिन घुसाने लगा। फिर अपना उंगली काटकर उसे आग में डाल दिया। जिससे वो गुइडा हिलने लगा और उस गुइई के एक फिट ऊपर वैसी काली आकृति बन गई, एक काले धुप से। फिर लालू ने उस असुर को बुलाया तो लालू ने उसका ताजा खून माँगा। जिसे उसने भी हँसते हए दे दिया। क्योंकी उसके हथियार के बनने का काम जो शुरू हो गया था, और वो खून की कुछ बूंदें देकर चला गया।

तो सबसे पहले उसने अबी के खून को उस काले घेरे या आकृति में डाल दिया। जिससे खन हवा में ही उस काले (ये में मिल गया। फिर उसने उस असुर के खून को भी मिला दिया। उसके बाद उसने अपने उन्हीं गुलामों में से चार सबसे शक्तिशाली मादा डायन, चुडैल, बेताल, भूतनी को बुलाया। वो चारों सबसे पुरानी और कैंचारी श्रीं। उन सभी की चूत पे कट लगाकर खून लेकर उसे मिलाया। जिससे उन्हें अजीब सा लगा और दर्द भी हुआ। और खन मिलकर जैसे ही एक हुआ वो चमकने लगा, और बा एक 18-20 साल के लड़के के जैसे बड़ा होकर एक लड़के के जैसे आ गया। पर अब कुछ नहीं हुआ था तो उसने अपने मंत्र से उस खौफनक गुइडे पार पटने शुरू कर दिए। और अपनी ये सोच की हवस मिलने और दुनियां पे हकमत करने के अलावा कुछ नहीं। इसका लाल एक छोटे से धु का रूप देकर उस आकृति में मिला दिया।

01. चिकनी- एक डायन (डाली) 02. मची- एक बेताल मिशा) 03. गप्पी एक चुडैल (नैना) 04. उकी. एक भूतनी (रिया)
02.
जब लालू ये सब कर रहा था, तभी अवी बहुत रहो रहा था। उसे दर्द हो रहाधा। रति उसे चुप कराने की बहुत कोशिश कर रही थी, पर वो चुप ही नहीं हो रहा था तो रति इर गई। उसे समझ में ही नहीं आ रहा था की अवी दूध पिलाने से भी चुप नहीं हो रहा था, और ना वो दूध पी रहा था सिर्फ तेज-तेज बहो रहा था। तब गति अवी को हास्पिटल ले गई। डाक्टर उसे चेक करने लगे। पर डाक्टर को भी समझ में नहीं आ रहा था, तो वो अबी को स्पैशल गम में ले गये, और गति को बाहर ही रहने को बोला। राति परेशान और रोती हई बाहर ही खड़ी थी।
अब सब कुछ करने के बाद लोल जब मंत्र पद वहाँ था, तभी अबी की बाड़ी से उसकी आधी-आत्मा बाहर आ गई जिसे वो डाक्टर तो नहीं देख सकर। लेकिन अबी जरूर बहोश हो गया। जिसमें डाक्टर भी परेशान हो गये और इर गयें। क्योंकी अबी शहर के एक बड़े बिजनेंसमैन राज का बेटा था।

वो आधी-आत्मा अबी की बाड़ी से निकलकर लालू के सामने आ गई। जिसको देखकर वो पागलों की तरह हँसने लगा हाहाहाहा। फिर उसने उस आत्मा को उस आकृति में डाल दिया। जिससे उस पूरे जंगल के साथ विलाशपुर में भी एकदम काले धैये से अंधेरा हो गया। फिर जब वो हटा तो वहां अंधेरे का बादशाह खड़ा था, यानी "बलही डविल"

फिर वो आकति बोली "हाहाहाहा... हाहाहाही... हाहाहाहा... हाहाहाही... अंधेरा कायम रहे। ये काली ताकतों में आ गया, यानी काली-शक्तियों का राजा ब्लडी-डेविल हाहाहाहा... क्योंकी में अलग-अलग योनियों के खून से बना एक शैतान हूँ। इसलिए आज से मेरा नाम होगा- "बलड़ी डेबिल्ल.
***** *****
Reply

11-23-2020, 01:51 PM,
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
कड़ी_50 फ्लैशबैक में फ्लैशबैक जारी

जब बी.डी. बन गया लेकिन वो एक कह थी, जिसमें अवी की आदि रह के बाद उस काली शक्तियों के खून से बनने के बाद पूरा बना था, जो अभी 75 प्रतिशत हुआ था।
बी.डी.- अब मैं कुछ भी कर सकता हैं हाहाहा अब मेरी शक्ति का काई मुकाबला नहीं है।
लोलू- नहीं अभी तुम इतने शक्तिशाली नहीं हो।
बी.डी.- ये तू क्या बोल रहा है लाल।
लोलू- "मैं बिल्कुल सही बोल रहा हैं। तुम्हें मैंने अबी की आधी आत्मा से जिंदा किया है, और इन सब के खन की बजह से इतनी शक्तियां तुममें आई हैं। पर जब तक तुम जिसकी आत्मा का हिस्सा हो, उससे नहीं मिलागे यानी अवी की आत्मा और बाड़ी से नहीं मिलागे, तब तक तुम कुछ नहीं और पाओगे। यहां तक की यहां से हिल भी नहीं सकते। जब तक मैं अपनी शक्ति से तुम्हें कहीं नहीं भेज देता, तब तक और तो और अभी तुम्हारी शक्तिया भी काम नहीं करेंगी और सबसे बड़ी बात- तुम्हें ऐसे काई नहीं मार सकता है। जब तुम अबी की बाड़ी में होंगे तभी तुम्हें मारा जा सकता है। और एक बार अगर तुम उस में चले गये तो बाफत अलग भी नहीं हो सकते। और अवी जिम और उसकी आदि रूह अगर तुम्हें नहीं अपनाएगी तो तुम ऐसे ही रहोगे। उसकी बाड़ी में उसके गुलाम बनकर और तुम्हारी सभी शक्तियां और तुम्हारा बी.डी. वाला रूप भी समझे?"

बी.डी.- "नहीं, ये तू क्या बोल रहा है लोलू? कुछ कर मैं किसी का गुलाम नहीं बनना चाहता हूँ। मुझे इस पूरी दुनियां को अपना गुलाम बनाना है, और कुछ कर वरना तेरा सपना कभी पूरा नहीं होगा..."

लोलू- "में कुछ नहीं कर सकता हैं। क्योंकी जो काम मैंने किया है, उसकी सजा के रूप में मैंने मेरी सभी शक्तियां और सिधियां खो दी है। क्योंकी एक नवजात बच्चे की आत्मा को मैंने दो भागों में बांटा है।

एक बात दोस्तों, लोलू अपनी शक्तियां खोने के साथ-साथ उसे एक ऐसा रोग भी लगा है, जिससे अब उसके जिशम का हिस्सा गलने लगेगा धीरे-धीरें। जिसका उसे पता भी नहीं है अभी तो। और ना ही वो किसी दूसरे की बाड़ी में जा सकता है।

बी.डी.- तो क्या अब इसका कोई उपाए नहीं रहा है, यानी तुम हार गये?

लोलू- "नहीं में नहीं हारा समझे... कुछ दिनों के बाद में फिर से अपनी शक्तियां और सिद्धियां हासिल करने के लिए अपने काम पर लग जाऊँगा, फिर तम्हें उसके जिम में भेजंगा."

बी. डी.- लेकिन कैसे करोगे तुम ये सब? और वैसे भी फिर मैं उसका गुलाम हो जाऊँगा।

लोलू- "नहीं ऐसा नहीं होगा। क्योंकी मैं तुम्हें अवी के जवानी में कदम रखते ही उसके जिम में डाल दूंगा। जिससे तुम उसे काली शक्तियों के आधार श्रोत (काम, लालच, क्रोध, लोभ, ईष्या, दुर्भाब, हिंशा, दिखावा आदि) से उसको गलत काम करने के लिए उकसाना और फिर अपने आपको उसे अपने पर निर्भर कर देना। जिससे वो तुम्हारी शक्तियां देख कर खुद को तुम्हारे हवाले कर दे.."

बी.डी.- लेकिन उसकी जवानी शुरू होने में ही क्यों, अभी क्यों नहीं?

लोलू- "क्योंकी इंसान की जवानी के टाइम बाडी और सोच 1 बदलाव होते हैं, ऐसा समझ लो किसी भी इंसान को अपने बस में करना है तो उसकी जवानी को हवा दो, वो खुद जिज्ञाशा मिटाने के लिए आता है और उसमें फसता जाता है, और मुझे अपनी शक्तियां पाने के लिए टाइम भी ता लगेगा..."

बी.डी.- इससे उसकी आत्मा भी मेरी गुलाम हो जाएगी क्या?

लोलू. "नहीं। जब तुम अपनी पूरी शक्तियां हासिल कर लोगे तभी तक वो तुम्हारे कब्जे में होगी। फिर अवी के जिश्म से उसकी सफेद अत्मा निकल जाएगी और उसके जिश्म में रह जाएगी तो सिर्फ ये काली-आत्मा.."

बी.डी.- तब तो मैं फिर से कमजोर हो जाऊँगा।

लोलू- “नहीं। क्योंकी असुर की शक्ति मैंने तुम्हारे जिम में पहले डाली है, इसलिए ऐसा कुछ नहीं होगा और जब वो तुम्हें पूरा अपना लें, तभी तुमको इन चारों में सेक्स करना होगा। तभी तुम्हें अपनी सभी शक्तियां मिलेंगी समझे?"

बी.डी.- "लेकिन क्या? और वैसे भी मैं वहां होगा और अबी भी जब तक खुद को मुझे नहीं देगा, तब कैसे करगा में इनके साथ सेक्स?"

लोलू- "मैंने अवी के जिम में सिर्फ आधी-आत्मा निकाली है, पूरी नहीं समझे? और जैसे ही तुम उसके जिम में जाओगे, तुम सब भूल जाओगे। सिर्फ दो चीज के अलावा वो ये की मैं तुम्हारा लण्ड ऐसा बनाऊँगा जिससे तुम जिसके साथ भी सेक्स करोगे उसके जिश्म से खून निकलेगा और तुम्हारा लण्ड उसे चूस लेगा। जिससे जब तुम इन चारों के साथ सेक्स करोगे तब तुम्हें सब पता चल जाएगा। और तुम्हें बनाया ही दुनियां को गुलाम बनाने के लिए है तो तुम जब भी ऐसा कुछ सुनोगे तो तुम्हें ये बात याद आ जाएगी समझे? रही बात इनकी तो इसका मैं कुछ सोच ही लूँगा.."

ऐसे ही टाइम बीतता जाता है। अब ये बो टाइम था जब जीत राज को मारकर लोलू के पास गया और बोला "मुझे भी कुछ शक्ति चाहिए..."

तब लोलू के पास इतनी शक्ति नहीं थी, तो उसने एक पिशाच से उसको अपनी आधी शक्ति देने को कहा। जिसे लेने के बाद लोलू में उसे एक सम्मोहन मंत्र भी दिया, जिसकी कभी भी जरूरत पड़ सकती थी। फिर राज की जगह उसके घर चला गया तो रति उसके इर से आकर गलें मिली। लेकिन रंजीत तो नहीं जानता था ना की रति के गले लगते ही राज उसे हल्के से गले लगकर उसके सिर पे हाथ घुमाता था। लेकिन रंजीत रति को कसकर चुपके से एक हाथ को उसकी गाण्ड में लेजाकर दबाने लगा। जिसमें रति को झटका लगा। क्योंकी उसकी शादी से पहले और बाद में 4 बच्चों के होने के बाद भी राज ने कभी ऐसा नहीं किया था।

जिससे रति अपने आपको उससे अलग करने की कोशिश करने लगी, तो रंजीत को भी लगा की उससे गलती हो गई है। रति उसमें कोई सवाल करें या शोर मचाए, उससे पहले ही रंजीत ने मंत्र को बोला। जिससे रति रंजीत के सम्मोहन में आ गई। तभी तो लोलू के कहने पे वो रति के साथ कुछ नहीं किया। पर अपनी सेक्रेटरी मोना के साथ तो करता ही था, जिसका पता रति को भी था। और इस मंत्र से इंसान सम्मोहन में होने से भी नार्मल हो लगता है।
Reply
11-23-2020, 01:51 PM,
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
ऐसे ही टाइम निकलता गया और 18 साल निकल गये। आज वो टाइम था जब इसको खत्म होने पे अगले दिन अवी का बर्थ-डे था और लोलू की शक्ति मिल चुकी थी। और लोलू जो बीमारी लगी थी उसका उसे पता चल गया था, जिससे उसने अपने गलामों की शक्तियां उसे दे दिया, और अब तो उसको भी अपनी शक्तियां वापस मिल गई थी। और इसमें उसे कहीं बलि भी देनी पड़ी, जिनमें अपने गुन्डागर्दी के पार्टनर जिसको उसने अपनी शक्ति से दूसरा शरीर दिया था उसको, और उसके सभी गन्डों की बलि दी थी। क्योंकी उस बाल के लिए कोई मिला नहीं था।

लोलू ने कुछ प्लान किया था और उसने उसे अंजाम देने के लिए रंजीत को राज की चारों बेटियों को यहां लाने का कहा। रंजीत उन चारों को घुमाने और कल अवी के लिए गिफ्ट लाने के वहाँने से उन्हें लोलू के पास ले जाने लगा, तो रास्ते में ऐसे रास्ते देखकर जब वो सब सवाल करने लगी तो उसने उन्हें भी सम्मोहन में करके लोलू के पास कुछ घंटे में आ गया।

रंजीत. बाबा लाल, में इन्हें सम्मोहन कर के ले आया हैं।

लोलू- ठीक है। तुम बाहर जाओं, कुछ देर में तुम्हें बुलाता हूँ।

फिर रंजीत के बाहर जाने के बाद लोलू अपना काम शुरू कर देता है और उन चारों को बुलाता है- "चिकनी, मची, गप्पी, उकी. फिर अवी की सभी बहनों की बलि दे देता है।

लोलू- "अब तुम चारों; चिकनी, मची, गप्पी, उकी; इन चारों; डाली, मिशा, जैना, रिया; का रूप ले सकती हो और वो टाइम के साथ बदलता भी रहेगा और कोई तुम्हें पहचान भी नहीं सकेगा। पर जैसे ही तुम्हें इन सभी के रूप में लाऊँगा तुम सभी सब कुछ भूल जाओगी। इसलिए मैंने तुम चारों को बी. डी. के टाइम ही एक दूसरे से जोड़ दिया था..."

फिर कोल कुछ करता है- "अब तम में से बी.डी किसी के भी साथ कुछ करेंगा ता तम्हें उसका एहसास होगा, और सबसे बड़ी बात जब तुम्हें कुछ याद ही नहीं रहगा तो अपनी शक्ति इस्तेमाल करने का सोचना भी चूतियापा हैं। लेकिन बी. डी. जैसे ही किसी एक के साथ सेक्स करेंगा, सब याद आ जाएगा और फिर तुम सभी कभी भी कैसे भी अपनी शक्तियां इस्तेमाल कर सकती हो और रूप भी बदल सकती हो..."

एक उनमें से- "पर इसमें क्या होगा?"

लोलू- "इससे बी.डी. को अपनी शक्तियां भी मिल जाएंगी और तुम सभी काली-शक्ति की हो, भले ही तुम्हें याद ना हो इससे वो गलत को चुनने के लिए ज्यादा उकसाएगा और मैं तुम्हें कब क्या करना है ये बता सकता हैं। तुम्हारे वहां होने से मेरी शक्ति सही से और शक्तिशाली रूप से काम करेंगी...'

बस फिर क्या था लोलू ने उन्हें अबी की बहनों में बदल दिया। जिससे अभी सिर्फ उन में उनकी सोच थी और वो बेहोश थीं। फिर रंजीत को बुलाकर उन्हें वापस ले जाने के लिए बोल दिया, तो रंजीत तांत्रिक लोलू की बात मानकर उन्हें गाड़ी में डाल वापस आ गया।

रंजीत- इन्हें क्या हुवा है लोलू बाबा?

लोलू- "कुछ नहीं। बस तुम इन सबको भी चोदना चाहते हो ना? इसलिए इनके जिशम की गर्मी को हवा दे दिया
-
रंजीत खुश होकर- "सच में मजा आएगा। लेकिन आपका काम कब पूरा होगा? और क्या है आपका काम?"

लोलू- कल अवी के 18वें बर्थ-डे की रात उसे 10 आदमियों की सेक्स ताकत और जिश्म की ताकत भी मिलेंगी, जिसमें एक काली रात को उसकी बलि दूंगा." झूठ कहा।

रंजीत- ओह्ह.. ठीक है, पर मुझे क्या करना होगा?

लोलू- "तुम्हें रति को इसके पास सुलाना होगा। क्योंकी तभी इसकी सेक्स की ताकत को वो ही संभल सकती है। एक तो इतने सालों से उसने सेक्स नहीं किया है। ये लो में रति को पिला देना, और एक बात इसके हवस और सेक्स को बढ़ावा देने के लिए तुम्हें कुछ न कुछ करना होगा.." कहकर लोलू कुछ देता है जिससे रति की सेक्स आग जाग जाए।

रंजीत- "ये क्या बोल रहा है भाई बुइटें? मैंने कहा था ना की उसे मैं चोदूंगा, और तू इससे चुदवाना चाहता है..." अब वैसे भी रंजीत में अपनी शक्ति की वजह से अपने पुराने दोस्त रजत के साथ उसके बास को मारकर एक बड़ा डान बन जाना था।

लोलू- "देखो मंजीत, मैं सिर्फ एक बार होगा। वैसे भी उसका बेटा उसे चोदेगा तो, तब भी तुम्हारा बदला पूरा हो हो रहा है...'

ऐसे ही कुछ और झठ बोलकर लोलू उसे समझाता है। क्योंकी उसे इसकी जरयत थी। वरना कब का मार दिया होता और ये अवी और सभी के बारे में खबर भी तो देता था।
फिर रंजीत चला जाता है लाल के बताए काम को अंजाम देने। और इधर लाल भी कल रात की तैयारी के लिए लग जाता है।

फिर आता वो टाइम जब लोलू की जिसको इंतजार था रात के 12:00 बजे थे। पूरी अंधेरी रात थी और फिर लोलू ने जब बी.डी. को अबी की बाडी में डाला तो, उस टाइम काली शक्ति कुछ ज्यादा ही फैली हुई थी। जिसकी बजह से अब लोलू के जितने भी गुलाम थे, उन सभी का मालिक बी.डी. बन गया था। फिर उस रात अवी अपने टाइम में उठा तो गति को ऐसी हालत में देखकर बी.डी. ने उसकी काम-शक्ति के साथ हवस भी बढ़ा दी। आगे
क्या हुआ आप जानते ही हैं। फ्लैशबैक में फ्लैशबैक समापत।
Reply
11-23-2020, 01:51 PM,
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
फ्लैशबैक जारी

चिकनी "तो ये है तुम्हारी कहानी और हम तुम्हारी मोम होते हुए भी तुम्हारी गुलाम हैं.."

बी.डी. ये सुनकर खुश होते हए की- "मैं किसी का गुलाम नहीं हैं, और ये भी समझ में आ गया की अगर मुझे अपनी पूरी शक्तियां हासिल करनी है तो अपनी तथाकथित माम्म की चूत फाड़नी होगी। मजे का मजा और शक्तियों के गिफ्ट का अलग मजा हाहाहाहा... मजा आ गया... वहां साले लोलू का दिमाग है तेरा आज वो गान्डू (लाल) मेरा खास आदमी (मंत्री) है..."

बी.डी.- "तो मेरी चूत रानियों सब नंगी होकर चूत खोलकर नंगी उल्टी लेट जाओ। अब मुझे मेरी परी शक्तियां चाहिए..."

बस फिर क्या था? उन सभी की चूत और बी.डी. का लण्ड। फिर चला चीखों और धक्कों सा सिलसिला। इसके पूरे होते ही बी.डी. को पूरी बाड़ी में दर्द होना शुरू हो गया, जिससे वो नीचे गिर गया। फिर उसकी बाड़ी से अवी की आत्मा यानी असली-आत्मा निकलकर गायब हो गई।

अवी की असली आत्मा- "तमने मेरे ही सहारे में पूरी परिवार को बर्बाद कर दिया, और मेरी सभी बहनों की मौत हो गई। देखना में फिर आऊँगा अपनी सभी बहनों के साथ, उन्हें बहुत प्यार करगा और तुम्हें ऐसी मौत दूँगा की तेरी रूह भी कांप उठेगी..."

और बी.डी. की बाडी से, बन्योती अब तो ये इसी की बाडी बन गई थी, अबी के बाडी से निकलने के बाद। उसकी बाड़ी में उसकी वो काली-आत्मा फैल गई और उसके बाद वो खड़ा हो गया। लेकिन ये क्या? अब वो वो नहीं रहा था, जो पहले था। अब वो वो बन चुका था जिसके लिए लोलू ने उसे बनाया था। लेकिन अपना कंट्रोल उसपे नहीं रख सका।

बी. डी. ने अवी की आत्मा की सब बात सुनी थी, पर अपनी परी शक्ति मिलने और होने वाले बदलाव के चलते उसे देख नहीं पाया था। क्योंकी अब शैतान किसी भी आत्मा को आराम से देख सकते हैं।

फिर सब होने पे ब्लडी-डेविल अपने खतरनाक रूप में आ जाता है। पहले तो एक असुर के रूप में, फिर वो बदलकर शैतान के रूप में आ जाता है। जो पूरा काला होता है, उसकी आँखें भी लाल, सफेद, ब्लैक और नारंगी गंग की तरह चमक रही थी, और उसके हाथ में एक तलवार थी जो खतरनाक भी। फिर इससे बदलकर बा एक
शैतान और आदमी के मिश्रण के रूप में आता है।

बी.डी.- "हाहाहाहा.. मुझे मरेगा हाहाहा.. बो भी वापस आकर हाहाहाहा... मुझे कोई नहीं मार सकता, क्योंकी मैंने कोई जन्म नहीं लिया, बल्की बनाया गया हूँ हाहाहाहा... मेरी शक्ति की कोई टक्कर नहीं थी किसी के पास..."

अब पूरी शक्ति मिलने में बी. डी. को पता चल गया था की उसकी कितनी शक्ति है और में सच भी है। क्योंकी में किसी की शक्ति को मिक्स करने पे उसकी शक्ति कितनी शक्तिशाली होगी और कैसे रुप में होगी, ये सिर्फ वहीं बता सकता था या फिर वो ऊपर वाला।

फिर मैं सभी को पहले की नार्मल बिहेव करने का बोलकर आराम करता हैं। क्योंकी अब रंजीत का गेम जो बजाना था और इसके आगे क्या हुआ बाकी आप जानते ही हैं।

फ्लैशबैंक समाप्त
*####
Reply
11-23-2020, 01:51 PM,
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
कड़ी_51 आखिरी कड़ी –

वर्तमान में रंजीत धड़ाम की आवाज के साथ नीचे गिरा और तेज आह्ह... करके दर्द से चिल्लाया। फिर कुछ देर रोने के बाद मुझसे बोला।
रंजीत दर्द और डर के साथ- "तुम्हारे पास इतनी शक्ति कहां से आई? आहह.."

मैं- "चल मरने से पहले दर्द से राते हए मेरी कहानी सुन। वा क्या है कल शाम 7:00 बजे में तेरे ही बारे में सोच रहा था की कैसे करूं सब? मुझे रात होने का इंतजार था। क्योंकी तभी मैं इतना शक्तिशाली नहीं था, या में कहो की मेरी पूरी शक्ति आक्टिव नहीं हुई थी.."
फिर मैं उसे ती कहानी बताता हैं।

अभी इतनी देर कहानी बताने से वो चुपचाप सुन रहा था। लेकिन उसे जलन के साथ डर भी लग रहा था, और उसे समझ में आ गया की खुद वो अबी और उसकी परिवार के साथ खेल नहीं सका। किश्मत ने खुद उसके खेल में उसी के साथ ऐसा खेल खेला की आज वो मौत के सामने है। लेकिन अब उसने सोचा की बचना है तो चुपचाप ही निकलना पड़ेगा।

रंजीत उठकर बाहर जाने ही वाला था की बी.डी. ने अपने हाथ के इशासरे से उसे उठाकर फिर नीचे पटका, तो उसकी फिर चीख निकल गई। फिर बी.डी. ने अपनी तलवार का याद किया, वो आ गईं। फिर उसने उसे इंबिल्स का जो हथियार होता है, जिसके बारे में पहले बता चुका है उसमें बदल जाता है। बी.डी, उसकी नोक को जीत के जिम में रखकर चीरे लगाने लगता है। जिससे रंजीत दर्द से चिल्लाने लगता है, क्योंकी ये कोई नामल हथियार नहीं था, बल्की बी.डी. का हथियार था।

रंजीत- नहीं आइ: नहीं आअहह... आअह्ह.. छोड़ दो मुझे आइ: आअहह.."

बी.डी, एक झटके में सचिया उसके सीने के बीच में घुसा देता है, जिससे तड़पते हए रंजीत मर जाता है। उसको मारने के बाद बी.डी. हँसते हुए खुद को क्रियेंट करने वाले के पास आता है। मुझे कुछ सेकेंड ही लगे यहां आने

मैं- कैसे हो लोलू बाबा?

लोलू- "बी.डी. तुम... मुझे पता था की तुम्हें पता चलते ही तुम यहां जरनर आओगे। लेकिन इतना लेंट कसे हो गये। तुम्हें तो कल रात ही पता चल गया था?"

मैं- "हाँ मैं जानता है की तुझे पता चल गया था। और रही लेट आने की बात तो मैं तेरे उस गुलाम रंजीत को मारकर आ रहा है..."

लोलू- "क्या? चलो अच्छा किया, साला कमीना था.." और इरते हए- "तो क्या अब मुझे भी मारना चाहते हो?"

मैं- अरे नहीं यार, त तो बड़े काम की चीज है। अब से तू मेरा सबसे खास आदमी है।

लोलू मरने से बचने के साथ बी.डी. का खास आदमी... मतलब अभी भी वो औरों पा हकमत कर सकता है जिससे वो खुश हो जाता है।
लोलू- सच... में तैयार हैं।

मैं- "हाहाहाहा... चल ठीक है। मैं चलता हैं। लेकिन अब जब मैं वापस आऊँ तक मेरी बी.डी. सेना तैयार रखना.."

लोलू- मतलब? किसकी बात कर रहे हो तुम?
- मतलब?
-
मैं- "साले गान्ड... अभी तझ खास बनाया और कर दिया जा चुतिया जैसी बात? अबे 165 वो लोग समझा: चार तो वैसे ही मेरे पास हैं."

लोलू- "अच्छा तो तुम उनकी बात कर रहे हो? उन्हें तो मैं अभी बुला सकता हैं. ये बोलकर लोलू उन सभी को बुलता है। वा सभी आकर बी. डी. के सामने घुटने टेक के बैठ जाते हैं।

बी.डी.- "हाहाहाहा... लोलू में इन्हें अपने साथ लेकर जा रहा हूँ.."

फिर वो उन्हें लकर अपने घर आ जाता और घर के सभी लोगों को अपने वश में कर लेता है, और उन चारों को भी बोलता है की जिसके साथ भी मैने संबंध बनाए हैं, उन सभी को लकर आ जाए। फिर क्या था वो सभी भी उसके वश में थी, उनमें बस क्लब वाली औरतें नहीं थी और ना ही वा चुर्जी। बस बाकी सभी को सम्मान कर दिया। जिससे वो उनके जाने में हंगामा ना करें।

एक बात बताना ही भूल गया। उन 165 के साथ में मारला को भी लेकर आया था, जिसे लोलू ने गिफ्ट दिया था। ऐसे ही दिन सालों में बीत गये थे। अब पूरे अंडरवल्र्ड का सिर्फ एक ही डान था, और वो था बी.डी. यानी ब्लडी-डेविल।

इन सालों में जिसके पास शक्ति नहीं थी वो सभी बच्चे पैदा कर के मर गयें, सिर्फ गति को छोड़कर। लेकिन उसने भी आखिरी टाइम भगवान को याद करके आत्महत्या कर लिया। बी.डी. सभी औरतों के साथ सेक्स करके बच्चे पैदा करता था। ऐसे ही उसके बच्चे भी बड़े हो गये थे।
जिसमें से 9 बच्चे वो थे जो सिर्फ इंसान यानी नार्मल औरतों से हुए थे, जैसे रति, झुमरी, चदा, सविता, ऋतु,
मोना, रेणु, मीनाक्षी, मार लो। इन सभी के बरचा का बी.डी. ने अंडरवाई के लिए चुना।

बाकी औरतों और उनके बच्चों के साथ उसने अपनी बलडी-डेविल सेना तैयार किया था। उसे राज की प्रापर्टी बेचकर विलाशपुर के साथ उस जंगल को भी खरीद लिया। अब इस जगह का नाम शैतानपुर हो गया था। उसकी सेना उसी जंगल में ही रहती थी।

एक दिन बी.डी. के सामने गुरुकाल शैतान आता है।

गुरुकाल- "ये तुम क्या कर रहे हो? अब भी वक्त है रुक जाओ, बरना शैतान किंग को आकर ही तुम्हें रोकना पड़ेगा समझे?"

बी. डी.- "ओह्ह ... तो बुइटै तू फिर आ गया? तुझे कितनी बार बोला है की मेरे रास्ते में मत आ, और साले तेरे उस किंग की मौत मेरे ही हाथों होगी..."

गुरुकाल बी.डी. की बात सुनकर गुस्से में एक बार करता है, काली-शक्ति के साथ तलवार होती है। बी.डी. को इसका अंदाजा नहीं था, जिससे उसका हाथ जख्मी हो जाता है।

गुरुकाल- "ये आखिरी बार है समझे? वरना अगली बार सिर्फ मौत होगी." में बाल गुरु काल चले जाते हैं, और बी.डी. का घाव भी भर जाता है। लेकिन उसका गुस्सा बढ़ता जाता है।

तभी लाल वहां आता है और बी.डी. को गुस्से में देखकर उससे पूछता है- "क्या हा?"

बी.डी. उसे गुरुकाल की अबसे लेकर पहले की सारी बातें बताता है- "अब इतने साल तक ये साला नहीं आया तो मैं भूल गया था इसे। अब इसकी और इसके शैतान किंग की मौत पक्की है, और फिर मैं पो शैतान वई को अपना गुलाम बनाऊँगा हाहाहाहा..."

लोलू- लेकिन पहले तुम्हें और शक्ति और अपनी लड़ाई के लिए तैयारी करनी चाहिए।

बी.डी. को भी लोलू की बात सही लगता है। वो भी इसमें लग जाता है, जिसमें 5 साल निकल जाते हैं। अब वो इसके लिए तैयार था। बी.डी. अपनी पूरी सेना और लाल के साथ शैतान बल्ई पर हमला कर देता है।

***** *****
Reply
11-23-2020, 01:51 PM,
RE: Incest परिवार में हवस और कामना की कामशक्ति
शैतान लोक यहां का किंग एक अच्छा आदमी है। वो खुद कभी गलत नहीं करता है, ना ही पृथ्वी के और अपनी दुनियां के लिए किसी को खतरा बनने देता है।

यहाँ आज खुशी मनाई जा रही थी। क्योंकी शैतान-रानी ने अपने प्रेग्नेंट होने के बारे में बताया था। उसी दिन से पहां रोज जश्न होता है।
तभी एक शैतान सैनिक ने आकर बताया की हमारे ऊपर हमला हुआ, तो सभी उस अचानक हए हमले से हड़बड़ा जाते हैं। फिर शैतान किंग और यहां के शैतान-गुरु के समझाने पे सब उस हमले का जवाब देने के लिए तैयार हो जाते हैं।

जब सब तैयार होकर वहां जाते हैं, जहां हमला हुआ था तो देखते है की ये हमला बलडी-डेविल ने किया है। इससे सभी गुस्से और जोश के साथ उनके हमले का जवाबी हमला करते हैं, जिससे उन्हें भी इनकी ताकत का पता चल जाता है। जिससे बी.डी, को भी पता चल जाता है की अपने गुस्से में वो यहां हमला तो कर दिया। लेकिन ये कोई मामूली शक्ति नहीं है, इन्हें हराना मुश्किल होगा।
फिर शुरू होती है खूनी लड़ाई। सभी खूखार होकर लड़ रहे थे। शैतान किंग को अपनें किंग और अच्छे लड़ाईं की
फाइटिंग स्किल्स दिख रही थी। शैतान गुरु भी अपनी स्किल्स और शक्तियों का अच्छा इस्तेमाल कर रहे थे। वहीं शैतान सेनापति भी मस्त लड़ाई कर रहा था और शैतान सेना भी।

बी.डी. भी अपना खुनी खेल सही से खेल रहा था। लेकिन वो शैतान किंग के जैसे नहीं था। उसका तांत्रिक लोलू पहां आकर कमजोर पड़ गया था। वही बी.डी. की तथाकथित चार मोम्स मस्त लड़ाई कर रही थीं। एक तो वो इतनी पुरानी थी, और उनकी शक्ति भी बहुत थी तो मस्त लड़ाई थी उनकी भी। ऐसे ही पता नहीं कितनी देर तक ये खेल चलता जा रहा था।

इस लड़ाई में लोलू की वो बीमारी जो उसके पाप के फल के रूप में मिली थी, जिसे उसने अपनी शक्ति से रोका हुआ था वो यहां अब तेजी से बढ़ रही थीं उसके शक्ति इस्तेमाल करने से। जिससे लाल कमजोर हो गया था।

शैतान किंग ने उसे एक बुरी मौत दी।

ऐसे ही बी.डी. की आधी से ज्यादा सेना मारी जा चुकी थी। अब शैतान सेना का इतने सालों से होना और दूसरा उनका लड़ाई का अनुभव जिसके आगे ये अलग जीव ज्यादा देर तक उनकी आगे नहीं टिक सके। इसमें शैतान सेना का भी बहुत नुकसान हुआ था। क्योंकी ऐसे अलग जीव जिसमें कुछ बी.डी. की शक्ति भी थी, जिससे ये लड़ाई ऐसी चली, वरना कब का इसका फैसला हो चुका होता।

फिर बी.डी अपनी सेना का ये हाल देखकर समझ गया की अब ऐसे तो उसका हारना तय है, तो उसने एक चाल चली। जिसमें उसने सिर्फ शैतान किंग को ही खुद से लड़ाई के लिए उकसाया।

अब ये लड़ाई तो पूरी खतम हो हो चुकी थी। बस ये दोनों ही लड़ने वाले थे। जब इस बात का पता शैतान-महल में चला तो शैतान-रानी भी इसे देखने चली आई।

फिर शुरू हुई दोनों की लड़ाई। इसमें दोनों के पास अपनी-अपनी तलवार थी। दोनों एक दूसरे पे खतरनाक हमले के साथ अपनी शक्तियों का भी परें इस्तेमाल करके उसका भी हमला कर रहे थे। जिससे कभी-कभी तो दोनों ही सेना का जो अपनी-अपनी जगह खड़े होकर ये लड़ाई देख रहे थे, उन्हें भी कुछ नहीं दिखता था।

बी.डी. ने देखा की अभी तक शैतान किंग को कुछ घाब लगे थे, जो कुछ पल में ही भर जाते हैं। उसके भी होते है वो भी बार जाते हैं। फिर बी.डी. की नजर शैतान-रानी में गई, जिसका पेट फूला हुआ था। पानी वा प्रेग्नेंट थी और सुंदर भी बहुत थी, जिसे देखकर उसके लण्ड में कड़कपन आने लगा, तो उसके दिमाग में एक शैतानी चाल आईं, जिससे लड़ाई भी जीत सकता था और शैतान-रानी के साथ सेक्स भी कर सकता था।

अपनी चाल में काम करते हए जब दोनों की शक्ति के टकराने से कुछ नहीं दिखा, तो बी.डी. अपनी पूरे तेजी के साथ शैतान-रानी के पास गया और अपनी तलवार उसकी गर्दन में रख दिया।

सब लोग में देखकर गुस्से में उसे मारने को आगे बढ़े की बी.डी. ने रानी को जान से मारने की धमकी दी। जिससे सबको रुकना पड़ा। किंग बी.डी. के इतने गिरने की नहीं साचे थे।

बी.डी.- "वाह रानी... तुम तो मस्त माल हो एक नम्बर की। आज तक जिसको भी मैंने चोदा है उनमें से तेरे मुकाबले कोई नहीं... क्या करारा माल है त, अब देख कैसे लेना हो तेरे मजे.."

बी.डी. शैतान किंग सें- "अबें ऑये शैतान किंग... अपने और अपनी सेना को कहाँ अपने हथियार फेंक के सब घुटने में बैठ जाओं लेकिन तू नहीं। तू पास आकर अच्छे से देंख की कैसे मैं तेरी बीवी को यहां तेरे और सबके सामने चोदता है."

शैतान किंग की पूी आँके अँगार की तरह लाल और गुस्से में- "तेरी पूरी बाडी को फाड़कर रख दूँगा, अगर मेरी रानी को कुछ किया भी तो साले कमीने तलवार से चीर देगा तेरी जबान समझा?"

परी शैतान सेना में सुनकर आश्चर्य और गुस्से में हो गई थी। क्योंकी आज तक वो कितने दुश्मनों से लड़ चुके थे। लेकिन ऐसी घटिया सोच किसी की नहीं थी।

बी.डी.- "हाहाहाहा.. तू मेरा कुछ नहीं कर सकता हाहाहा... अगर हिला भी तो इसकी गर्दन काट दूंगा समझ."

फिर बी.डी अपनी पैंट निकालकर नंगा हो जाता है, जिसमें उसका पूरा लंबा काला खड़ा लण्ड सभी को दिख रहा था। फिर वो जैसे ही रानी के पीछे हाथ लगाने वाला होता है, पूरा शैतान-लोक बी.डी. की चीखों से गैंज उठता है। बी.डी. की जो सेना शैतान किंग और उसकी सेना की मजबूरी और बी.डी. के सीन को देखकर हँस और गर्म हो रही थी लिब शैतान-रानी की सेक्स को देखने के लिए, वो सभी बी.डी. को लण्ड पे हाथ रखे चिल्लाने से परे

सदमें में थी की तभी उन्हें शैतान किंग में एक और झटका दे दिया।

तो दोस्तों, हुआ कुछ ऐसा था को जैसे ही बी. डी. पानी को हाथ लगाने को हुआ, उसने अपनी पूरी शक्ति से बनी एक कटार को बनाया, जिसमें उनके उसकी चूत का खून भी मिला हुआ था। ये उन्होंने पहले ही बना लिया था

और फिर जैसे ही बी.डी. को कुछ करते देखा, तो उसके लण्ड को बीच में से काट दिया। जिससे बी. डी. अपने कटे लण्ड को पकड़े हुए खून वहाँते हुए चिल्ला रहा था।

उधर शैतान किंग अपनी मजबूरी में नीचे देखकर आँसू वहाँ रहे थे। जब उन्होंने बी.डी. की चीखें सुनी तो उसको देखा और फिर रानी को तो वो सब समझ गये। और अपनी तलवार उठाकर तेजी से परी तलवार बी.डी. के पेंट के पार कर दी, और फिर एक दर्द से तेज चीख निकल गई पूरे शैतान लोक में।

अब बी.डी. को कौन बताए की ये उसकी वो मामूली औरत नहीं थी, जिसके साथ वो कुछ भी कर लेता था। ये शैतान-रानी है, जो अब प्रेग्नेंट होने की वजह से इस लड़ाई में शामिल नहीं हुई थी, वर्ना उन्होंने तो शैतान किंग के साथ पता नहीं कितनी ही लड़ाईयां लड़कर जीती है।
***** *****

पहले भाग का समापन

कर्मफल- अब जब तांत्रिक बिटछमें रति के जनम के लिए उसकी माँ पर काली शक्तियों का प्रयोग किया और दो नवजात पश-शिशुकी बलि का काम करके पाप किया, वो भी संतान प्राप्त करने जैसे अच्छे काम के लिए तो उस पाप और उस काली-शक्ति का प्रयोग करने और करने वाले दोनों लोगों पर उसका बुरा प्रभाव तो पड़ना ही था। साथ में उससे वो अच्छे परिणाम की आशा कैसे कर सकते हैं? ठीक ऐसा ही इनके साथ हुआ। तांत्रिक बिच्छू की बुरी मौत उसके नाम को मिटाकर तांत्रिक लोलू के दवारा अपना राज्य होना और रति के माता-पिता को अपनी दोनों बेटियों की ऐसी हालत और उनके साथ ऐसा होते देखना उनके दुखों की कोई सीमा ही नहीं थी।

रंजीत और उसके दोस्त ने गलत किया। उसकी भी सजा उन्हें इतनी बुरी मौत मरने से हुई। मनोज की मौत भी बुरी हुई, और बी.डी. और लोलू की मौत भी आप पढ़ ही चुके हैं।

कहानी से सीख- "इंसान के बुरे कर्म ही नहीं, बल्की उसकी बुरी सोच भी उसका नाश करती है। इसलिए अच्छा सोचें और अच्छा करें। रिजल्ट अपने आप अच्छा होगा। एक और बात, सभी की 18 साल की उम से जो तूफानी दौर शुरू होता है, वो ऐसा होता है जैसे काली शक्तियों के बीच चल रहा हो। इस टाइम हमें उत्कंठा होती है, जो ज्यादातर गलत करने के लिए उत्तेजित करती है। इसलिए सिर्फ अच्छी बातों को जानने के लिए अपनी उत्कंठा को शांत करें।
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Heart Chuto ka Samundar - चूतो का समुंदर sexstories 665 2,773,936 54 minutes ago
Last Post: desiaks
Thumbs Up Thriller Sex Kahani - अचूक अपराध ( परफैक्ट जुर्म ) desiaks 89 604 1 hour ago
Last Post: desiaks
Thumbs Up Desi Sex Kahani कामिनी की कामुक गाथा desiaks 456 28,853 11-28-2020, 02:47 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb Gandi Kahani सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री desiaks 45 10,301 11-23-2020, 02:10 PM
Last Post: desiaks
Thumbs Up Maa Sex Story आग्याकारी माँ desiaks 154 113,592 11-20-2020, 01:08 PM
Last Post: desiaks
  पड़ोस वाले अंकल ने मेरे सामने मेरी कुवारी desiaks 4 70,850 11-20-2020, 04:00 AM
Last Post: Sahilbaba
Thumbs Up Gandi Kahani (इंसान या भूखे भेड़िए ) desiaks 232 41,065 11-17-2020, 12:35 PM
Last Post: desiaks
Star Lockdown में सामने वाली की चुदाई desiaks 3 13,112 11-17-2020, 11:55 AM
Last Post: desiaks
Star Maa Sex Kahani मम्मी मेरी जान desiaks 114 133,710 11-11-2020, 01:31 PM
Last Post: desiaks
Thumbs Up Antervasna मुझे लगी लगन लंड की desiaks 99 84,964 11-05-2020, 12:35 PM
Last Post: desiaks



Users browsing this thread: 34 Guest(s)