Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
10-15-2019, 12:17 PM,
#31
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
मैंने किसी तरह अपने आप पर कंट्रोल किया अपने रूम मे आ गया रूम के अंदर आते ही जल्दी से कपड़े पहनकर आ गया. मैं ने दीदी को अंजू को देखने के लिए बोल दिया ऑर वहाँ से पूनम के साथ रूम से बाहर निकला टॅक्सी पकड़ कर पार्क मे आ गया.. मैने टॅक्सी से उतरते ही टॅक्सी वाले को पेमेंट्स किया ऑर पूनम के साथ पार्क के अंदर घुस गया. शाम हो गयी थी जगह-जगह प्रेमी जोड़े बैठे हुए थे.. मैं पार्क के अंदर घुसते हुए पूनम का हाथ पकड़े झडियो के पिछे चला आया.. मैंने इधर-उधर देखा दूर तक कोई नज़र नही आरहा था... मैं पूनम के साथ झडियो के पिछे बैठ गया जिसमे कि हमे कोई ना देख सके.. मैं हरी-हरी घास पर लेट गया.. पूनम मेरे बगल मे लेट गयी....


मैं पूनम के उपर आया अपने दोनो कोहानियों के बल झुकते हुए पूनम के गुलाबी होंठो को अपने होंठो मे भरते हुए..धीरे-धीरे अपने सारे सरीर का वजन पूनम के उपर डाल दिया.

पूनम के गालो को सहलाते हुए उसके गुलाबी होंठो को चूसने लगा.. पूनम पूरा साथ देने लगी.. बहुत देर तक जब हमारी साँसे उखाड़ने लगी.. तो मैंने अपने होंठो को अलग किया

मैं पूनम की चुचियो पर सर रखते हुए,' अपनी उखड़ी हुए सांसो को नॉर्मल करने लगा..

जब मेरी साँसे नॉर्मल हुई तो मैने पूनम के सर को पकड़ते हुए कहा,' क्या मैं अपनी बीवी को प्यार कर सकता हूँ
इतना बोलकर मैं पूनम के आँखो मे देखने लगा,

पूनम मेरी आँखो मे झाँकते हुए- मैं आपको कब रोक रही हूँ..

पूनम की बात सुनकर मैंने पूनम को बाहों मे भरा अपने हाथो को उसकी पीठ पर कसते हुए करवट बदल लिया.. मैं नीचे हो गया ऑर पूनम उपर मैं पूनम की पीठ पर हाथ घूमाते हुए, पूनम के होंठो को चूसने लगा ऑर धीरे-धीरे ब्लाउज के पूरे हूकों को खोल दिया अंदर ब्रा नही था. मैंने फिर से करवट बदला अब पूनम नीचे हो गयी.. मैंने पूनम के ब्लाउज को निकाल कर एक ओर रख दिया.

अपने दोनो हाथो से दोनो चुचियो को दबोचते हुए एक चुचि के निपल को होंठो भरकर चूसने लगा.... दूसरी चुचि को मसलने लगा.... पूनम अपने हाथो से मेरे सर को अपनी चुचियो पर दबाने लगी... मैने पूनम के दोनो चुचियो को चुसते हुए ऑर मसलते हुए लाल कर दिया.. अब मेरा लंड लोहे के भांति खड़ा था... अंडरवेर मे झटके मार रहा था... मैने खड़ा होकर देखा हमारे आस-पास कोई नही था...

मैंने पैंट निकाल दी अब सिर्फ़ अंडरवेर रह गया..

मैं पूनम की दोनो चुचियो को दबोचते हुए ज़ोर-ज़ोर से मसलने लगा.... ऑर उसके कानो को चूसने लगा.... पूनम कुच्छ देर के बाद सिसकने लगी...एयेए..आ....एम्म्म ..एमेम..एयेए .......आआआ....हह...एयेए धीरे से मसलिये एयेए..आह्ह्ह्ह....एम्म्म धीरे से ........आआआ....हह...एयेए

मैं उसके कानो को चुसते हुए दोनो चुचियो को मसलने लगा....

थोड़ी देर के बाद मैने एक चुचि के निपल को होंठो मे भरा ऑर ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा... चुचियो को चूसने मे बहुत ही आनंद आरहा था... चुचियो को चूसने के साथ दोनो हाथो से आटे की तरह गूँथ भी रहा था...

पूनम- एयेए.........आआआ....हह...एयेए
...एमेम...उउउ...एम्म...य्यी. ...ब्ब.....आआआ....हह...एयेए
ऑर ज़ोर से चुसिये खा जाइए दोनो को बहुत परेशान करती है मुझे.. मैं पूनम की बातो को सुनकर ऑर जोश मे आ गया ऑर चुचियो को चूसने के साथ थोड़ा-थोड़ा काटने लगा....

पूनम का बदन छटपटाने लगा ऑर अपने पैरो को मेरी कमर पर कसते हुए... ऑर ज़ोर से चुसिये मेरा निकलने वाला है.....आआआ....हह...एयेए ....एमेम ........आआआ....हह...एयेए .न्ण.मम...... ....व..आआआ....हह...एयेए
ज़ोर से उछलते हुए मेरे सर को अपने चुचियो पर दबाते हुए झड गयी.........

पानी छोड़ने के बाद पूनम ज़ोर से हाँफने लगी मस्ती मे उसकी आँखे बंद हो गयी.. मैने पूनम के एक हाथ को पकड़ते हुए अपने लंड को अंडरवेर से बाहर निकाला ऑर पूनम को पकड़ा दिया.. पूनम की उंगलिया मेरे लंड पर कस गयी..मैं ने पूनम की साड़ी को पेटिकोट सहित उपर पेट तक कर दिया... ऑर पूनम ने अंदर एक ब्लॅक कलर का पैंटी पहनी हुई थी... जो केवल चूत को ही कवर कर रही थी...
Reply

10-15-2019, 12:18 PM,
#32
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
पानी छोड़ने के बाद पूनम ज़ोर से हाँफने लगी मस्ती मे उसकी आँखे बंद हो गयी.. मैने पूनम के एक हाथ को पकड़ते हुए अपने लंड को अंडरवेर से बाहर निकाला ऑर पूनम को पकड़ा दिया.. पूनम की उंगलिया मेरे लंड पर कस गयी..मैं ने पूनम की साड़ी को पेटिकोट सहित उपर पेट तक कर दिया... ऑर पूनम ने अंदर एक ब्लॅक कलर का पैंटी पहनी हुई थी... जो केवल चूत को ही कवर कर रही थी...

मैं पूनम के उपर चढ़ते हुए उसकी थूक सनी चुचियो को फिर से चूसने लगा.... पूनम वैसे ही मेरे लंड को पकड़े रही मैने अपने एक हाथ को नीचे सरकाया पैंटी की पतली पट्टी को साइड से कर के एक उंगली को उसकी गीली चूत मे पेल दिया.. चूत अंदर से भट्टी की तरह गरम थी...


चूत मे उंगली को पेलते ही पूनम के मुँह से सिसकारी फुट पड़ी...आ..आआआ....हह...एयेए ..एमेम...एयेए..आ....एम्म्म .....ब्ब........आआआ....हह...आ ...एयेए..आ....एमेम ........आआआ....हह...एयेए एमेम ......
उसकी हाथो की मुट्ठी मेरे लंड पर कस गयी.. मैं उसकी चुचियो को चुसते हुए सटासट एक उंगली को पूनम की दहकति चूत मे पेलने लगा.... पूनम सिसकारी पर सिसकरी भरते हुए मेरे सर को अपनी चुचियो पर दबाने लगी... अचानक पूनम ज़ोर ज़ोर से लंड को आगे पिछे करने लगी ... मैंने एक ऑर उंगली को पूनम की चूत मे पेलते हुए अपनी दो उंगलियो को सटासट पेलने लगा... अचानक पूनम का बदन फिर से अकड़ने लगा वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से मेरे लंड को आगे-पीछे करते हुए एक बार ऑर झड गयी..

पूनम की चूत ने दूसरी बार रस की नादिया बहा दी.. थोड़ी देर मे पूनम का बदन शांत हो गया... पूनम की आँखे नशीली हो गयी उसके चेहरे पर मुस्कान फैल गयी. मैंने अपने लंड पर से उसके हाथो को छुड़ाया ऑर अपने घुटनो के बल पूनम के दोनो पैरो के बीच बैठ गया.... मैंने लंड को पकड़ते हुए पैंटी के पट्टी को अलग खिसकाया लंड पर बहुत ज़यादा थूक लगाकर चूत पर सेट किया ऑर हल्का धक्का लगाया लंड बिना किसी रुकावट के चूत मे समा गया.. मैं अपना पूरा वजन पूनम के उपर डालते हुए पूनम की दोनो चुचियो को दबोचते हुए अपने होंठो को पूनम के गर्दन पर रखते हुए, धीरे-धीरे लंड को चूत के अंदर पेलने लगा....
मेरा लंड पूनम की पैंटी से रगड़ ख़ाता हुआ चूत कसा-कसा जाने लगा....
Reply
10-15-2019, 12:18 PM,
#33
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
धीरे-धीरे पूरा लंड पूनम की चूत मे गायब हो गया. मैं पूनम की गर्दन पर चुसते हुए दोनो चुचियो को मसलते हुए... लंड को चूत मे पेलने लगा.... लंड पैंटी से रगड़ खाते हुए चूत की सैर करने लगा.... फॅक...फॅक्ट...फॅक की आवाज़े गुजने लगी....पूनम अपने दोनो हाथो से मेरे सर को पकड़ते हुए चूसने लगी..अब मेरे धक्को मे तेज़ी आने लगी. मैं सतसट लंड को चूत मे पेलने लगा....

लगभग 5 मिनिट्स के बाद पूनम नीचे से ज़ोर-ज़ोर से चूतड़ उच्छालने लगी... अपने दोनो पैरो को मेरी कमर पर कैची की भाती बाँध ली, एक जोरदार गंद को उच्छालते हुए झडने लगी.. मस्ती मे आकर उसने मेरे होंठो को काट ली... पूनम को जबर्दस्स्त ओर्गसम हुया.. मैं थोड़ी देर तक रुका रहा.. अबकी बार बिजली की रफतार से लंड को पूनम की रस भरी हुई चूत मे पेलने लगा.... फिर से उसकी गर्दन को चूमने चाटने लगा.... उसकी चुचियो को बहुत ज़ोर से मसल रहा था... पूनम मस्ती मे ...एयेए..आ....एमेम ........आआआ....हह...एयेए एमेम........आआआ....हह...एयेए .....व्व.....एम्म..सीसी...म्म
ऑर ज़ोर से चोदिये फाड़ दीजिए मेरी चूत को.....आआआ....हह...एयेए ........आआआ....हह...एयेए .

मैं ज़ोर से चोदे जा रहा था... लगभग 10 मिनिट्स के बाद मुझे लगा कि मैं झडने वाला हूँ... साथ ही पूनम का बदन भी अकड़ने लगा.... उसके दोनो पैर मेरी कमर पर कस गये..

मैं अपने दोनो हाथो से पूनम के सर को पकड़ते हुए उसके होंठो को चूसने लगा

और एक जोरदार धक्का लगाया ओर लंड को चूत की गहराई मे ठेलते हुए.... वीर्य की पिचकारिया छोड़ने लगा.... पूनम ने भी मेरे साथ ही पानी छोड़ दिया मेरे लंड से वीर्य की पिचकारियो से पूनम की पूरी चूत लबा-लबा भर गया.. पूनम मेरी पीठ को सहलाने लगी.. मेरी एक-एक बूँद पूनम की चूत मे छूट गयी..

लगभग 20 मिनिट्स तक मैं पूनम के उपर पड़ा रहा. थोड़ी देर बाद मैं अलग हुआ ऑर खड़ा हो गया.. तो रात होने वाली थी, मैं तुरंत ही कपड़े पहने.. पूनम तबतक ब्लाउज पहनकर साड़ी ऑर पेटिकोट सही करते हुए.. खड़ी हो गयी.. मैं पूनम को एक पेड़ की आड़ मे ले गया ऑर पूनम को अपने दोनो बाहों मे दबोच लिया... पूनम बुरी तरह चिपक गयी.... मेरे कंधे पर सर टिका कर खड़ी हो गयी...

मैं पूनम के सर को पकड़ा ऑर उसके होंठो को धीरे से चूमते हुए, आइ लव यू..
पूनम- आइ लव यू टू
इतना बोलते ही पूनम मुझसे चिपक गयी..

मैं अपने दोनो हाथो से पूनम के चुतड़ों को सहलाते हुए,'' पूनम डार्लिंग ये कब दोगि..

पूनम जब लगा कि मैं उसके गान्ड मारने के लिए कह रहा हूँ तो वो बुरी तरह शरमाते हुए,' धत्त ये बहुत गंदा होता है...
मैने पूनम की साड़ी के उपर से ही उसके गान्ड को मसलते हुए कहा नही पूनम डार्लिंग कुछ भी गंदा नही होता है...

पूनम मुझसे अलग होते हुए,'घर चलिए ना रात होने वाली है.

राज- हाँ चलो लेकिन एक दिन तुम्हारी गान्ड को ज़रूर उद्घाटन करूँगा..

पूनम मेरे हाथ पकड़ते हुए,' चलिए मैं ये नही दूँगी..

मैं ऑर पूनम एक दूसरे का हाथ पकड़ते हुए पार्क से निकल गये.. पार्क मे केवल प्रेमी जोड़े ही दिखाई दिए..मैं ऑर पूनम इधर-उधर की बाते करते हुए पार्क से निकल गये.. सामने ही एक आइस्क्रीम वाला दिखाई दिया.. मैंने 5 आइस्क्रीम पॅक करवा ली.. थोड़ी देर के बाद हमे टॅक्सी मिल गयी...हम पिछली सीट पर बैठ गये.. पूनम मेरे कंधे पर सर टिका कर बैठ गयी.. खैर टॅक्सी वाले ने हमे मेरे घर के सामने उतार दिया.. मैं ऑर पूनम टॅक्सी से नीचे उतार गये.. मैंने टॅक्सी वाले को उसका किराया दिया ऑर आगे बढ़ गये.. हम जब घर के सामने पहुचे तो मैने डोर बेल बज़ाई, अंजू ने दरवाजा खोला मैं अंदर आते ही अंजू को अपने दोनो से उपर उठाया ओर उसके माथे को चूमते हुए,' अंजू बेटा कैसी हो?

अंजू- ठीक हूँ आप मेरे लिए क्या लाए है...

मैं ड्रॉयिंग रूम मे बैठते,' आइस्क्रीम ?

अंजू मेरे दोनो गालो को चूमते हुए वाह पापा आइस्क्रीम ये तो मेरा फेबरेट है आपको कैसे पता..
मैने अंजू को गोदी मे बैठा लिया,'

पापा आप कितने अच्छे हो..

पूनम मेरे पास बैठी हुई हमारी बातो को सुन रही थी.. थोड़ी देर बाद दीदी आई ऑर मेरे पास दूसरी तरफ से बैठ गयी.
कुच्छ देर तक मैं अंजू से बाते करने के बाद,'' पूनम आइस्क्रीम निकालो तो

पूनम-जी अभी निकालती हूँ..

पूनम ने आइस्क्रीम निकाल कर एक अंजू को दी फिर दीदी को अभी तीन बची थी एक-एक मैं ऑर पूनम लेकर खाने लगे..
थोड़ी देर आइस्क्रीम खाने के बाद.. दीदी हाथ धोकर मेरे पास आई मेरे सर को पकड़ते हुए,' मेरे होंठो पर लगी पुरी आइस्क्रीम को चाट गयी..

दीदी मेरी आँखो मे देखते हुए,,'' मैं किचन मे खाना बनाने जा रही हूँ..

मैने दीदी के माथे को चूमते हुए,'' ठीक जाओ

दीदी किचन मे चली गयी.. तभी पूनम खड़ा होते हुए,'' मैं भी खाना बनाने मे मदद करने जा रही हू आप तबतक अंजू के साथ खेलिए...

.पूनम भी खाना बनाने चली गयी राज अंजू के साथ खेलने लगा..बहुत देर बाद खाना बनकर तैयार हो गया..खाना बनाने के बाद चारो ने मिलकर खाना खाया ऑर फिर थोड़ी देर तक गप्प साडाका करने के बाद सोने का टाइम हो गया..अनिता सोफे पर से उठते हुए,,मैं सोने जा रही हूँ आप आजाइए.. राज अनिता के माथे को चूमते हुए,,ठीक है जाओ मैं अभी आता हूँ..

अनिता दीदी रूम मे चली गयी पूनम भी खड़ी हो गयी राज ने अंजू को गोदी मे उठाया ऑर अपनी माँ वाले रूम मे लाकर सुला दिया..पूनम बेड पर लेट गयी उसके बगल मे अंजू लेट गयी थोड़ी देर तक राज अंजू की आँखो को अपने होंठो को घूमता रहा जिससे वो थोड़ी देर के बाद सो गयी.. अंजू के सोने के बाद राज पूनम के उपर चढ़ गया ऑर उसके होंठो को चूसने लगा..थोड़ी देर के बाद पूनम ने राज को अलग कर दिया ऑर राज के गालो को चूमते हुए,, अब कोई शरारत नही चुपचाप सोने जाइए मुझे नींद आ रही है इतना बोलते ही पूनम ने राज के गालो पर चूम लिया.. राज ने भी अंजू ऑर अपनी मौसी पूनम के माथे को चूमा ऑर वहाँ से निकल गया..

राज सीधे बाथरूम मे घुस गया.. पेशाब करने के बाद राज अपने रूम मे घुसा ऑर रूम के दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया,, बेड पर देखा तो,उसकी दीदी यानी बीवी अनिता एक चादर को अपनी गर्दन तक ओढ़े हुई थी.. राज अपने पूरे कपड़े निकाल कर बिल्कुल नंगा हो गया अनिता उसकी ऑर बड़े ध्यान से देखने लगी.. राज ने नंगा होते ही टेबल पर से बेबी आयिल लिया अपने लंड पर लगाने लगा.. लगभग 5 मिनिट्स के बाद राज का लंड तेल से तर हो गया..राज बेड पर चढ़ा अनिता के बदन पर से एक झटके मे से चादर उठा कर फेक दिया.. अनिता ने अंदर एक पतली सी वाइट कलर की नाइटी पहनी थी जिसमे उसकी आधी से ज़्यादा चुचिया बाहर थी.. कंधे पर एक पतली सी डोरी थी जिसके सहारे नाइटी थी नीचे गान्ड तक ही थी.. ये नज़ारा देखते ही राज का लंड अपनी पसंदीदा जगह मे जाने के लिए तड़पने लगा राज ने तुरंत अनिता के दोनो पैरो को चौड़ा किया नाइटी को उपर उठा दिया अनिता की चूत सामने आ गई जिसपर झान्टो का नामोनिशान तक नही था चूत पहले की अपेक्षा बहुत फूली हुई थी.. जिसको राज ने अपने मूसल जैसे लंड को पेलकर फूला दिया था.. चूत की फाके थोड़ा सा फैल गयी अंदर का गुलाबी भाग दिखाई देने लगा राज ये नज़ारा देखकर अपने-आप को रोक ना सका चूत को मुँह मे भरकर ज़ोर-ज़ोर से चूत के होंठो को चूसने लगा.. अनिता के मुँह से सिसकरी निकलने लगी .....आआआ....हह...एयेए ...एयेए..आ....एमेम..एम्म्म........आआआ....हह...आमम .
एमेम.... सा एयेए..आ....एम्म्म


वो राज के सर को चूत मे दबाने लगी. राज अपनी जीभ को नुकीला करके चूत मे पेलने लगा थोड़ी देर बाद अनिता की चूत से पानी बहने लगा राज ने तुरंत अपने सर को अलग किया तो अनिता छटपटा कर रह गयी..आ...ह... कुच्छ देर ऑर चुसिये मेरा होने वाला है... राज ने उसको घोड़ी बनने को बोला. अनिता तुरंत घोड़ी बन गयी अब अनिता की बड़ी-बड़ी बाहर निकली हुई गान्ड राज के सामने आ गई . राज ने गान्ड के पॅट्टो को फैलाते हुए अलग किया तो गान्ड का भूरे रंग का छेद सामने आ गया


राज गान्ड को फैलाते हुए झुका ऑर अपने जीभ निकाल कर चाटने लगा.. गान्ड के छेद पर जीभ फेरते ही अनिता के बदन में 440 वॉल्ट का करेंट दौड़ गया.. उसका पूरा बदन काँपने लगा अनिता काँपते हुए ये क्या कर रहे है वहाँ जीभ से मत चाटो वो बड़ी गंदी जगह है..लेकिन राज अनिता की बातो को अनसुना करते हुए ज़ोर-ज़ोर से उसकी गान्ड को चाटने लगा...अनिता का पूरा बदन बहुत ज़ोर अकडा ऑर वो काँपते हुए बहुत ज़ोर से सिसकारी भरी ....एयेए..आ....एमेम..एमेम...एयेए..आ....एमेम ..एमेम ..एम्म्म........आआआ....हह...आ आ..आआआ....हह...एयेए
ऑर उसकी चूत से बाँध टूट गया ऑर झडने लगी आज अनिता की चूत से रस की नादिया बहने लगी..बहुत जबर्दस्स्त ओर्गसम फील हुआ झडने के बाद अनिता के पैर काँपने लगे वो नीचे गिरने लगी..लेकिन राज ने उसकी कमर को मज़बूती से थाम लिया.. राज ने अपना सर उपर किया ऑर अनिता की गान्ड के छेद पर थूक दिया एक उंगली से गान्ड के छेद को गीला करने लगा.. गान्ड को गीला करने के बाद राज ने लंड को पकड़ते हुए अनिता की गान्ड के छेद पर सेट किया तो अनिता का पूरा बदन काँप गया.. अभी वो कुच्छ बोल पाती उससे पहले ही राज अपने घुटनों के बल लंड को गान्ड के छोटे से छेद पर सेट किया ऑर अनिता की कमर को पकड़ते हुए पूरी ताक़त से एक जोरदार धक्का लगाया.... राज का मूसल जैसा 8 इंच का लंड अनिता की कुवारि गान्ड को फाड़ता हुआ 5 इंच समा गया..इसके साथ ही अनिता के मुँह से जोरदार चीख निकल गयी.. राज.....हेययीयीयैआइयियीयियी माँ मररर्र्र्र्र्ररर गैिईईईई

अनिता की चीख पर बिना ध्यान दिए राज ने अपने लंड को थोड़ा सा बाहर खिचा ऑर फिर से एक जानलेवा धक्का लगाया अबकी बार राज का मूसल जैसा लंड अनिता की गान्ड मे जड़ तक समा गया..साथ ही अनिता बेहोश हो गयी ऑर नीचे गिरने लगी राज ने अनिता की कमर को मज़बूती से पकड़ा हुआ था इसीलिए वो नही गिर पाई राज अनिता की पीठ पर चिपक गया अपने दोनो हाथो से अनिता की चुचियो को मसलते हुए उसकी पीठ पर चूमने लगा..


थोड़ी देर के बाद अनिता होश मे आ गई होश मे आते ही अनिता बिलख-बिलख कर रोने लगी... नही प्लीज़ अपना लंड निकल लीजिए मेरी गान्ड फॅट गयी है मुझे बहुत ज़ोर से दर्द हो रहा है..लेकिन राज तो अनिता की दोनो चुचियो को मसले जा रहा था.. थोड़ी देर के बाद राज ने एक हाथ को नीचे किया ऑर अनिता की चूत मे एक उंगली को ज़ोर-ज़ोर से पेलने लगा.... लगभग 10 मिनिट्स के बाद अनिता की चूत मे कुलबुलाहट होने लगी वो धीरे-धीरे अपने गान्ड को राज के लंड पर ठेलने लगी.. राज अनिता की दोनो चुचियो को मसलते हुए ऑर उसके पीठ पर चूमते हुए लंड को आगे-पिछे करने लगा..अनिता की गान्ड अंदर से बहुत ही गरम थी लंड को अंदर-बाहर करने से अनिता के मुँह से दर्द भरी सिसकारिया निकलने लगी..हाँ.. आशेह्ह्ह्ह्ह.हाइईइ.धीरे-धीरे गान्ड मारो...एयेए..आ....एम्म्म
.....एमेम..एमेम. ...एयेए..आ....एमेम.... एमेम

राज ने थोड़ी देर के बाद घुटनो के बल आते हुए अनिता की कमर को पकड़ा ऑर ज़ोर-ज़ोर से लंड अंदर बाहर करने लगा.. और एक हाथ से अनीता की चूत के दाने को रगड़ने लगा राज का मूसल जैसा लंड अनिता की गान्ड मे बहुत टाइट जा रहा था.. अनिता को गान्ड मरवाने मे अनोखा मज़ा मिलने लगा...वो मस्ती मे आकर अपनी गान्ड हिलाने लगी..राज बहुत ज़ोर से अनिता की गान्ड मरने लगा.... लगभग 10 मिनिट्स के बाद अनिता की चूत अकड़ने लगी वो काँपते हुए झडनेलगी..एयेए...एम्म्म........आआआ..एमेम...एयेए..आ....एमेम..एमेम..एम्म्म........आआआ....हह...आ

राज भी अनिता की गान्ड की गरमी को सह नही पाया और लंड को गान्ड मे जड़ तक पेलते हुए झडने लगा.... लंड से वीर्य की पिचकारिया निकलने लगी अनिता की पूरी गान्ड राज के वीर्य से भर गयी..अनिता काँपते हुए गिर पड़ी राज भी अनिता की पीठ पर गिर गया.. बेड पर गिरते ही दोनो को होश नही रहा दोनो उसी तरह एक दूसरे से चिपकते हुए सो गये..
Reply
10-15-2019, 12:18 PM,
#34
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
सुबह जब राज की आँखे खुली तो वो अनिता के उपर सोया हुया था एकदम से नंगा.. अनिता पेट के बल सोई हुई थी वो अपने चुतड़ों को उपर करके सोई हुई थी अनिता के नंगे चुतड़ों को देखकर लंड फिर से फनफना गया.. मैं दोनो चुतड़ों को अलग करते हुए उनपर झुका अपनी जीभ निकाल कर चाटने लगा....उसपर रातवाला चुदाई का रस सूखा हुया था... राज अनिता के दोनो चुतड़ों के पॅट्टो को मसलते हुए भूरे रंग के छेद को जीभ कुरेद कर चाटने लगा....

तभी अनिता की नींद खुली,,सुबह-सुबह क्या कर रहे है आप बहुत गंदे हो गये हैं...

राज अपना सर उपर उठाते हुए,, अनिता डार्लिंग सेक्स मे कोई भी चीज़ गंदी नही होती..
इतना बोलकर राज फिर अनिता के सूजे हुए चुतड़ों के छेद को चाटने ऑर चूसने लगा....अचानक अनिता ने लगतार दो पाद छोड़ दिया.. पाद की ख़ुसबु से राज मदहोशी मे पागल होकर गान्ड के छेद को चूसने लगा....पूरे कमरे मे पाद की ख़ुसबु फैल गयी..राज ने दो उंगलियो को थूक से गीला किया थोड़ा सा थूक गान्ड के छेद पर लगाते हुए कच से दोनो उंगलियो को गान्ड मे पेलकर अंदर-बहार करने लगा....

अनिता की गान्ड मे एक साथ दो उंगलिया जाते ही उसे थोड़ी देर दर्द हुआ फिर मज़ा आने लगा...राज दोनो उंगलियो को ज़ोर-ज़ोर से अंदर बाहर करने लगा.... लगभग 5 मिनिट्स के बाद अनिता की गान्ड ढीला होने लगी उसकी चूत से रस टपकने लगा....

राज ने अनिता को घोड़ी बनाया.. हाथ मे बहुत सारा थूक लेकर लंड मे अच्छी तरह से मल लिया.. फिर अनिता की गान्ड के छेद मे बहुत सारा थूक दिया लंड को गान्ड के छेद पर टिकाते हुए.. अंदर की तरफ पुस किया.. राज के लंड का मोटा सुपाडा पुक्क्क की आवाज़ के साथ अनिता की गान्ड मे समा गया.. राज ने अनिता की कमर को पकड़ा ऑर लंड को गान्ड की गहराई मे ठेलने लगा.. लंड सनसनाता हुआ अनिता की गान्ड मे पूरा समा गया.... राज अनिता की पीठ पर झुका ऑर गर्दन पर किस करते हुए धक्को की बरसात करने लगा....अनिता के मुँह से मस्ती भरी सिसकियाँ फूटने लगी

..आ..ह..घ..ह..एमेम...आमम..एमेम..एमेम..च..आ..ह..घ..ह...आ..ह..घ..ह..एमेम...आ एमेम...एयेए..आ....एम्म्म थोड़ी देर बाद राज घुटनो के बल बैठा अनिता की गान्ड के पॅट्टो को मसलते हुए ज़ोर-ज़ोर से पेलने लगा....सुबह की ठंडी मे दोनो भाई-मुँह पसीने से तरबतर हो गये..

10 मिनिट्स के बाद राज का लंड अपनी मुँह की गान्ड की गरमी के आगे टिक ना सका.. दोनो भाई-मुँह एक साथ झड गये... राज अपने वीर्य से अनिता की गान्ड को भर दिया.... अनिता धडाम से गिर गयी राज भी उसके उपर गिर गया.. थोड़ी देर के बाद राज अनिता के उपर से उठ कर बैठ गया.. अनिता भी उठ कर बैठ गयी..राज खड़ा हुआ ऑर अनिता के मुँह के सामने अपने लंड को लहराने लगा...जिसपर राज का वीर्य लगा हुआ था...राज ने अनिता को लंड चूसने के लिए इशारा किया तो अनिता ने दूसरी तरफ मुँह घुमा लिया.. तभी राज ने अपने लंड की ओर देखा जिसपर लंड के पानी के साथ गान्ड का भी पानी लगा हुआ था... राज ने अनिता की ब्रा से लंड को सॉफ किया फिर अनिता की गान्ड पर लगे रस को भी सॉफ कर दिया.


.अभी6:00 एएम हो रहे थे... अनिता ने एक नाइटी पहनी ऑर राज ने अंडरवेर पहन लिया.. अनिता अपने दोनो पैर नीचे लटका कर खड़ा हुई तो उसकी गान्ड मे दर्द की एक तेज़ लहर दौड़ गयी.. उसे लगा कि किसी ने उसके चुतड़ों को दो भागो मे चीर दिया है... वो फिर से बेड पर बैठ गयी.. राज ने स्थिति को भाँपते हुए अनिता को बाहों मे उठाया बाथरूम मे ले गया पानी गरम करके उसके चुतड़ों की सिकाई की.. बाथरूम मे फ्रेश होने के बाद राज ने फिर से लाकर अनिता को सुला दिया..एक टॅबलेट खिला दिया.. अनिता फिर सो गयी.. राज ने अनिता के ऑफीस मे फोन करके कह दिया कि आज वो ऑफीस नही जाएगी..पूनम ने खाना बनाया फिर राज खाना खाकर ऑफीस निकल गया.. इसी तरह दिन बीतने लगे. राज का काम चल निकला उसका ट्रांसफर भी होनेवाला था..

.अब राज की माँ ऑर उसकी बीवी स्वेता के आने का समय आ गया.. इसीलिए आज राज बहुत टेन्षन मे आ गया.. शाम को उसकी माँ ऑर बीवी स्वेता आनेवाले थे... राज अपने ऑफीस मे बैठा हुआ था कि उसके नंबर पर फोन आया..कि जिस बस से उसकी माँ ऑर स्वेता आरहे थे उस बस का आक्सिडेंट हो गया है...राज अनिता को लेकर घटनास्थल पर पहुचा राज की माँ आक्सिडेंट मे मर चुकी थी लेकिन स्वेता अभी जिंदा थी..स्वेता को हॉस्पिटल मे भरती कर दिया गया.. राज अपनी माँ की लाश को लेकर घर पर आ गया.. सब का रो-रो कर बुरा हाल था... राज ने दिल पर पत्थर रखकर माँ का अंतिम संस्कार किया.... ऑर अनिता के साथ हॉस्पिटल आ गया लगभग दो दिन के बाद स्वेता को होश आया.. राज उसको लेकर घर आ गया..

5 दिन के बाद स्वेता ठीक हो गयी तबतक अनिता ऑर पूनम एक ही रूम मे शिफ्ट हो गये....इन पाँच दिनो मे राज ने अपनी दीदी ऑर पूनम मौसी के साथ कुच्छ नही किया...5 दिन के बाद जैसे ही स्वेता ठीक हो गयी....रात का समय था सॅभी लोग बैठे ड्रॉयिंग रूम मे ही बैठे बाते करने मे व्यस्त थे...
Reply
10-15-2019, 12:18 PM,
#35
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
.स्वेता कुच्छ देर के बाद राज से,, ये कौन है पूनम की ओर इशारा करते हुए...

राज स्वेता के सामने पूनम के गालो को चूमते हुए,, ये कौन है सोने के समय बताऊंगा ठीक है.

स्वेता एक दम बिदक गयी क्योकि राज ने उसके सामने ही पूनम के गालो को चूम लिया इससे उसका दिल जल गया. स्वेता मन ही मन मे..ज़रूर इससे कोई चक्कर है नही तो ये इसके गालो को क्यो चूमते अगर इसके साथ कोई चक्कर हुआ तो मैं इसको जान से मार दूँगी..स्वेता बिना कुच्छ बोले अपने रूम मे चली जाती है थोड़ी देर के बाद पूनम भी रूम मे चली गयी...

राज ने तुरंत स्वेता वाले रूम को बाहर से बंद कर दिया...ऑर अनिता दीदी के साथ बैठ गया.. अनिता दीदी साड़ी ब्लाउज पहनी हुई थी,, राज ने अनिता की बगल मे बैठते हुए उसके कंधे से पकड़ते हुए अपनी ओर घुमाया अपने होंठो को अपनी दीदी के होंठो से मिला कर अनिता की दोनो चुचियो को पकड़ते हुए उसके होंठो को चूसने लगा ऑर अपनी दीदी की दोनो चुचियो को ब्लाउज के उपर से ही मसलने लगा...अनिता मदहोश होने लगी ऑर वो भी राज के होंठो के चूसने लगी ऑर अपने दोनो हाथो से राज के सर के को सहलाने लगी उसकी चूत धीरे-धीरे फड़कने लगी..राज का मूसल जैसा लंड अपनी पूरी औकात मे आ गया....

.राज अपनी दीदी के होंठो को पूरे लगन से चूसने लगा उसके दोनो आँखे बंद हो गयी अनिता भी बुरी तरह अपनी छोटे भाई के होंठो को चुसते हुए आँखे बंद हो गयी.. राज उसकी दोनो चुचियो को ब्लाउज के उपर से ही बुरी तरह मसल रहा था
लगभग दस मिनिट के बाद दोनो की साँसे उखडने लगी तब जा के दोनो ने अपने होंठो को अलग किया ऑर बुरी तरह हाँफने लगे ऑर अपनी-अपनी सांसो पर कंट्रोल करने लगे. थोड़ी देर के बाद राज ने अनिता को अपने सीने से लगा लिया... एक हाथ से अनिता के सर को अपने सीने पर लगा के दूसरे हाथ को उसकी पीठ पर घुमाने लगा..... अनिता की दोनो बाहें उसकी पीठ पर कस गयी...

कुच्छ देर के बाद राज अनिता के सर को उठा कर उसकी आँखो मे देखते हुए,, अनिता डार्लिंग अब क्या होगा अब तो स्वेता भी आ गयी है..तुम्हारा भी एक दो माह के बाद पेट निकल जाएगा तो सबको पता चल जाएगा.. मुझे कुच्छ नही समझ नही आरहा है कि मैं क्या करूँ...तुम ही अब बताओ कि मैं क्या ना करूँ..इतना बोलकर राज अनिता के गालो को सहलाते हुए उसके आँखो मे देखने लगा.....

अनिता मुस्कुराते हुए राज की आँखो मे देखने लगी फिर राज के सर को पकड़ते हुए उसके होंठो को चूमते हुए,,बड़ी जल्दी आप घबरा गये..अच्छा चलिए एक बात बताइए हम को वक्त ने ही भाई-बहन के रिश्ते से पति-पत्नी बनाया..

राज उसकी बातो को सोचते हुए,,बात तो तुम्हारी ठीक है लेकिन तुम क्या कहना चाहती हो मैं कुच्छ समझा नही..

अनिता उसकी आँखो मे देखते हुए,, सिंपल सी बात है मेरे बुद्धू पति देव यानी मेरे भाई..जब वक़्त ने हमें मिलाया है तो वही इस समस्या का हल निकालेगा..आप बेफिकर होकर रहिए वैसे भी मेरे पास एक उपाय है..आप अब जाइए मैं अब सोने चलती हू..इतना बोलकर अनिता सोफे पर से उठ गयी..राज ने खड़ा होकर तुरंत अनिता को पिछे से अपनी बाहों मे भर लिया ऑर अपने सर को उसके कंधो पर टिकाते हुए अपनी दीदी के गालो को सहलाते हुए,,अब तुम्हारे बिना नींद कैसे आएगी..


अनिता अपने एक हाथ को पिछे से लेजाकर उसके सर को पकड़ते हुए..आप आज रात को अकेले सोइए कल से आपको अकेला सोना नही पड़ेगा.

.राज इतना सुनकर खुश हो गया उसने तुरंत अनिता को अपनी ओर घुमाया उसके चेहरे को पकड़ कर चूमने लगा.....राज बहुत देर तक उसके चेहरे को चूमने के बाद उसने अनिता के अपने सीने से लगाकर,, ना जाने मुझे क्या हो गया मुझे तुमसे अलग होने के नाम से डर लग रहा है.. ऐसा लग रहा है कि तुम मुझसे एक रात नही बल्कि एक माह के लिए अलग हो रही हो इतना बोलकर राज ने बहुत ज़ोर से अनिता को अपनी बाहों मे छुपा लिया...अनिता भी बुरी तरह चिपक गयी, और बोली -मैं भी तो आपकी बाहों मे ही सोना चाहती हूँ लेकिन क्या करूँ मज़बूरी है स्वेता के रहते ये नामुमकिन है....आप आज रात भर वेट कीजिए कल कोई ना कोई निर्णय ज़रूर होगा..आप सोने जाइए..इतना बोलकर राज से अनिता अलग हो गयी..ऑर राज को गुड नाइट किस देकर सोने चली गयी...

अनिता के जाते ही राज दिल बुझ गया....दिल भारी होने लगा वो बुझे मन से अपने रूम के अंदर चल दिया..

आज उसके दिल की रानी उसकी रूह की मालिक आज उससे अलग सोने चली गयी..जब मेरा ये हाल है तो अनिता का क्या हाल होगा भले ही वो उपर से खुश है लेकिन उसका दिल तो रो रहा होगा वो मुझ से तो एकपल के लिए भी अलग नही रह सकती...राज का लंड कब बैठ गया पता ही नही चला..वो अनिता के बारे मे सोचते हुए रूम के अंदर आ गया..रूम के अंदर आते ही राज बिना कुच्छ बोले स्वेता के बगल मे लेट गया...उसका चेहरा बहुत उदास था स्वेता की नज़र जैसे ही राज पर पड़ी तो उसकी ओर करवट के बल लेटते हुए राज के सीने मे सर रखकर लेटते हुए,,क्या बात है आप बहुत उदास दिखे रहे है माँ जी की याद आ रही है क्या..


राज स्वेता को अपने नीचे पलट कर उसको अपनी बाहों मे कसते हुए हाँ तुम ठीक कह रही हो मुझे माँ की बहुत याद आ रही है...

राज ने अपनी बीवी स्वेता से अनिता की बातों को छुपा लिया क्या बताता कि उसने अपनी दीदी को बीवी बना लिया है..

कुच्छ देर के बाद स्वेता राज की पीठ को सहलाते हुए,, अच्छा आपसे मैंने पुछा था कि वो नयी लेडीस कौन है तो आप बोले कि सोने के समय बताउन्गा तो बताइए ना कि वो कौन है...
Reply
10-15-2019, 12:18 PM,
#36
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
राज स्वेता से अलग होकर ठीक है तो ध्यान से सुनो ऑर हाँ पूरी बात सुनने से पहले कुच्छ नही बोलोगि....

स्वेता अपना सर ना मे हिलाते हुए,,ठीक है पूरी बात सुनने से पहले कुच्छ नही बोलूँगी...

राज उपर देखते हुए,,वो मेरी छोटी मौसी पूनम है उनको मौसा जी ने तलाक़ दे दिया है...उनके संग जो बच्ची है वो पूनम मौसी की बेटी है वो मुझे पापा कहती है ऑर वो समझती है कि पूनम भी मेरी वाइफ है ऑर मैं उसका पापा हूँ तो उसको सपने भी पता नही चलना चाहिए कि मैं उसका पापा नही हूँ...मैं स्वेता को अपनी बीवी ही कहता हूँ मौसी नही...इतना बोलकर राज चुप हो गया.

.स्वेता को राज की बातो को सुनकर थोड़ी देर के लिए गुस्सा आ गया..लेकिन किसी तरह अपने गुस्से पर कंट्रोल करते हुए,,ठीक है मैं नही बताउन्गी लेकिन मौसी की बेटी आपको अपना पापा क्यो कहती है कही सचमुच आपने मौसी को बीवी तो नही बना लिया है..

राज धीरे से स्वेता को हल्का सा थप्पड़ लगाते हुए,,बड़ी दिमाग़ दौड़ाने लगी है कहीं मौसी को बीवी बनाया जाता है ऑर तुम्हारे जैसी चाँद की तरह सुंदर बीवी को छोड़कर मैं भला दूसरे किसी को क्यो बीवी बनाउन्गा...

तुम्हारे जैसी चाँद की तरह सुंदर बीवी को छ्चोड़ कर मैं भला दूसरे किसी के पास जाऊँगा इतना बोलते ही राज अपनी बीवी स्वेता को दबोच लेता है...स्वेता अपनी दोनो बाहों को राज की पीठ पर कसते हुए,,तो क्या हुआ मौसी जी तो भी कितनी गदराई हुई माल है अगर मैं लड़का होती तो मैं तो उनको अपनी बीवी बना लेती... राज उसकी दोनो चुचियो को बहुत ज़ोर से मसल देता है..स्वेता के मुँह से दर्द भरी सिसकारी निकल जाती है..आ..ह..घ..ह..एमेम...आ हह..आ..ह..घ..ह..एमेम...आ आ...एमेम...एमेम...उउउ...एम्म...य्यी. क्या कर रहे है इनको उखाड़ देंगे क्या


राज खड़ा होकर अपने पूरे कपड़े निकाल कर नंगा हो जाता है फिर स्वेता की मॅक्सी को एक झटके मे उसके बदन से निकाल कर फेक देता है...

पूरी तरह नंगा होते ही स्वेता शर्मा जाती है तभी राज की नज़र उसकी चूत पर पड़ती है जिसमे से तेल टपक रहा था..चुचियो के दोनो निपेल्स तने हुए थे

राज उसकी एक चुचि पर अपना मुँह झुकाते हुए..क्या बात है आज तुम मूड मे लग रही है चूत से तेल टपक रहा है लगता है पूरी तरह चुदाई करवाने का मन है

मैं भी आज तुम्हे चोद-चोद के तुम्हारी चूत को फाड़ दूँगा..अपने पति के मुँह से चुदाई की बात सुनकर स्वेता शर्मा जाती है ऑर अपने दोनो हाथो से अपने मुँह को छुपा लेती है..वो बहुत शर्मा जाती है.. राज अपने दोनो हाथो से स्वेता के हाथो को पकड़ते हुए अलग करता है ऑर अपना मुँह बढ़ाकर स्वेता की दोनो चुचियो मे से एक चुचि को अपने मुँह मे भर लेता है ऑर धीरे-धीरे चूसने लगता है दूसरे हाथ से उसकी दूसरे चुचि को सहलाने लगता है..स्वेता को नशा छाने लगता है वो अपने दोनो पैरो को उसकी कमर पर कस लेती है..अपने दोनो हाथो से उसके सर को नोचने लगती है उसकी चूत से पानी बहने लगता है. राज जीभ निकाल कर उसकी चुचि की घुंडी को चुभलने लगता है..फिर मुँह मे दबा-दबा के चूसने लगता है.

.स्वेता छटपटाने लगती है..वो राज के सर को अपनी चुचि पर दबाने लगती है...चूत से पानी रिसने लगता है..
अब स्वेता बहुत गरम हो गयी वो अपना सर इधर उधर पटकने लगती है..राज भी बुरी तरह गरम जाता है उसका लंड झटके पे झटके मारने लगता है...राज तुरंत स्वेता के दोनो पैरो के बीच मे बैठ जाता है...स्वेता राज की ओर देखने लगती है राज अपने लंड को स्वेता की चूत की गुलाबी फाको के बीच सेट करता है एक धक्का लगाता है उसका लंड का सुपाडा स्वेता की टाइट चूत मे समा जाता है..


सुपाडे को स्वेता की चूत मे फसाते ही राज उसके उपर आते हुए अपने होंठो को स्वेता के होंठो से लगा देता है स्वेता भी राज के होंठो को चूसने लगती है राज अपने दोनो हाथो मे उसकी दोनो चुचियो को पकड़ के मसलते हुए एक जोरदार धक्का लगा देता है राज का लगभग पूरा लंड स्वेता की टाइट चूत मे समा जाता है...स्वेता के मुँह से चीख निकल गयी जो राज के मुँह मे ही रह जाती है.

वो बुरी तरह छटपटाने लगती है...राज बिना हीले डुले स्वेता की दोनो चुचियो को मसलने लगता है उसके होंठो को चूसने लगता है थोड़ी देर के बाद स्वेता भी राज का साथ देने लगती है...लगभग दस मिनिट्स के बाद स्वेता का चूत रस छोड़ने लगती है...उसका दर्द ख़तम हो जाता है... अपनी गान्ड उपर उठाने लगती है.. राज थोड़ी देर के बाद अपना सर नीचे करते हुए स्वेता की दूसरी चुचि को अपने मुँह मे भरकर चूसने लगता है धीरे-धीरे अपनी गान्ड उठा कर धक्का लगाने लगता है..राज का लंड स्वेता की नाज़ुक सी चूत मे अंदर-बाहर लगता..स्वेता की दर्द भरी सिसकारिया फूटने लगती है..आ...एमेम...एमेम...उउउ...एम्म...आ...एमेम...एमेम...उउउ...एम्म...य्यी.आआआआआआआआअहह दर्द के साथ मज़ा भी आने लगता है..स्वेता सिसकते हुए...आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह..ह..घ..ह..एमेम...आ..धीरे, धीरे हाँ.. ऐसे ही


स्वेता राज के सर को अपनी चुचि पर दबाने लगती है..थोड़ी देर के बाद राज का लंड सटा-सट उसकी चूत मे अंदर-बाहर होने लगता है...राज उसकी दोनो चुचियो को बारी-बारी से मसलते हुए उनका रस निकाल कर पीने लगता है..
Reply
10-15-2019, 12:19 PM,
#37
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
राज अब ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत को फाड़ने लगता है..स्वेता भी पूरे जोश मे अपनी गान्ड उठा कर राज का लंड लेने लगती है...10 मिनिट्स के बाद स्वेता का बदन काँपने लगता है..वो राज के सर को पकड़ते हुए ज़ोर से उसके होंठो को चुसते हुए अपनी जीभ निकाल कर उसके मुँह मे डाल देती है राज का लंड फटने लगता है वो एक जबरदस्त धक्का लगता है अपने लंड को उसकी चूत मे पूरा ठेलते हुए अपना लंड से वीर्य की पिचकारिया छोड़ने लगता है स्वेता भी अपने दोनो पैरो को राज की कमर पर कसते हुए झडने लगती है. मस्ती मे उसका बदन काँपने लगता है अपने हाथों को राज की पीठ पर कस लेती है राज थोड़ी देर के बाद स्वेता की बगल मे लेट जाता है

स्वेता राज के उपर लेट जाती है उसके सीने पर अपना हाथ घुमाने लगती है...दोनो बुरी तरह हाफ़ रहे थे थोड़ी देर के बाद स्वेता सो जाती है राज नीचे उतरता है एक टॉवेल उठा कर अपने बदन पर लपेट लेता है...ऑर रूम से बाहर निकल जाता है..

राज जैसे ही रूम से बाहर निकलता है सामने ड्रॉयिंग रूम मे सोफे पर उसकी दीदी अनिता अपनी पीठ टिकाए बैठी थी लाइट जल रही थी उसकी आँखो से आँसुओ की धारा बह रही थी बाल खुले हुए थे राज तुरंत अनिता के पास जाता है ऑर अनिता को खींच कर अपने सीने से लगा कर उसके सर को अपने सीने मे छुपा लेती है... अनिता राज के सीने से बुरी तरह चिपक जाती है..

अनिता अपने भाई राज के सीने मे सर छुपाकर रोने लगती है राज बहुत ज़ोर से अपने दीदी के सर को अपने सीने मे छुपा लेता है..लेकिन अनिता के आँसू निकाल के राज के सीने को भिगोने लगते है..राज अपनी दीदी के सर को पकड़ के उपर उठ कर उसके होंठो को चूसने लगता है.. अनिता का रोना रुक जाता है वो बुरी तरह राज के होंठो को चुसते हुए अपनी जीभ को उसके मुँह मे डाल देती है राज अपनी दीदी की जीभ को अपने होंठो मे दबा कर चूसने लगता है ऑर अपने हाथो को नीचे करते हुए उसकी दोनो चुचियो को कपड़े के उपर से ही मसलने लगता है..अनिता का पूरा बदन झनझणा जाता है वो अपने भाई के मुँह मे अपनी रसीली जीभ को घुमाने लगती है जिसको राज बुरी तरह चूसने लगता है.

.अनिता की चूत अपना रस छोड़ने लगती है ऑर वो राज के बालो को नोचने लगती है..थोड़ी देर मे राज अनिता को पूरी तरह नंगी कर देता है वो भी नंगा हो जाता है.
Reply
10-15-2019, 12:19 PM,
#38
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
अचानक अनिता राज से दूर होकर खड़ी हो गई डरते हुए सामने देखने लगी . राज ने पीछे पलट कर देखा तो एक बार को राज भी चौंक गया फिर उसके होंठों पर मुस्कान फैल गई और वो आगे बढ़ा और पूनम को अपनी बाहों मे भर लिया और उसके होंठो को चूसने लगा पूनम का शर्म के मारे बुरा हाल हो गया .

राज पूनम को अनिता के पास लाया और दोनो को अपनी बाहों मे ले लिया और अचानक राज ने उन दोनों के सर अपने हाथ डाल कर बाल पकड़ लिए और सर ऊँचा करके अनिता के होंठों पर किस करने लगा।

राज ने पहले अनिता को किस किया और अपने दूसरे हाथ को पूनम की गर्दन में डाल कर ऊपर खींचने लगा।

वे दोनों अपने घुटनों पर बैठ गई थीं और राज कुर्सी पर नीचे झुक कर उनके होंठों पर किस करने में लगा हुआ था।

तभी पूनम ने राज का चेहरा पकड़ कर उसके होंठ अपने होंठों से लगा लिए और राज मुँह में जुबान डाल कर राज के होंठों का रस पान करने लगी।

इधर अनिता ने राज का टॉवल उतार देती है

अब पूनम भी राज के मुँह में से अपना मुँह निकाल कर उसके अंडरवियर के उभरे हुए हिस्से को हाथ से सहलाने में अनिता की मदद करने लगी।

तभी राज ने दोनों को घुटनों से उठा कर खड़ा किया और फ़िर अपने सामने करके उन दोनों के बड़े-बड़े बोबों में अपना मुँह बारी-बारी से घुसाने लगा।

राज ने अपने दोनों हाथ उन दोनों की पीठ पर ले जाते हुए उनके बोबों पर बन्धी छोटी सी ब्रा की डोरियों को खोल दिया।

तभी दोनों ने भी बचा हुआ अपना काम करके अपनी चूचियों के ढक्कनों को अपने गले से निकालते हुए अलग कर दिया।
अब राज के सामने दोनों के नंगे बोबे झूल रहे थे।

बस.. फ़िर राज तो मानो उन पर टूट पड़ा.. जैसे राज बहुत दिनों से प्यासा था।

राज ने दोनों की कमर से हाथ उनकी पीठ पर ले जाते हुए उन्हें अपनी पकड़ में ले लिया था और उन दोनों के हाथ राज के बालों में.. गर्दन में.. और पीठ पर चलने लगे थे।

राज भी उनके खरबूजों को अपने मुँह में लेकर उन्हें तृप्त कर देना चाहता था।

दोनों के निप्पलों को बारी-बारी से चूसते वक्त राज अपना सर जोर से उनमें अन्दर तक गढ़ा देता था।
अब वे दोनों अपने-अपने हाथों से अपने चूचे पकड़ कर मेरे मुँह में डालने लगीं।
राज के दोनों हाथ उनके चूतड़ों का जायजा लेने में व्यस्त थे।

फ़िर अनिता ने अपने हाथ से राज की बनियान को ऊपर करना चालू किया.. लेकिन पूनम ने तो बिना देर किए उसे फाड़ ही डाला और उतार कर फेंक दिया।

राज ने भी अपने पैरों की मदद से अंडरवेअर भी निकाल दिया और कुर्सी पर रख दी।
अब वो दोनों थोड़ा नीचे को हुईं.. और राज की छाती की दोनों घुंडियों को अपने-अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं।
राज को तो स्वर्ग की सैर का मजा आ रहा था।

फ़िर राज ने पूनम के सर को ऊपर उठाया और उसके एक बोबे को चूसने लगा। एक हाथ से एक चूचे के निप्पल को दबाता तो दूसरे को मुँह में ले कर चूसता।

पूनम अब अपने सर को उठा कर मादक सिसकारियां लेने लग गई थी।
इधर अनिता ने अब अपना एक हाथ राज के लंड के ऊपर चलाना चालू कर दिया..

लेकिन राज को पता था कि उसे जल्दी नहीं करनी है। तो राज ने तुरन्त ही अनिता के चेहरे को ऊपर उठा दिया।
अब राज अनिता के बोबे चूस रहा था।

फ़िर राज अनिता के मुँह में पूनम के बोबे को डालने लगा.. तो अनिता समझ गई, वो पूनम के बोबों को अपने मुँह में लेने लगी।
अब हम तीनों को मजा आने लग गया था और उन दोनों की कामुक सिसकारियां भी निकलने लगी थीं।

कुछ मिनट तक यही अदला-बदली चलती रही।
दोनों अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं।

तभी राज को याद आया कि ये सब घर के बाहर खुले में कर रहे है.. तो राज ने पूनम को बोला- ये सब यहाँ ठीक नहीं है यार..
तो बोली- हाँ.. चलो अन्दर चलते हैं।

फ़िर उन तीनों ने अपने-अपने कपड़े उठाए और कमरे के अन्दर चले गए।
राज उन दोनों को अपने दोनों आजू-बाजू कमर में हाथ डाल कर अन्दर तक साथ गया।

अन्दर वो तीनो सीधे बेडरूम में गए और पूनम ने अपनी अलमारी में से एक स्प्रे की बोतल निकाली। फिर उसने राज के लंड जो पहले ही बम्बू बना हुआ था.. उसे हाथ में लेकर उस पर सुपारे से लेकर जड़ तक स्प्रे कर दिया। राज ने पूछा- ये क्या है?
वो कुछ नहीं बोली.. बस इतना कहा- पता चल जाएगा।

फ़िर तीनों चालू हुए.. अब राज ने पूनम को बिस्तर पर पीठ के बल लेटा दिया और अनिता ने अपनी पैन्टी उतार दी और वो अपनी टाँगें फ़ैला कर पूनम के मुँह पर घुटनों के बल बैठ गई।

राज ने भी पूनम की भरी-भरी जाँघों को हवा में ऊपर उठाया और उसकी पैन्टी निकाल दी।
उसकी एकदम गोरी और चिकनी चूत ने दर्शन दे दिए।

राज ने भी देर न करते हुए उसमें अपनी जुबान लगा दी और पूरी चूत पर जुबान को चलाना चालू कर दिया।

पूनम ने शायद हाल ही में चूत की सफ़ाई की थी.. इसलिए उसकी चूत एकदम चिकनी थी और थोड़ी गीली भी थी।
उसमें से पहले ही रिसाव हो रहा था.. जो थोड़ा नमकीन स्वाद भरा था।
राज को तो बहुत अच्छा लग रहा था।

राज तो उसकी चूत की फांकों को खोल कर उसमें अन्दर तक अपनी जुबान की नोक बना कर घुसा रहा था।
बेडरूम में अब काम भरी सिसकारियां ही सिसकारियाँ गूँजने लगी थीं।
उधर पूनम भी अनिता की चूत में अपना मुँह घुसाए हुए थी।
Reply
10-15-2019, 12:19 PM,
#39
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
अनिता दोनों हाथों से अपने बोबों के निप्पलों को मसल रही थी और बड़बड़ा रही थी- फ़क मी.. कम ऑन.. या बेबी फ़क मी हार्ड..
इधर पूनम भी अपने मुँह से वासना से लिप्त गुर्राहट निकाल रही थी।

उसके मुँह से ‘ह्म्म याह.. उह्ह.. आअह..’ की आवाज निकल रही थी।

राज अब अपनी एक उंगली पूनम की चूत में अन्दर-बाहर करने लग गया था।

अब राज ने उस उंगली को थोड़ा चूत में ऊपर की ओर उठा कर उसके जी-स्पॉट को कुरेदना चालू किया।

जैसे ही राज ने ये करना चालू किया.. पूनम ने सिसकारियां तेज़ कर दीं और अपना मुँह भी अनिता की चूत से हटा लिया।
वो जोर-जोर से गालियाँ देने लग गई- जोर से कर भड़वे.. भेनचोद.. मर्द है या नामर्द है मादरचोद.. याआहह.. उईईई आआहह..
इसी के साथ-साथ उसने अपनी कमर भी उचकाना चालू कर दिया।

अब अनिता भी.. जो कि पूनम के ऊपर थी.. अब घोड़ी बन कर अपनी जुबान से पूनम की चूत के दाने को चाटने लगी थी।
राज उसी चूत को निचोड़ने में लगा हुआ था।

आखिर कुछ मिनट की दोनों की मेहनत के बाद पूनम के मुँह से जोर की चीख निकली और उसका ज्वालामुखी फूट पड़ा और एक तेज़ धार के साथ उसमें से नमकीन पानी का झरना फूट पड़ा।

उन दोनों ने अपने-अपने मुँह खोल कर उस अमृत को अपने मुँह से और जुबान से चाट कर साफ़ कर दिया। उसी वक्त राज और अनिता होंठों को होंठों में फंसा कर किस करने लगे।

अब वो दोनों उठे और पूनम के साथ मिल कर तीनों किस करने लगे।
उन दोनों ने पूनम को उसका अमृत चखाया।

फ़िर वे दोनों राज को उठा कर सोफ़े के पास ले गईं.. और उस पर बिठा दिया और फ़िर दोनों राज की टांगों के आस-पास बैठ कर उसके लम्बे और मोटे लंड को अपनी-अपनी जुबान निकाल कर चाटने लगीं।
राज के दोनों हाथ उनके बालों में और पीठ पर रेंगने लगे थे।

पूनम ने पहल करके राज के सुपारे को मुँह में लिया। उसने आधे से ज्यादा लौड़ा अपने मुँह में ले लिया और अन्दर-बाहर करने लगी। उसी वक्त अनिता राज की गोटियों पर जुबान फ़िराने लगी।

राज के शरीर पर सांप से रेंगने लगे थे।

राज पूनम के सर पर जोर लगा कर लंड ज्यादा से ज्यादा अन्दर डालने की कोशिश करने लगा, लेकिन पूनम ने लंड को मुँह में से निकाल कर अनिता के मुँह में डाल दिया।

अब अनिता लौड़ा चूसते हुए अपने मुँह से ‘गूं.. आआ.. गूऊऊ..’ की आवाज़ निकाल रही थी।

राज ने पूनम को ऊपर उठा कर उसके बोबे पर अपने मुँह से जुबान निकाल कर चाटना चालू कर दिया था।
राज की.. अनिता की.. और पूनम की, तीनों की आवाज़ कमरे में गूँज रही थी।

थोड़ी देर के बाद फ़िर दोनों ने पाली बदली और अब अनिता को राज ने ऊपर कर लिया और उसके बोबे चूसने लगा।
कभी-कभी राज बोबों के निप्पलों को अपने दांतों से हल्के से काट भी लेता।
दोनों को बहुत मजा आ रहा था।

फ़िर राज अपने सोफ़े से उठ कर खड़ा हुआ और दोनों का मुँह लंड के सामने कर उसमें घुसाने लगा।

राज भी दोनों के बाल पकड़ कर लंड को उनके मुँह में पेले जा रहा था।

दोनों के मुँह से ‘गूऊ.. गूउआहह..’ की आवाजें आ रही थीं।

उन दोनों के एक-एक हाथ अपने कूल्हों पर.. और दूसरा हाथ एक-दूसरे की चूत पर रखवा कर दानों को सहलवा रहा था।
उनके नाखून मेरे कूल्हे पर भी गड़ रहे थे, दोनों मेरे लंड पर थूक कर उस पर जोर-जोर से अपना मुँह घुसाने लगीं।
राज को यह बहुत अच्छा लग रहा था।

थोड़ी देर बाद दोनों कुछ ज्यादा जोर से लंड पर मुँह मारने लगीं।
राज तो अपनी आँखें बन्द करके मुँह ऊपर किए हुआ था।

दस मिनट के बाद एक ने राज को पलटाया और अब एक राज के आगे और एक मेरे पीछे घुटनों के बल बैठी हुई थी।
पूनम आगे और अनिता पीछे थी।

पूनम ने लंड को जड़ से पकड़ा और अपने मुँह से थूक कर जोर-जोर से उसको आगे-पीछे करने लगी।
उधर अनिता पीछे से राज के कूल्हों को चौड़ा करके मेरी गांड पर थूक कर, उसमें अपनी जुबान घुसाने लगी थी।
राज को तो एकदम नया अनुभव मिल रहा था.. तो राज ने भी थोड़ी टाँगें फैला लीं।
अब अनिता को और आसानी हो गई थी।
राज तो चक्की के दो पाटों के बीच में था।
Reply

10-15-2019, 12:19 PM,
#40
RE: Incest Kahani दीदी और बीबी की टक्कर
कुछ देर बाद राज ने अपना लंड अनिता के सामने कर दिया और गांड पूनम के सामने कर दी। दोनों फ़िर से चालू हो गईं।
लेकिन इस बार गांड में ज्यादा अच्छा लग रहा था। क्योंकि पूनम ने पहले थूक कर राज की गांड में ढेर सारा थूक लगा लिया था और अपनी एक उंगली से उसे कुरेद भी रही थी।

राज भी अपने पंजों पर था, राज ने अपना एक पैर उठा कर सोफ़े के हत्थे पर रख दिया.. ऐसा करने से उसके पैर फ़ैल गए.. जिससे पूनम को भी उसकी गांड का छेद साफ़ दिखने लगा।

राज पीछे हाथ कर पूनम की गांड में घुसाने लगा। पूनम नीचे लटक रही राज की गोटियों को भी पीछे से मुँह में ले रही थी।
राज का तो कमर के नीचे का हर अंग मानो व्यस्त था। गांड में उंगली.. लंड और गोटियां मुँह में.. इतना मजा तो कभी स्वेता के साथ भी नहीं आया था।

तीनों की रासलीला चालू थी और बहुत मजा आ रहा था।

फ़िर कुछ देर बाद राज ने उन्हें इस पोजिशन से हटाया और खड़ा कर दिया। अब बारी-बारी से उन्हें किस करने लगा और किस करते-करते बिस्तर पर ले गया। राज पीठ के बल लेट गया।

अब राज ने अनिता को अपने मुँह पर उसकी चूत रख कर बैठने के लिए कहा और पूनम को उसके खड़े लंड पर बैठने के लिए कहा।

अनिता ने जल्दी से अपने घुटने मोड़ कर राज के मुँह के ऊपर अपनी चूत सैट कर दी।

साथ ही पूनम ने उसके लंड को मुँह में लेकर ढेर सारा थूक लंड पर लगा दिया था और फ़िर उस पर बैठने की कोशिश करने लगी थी।

लंड थोड़ा मोटा होने की वजह से पूनम धीरे से उसे गदीली चूत पर सैट कर रही थी। जल्द ही उसने लंड को अपनी संकरी घाटी में उतार लिया।

उसकी चूत कुछ बड़ी और फ़ैली हुई भी लग रही थी।

लौड़ा खाते ही उसने एक जोर की सिसकारी ली ‘अह्ह्ह्ह्ह्ह..’ और उसके लौड़े को घोडा समझ कर अपनी घुड़सवारी का लुत्फ़ लेने लगी। पूनम और अनिता के हाथ राज की छाती पर रखे हुए थे।

इधर राज अपनी जुबान की नोक बना कर अनिता की चूत में डाले जा रहा था।
अनिता की चूत में से भी नमकीन पानी बहना चालू हो गया था।

दोनों राज के ऊपर सवार थीं.. दोनों के मुँह एक-दूसरे के सामने थे।

अनिता और पूनम अपनी चाल धीरे करके एक-दूसरे को किस करते हुए एक-दूसरे के बोबे चूसने में लगी हुई थीं।
थोड़ी देर बाद राज ने अनिता को ऊपर से हटाया और आसन बदला अब राज ने अनिता को घोड़ी बनाया और पूनम को अनिता के मुँह के सामने अपनी टाँगें खोल के बैठा दिया।

अब अनिता पूनम की चूत चाट रही थी और राज अनिता की चूत में निशाना लगाने की तैयारी कर रहा था, राज ने अपने औजार को सैट करके थोड़ी सी ताकत लगाई.. तो चूत के पानी और चाटने की वजह से लंड बड़ी आसानी से चूत में बिना किसी ज्यादा मेहनत के अन्दर चला गया।

अनिता ने एक गहरी सांस ली और फ़िर ‘ऊउन्न्न.. ऊन्न्न्न्न्..’ करती हुई पूनम की चूत के दाने को जुबान से चाटने लगी।

राज फ़िर लंड को धीरे-धीरे आगे-पीछे करने लगा। कुछ देर बाद जब अनिता की कमर भी चलने लगी, तो राज ने भी उसकी चूतड़ को पकड़ कर अपनी स्पीड बढ़ा दी।
अब बिस्तर पूरा हिलने लगा था।

राज का मूसल लंड.. अनिता की चूत में ‘धक्कम-पेल’ मचा रहा था।
कभी-कभी राज उसके चूतड़ों पर चमाट भी लगाता जा रहा था।
सच में उसे इतना आनन्द मिल रहा था कि बता नहीं सकता।
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up MmsBee कोई तो रोक लो desiaks 280 830,783 06-15-2021, 06:12 AM
Last Post: [email protected]
Thumbs Up Kamukta Story घर की मुर्गियाँ desiaks 119 68,190 06-14-2021, 12:15 PM
Last Post: desiaks
Thumbs Up Kamukta kahani अनौखा जाल desiaks 50 98,208 06-13-2021, 09:40 PM
Last Post: Tango charlie
Thumbs Up Porn Story गुरुजी के आश्रम में रश्मि के जलवे sexstories 97 661,127 06-12-2021, 05:49 AM
Last Post: deeppreeti
Heart मस्तराम की मस्त कहानी का संग्रह hotaks 232 867,404 06-11-2021, 12:33 PM
Last Post: desiaks
Thumbs Up bahan sex kahani ऋतू दीदी desiaks 102 244,832 06-06-2021, 06:16 AM
Last Post: deeppreeti
Star Free Sex Kahani लंसंस्कारी परिवार की बेशर्म रंडियां desiaks 50 178,533 06-04-2021, 08:51 AM
Last Post: Noodalhaq
Thumbs Up Thriller Sex Kahani - कांटा desiaks 101 42,798 05-31-2021, 12:14 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb Kamvasna आजाद पंछी जम के चूस. sexstories 123 577,441 05-31-2021, 08:35 AM
Last Post: Burchatu
Exclamation Vasna Story पापी परिवार की पापी वासना desiaks 200 601,960 05-20-2021, 09:38 AM
Last Post: maakaloda



Users browsing this thread: 13 Guest(s)