kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ
03-22-2020, 01:45 PM,
#51
RE: kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ
कमल के रफ़्तार बढ़ाने से रानी की उत्तेजना भी बढ़ने लगी। रानी ने कमल की नंगी कमर कस के पकड़ी और बोल पड़ी, "कमल जल्दी करो। मुझे और तेजी से चोदो। अब मैं अपने चरम पर पहुँचने वाली हूँ। जल्दी.... प्लीज... और जोरसे.... मेरी चिंता मत करो। ... आह्हः.... हैश..... ओह.... उफ़...." ऐसे कराहट करती हुई रानी को एक ऐसा अनुभव हुआ जैसे उसके बदन में समंदर की जबरदस्त ऊँचे ऊँचे तक उठती मौंजों की तरह उछाल आया और उसका बदन कभी सिकुड़न तो कभी खिंचाई महसूस करने लगा। उसकी चूत में से भी उसके स्त्री रस की बौछार फुट पड़ी।

उधर रानी और कमल की अति रोमांचक चुदाई देख कर राज और कुमुद भी उत्तेजना से मचल रहे थे। उन्हें पूरी स्वच्छंदता से जो चाहे करने का जैसे लाइसेंस मिल गया था। और क्या देखना था? राज ने कमल की चूत में अपना लण्ड पूरा घुसेड़ दिया और उसे जोर शोर से कुमुद की चूत में पेलने लगा। राज का लण्ड कुमुद को बड़ा प्यारा लग रहा था। अपने पति कमल के मोटे लण्ड से कुमुद बड़ी त्रस्त थी। कमल कई बार जब जल्दी में होता था तो पूरी तरह अपना लण्ड चिकना किये बिना कुमुद की चूत में डाल देता था और उससे कुमुद की चूत में बड़ा दर्द होता था और उसकी चूत में कई बार खून तक निकल जाता था। आज कुमुद बड़े सुख से राज के लण्ड से चुदवा कर बिना दर्द के आनंद का अनुभव कर रही थी। कुमुद मारे उन्माद के बिस्तर पर मचलने लगी और अपनी गाँड़ बिस्तरे पर रगड़ती हुई कामुकता भरी उन्मादित आवाज से कराह ने लगी।


दोनों जोड़ियां आज वह सुख अनुभव कर रही थी जो उन्हें शादी के इतने सालों के बाद सपना जैसे लग रहा था। दोनों ही पत्नियां सारी शर्मो हया को ताक पर रख दूसरी के पति से बड़े प्यार से और उच्छृंखलता से चुदवा रही थी और अपना जातीय सुख का अद्भुत उन्माद अपनी सहेली को दिखाने के लिए कई बार अपनी सहेली की हाथ दबा कर संकेत दे रही थी। उनमें कोई इर्षा का भाव नहीं रहा था क्यूंकि इस उच्छृंखलता में उसके पति और सहेली भी तो भागीदार थे। उन चारों ने यह सोचा भी नहीं था की ऐसा अद्भुत अनुभव उन्हें मिल सकेगा।

राज और कुमुद अपने चरम पर पहुँच चुके थे। उन्हें यह सोचने की जरुरत नहीं थी की राज अपना वीर्य कुमुद की चूत में डाले या नहीं। कमल भैया ने रानी की चूत में अपना पूरा वीर्य जब उंडेल ही दिया था तो भला राज को पूछने की क्या आवश्यकता? पर फिर भी राज ने कमल भैया के हाथ को पकड़ा और इशारे से पूछा की क्या राज कुमुद की चूत में अपना वीर्य डाले?

तब कमल ने राज को डाँटते हुए कहा, "भाई कहता है मुझे? अरे हमारी दोनों पत्नियां अब हमारी दोनों की साझा हैं। आज हमारा बचपन का सपना साकार हुआ है। अब तुम पूछ कर मुझे अपमानित ना करो। कुमुद और रानी दोनों ही तुम्हारी पत्नियां है और दोनों ही मेरी पत्नियां भी है। तो फिर सोचना क्या? जाने दो अपना सारा माल मेरी बीबी की चूत में और आज कुमुद को भी तुम सच्चे मायने में अपनी पत्नी बना ही लो। अब इन दोनों के जो बच्चे होंगें वह हमारे साँझा होंगे। भले ही नाम एक का ही हो। अब आज से जब भी मौक़ा मिले गए तो हमारा साँझा बिस्तर होगा। रानी और कुमुद हमारी साँझा बीबियाँ होंगी।"

The End
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Sex kahani अधूरी हसरतें sexstories 271 128,077 04-02-2020, 05:14 PM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार sexstories 102 263,206 03-31-2020, 12:03 PM
Last Post: Naresh Kumar
Big Grin Free Sex Kahani जालिम है बेटा तेरा sexstories 73 128,918 03-28-2020, 10:16 PM
Last Post: vlerae1408
Thumbs Up antervasna चीख उठा हिमालय sexstories 65 34,541 03-25-2020, 01:31 PM
Last Post: sexstories
Thumbs Up Adult Stories बेगुनाह ( एक थ्रिलर उपन्यास ) sexstories 105 52,205 03-24-2020, 09:17 AM
Last Post: sexstories
Lightbulb Hindi Kamuk Kahani जादू की लकड़ी sexstories 86 114,866 03-19-2020, 12:44 PM
Last Post: sexstories
Thumbs Up Hindi Porn Story चीखती रूहें sexstories 25 23,137 03-19-2020, 11:51 AM
Last Post: sexstories
Star Adult kahani पाप पुण्य sexstories 224 1,086,555 03-18-2020, 04:41 PM
Last Post: Ranu
Lightbulb Behan Sex Kahani मेरी प्यारी दीदी sexstories 44 117,611 03-11-2020, 10:43 AM
Last Post: sexstories
Star Incest Kahani पापा की दुलारी जवान बेटियाँ sexstories 226 777,572 03-09-2020, 05:23 PM
Last Post: GEETAJYOTISHAH



Users browsing this thread: 3 Guest(s)