Maa ki chudai मॉं की मस्ती
11-24-2017, 01:26 PM,
#1
Tongue  Maa ki chudai मॉं की मस्ती
लेखक - अज्ञात


दोस्तो ये कहानी मुझे नही पता किसने लिखी है लेकिन मैं इस कहानी को हिन्दी फ़ॉन्ट में परवर्तित कर आपके लिए पेश कर रहा हूँ कहानी का श्रेय इस कहानी के लेखक को जाता है

मैने इस साल 10थ पास किया और फिर 11थ मे कॉमर्स कोर्स जाय्न कर लिया मेरी उमर 17 साल की हो चुकी है,बीच मे 1 साल बीमार होने की वजह से मेरा बर्बाद हो गया था,अब इस साल 11थ मे कॉमर्स लेने से मेरे पर पढ़ाई का बोझ बढ़ गया था,वैसे भी दिल्ली मे 12थ मे 90 पर्सेंट से कम नंबर होने पर डी.यू. के कॉलेज मे ऐड्मिशन नही मिलता,इसलिए मेरे पिता जी मेरी पढ़ाई को ले कर काफ़ी चिंतित रहते थे.क्योंकि मे मेद्स मे थोड़ी मुश्किल महसूस कर रहा था,तब उनके एक जूनियर ने पिता जी को कहा कि उसका बेटा कोचैंग सेंटर चलता है अपने 3 दोस्तों के साथ मिल कर और वो लोग 11थ और उस-से ऊपर के बच्चो को ग्रूप और सिंगल ट्यूशन देते हैं ,जब उसने अपने कोचैंग सेंटर का नाम बताया तब पिता जी ने कहा कि वो मेरे से पूंछ कर बताएँगे.



रात को खाने की टेबल पर पिता जी ने मेरे से कहा कि आज ऑफीस मे उनके जूनियर ने क्या बात बताई है,जब पिता जी ने कोचैंग सेंटर का नाम बताया ,तब मेने कहा कि ये तो बहुत फेमस है और इनका मैथ और अकाउंट्स मे बहुत बढ़िया नाम है,मेरे कई दोस्त यहाँ पर ट्यूशन लेते हैं वो भी ग्रूप मे,यहाँ पर एक राजन सर हैं जो मैथ बहुत बढ़िया पढ़ाते हैं,तब पिता जी ने कहा कि राजन तो उनके जूनियर का ही लड़का है और अगर मे कहूँ तो राजन मेरे को घर पर अकेले ही पढ़ा देगा,क्योंकि जो पिता जी का कौलेज है वो तो पिता जी को किसी भी तरह से खुश रखना चाहता था.


तब मैने कहा कि ठीक है वो कल ही अपने जूनियर राजन के पिता रमेश से बात कर लेंगे और हो सका तो कल से ही मेरी ट्यूशन शुरू हो जाएँगी.


अगले दिन पिता जी ने ऑफीस पहुँचते ही रमेश को बुला लिया और रमेश को कहा कि वो राजन से कहे कि राजन आज से ही मुझे ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर दे,तब रमेश ने कहा कि ऐसा ही होगा.
Reply

11-24-2017, 01:27 PM,
#2
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
बाहर आ कर रमेश ने अपने लड़के राजन को फोन किया और बताया कि उसकी मेरे पिता जी से क्या बात हुई है,तब राजन ने कहा कि उसके लिए अकेले बच्चे को वो भी उसके घर जा कर पढ़ाना मुश्किल है ,तब रमेश ने कहा कि बेटे ये ज़रूरी है क्योंकि आज अगर वो मनु को ट्यूशन पढ़ा देगा तो जो काम लाखों की रिश्वत से नही हो सकता वो काम उसके मुझे पढ़ाने से हो सकता है,क्योंकि अरविंद जी उनके बॉस है और वो तो रमेश को अपने आस पास भी नही फटकने देते,पर आज राजन की वजह से ये मौका आया है कि उन्होने रमेश को अपने सामने कुर्सी पर बिठाया है.

ये बात राजन को समझ आ गयी,तब उसने कहा कि वो उसको अरविंद जी का फोन नंबर दे दे जिस-से कि राजन सीधे उनसे बात कर सके,तब रमेश ने राजन को समझाया कि वो उनसे रुपयों की कोई बात ना करे और अगर वो पूछें भी तो ना कर दे और कह दे कि पहले पढ़ाना शुरू होने दें,फिर बात होगी तो पिता जी कर लेंगे पहले स्टूडेंट और टीचर की भी आपस मे समझ विकसित होने दें फिर बात करेंगे.

राजन से अरविंद जी को फोन करके अपना परिचय दिया और कहा कि उसके पिता जी ने आपसे बात करने को कहा है,तब अरविंद ने राजन से कहा कि सारी बात तो उसके पिता जी ने बता ही दी होगी बस वो आज से ही मनु को पढ़ाना शुरू कर दे,तब राजन ने उनसे उनका पता पूछा और कहा कि वो टाइम भी बता दें कि उनको कौन सा टाइम सूट करेगा,तब अरविंद ने कहा कि इस बारे मे वो मनु से बात कर ले और राजन को मनु का फोन नंबर दे दिया,फिर कहा कि वो अपनी फीस भी बता दे ,तब राजन ने कहा कि पहले वो पढ़ाना शुरू कर दे फिर बता देगा.

राजन से फिर मनु को फोन किया और कहा कि वो राजन बोल रहा है,और उसके पिता जी से हुई सारी बात मनु को बता दी,और पूछा कि वो आज किस टाइम मनु को पढ़ाने आए,तब मनु ने कहा कि वो 2 बजे स्कूल से घर आता है,और खाना खाते -2 3 बज जाते हैं अगर राजन के लिए संभव हो सके तो 4 बजे मनु के घर आ जाए,तब राजन ने कहा कि वो पहुँच जाएगा.

मनु के जो दोस्त राजन के यहाँ ट्यूशन पढ़ते थे उनको बताया कि आज से राजन उसको ,उसके घर पर पढ़ाने आएगा.इस बात से मनु का सिक्का उसके दोस्तों पर जम गया कि राजन तो जल्दी से सिंगल ट्यूशन नही लेता वो मनु को उसके घर पढ़ाने आएगा ये तो बहुत बड़ी बात है.

फिर दोपहर मे मनु घर पर आ कर राजन का इंतेज़ार करने लगा मनु ने अपनी मा को भी बता दिया कि आज से राजन उसको घर पर पढ़ाने के लिया आया करेगा,

तब आरती ने पूछा कि राजन कब आएगा तो मनु ने कहा कि वो 4 बजे आएगा.तो मम्मी ने कहा कि मुझे मम्मी को पहले बताना चाहिए था कि आज से ही ट्यूशन वाले सर पढ़ाने आ रहे हैं,क्योंकि मेरी मम्मी मॉर्डन विचारों वाली हैं तो वो कहती हैं कि कोई भी उनके घर आए तो उसको ये ना लगे कि घर फेला -2 है ,तब मम्मी ने कहा कि मे जल्दी से अपने रूम मे से फालतू समान हटा दूं और ड्रॉयिंग रूम की हालत भी ठीक कर दूं.वो भी घर मे नाइटी मे रहती हैं वो कपड़े चेंज करने चली गयी.
Reply
11-24-2017, 01:27 PM,
#3
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
सही 4 बजे राजन मनु के घर पहुँच गया राजन ने जब बेल बजाई और दरवाजा खोला तो मनु ने पूछा कि किसे मिलना है राजन ने कहा कि क्या ये मिस्टर.केपर का ही घर है तो मनु ने कहा कि हां और वो हिमांशु है उनका बेटा,तो राजन ने कहा कि वो राजन है,तब मनु को पता चला कि ये तो राजन सर हैं,मनु के दिमाग़ मे राजन की जो तस्वीर थी वो उस-से बिल्कुल ही अलग था,राजन एक 29-30 साल का मॉर्डन आउटफिट मे स्मार्ट और फॅशनेबल युवक था,वो फ़र्राटे से इंग्लीश बोलता है और मैथ का तो जीनियस है.मनु ने आगे बढ़ कर राजन से हाथ मिलाया और कहा कि उसका ही नाम मनु है,मनु राजन को घर के ड्रॉयिंग रूम मे ले आता है और उसको बिठाता है,फिर वो राजन के लिए पानी लाता है,तभी मनु की मम्मी भी आ जाती है ट्राइ मे कोल्ड ड्रिंक्स और कुछ बिस्कट वगेरह ले कर,मनु राजन से अपनी मा का परिचय कराता है तो राजन एक बार तो देखता ही रह जाता है,क्योंकि आरती ने चुस्त सलवार और कमीज़ पहना था आजकल के फॅशन के अनुसार कमीज़ का कट काफ़ी गहरा था और वो स्लीव्लेस्स भी था,साथ मे हल्का सा मेकप भी किया था जो कि उसके रूप मे चार चाँद लगा रहा था.

फिर राजन ने आरती को हाथ जोड़ कर नमस्ते किया क्योंकि वो पहले ही दिन अपने बाप के अफ़सर के घर मे अपना इंप्रेशन खराब नही करना कहता था.

तब आरती ने कहा कि आप कोल्ड ड्रिंक लीजिए,फिर वो तीनो जाने कोल्ड ड्रिंक पीने लगे,तब राजन ने बात शुरू की और मनु से पूछा कि उसके सब्जेक्ट क्या-2 हैं,मनु ने बताया कि कॉमर्स के सब्जेक्ट हैं .तब राजन ने पूछा कि उसकी समस्या क्या हैं ,मनु ने कहा कि उसको सबसे ज़्यादा प्राब्लम मैथ मे होती है और थोड़ी बहुत प्राब्लम अकाउंट्स मे भी है,राजन ने कहा कि मैथ तो वो सॉल्व कर ही देगा और अकाउंट्स भी देख लेगा और ज़्यादा प्राब्लम होने पर अपने यहाँ से किसी और टीचर को भी अकाउंट्स के लिए अरेंज कर देगा.


इन सब बातों के बीच मे उन लोगों ने कोल्ड ड्रिंक ख़तम कर ली,फिर मनु ने कहा कि वो लोग मनु के कमरे मे चल कर बैठते हैं,और वो दोनो जने उठ कर मनु के रूम मे आ गये,मनु के रूम मे सारी की सारी सुवधाएँ मौजूद थी,जैसे कि डेस्कटॉप,लॅपटॉप ,स्टडी टेबल ,नेट कनेक्षन एट्सेटरा,एट्सेटरा.

तब राजन ने कहा कि आज तो वो सिर्फ़ मनु से कुछ जनरल इन्फर्मेशन लेगा फिर कल वो उस हिसाब से तैयार हो कर उसकी पढ़ाई शुरू करेगा.वैसे तो राजन को सारे का सारा कोर्स पता था क्योंकि वो मनु के स्कूल के ही बच्चो को भी पढ़ा रहा था और वैसे भी 11थ के बाद सभी स्कूल मे कबसे कोर्स की वजह से एक ही ख़ौफ़ था.

पहले दिन सिर्फ़ इतना होने के बाद राजन 5 बजे मनु के यहाँ से चला गया.और अगले दिन आने के लिए बोल गया साथ ही साथ उसने मनु से कहा कि वो लोग हफ्ते मे 3 दिन ट्यूशन के लिए आएगा तो जो भी 3 आल्टेरनेट डेज़ उसको सूट करते हूँ वो कल परसों मे राजन को बता दे,मनु ने कहा कि ठीक है वो कल बता देगा सर,

राजन ने कहा कि वो राजन को सर ना कह कर भैया कहे तो ज़्यादा अच्छा रहेगा.मनु तो खुश हो गया कि कहाँ तो सारे बच्चे राजन को सर -2 कहते हैं और कहाँ आज पहले ही दिन राजन ने उसे भैया कहने के लिए कह दिया,ये सब मनु के बाप का प्रभाव था. 
Reply
11-24-2017, 01:28 PM,
#4
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
रात को अरविंद ने मनु से राजन के बारे मे पूछा तो मनु ने सारी बातें बता दी,और कहा कि राजन ने उसको क्या-2 करने को बताया है,तब अरविंद ने कहा कि पहले कुछ दिन वो राजन से पढ़े फिर अगर मनु को लगेगा कि रोज़ कोचिंग चाहिए तो वो राजन से या उसके बाप रमेश से बात कर लेगा.


अगले दिन स्कूल मे मनु के कदम ज़मीन पर नही पड़ रहे थे उसने स्कूल में अपने सब दोस्तों को राजन की बातें बताई कि कल उसने क्या-2 कहा है,और वो हफ्ते मे 3 दिन मनु को उसके घर पर पढ़ने वाला है.वो अपनी क्लास मे हीरो बन गया था.

फिर उस रोज़ राजन ठीक टाइम पर मनु को पढ़ाने पहुँच गया,वो लोग सीधे ही मनु के कमरे मे आ गये,कुछ देर बाद ही मनु की मम्मी उनके लिए कुछ ठंडा और नाश्ता ले आई,तब पहली बार राजन ने साइड-2 उनसे बात की और कहा कि भाबी जी आपको रोज़ -2 परेशान होने की ज़रूरत नही है,वो तो रोज़ ही आएगा इसलिए फॉरमॅलिटी ना करें तब आरती ने कहा कि ये कोई फॉरमॅलिटी नही है,ये तो उनका काम है,जब आप मनु को पढ़ाने आ सकते हैं तो मे क्या इतना भी नही कर सकती,आज भी आरती ने सूट सलवार ही पहना हुआ था,और वो उसमे बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

आरती को देख कर एक बार तो रमन को गर्मी महसूस हुए,पर फिर रमन ने अपने आप पर कंट्रोल किया और स्माइल पास कर के रह गया.इसके बाद आरती कमरे से वापस चली गयी,तब रमन चोर नज़रो से उसकी बलखाती जवानी को और हिलती हुई गान्ड को निहारता रहा,आरती की नज़रो से ओझल हो जाने के बाद रमन ने अपना ध्यान फिर से मनु पर लगा दिया,आज से उन लोगो को अपनी पढ़ाई शुरू करनी थी,रमन डीटेल कल ही ले चुका था इसलिए वो सीधे ही मुद्दे पर आ गया और उसने मनु को इन्स्ट्रक्षन देनी शुरू कर दी,फिर जब ट्यूशन का टाइम ख़तम हो गया उसने मनु को घर के लिए कुछ सवाल बताए और पूछा कि अगले हफ्ते से वो कौन से 3 दिन आए तब मनु ने उसे कहा कि वो मंडे से स्टार्ट करेंगे.रमन ने कहा ठीक है वो मंडे को आ जाएगा तब तक मनु अपनी पढ़ाई के मुश्किल सवाल तैयार कर ले.जब वो बाहर आया तो आरती हॉल मे ही बैठी थी,आरती ने रमन से पूछा कि वो कुछ लेगा क्या तो एक बार तो रमण ने दिल में कहा कि बोल दे कि हां लेगा उसकी चूत पर फिर अपनी बात को ज़ुबान पर ना ला कर वो स्माइल पास करके चला आया.


इस प्रकार रमन का मनु के घर मे आना-जाना शुरू हो गया वो अपनी पूरी मेहनत से मनु की पढ़ाई पर ध्यान दे रहा था,कभी-2 बीच मे अरविंद भी रमन से बात करके मनु की पढ़ाई की अपडेट लेता रहता था.वो भी मनु के अच्छे मार्क्स से बहुत खुश थे ,इस कारण रमेश की इज़्ज़त और पूछ ऑफीस मे बढ़ गयी थी,अब तो वो बहुत बार अरविंद के साथ उनके ऑफीस मे बैठा रहता था,इस बीच मे कई बार अरविंद ने रमण और रमेश दोनो से ट्यूशन की फीस के बारे मे पूछा पर हर बार दोनो ने ये ही कहा कि मनु के अच्छे मार्क्स ही उनका मेहताना है,फिर अरविंद भी समझ गया कि ये पैसे ऐसे नही लेगा तो उसने रमेश को मौके बे मौके छोटे-मोटे गिफ्ट देने लग गया.

इधर आरती भी मनु से बहुत खुश थी और वो समझ रही थी कि इसमे सारे के सारा योगदान रमन का है इसलिए वो रमन का काफ़ी ख़याल रखती थी और रमन को कभी भी बगैर कुछ खाए पिए घर से जाने नही देती थी,वैसे भी अरविंद की खास हिदायत थी कि जब रमन उनके लिए इतना कुछ कर रहा है तो फिर ये उनका भी फ़र्ज़ है कि उसे किसी किस्म की शिकायत ना हो.वैसे भी आरती रमन के व्यवहार से काफ़ी प्रभावित भी थी.
Reply
11-24-2017, 01:28 PM,
#5
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
रमन ने मनु को कह रखा था कि अगर उसे मैथ के अलावा और किसी सब्जेक्ट मे कोई भी मुश्किल हो तो वो उसके कोचैंग सेंटर की किसी भी क्लास मे और किसी भी टीचर से नोट्स ले सकता है इस वजह से मनु कई बार वहाँ चला जाता था,वहाँ भी उसे बहुत बढ़िया ट्रीटमेंट मिलता था इसलिए उसे बड़ा मज़ा आता था,जैसे कि मैने पहले ही बताया कि कोचैंग सेंटर मे 3 पार्ट्नर थे रमन के अलावा सलीम और महेश साथ ही साथ उन लोगों ने 3-4 टूटर भी रख रखे थे जो अलग-2 सब्जेक्ट की क्लासस लिया करते थे और होम ट्यूशन के लिए भी जाया करते थे पर ये तीनो सिर्फ़ सेंटर मे ही क्लासस लिया करते थे. 

इस तरह से मनु की पढ़ाई चल रही थी,फिर 11थ के एग्ज़ॅम्स मे तो मनु ने कमाल कर दिया वो 92% मार्क्स ला कर क्लास मे फर्स्ट आ गया,इस बात से तो मनु स्कूल मे और हीरो बन गया , अब लड़कियाँ मनु को घेर कर रहने लगी और इससे वो बहुत खुश भी था,उसे पता था कि ये सब रमन की क्लासस के कारण है.

रमन की इज़्ज़त मनु के घर मे बहुत ज़्यादा हो गयी,मनु के फर्स्ट आने पर अरविंद ने रमन को एक नया लेपटॉप गिफ्ट किया जो कि वो नही ले रहा था,तब आरती ने कहा कि उसने उनके लिए इतना किया है ये तो कुछ भी नही है उसके सामने,अब आरती रमन से काफ़ी खुल चुकी थी और वो आपस मे कई बार जब मनु किसी काम की वजह से इधर-उधर होता था तो बाते करते रहते थे,और उनके बीच मे फॉरमॅलिटी ख़तम हो गयी थी,कभी-2 वो तीनों मिल कर ही नाश्ता किया करते थे,रमन को तो आरती की कंपनी मे मज़ा आता ही था अब आरती को भी रमन के साथ बहुत कॉम्फर्ट फील होता था,इस कारण वो अब रमन के सामने भी नाइटी मे ही रहने लगी थी ,पर इस-से रमन की हालत कई बार पतली हो जाती थी,क्योंकि कई बार आरती की नाइटी का गला काफ़ी गहरा होता था और वो जब बाते कर रहे होते थे तो झुकने पर उसके मोटे-2 मम्मे नाइटी से निकल कर बाहर आने को होते थे,तो रमन का बम्बू खड़ा हो जाता था और उसके लिए कंट्रोल मुश्किल होता था,


रमन अच्छी टीचिंग तो करता था ही पर साथ ही साथ मे बहुत बड़ा चोदु भी था,जो भी नयी टीचर जॉब के लिए उनके सेंटर मे आती थी वो तीनो जने उसको अपने जाल मे फसा कर उसकी चूत ज़रूर मारते थे,चाहे वो शादी शुदा हो या सिंगल इस तरह से तीनो जने सेंटर मे कई चूत मार चुके थे,और तो और अगर कोई स्टूडेंट भी उन लोगों को पसंद आ जाती थी तो ये लोग उसको भी नही छोड़ते थे,इस तरह से इनको चूत का चस्का लगा हुआ था,पर यहाँ पर कहानी दूसरी थी रमन चाह कर भी आगे नही बढ़ सकता था क्योंकि उसे पता था कि यहाँ पर उसके अलावा उसके बाप की इज़्ज़त का भी सवाल है.
फिर भी वो आरती की कंपनी का फुल मज़ा लेता था,अब तो कभी-2 वो खुद कह कर चाय बनवाता और आरती को भी जाय्न करने को कहता था,मनु को भी कभी कोई दिक्कत नही होती थी.


जब मनु के इतने बढ़िया नंबर आए तो उसके बाप ने मनु की खुशी के लिए एक छोटी सी पार्टी रखी जिसमे कि अरविंद ने अपने कुछ खास दोस्त और मनु के सारे दोस्त और आरती की कुछ खास सहेलियो को बुलाया और ऑफकोर्स रमेश और रमन भी इन्वाइट थे ही,पार्टी मे आरती ने एक बहुत ही डीप गले के टॉप के साथ जीन्स पहन रखी थी जिसमे वो गज़्जब की सुंदरी लग रही थी,रमन का तो दिल कर रहा था कि उसे किसी कोने मे ले जा कर वहीं चोद दे.पर ये संभव नही था,

पार्टी मे रमन को पता चला कि आरती भी कभी-2 बियर पे लेती है और मनु भी अपने दोस्तों के साथ बियर तो पीता ही है,चोरी छुपे ड्रिंक भी कर ही लेता है,रमन के लिए ये नई जानकारी थी.वहाँ पर तो रमन ऐज आ टीचर ज़्यादा खुल नही सकता था क्योंकि उसके स्टूडेंट्स भी पार्टी मे आए हुए थे,पर पार्टी के बाद मे जब मनु ने कहा कि भैया आपने पार्टी को फुल एंजाय नही किया तो रमन ने कहा कि वो मनु को अलग से पार्टी देगा,तो मनु भी बहुत खुश हुआ.
Reply
11-24-2017, 01:28 PM,
#6
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
इस बीच मनु और रमण भी काफ़ी खुल चुके थे,अब रमण कभी-2 मनु से उसकी स्कूल के किसी दोस्त के बारे मे कोई बात पूछता था तो मनु भी खुल कर बता देता था कि उसका उस लड़की से क्या चक्कर है या नही,अब कभी-2 रमन और मनु आपस मे एक दूसरे के इंटेरेस्ट भी बाँट लेते थे,इन्ही बातो के बीच मे एक दिन रमन ने मनु से पूछा कि एक लड़की प्रियंका जिसे सब प्रिया बुलाते हैं और वो मनु की क्लाष्स्मेट थी उसके बारे मे मनु का क्या ख़याल है,प्रिया भी कोचैंग के लिए रमन के सेंटर मे आती थी,तब मनु ने कहा कि वो है तो बहुत स्मार्ट पर मनु को घास नही डालती,तब रमण ने कहा कि वो कहे तो प्रिया से मनु की दोस्ती पक्की करवा सकता है,इस बात से मनु बहुत खुश हुआ और उसने रमन से कहा की वो जो पार्टी मनु को देने वाला है उसमे प्रिया को भी इन्वाइट कर ले,तो रमन ने कहा कि ठीक है वो कोशिस करेगा,वैसे तो रमन वगेरह प्रियंका को ठोक चुके थे पर रमण ने ये बात मनु को नही कही.


फिर एक दिन शनिवार को उन लोगों ने सेंटर मे मनु के लिए पार्टी रखी,पार्टी मे रमन,सलीम महेश के अलावा 2 लेडी टीचर और 2 दूसरे टीचर और मनु की खास रिकवेस्ट पर प्रिया को इन्वाइट किया था.
पार्टी मे रमन ने खाने के अलावा पीने का भी इंतज़ाम किया हुआ था,मनु ने कहा कि वो अपने कुछ दोस्तों को भी बुलाना चाहता है तो रमन ने कहा कि फिर पार्टी मे मज़ा नही आएगा क्योंकि जितना वो दोनो आपस मे खुले हुए हैं वो अपने और स्टूडेंट्स से वैसे बाते नही करता.ये बात मनु को समझ आ गयी,फिर आज उसका खास टारगेट प्रिया थी जो कि पार्टी मे आ ही रही थी,फिर रमन ने कहा कि वो चाहे तो अपनी मम्मी आरती को पार्टी मे ला सकता है,अगर उसके पिता जी को कोई एतराज़ ना हो तो,तब मनु ने कहा की वैसे तो उसके पिता जी माना ही नही करते पेर वो तो बाहर तौर पेर गये हैं ,वो अपनी मम्मी से पूछ लेगा कि वो आना चाहेनी तो आ जाएँगी,नही तो अगर रमन कहेगा तो उसकी मा पार्टी मे ज़रूर आएगी,मनु को आरती से कोई ख़तरा नही था क्योंकि वो भी जानती थी कि मनु कभी -2 ड्रिंक कर लेता है,और उसकी गर्लफ्रेंड्स भी हैं.


तब रमन ने कहा कि वो आज यानी कि फ्राइडे को ही आरती को कल के लिए इन्वाइट करेगा,शाम को जब रमन पढ़ाने के लिए मनु के घर गया तो थोड़ी ही देर बाद आरती तीनों के लिए नाश्ता ले कर आ गयी और वहीं साथ मे बैठ गयी,तब रमन ने कहा कि कल की पार्टी है तो उसे पता ही होगा जो उन लोगों ने कोचैंग सेंटर मे रखी है,आरती ने नही कहा कि हां पता है,तो रमण ने कहा कि मनु के साथ आप को भी पार्टी मे आना है,ये सुन कर आरती ने कहा कि वो उनकी पार्टी मे आ कर क्या करेगी,तो रमन ने कहा कि ऐसी कोई बात नही है पार्टी मे सेंटर का स्टाफ ही है और वो भी पार्टी को इंजोय कर लेगी वैसे भी भाई साहब तो बाहर गये हैं तो वो अकेली ही होगी घर पर तो थोड़ी देर उसको भी कंपनी हो जाएगी,रिक्वेस्ट करने पर आरती राज़ी हो गयी कि ठीक है कल की पार्टी मे वो ज़रूर आएगी.
ये सुन कर रमण की बाँछें खिल गयी.
Reply
11-24-2017, 01:28 PM,
#7
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
पार्टी मे आरती क़यामत बन कर आई हुई थी आज उसने एक बहुत ही ट्रांसपेरेंट साड़ी स्लीव्लेस्स ब्लाउस के साथ पहनी हुई थी. सभी लोग आ गये और पार्टी को इंजोय करने लगे रमन ने आरती का सभी से परिचय करा दिया ,रमन के दोस्तों की नज़र तो आरती से हट ही नही रही थी क्योंकि बाकी जो भी लड़कियाँ पार्टी मे थी ,उनको वो लोग चोद ही चुके थे,आरती उनके लिए नया टारगेट थी,रमन ने पहले ही उनको समझा दिया था कि आरती के साथ कोई भी बदतमीज़ी नही करेगा नही तो वो बदतमीज़ी उनको भारी पड़ सकती है,पर आरती का रूप देख कर तो खुद रमन का मन फिसल रहा था,वो खुद आरती को इंजोय करना कह रहा था.

तब रमण ने मनु को बुलाया और प्रिया को बुला कर कहा कि यार तुम दोनो तो एक ही स्कूल मे और एक ही क्लास मे हो तो दूर-2 क्यों हो वो तो आपस मे फ्रेंड ही होंगे और अगर नही हैं तो आज से बन जाओ,फिर उसने दोनो को कहा कि एंजाय करो पार्टी को यार.दोनो ने एक दूसरे को स्माइल किया तो रमन वहाँ से चला गया.अब वो दोनो आपस मे बाते करने लगे प्रिया ने कहा कि वो मनु के बारे मे समझती थी कि मनु अपने आप को बहुत हीरो समझता है इसलिए वो उससे बात नही करती थी पर अब पता चला कि ऐसा कुछ नही है,आज से वो दोनो पक्के दोस्त हैं,मनु को जैसे मन माँगी मुराद मिल गयी,ये उसके लिए सबसे बड़ा गिफ्ट था,जो उसे मिला था.


इधर वैसे तो आरती सबसे बाते कर रही थी फिर भी कुछ खाली-2 महसूस कर रही थी,तभी अपने हाथ मे 2 ग्लास ले कर रमन आ गया और उसने एक ग्लास आरती को ऑफर किया कि भाबी जी लो आज की पार्टी की खुशी मे ,आरती ने कहा कि नही वो ड्रिंक नही करती तब रमन ने कहा कि ये बियर है,तो भी आरती ने कहा कि बाहर नही पीती ,

तब रमन ने कहा कि भाबी जी आप लगता है आप हमे अपना नही समझती जो ये कह रही हैं,इतने मे मनु और प्रिया भी वहाँ आ गये और मनु ने कहा कि मम्मी कोई बात नही यहाँ सब अपने ही हैं इसलिए थोड़ा बहुत पी लोगि तो कोई फरक नही पड़ेगा,उसके ये कहने पर आरती मान गयी,अब पार्टी अपने पूरे योवन पर थी इतने मे डॅन्स शुरू हो गया और सब डॅन्स करने लगे,रमन और उसके दोस्त तो आरती से चिपकने को तैयार थे पर अभी कोई कोशिस सारे का सारा खेल खराब कर सकती थी,इसलिए सब आराम से थिरक रहे थे,फिर डॅन्स रुकने पर सबने दूसरा राउंड बियर का शुरू कर दिया,इसके बाद तो हर कोई जो मर्ज़ी करने लगा आरती को भी इन सब के बीच मे मज़ा आने लगा.

दूसरी तरफ मनु तो प्रिया से चिपका ही जा रहा था और वो भी मनु को पूरी लिफ्ट दे रही थी,दोनो जनो ने बियर मे थोड़ी-2 सी विस्की भी डाल ली थी,इसलिए सुरूर ज़्यादा ही हो गया था,अब डॅन्स शुरू होने पर दोनो जने चिपक कर नाचने लगे और एक दूसरे के अंगो को भी महसूस करने लगे,पार्टी अपने पूरे शबाब पर थी,सब ही शराब और शबाब मे डूबे हुए थे ,सलीम और महेश तो दोनो लेडी टीचर को ले कर दूसरे कमरो मे चले गये अब वहाँ पर सिर्फ़ 6 लोग ही थे,

आरती को भी थोड़ा सा नशा हो रहा था इस बीच मे उसे संभालने के बहाने और डॅन्स के बहाने रमन ने आरती के मम्मों को दबा कर मज़ा ले ही लिया,आरती को भी रमन के मम्मे दबाने पर बहुत मज़ा आया.पर उसने ये जाहिर नही होने दिया,और आ कर एक कुर्सी पर बैठ गयी वहीं पर मनु और प्रिया भी अपनी मस्ती मे मस्त थे पर उन दोनो ने आरती के आने का कोई ध्यान नही दिया और अपनी मस्ती करते रहे तब आरती ने ही कहा कि मनु अब देर बहुत हो गयी है हमे घर चलना कहिए,तो मनु ने घड़ी मे टाइम देखा रात के 12 बजने वाले थे उसने रमन से कहा कि अब हमे घर जाना चाहिए तो रमन ने कहा कि इस टाइम उन लोगों को कोई साधन नही मिलेगा और फिर उन्होने थोड़ी पी भी रखी है इसलिए वो ही उन्हे उनके घर छोड़ देगा.

तब रमन ने अपने साथी टीचर को कहा कि वो उन तीनो जनो को घर छोड़ने जा रहा है वहीं से वो घर चला जाएगा वो सब भी यहाँ से अब घर चले जाएँ और कल दिन मे आ कर यहाँ के साफ सफाई करवा दें. 

अगले दिन जब रमन मनु को पढ़ाने के लिए आया तब मनु ने पूछा कि क्या रमन ने किसी की ऐसे ली है जो कि शादी शुदा होते हुए भी उससे चुदवा चुकी हो,तो रमन ने कहा की यार शादी शुदा औरते ज़्यादा सेक्सी होती हैं क्योंकि वो सेक्स के मज़े ले चुकी होती हैं,इसलिए उनमे सेक्स की भूक भी बहुत होती है,और वो एक्षपीरियंस होने के कारण खोल कर चुदवाती हैं,ये सुन कर मनु ने पूछा कि क्या कोई औरत है रमन की नज़र मे रमन ने कहा कि अभी तो नही है,पर वो कोशिस मे है,अगर कोई मनु की नज़र मे है तो वो भी कोशिस करे.

ये सुन कर मनु ने कहा कि वो कोशिस करेगा,जब रमन उसके लिए प्रिया का जुगाड़ कर रहा है तो वो भी देखेगा,कोई उसकी मम्मी की सहेली हुई तो,तभी आरती उन लोगों के लिए नाश्ता ले कर आ गयी,आज गर्मी के कारण आरती ने बहुत पतली नाइटी पहनी हुई थी,जिसमे की काफ़ी कुछ नज़र आता था और वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी,वो भी वहीं बैठ गयी तब रमन उसकी भरपूर जवानी का रस्पान करने लगा,तभी रमन ने कहा की भाबी जी आप डॅन्स तो बहुत गज़्जब का करती हो,कल पार्टी मे तो आपने कयामत कर दी थी. ये सुन कर एक बार को तो आरती शर्मा गयी पर फिर वो बोली कि ऐसा कुछ नही है,ये तो आप मुझे सिर्फ़ चढ़ाने के लिए कह रहे हो,तब रमन ने कहा कि आप कहे तो ये बात मनु से भी पूछ सकते हैं,मनु एक बार को तो सकपका गया क्योंकि आज तक मनु ने अपनी मा को सेक्स की नज़र से नही देखा था,पर जब रमण ने ये बात कही तो उसने रमण की हां मे हां मिला दी,

ये सुन कर तो आरती और शर्मा गयी और उसके गालो पर हया की लाली फेल गयी,और उसकी साँसे तेज़-2 चलने लगी,आरती के मोटे-2 मम्मे सांसो के साथ तेज़ी से उठने बैठने लगे,वैसे भी आज आरती ने नाइटी झीनी सी पहनी हुई थी जिसमे से उसके मोटे-2 मम्मे साफ नज़र आ रहे थे,आरती का ये रूप मनु ने पहली बार देखा था,मनु ने आज रमन के कहने पर पहली बार अपनी मा को सेक्स की नज़र से देखा और रमन और मनु की सेक्स की बाते वैसे ही उसकी लुल्ली को खड़ा कर रही थी और ये सब देख और सोच कर उसकी लुल्ली पूरे शबाब पर आ कर लंड बन कर खड़ी हो गयी,ये बात रमन ने तुरंत महसूस कर ली,वो समझ गया कि आज का दाव ठीक पड़ गया है,अब आगे बढ़ा जा सकता है.
Reply
11-24-2017, 01:28 PM,
#8
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
आरती ये सब सुन कर वहाँ से जल्दी से बाहर आ गयी,आरती के कमरे से बाहर जाने से मनु के लंड को थोड़ा सा सुकून मिला,तब रमण ने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि यार मनु मैं सच कह रहा था ना उस दिन तुम्हारी मम्मी उस साड़ी मे गज़्जब की सेक्सी लग रही थी,ये शब्द सुन कर एक बार को तो मनु को गंदा सा फील हुआ और झटका लगा ,पर तुरंत ही रमन समझ गया और उसने बात आगे संभालते हुए कहा कि यार तुम्हारी मा सच मे बहुत ही सुन्दर है,पार्टी मे सब तुम्हारी मम्मी की तारीफ ही कर रहे थे,तब मनु के चेहरे के भाव कुछ ठीक हुए,

बाकी आज रमन ने मनु के दिल मे अपनी मा के प्रति सेक्स का बीज बो ही दिया था

अब रमन और मनु आपस मे खुल कर सेक्स की बाते करने लगे थे,रमन को पता तो था ही कि मनु प्रिया को चोदना चाह रहा है,पर उसको मौका और जगह की बहुत प्राब्लम होती थी,फिर भी वो कोशिस कर ही लेता था,पर मौका नही मिल रहा था,रमन जब भी प्रिया को चोदता था तो उससे पूछ ही लेता था कि अब मनु और उसके बीच मे कैसा चल रहा है,इधर अब आरती ने घर मे अपने आप को सेक्सी रखना शुरू कर दिया था ,वो अब नये से नये आउटफिट या नाइटी जिसमे शरीर का एक-2 कटाव नज़र आता था घर मे रमन के सामने पहन-ने लगी थी.

मनु ने भी ये नोट किया कि उसकी मा कितनी सेक्सी है,अब कभी-2 जब प्रिया को चोदे कई दिन हो जाते थे तब मनु का लंड अपनी मा के सेक्सी कटाव देख कर खड़ा हो जाता था,मनु को भी अपनी मा को ताड़ने मे मज़ा आता था,पर वो इस-से ज़्यादा कोई कोशिस नही करता था.

एक दिन जब मनु को प्रिया से मिले कई दिन हो गये तब रमन ने मनु से पूछा कि आज कल प्रिया और उसका अफेर कैसा चल रहा है और वो मज़े ले रहा है ना,मनु ने बहुत ही मायूस हो कर कहा कि रमन भैया क्या बताऊ आज कल प्रिया मिलती तो है पर उसकी चूत नही मिल पा रही,वो मारने के लिए जगह ही नही मिलती क्या करू?

रमन ने कहा हां यार ये तो तुम्हारे साथ प्राब्लम है,पर इस बारे मे मे तुम्हारी क्या मदद कर सकता हूँ,मनु ने कहा भैया आप ही कोई मदद करो ना,आपने ही तो प्रिया से मेरी फ्रेंडशिप करवाई है,अब आप ही कोई ऐसी जगह का इंतज़ाम बताओ जहा पर मैं और प्रिया मज़े कर सकें.

मनु की इस दशा पर रमन बहुत ही खुश हुआ पर अपनी खुशी को मन मे दबा कर उसने कहा कि मैं कोशिस करता हूँ किसी जगह के बारे मे,तब मनु ने कहा भैया आपको अपना वादा तो याद है ना?

रमन ने कहा ये भी कोई भूलने वाली बात है,पर ऐसा करते हैं कि कल शाम को कोई पिक्चर देखने साथ मे चलते हैं,जिस-से कि बात आगे बढ़ सके ,मनु ये सुन कर बहुत खुश हुआ,पर फिर रमन ने अपना पासा फेंका कि अगर उन दोनो के साथ रमन अकेले जाएगा तो वो ठीक नही रहेगा क्योंकि फिर वो दोनो उसकी मौजूदगी मे कुछ नही कर पाएँगे,पर प्रिया अकेले भी मनु के साथ जाने को राज़ी नही होगी,तब रमन ने कहा कि यार मनु तुम अपनी मम्मी को साथ मे क्यों नही ले लेते,इससे प्रिया को भी प्राब्लम नही होगी और मेरे को भी भाभी जी की कंपनी हो जाएगी,मनु ने कहा ये तो बहुत बढ़िया आइडिया है,मैं मम्मी से बात करता हूँ,मनु जल्दी से अपनी मम्मी के पास जाता है और उसको कल के मूवी के प्रोग्राम के बारे मे बताता है,पर आरती मूवी के लिए जाने से मना कर देती है,वो कहती है कि उसको जाना है तो वो चला जाए,पर वो नही जाना चाहती.


तब मनु रमन को जा कर ये बात बताता है और कहता है कि अगर वो जा कर उसकी मम्मी से चलने को कहेगा तो मम्मी चल सकती हैं,रमन कहता है कि वो कोशिस करेगा,इतने मे ही आरती उनके लिए नाश्ता ले कर आ जाती है और रख कर जाने लगती है,रमन कहता है कि क्या उससे कोई ग़लती हो गयी जिसकी वजह से आजकल आरती उनके पास बैठती भी नही,आरती कहती है ऐसी तो कोई बात नही है,फिर रमन कहता है तो फिर आप भी हमारे साथ बैठिए,आरती कहती है कि वो तो ये सोच कर नही रुकती थी कि उसके होने से उनको पढ़ाई मे डिसटरबन्स फील होती होगी,रमन कहता है कि भाभी जी आप ने ये क्या बात कह दी? अरे आप जहाँ पर भी होंगी वहाँ तो हर चीज़ बढ़िया ही होगी ना,फिर वो मनु से कहता है कि क्या उसको कोई प्राब्लम है अगर उसकी मम्मी यहाँ बैठे तो,मनु कहता है सर ऐसा हो ही नही सकता कि उसको मम्मी के पढ़ने से कोई प्राब्लम हो.

इन सब बातों के बीच मे आरती वहीं बैठ जाती है,आज आरती ने एक बढ़िया सा सूट डाला हुआ था जिसमे कि वो गुलाब के फूल की तरह से लग रही थी,फिर बातो का सिलसिला आगे बढ़ाते हुए रमन ने कहा कि भाभी जी आपने कल की पिक्चर के लिए मना क्यों कर दिया,तब आरती ने कहा कि वो इस उमर मे उनके साथ चल कर क्या करेगी.

तो फिर रमन ने कहा कि क्या भाभी जी अभी आप की उमर ही क्या है,आप तो बहाने बना रही हो आप को देख कर कोई कह सकता है कि आप एक 18 साल के बच्चे की माँ हो,आप तो अभी बिल्कुल जवान हो,अगर आप को हमारे साथ चलने मे इसके अलावा कोई एतराज़ है तो वो बताओ,अरे आप साथ चलोगे तो मुझे ही कंपनी हो जाएगी ,कोई समझेगा कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड को मूवी दिखाने लाया हूँ,आरती के गालो पर ये सुन कर लाली आ गयी और मन ही मन बहुत खुशी महसूस हुई,पर ऊपरी तौर पर उसने कहा कि आप तो मेरी खिंचाई कर रहे हो,रमन ने कहा कि ऐसी कोई बात नही है,मनु ने भी कहा चलो ना मम्मी अब तो सर भी कह रहे हैं,तो फिर आरती कल पिक्चर के लिए चलने को मान गयी.

अगले दिन पिक्चर देखने का प्रोग्राम प्रिया के साथ भी पक्का कर लिया गया.
Reply
11-24-2017, 01:28 PM,
#9
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
अगले दिन सुबह से ही आरती बहुत एक्शाइटेड थी ,उसके कानों मे बार-2 रमण की कही हुई बाते गूँज रही थी,और वो बार-2 मुस्करा रही थी,पर दिल मे थोड़ा सा डर भी था मनु को ले कर,पर मनु ने तो खुद ही मूवी के लिए चलने को कहा था,इसलिए कोई खास मुश्किल नही थी,रात को ही आरती ने अरविंद को बता दिया था कि कल वो और मनु मूवी देखने जाएँगे उसने कहीं भी अरविंद से रमन का जिकर नही किया था,उसने सोचा कि अगर बात आएगी तो वो कह देगी कि घर से तो वो ही गये थे रास्ते मे वो दोनो भी मिल गये थे.

इधर आज मनु सोच रहा था कि कई दिन के बाद प्रिया का इतना साथ मिल पाएगा और फिर रमन भैया ने कहा ही है कि वो बात को आगे बढ़ाएँगे,तो वो भी खुश था.आरती ने मनु से पूछा कि वो उनके साथ चलने मे ऑड ना लगे तो उसको क्या पहन-ना चाहिए तब मनु ने कहा कि वैसे तो मम्मी तुम कुछ भी पहनती हो आपको बहुत सूट करता है पर आज के दिन तो कोई जीन्स और टॉप ही पहनो,जिससे कि ऐसा सच मे लगे कि आप रमन भैया की गर्लफ्रेंड हो.आरती ने सुन कर मनु से कहा कि मनु मज़ाक मत करो,तो मनु ने कहा कि इसमे हर्ज़ ही क्या है मैं आपनी गर्लफ्रेंड प्रिया और आप आपने बाय्फ्रेंड रमन के साथ मूवी देखने जा रहे हैं.ये तो बहुत बढ़िया है.

आरती ने मनु के कहे अनुसार एक जीन्स और उसपेर एक नया टाइट टॉप पहन लिया,शाम को रमन का फोन आया कि वो लोग कब पहुँच रहे हैं तो मनु ने कहा कि वो तैयार हैं वो टाइम पर आ जाएँगे,तो रमन ने कहा कि वो उन लोगो को पिकप करने आ रहा है वो तैयार रहें क्योंकि उनको पिकप करके वो प्रिया को भी लेगा तब सब चलेंगे,मनु ने कहा ठीक है.

रमन अपनी कार ले कर मनु के घर आ गया,आरती जब घर से बाहर मनु के साथ आई तो एक बार तो रमन के होश उड़ गये आरती जीन्स और टॉप मे क़यामत बनी हुई थी और टॉप उसके जिस्म से ऐसे चिपक रहा था कि उसकी गोलाईयों का साइज़ पूरे का पूरा नज़र आ रहा था,रमन ने आते ही कहा कि क्या आज आपका कहीं बिजली गिराने का इरादा है,रमन आजकल मनु के सामने ही मनु की मा से फ्लर्ट करने लगा था,

इस-से आरती को कई बार तो अज़ीब सा लगता था पर जब मनु को कोई एतराज़ नही था तो फिर वो भी कुछ ज़्यादा नही बोलती थी,आरती और मनु बाहर आए तो रमन ने आगे बढ़ कर आगे का कार का दरवाज़ा खोल तो आरती पीछे बैठने लगी,रमन ने कहा भाभी जी ये ग़लत बात है,जब आप मेरे साथ हो तो मेरे साथ ही आगे बैठो ना,मनु ने कहा कि ये भी ठीक है,इस तरह से आरती और रमन आगे और मनु पीछे बैठ गये,फिर उन लोगों ने प्रिया को लिया और पिक्चर हॉल पर आ गये,यहाँ पर टिकेट रमन ने पहले ही ले रखी थी तो वो सब अंदर चले गये और जा कर सीट्स पर बैठ गये तब वहाँ पर पहले मनु फिर प्रिया फिर आरती और लास्ट मे रमन इस तरह से बैठ गये.

पिक्चर शुरू होने पर हॉल मे अंधेरा हो गया,रमन मनु और प्रिया का तो मूवी मे कोई इंटेरेस्ट था ही नही वो तो सिर्फ़ मज़े लेने आए थे,इसलिए अंधेरा होते ही मनु और प्रिया ने तो चूमा चामि शुरू कर दी,पर इस-से आरती को बहुत दिक्कत लग रही थी तब रमन ने कहा कि भाभी जी क्या बात है आप पिक्चर नही देख रही क्या कोई प्राब्लम है ,फिर आरती ने कहा कि ऐसा है कि आगे भी सीट खाली हैं वहाँ चलते हैं,रमन तो चाहता ही यही था,वो आरती के साथ आगे की सीट्स पर आ गया,कुछ देर मे ही वो दोनो मूवी देखने लगे,तब हिम्मत करके रमन ने अपना हाथ आरती के हाथ पर रख दिया,पहले तो आरती ने सोचा कि शायद ग़लती से रख गया है,पर जब रमन अपने हाथ से आरती के हाथ को दबाने लगा तो उसने रमन की तरफ देखा,रमन ने भी आरती की तरफ देखा,आरती ने रमन से कहा कि ये आप क्या कर रहे हो,
Reply

11-24-2017, 01:28 PM,
#10
RE: Maa ki chudai मॉं की मस्ती
रमण ने हिम्मत करके कहा कि अपनी गर्लफ्रेंड का हाथ अपने हाथ मे ले रहा हूँ,आरती ने कहा कि ऐसे मत करो,मनु देख लेगा रमन ने कहा कि वो नही देखे गा वो तो प्रिया के साथ बिजी है,और जब वो दोनो बाय्फ्रेंड गर्लफ्रेंड हैं तो हाथ तो हाथ मे रख ही सकते हैं,ये सुन कर आरती ने अपने आप को ढीला छोड़ दिया,रमन ने सोच चलो आज एक और टारगेट अचिव हो गया,मनु के बाद अब आरती भी कुछ-2 चेंज हो रही है.


उस दिन के वाक़ये से मनु और प्रिया मे अंडरस्टॅंडिंग बढ़ ही गयी,और रमण भी आरती के करीब आ रहा था,अब मनु बहुत खुस था और वो रमण का बहुत अहसानमंद था,ये बात अगले दिन जब रमण ट्यूशन के लिए उसके घर आया तो उसने रमण को कही,रमण ने कहा कि दोस्ती मे ऐसा कुछ नही होता वो तो उसके लिए जो भी कर सकता है किया.

मनु ने कहा कि भैया पेर आप ने मुझे जो मौका दिया वो फिर कब मिलेगा,रमण ने कहा कि मेरे भाई ज़्यादा जल्दी मत करो,जो तुम कहते हो वो भी मिल जाएगा,बस थोड़ा सा तसल्ली करो,ज़्यादा जल्दी मे काम खराब ही होता है.

फिर वो पढ़ाई मे लग गये,इतने मे आरती कमरे मे आई,आज आरती घर के कॅषुयल कपड़ों मे ही थी,कल के वाक़ए के बाद वो रमण को कोई मौका नही देना कहती थी,इसलिए उसने नाश्ता रखा और चली गयी,पर रमण जब तक वो आँखों से ओझल नही हो गयी रमण आरती को ही देखता रहा.

रमण ने मनु से पूछा कि क्या उसकी मम्मी कुछ नाराज़ है क्या जो बिना कुछ बोले ही चली गयी,मनु ने कहा कि ऐसी तो कोई बात नही है,मम्मी तो मूवी से आने के बाद बहुत ही खुस थी,तो रमण ने कहा फिर आज क्या हुआ,मनु ने कहा कि मैं बाद मे मम्मी से पूछूँगा.

इसके बाद लाइफ रूटिन से चल रही थी,अब आरती रमण के आइ कॉंटॅक्ट से बचने की कोशिस करती थी.पर रमण अपना सारे का सारा कनसेन्रेशन आरती पर ही रखे हुए था,इसलिए वो कोशिस करता था कि कैसे आरती की कंपनी ज़्यादा से ज़्यादा एंजाय की जाए,पर अरविंद के डर की वजह से ज़्यादा कुछ नही कर सकता था.

इस बीच मनु का जनमदिन नज़दीक आ गया ,मनु ने रमण को उसका वादा याद दिलाया,रमण ने कहा कि तुम चिंता मत करो मुझे अपना वादा अच्छी तरह से याद है,तुम तो पार्टी की तैयारी करो,फिर क्या था वैसे भी ये मनु का 18अर्रहवाँ जनमदिन था इसलिए उसके पापा ने पार्टी तो देनी ही थी. 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up Porn Story गुरुजी के आश्रम में रश्मि के जलवे sexstories 178 1,896,301 Yesterday, 05:51 PM
Last Post: aamirhydkhan
Lightbulb Bhai Bahan Sex Kahani भाई-बहन वाली कहानियाँ desiaks 119 859,705 11-17-2022, 02:48 PM
Last Post: Trk009
Lightbulb Vasna Sex Kahani घरेलू चुते और मोटे लंड desiaks 110 2,015,092 11-15-2022, 03:27 AM
Last Post: shareefcouple
  बहू नगीना और ससुर कमीना sexstories 143 1,458,097 11-14-2022, 10:30 PM
Last Post: dan3278
Sad Hindi Porn Kahani अदला बदली sexstories 63 756,333 10-03-2022, 05:08 AM
Last Post: Gandkadeewana
Lightbulb Behan Sex Kahani मेरी प्यारी दीदी sexstories 46 1,006,848 09-13-2022, 07:25 PM
Last Post: Ranu
Star non veg story नाना ने बनाया दिवाना sexstories 109 995,913 09-11-2022, 03:34 AM
Last Post: Gandkadeewana
Thumbs Up bahan ki chudai भाई बहन की करतूतें sexstories 23 694,303 09-10-2022, 01:50 PM
Last Post: Gandkadeewana
Star Desi Sex Kahani एक नंबर के ठरकी sexstories 42 494,412 09-10-2022, 01:48 PM
Last Post: Gandkadeewana
  Mera Nikah Meri Kajin Ke Saath desiaks 46 262,250 08-27-2022, 08:42 PM
Last Post: aamirhydkhan



Users browsing this thread: 6 Guest(s)