Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
06-16-2019, 12:31 PM,
#11
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
और अरुन उसकी बॉहो मैं आ जाता है सरला उसे टाइट हग करती है।

और उस के कान मैं शीट कहती है ।

" अचानक इतनी केयर करने के लिए कभी साथ मत छोडना अपनी माँ का वरना मर जाऊंगी तेरे पापा के साथ ऐसी ज़िन्दगी जिते २ "

और है पैड़ बहुत सॉफ्ट और कम्फर्टेबल है मेरे वाले से जो मैं यूज करती थी अब आगे से तुम ही लाना अपनी माँ के लिये।

और अलग हो जाती है

दोनो एक दूसरे की ऑंखों में देखते हुए।

सरला: कॉलेज नहीं जाना देर हो रही है

अरुण: सोच में से निकालते हुए है जा रहा हू।
बाय।

सरला: बाय पहुच कर कॉल करना।

अरुण:ओके बाय।
और चला जाता है।
सरला सोचते हुए ये क्या हो रहा है वो बातें जो मुझे अपने पति से करनी चाहिए वो मैं अरुन से कर रही हू।


क्या मुझे अरुन से प्यार हो गया है
और शर्मा जाती है

अरुण: कॉलेज पहुच कर सरला को कॉल करता है।

सरला: हाँ अरुण

अरुण; माँ कॉलेज पहुच गया हू।

सरला:ओके

अरुण: मोम

सरला: हा अरुण

अरुण: थैंक यु

सरला:क्यु

अरुण: आप को पैड़ पसंद आये और आप ने मुझे डाँटा भी।
पैड लेने के लिये
एंड आई प्रॉमिस हर बार मैं ही आप के लिए पैड लाया करुँगा।

सरला: डाटूंगी क्यों एक तो तू मेरा ख्याल रख रहा है जो काम तेरे पापा को करना था उनसे तो हुआ नहीं तूने कर दिया।
ईस के लिए प्यार बनता है डांट नही।

चल क्लास जा लेट हो जाएग।

अरुण: ओके माँ बाय।

ऐसे ही कई दिन बीत गये सरला और अरुन दोनों और ओपन होते गये।

कहते है न जब उपर वाला किसी को किसी से मिलाने पे आता है तो क़ायनात भी मदद करति है वही सरला और अरुन के साथ हुआ।।।।।।

एक दिन सरला और अरुन साथ बैठे हुए थे घर पर की बारिश सुरु हो गई।

सरला: अरुन बारिश सुरु हो गई।

अरुण: है तो।

सरला: छत पे कपडे डाले है सुखने के लिये
भिग जायँगे बेटा।

अरुन तुरंत दौड लगा देता है छत पर

सरला पीछे २
आज उसने वाशिंग मशीन लगाई थी तो कपडे ज्यादा थे।

जब दोनों छत पे पहुचे बारिश सुरु हो गई थी अचानक वाली।

दोनो ने जल्दी २ कपडे समेटे जिसके हाथ जो लगा उठा लिये
और निचे आ गये।

तभी सरला को याद आया की उसने अपने
अन्डरगारर्मेन्ट्स अलग से सुखाए थे जिस से किसी पडोसी की नज़र न पड़ेगी और उसके पास टोटल २ सेट थे जो उसने आज वाश किये थे
कल के लिए उसके पास पहहने के लिए और सेट नहीं थे और आज भी उसने नहीं पहने है

सरला: छत की और जाते हुए।

अरुण: क्या हुआ माँ क्या रह गया।

सरला: कुछ नहीं अभी आती हू।

अरुण: क्या हुआ माँ क्या जा रहे हो दोवारा बारिश काफी अचानक तेज हो गई है।

सरला: कुछ कपडे रह गये है

अरुण: अरुन बाद में ले आना।

सरला: नहीं जरुरी है गीले हो जायँगे और दूसरे मेरे पास नहीं है।

अरुण: ओके तो मैं ले आता हू।

सरला: नहीं २ मैं ले आती हूं।

जब तक सरला कुछ बोलति अरुन छत पर दौड़ लगा देता है।

सरला उसको रोकती रह जाती है तब तक अरुन छत पर होता है।

सरला भी पीछे २ जाती है तब तक अरुन कपडे ढूंड रहा होता है।

सरला: भीगते हुए तो रुक मैं लेके आती हु।

अरुण: मना किया था आप को देखो कुछ भी नहीं है

सरला: है नहीं है तू रुक मैं आती हु।

अरुण: नहीं साथ चलो भीग जायंगे।

सरला क्या बोले समझ नहीं आ रहा था।
उसे पता था अरुन ऐसे नहीं जाएगा
तो वो खुद उस तरफ चल देती है जहा उसने अन्डरगारर्मेन्ट्स सुखाये थे।

अरुन सरला के पीछे २ चल देता है और देखता है
सामने साइड में छुपा के उसकी माँ से अपने ब्रा और पेंटी सुखने को डाला है पर वो गीले हो चुकी थी।

सरला अपनी ब्रा पेंटी उतारते हुए।

अरुन वहां से चल देता है

सरला: अब क्या हुआ बोला था न रहने दे
मै ले आउंगी नहीं माना अब क्या हुआ
ले जा।

और उसकी तरफ अपने अंदरगारर्मेन्ट्स बढ़ा देति है

अरुन कुछ नहीं बोलता और पकड़ने लगता है।

सरला उसके हाथ मैं अपने अन्डरगारर्गर्मेन्ट्स दे कर निचे आ जाती है।

अरुन अपने हाथ में अपनी माँ की पेंटी और ब्रा को पकड़ कर खड़ा रहता है और देखता रहता है।

सरला: आवाज़ देते हुए देखता रहेगा या निचे भी लायेगा वैसे भी २ ही जोड़ी है और दोनों ही गीले हो गये आज भी
नही पहनी थी और अगर नहीं सुखी तो कल भी ऐसे ही रहना पडेगा।

जलदी आ।

अरुन निचे आ जाता है

सरला: जा बाथरूम में जा कर निचोड के सुखा दे।

ये ३ महीनो का खेलापन था दोनों माँ बेटे का।

एक माँ अपने बेटे से अपनी पैंटी और ब्रा खुद अपने हाथ से देकर सुखाने के लिए बोल रही है।

सरला तो समझ चुकी थी वो अरुन को अपना मान चुकी है।

अब अरुन के समझने की देर है।।

दोनो एक कदम और आगे।
Reply

06-16-2019, 12:33 PM,
#12
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
थोड़ी देर बाद

सरला: सॉरी बेटा।

अरुण: क्यों मोम

सरला: वो मैंने तुम्हे अपने अन्डरगारर्मेन्ट्स सूखाने के लिए बोला।

अरुण: तो क्या हुआ माँ आप भी तो मेरे छोटे कपडे धो के सुखाती थी और अब भी कई बार मैं जल्दी में अपना अंडरवियर छोड़ जाता हु तो आप धोकर सुखा देते हो।

मै तो सॉरी नहीं बोलता।

सरला: वो आदमी की बात कुछ और होती है
हम लेडीज की कुछ और
हम तो दिखा भी नहीं सकते
और पति हमारे सुखाये तो इन्सलट हो जाती है।

अरुण: माँ पता नहीं इंडियन इतने बैकवर्ड क्यों है
फ़ोरेन में हस्बैंड और वाइफ दोनों एक दूसरे के कपडे धो लेते है पर इंडिया में नहीं।

सरला: अच्छा तो तू अपनी पत्नी के कपडे धोएगा।

अरुण: शरमाते हुआ माँ

सरला: हस्ते हुए ओके सॉरी

चल छोड़ चाय पियेगा

अरुण: हां पर आप बैठो मैं बनाता हु।

सरला: ठीक
चलो किचन में।

अरुन किचन में चाय बनाता है।
सरला उसके पास खड़ी होती है

सरला: बताया नही।

अरुण: क्या

सरला: तू भी धोयेंगा।

अरुण; खिसियाते हुए हां धोऊंगा आप के धो दुँगा।

सरला; मैं तेरी बीवी थोड़े ही हूँ ।

अरुण: माँ तो हो मेरी प्यारी माँ जिसे मैं बहुत प्यार करता हूं।
सरला: कितना अपनी बीवी से ज्यादा।

अरुण: पहले बात वो है नहीं और दूसरी उससे भी ज्यादा।। प्यार करता हु आप को

सरला: झुठ।

अरुण: सच माँ ।

सरला: तो ठीक है कल मेरे अन्डरगारर्मेन्ट्स धो के सुखा देना मैं समझ जाउंगी।
और हस्ने लगती है।

अरुण: ओके डन ।

सरला; ओके नहीं मज़ाक़ कर रही थी मुझे पता है मेरा बेटा मुझे प्यार करता है।

चाय बन गई।

अलमोस्ट

और दोनों चाय पीते है और पूरा दिन यु ही गुजर जाता है।

कल दिन रमेश ऑफिस चला जाता है और अरुन फ्रेश हो कर ब्रेकफास्ट के लिए आता है।

दोनो माँ बेटा ब्रेकफास्ट करते है ।

फिर अरुन कॉलेज को निकलता है और सरला को हग करता है।
विस्पर की बात वाले दिन से दोने माँ बेटा डेली हग करते है ये रूटीन हो गया है।

उसके कान में बोलता है मैं प्रूफ दे दिया है की मैं आप को अपनी वाइफ से ज्यादा प्यार करता हुँ।

सरला: अरुन की ऑंखों में देखते हुए- कैसे

अरुण: मैंने आप की ब्रा और पेंटी को धोकर अपने रूम में सुखा दी है सुख जाये तो उतार लेना।

और सरला के गाल पे किस कर के भाग जाता है।
Reply
06-16-2019, 12:33 PM,
#13
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
सरला शॉकड हो कर अरुन के रूम की तरफ जाती है तो देखती है उसकी ब्रा और पेंटी उसके रूम में सुख रही है।
जब उसके पास जाती है तो उसमे से खुशबु आ रही होती है

सरला सोचती है मैं धोती हु तो खुशबु नही
आती।

तभी सरला के मोबाइल पे मेसेज आता है खुशबु आ रही है न पियर्स साबुन से धोइ है।

सरला मेसेज पढ़ कर मुस्करा देति है।

तभी दुसरा मैसेज आता है।


आई लव यु माँ सो मच मैं आप की पेंटी और ब्रा दोनों डेली धो सकता हु अगर आप भी मुझे प्यार करो।

सरला मैसेज पढ़ कर कन्फ्यूज्ड थी की क्या जवाब दू। प्यार तो मैं भी करती हूँ पर अरुन कौन से प्यार की बात कर रहा है।

फिर मैसेज आया
बोलो मोम।

सरल: मैं भी तुम्हारा अंडरवियर रोज़ धो सकती हु
अगर तुम भी मुझे मेरे हस्बैंड यानि अपने पापा से ज्यादा प्यार करोगे।

अरुण:आई लव यु मोम
सरला: आई लव यु बेटा।

सरला: जाओ अब क्लास में नहीं तो लेट हो जायेगा।

घर का काम ख़तम करने के बाद।

सरला थोड़ा आराम करती है ।
उसके बाद अरुन को मैसेज

सरला: कहा हो।

थोड़ि देर बाद

अरुण: पार्क में।

सरला: क्यों क्लास मैं क्यों नही

अरुण;प्रोफेसर छुट्टी पे है।

सरल: तो घर आ जाओ।

अरुण: कहीं जाना है।

सरला: वाइफ से भी ये ही पूछेगा।

अरुण: नहीं

सरला: तो फटाफट आ जाओ

अरुण: ओके मोम।

१ घंटे में अरुन घर आ जाता है।

सरला: अरुन कहाँ घुमाने ले जा रहे हो मुझे।

अरुण: कब

सरला; आज और अभी ।

अरुण; कहाँ जाना है आप बताओ।

सरला: मूवी चले।

अरुण: ओके चल
सरला: क्या पहनु।
अरुण: आप की मर्ज़ि।
सरला:बताओ ना
अरुण: बोलू
सरला: हा।
अरुण: कोई सूट पहन लो।
सरला; मेरे पास नहीं है।
अरुण: दीदी का कोई सूट डाल लो।
सरला: पर वो मेरे को नहीं आयेंगे।
अरुण:क्यु
सरला: उसके साइज में और मेरे साइज में फर्क है।
अरुण: आप का क्या साइज है
सरला:३८ : ३२ : ३८
अरुण; कुछ नहीं बोलता।
सरला: क्या हुआ ज्यादा मोटी हूँ।
अरुण: नहीं कुछ सोचते हुए।
सरला: बोल न क्या हुआ।
अरुण:क्या मस्त फिगर है।
सरला: क्या बोला।
अरुण: कुछ नही।
सरला: बोल न क्या बोला।
अरुण:कुछ नहीं चलो आज मूवी नहीं चलते आप के लिए कुछ सूट खरीदते है।
सरला: पर तेरे पापा को पसंद नही।
अरुण: ओके तो पापा के साथ जाना।
सरला: अरुन मेरे बोल्ने का मतलब था उन्होंने देख लिया तो।
अरुण; जब मेरे साथ जाओ तो पहन लेना।
उनके साथ साड़ी ।
सरला: ओके अब क्या पहनू।
अरुण: ब्लू वाली साडी पहन लो और
सरला: और
अरुण: कुछ नही
सरला: बोल न और।
अरुण: पेटीकोट और ब्लाउज और
सरला: और
अरुण: और
सरला: है बोल ना
अरुण: और कुछ नहीं बोल के अपने रूम में चला जाता है चेंज करने।

सरला कुछ तो समझ जाती है पर कन्फर्म करना चाहती है इसलिए अरुन के पास मैसेज करती है
" और क्या पहनु अरुण""
थोड़ी देर ख़ामोशी रहता है ।
फिर सरला का मोबाइल रिंग करता है
वरून का मैसेज था।

"" ब्लू पेंटी और ब्रा"" सब मैचिंग २
सरला मेसेज पढ कर हस देती है ।
उसके पति ने कभी नहीं कहा क्या पहनना है।
और बेटा ब्रा और पेंटी का कलर बता रहा है।

सरला कुछ जवाब नहीं देती और वही पहनती है जो अरुन ने बोला था ।
और मेकअप के बाद
रूम से बाहर आती है ।
Reply
06-16-2019, 12:33 PM,
#14
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
अरुन रेडी नहीं हुआ था या रूम से बाहर नहीं आया था।
सरला: अरुन क्या हुआ रेडी नहीं हुए या जाना नहीं है।

अरुण: आया माँ २ मिनटस

और अरुन बहार आता है।
सरला: चल

अरुण: हाँ चलो।
बाहर बाइक के पास आते आते सरला अरुन से बोलती है।
आज तो ब्लू कलर बोल दिया कल वाइट या पिंक मत बोल देना मेरे पास वो कलर नहीं है।
और मुस्करा देती है ।

अरुण: उसकी और देखते हुए नये खरीद लेते है।
सरला: क्या।
अरुण: वही पिंक या वहाइट।
सरला: वो अपनी बीवी को दिलाना ।
अरुण: जब तक वो नहीं है आप ही खरीद लो हस्ते हुए।
सरला: उसके बाजु में केहुनी मारती है और बाइक पर बैठ जाती है।

और पहली बार अरुन की कमर में हाथ डाल कर बैठ जाती है।
जिस की बजह से उसके ३६" के बूब्स अरुन की पीठ पर टच हो जाते है।
जब बाइक के ब्रेक लगती तो सरला के बूब्स और कसकर अरुन की पीठ से दब जाते है।।

इधर अरुन का बुरा हाल था पहली बार उसकी माँ की बूब्स पहली बार उसकी पीठ से टच हो रहे थे।

ऐसे ही बैठे हुए दोनों मॉल पहुच गये।

और शॉप देखते हुए दोने गारमेंट्स की दुकान पर गये
और सरला के साइज के सुट देखने लगे।

कफी देर देखने के बाद ३ सूट पसंद आये जो पैक करा लिए २ चूडीदार और १ पटिआला सुट।
एक पिंक कलर ,बलैक ,एण्ड ग्रीन।
खरीदने के बाद शॉप से बाहर आते हुए।
सरला:कर ली अपने मन की।
अरुण: अभी कहा।
सरला: अब क्या बाकि है।
अरुण: इनके मैचिंग की अंदर पहनने के लिये।
सरला: समझ तो गयी पर अरुन के मुह से सुनना चाहती थी।क्या
अरुण: बोलू ।
सरला: हा
अरुण: जा अपनी बीवी को दिलाना इस सुट्स की मैचिंग ब्रा और पैंटी।
सरला; तू बहुत बेशरम हो गया है अपनी माँ को कोई बेटा ब्रा पेंटी दिलाता है ।
अरुण: कोई हमारी तरह प्यार भी तो नहीं करता।
सरला: हां वो तो है कोई बेटा अपनी माँ की ब्रा पेंटी धोके भी नहीं डालता।

बात करते २ अंडरगारर्मेंट की दुकान आ जाती है.
Reply
06-16-2019, 12:34 PM,
#15
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
सरला को अरुन के साथ अंदर जाने में शर्म आती है
अरुण: समझ जाता है और सरला का हाथ पकड़ कर अंदर जाता है।
अंदर सेल्स गर्ल - मे आई हेल्प यु।
अरुण:हा इनके साइज के अंडरगारर्मेन्ट्स दिखा दिजिये।
सेल्स गर्ल-साइज़ प्लीज
अरुण: ३८ ब्रा और ४० पैंटी
सरला: अरुन को देखते हुए कितने कॉन्फिडेंटली बात कर रहा है।
अरुण: लेटेस्ट डिज़ाइन मैं दिखाना।

और जो सेल्स गर्ल ब्रा पेंटी दिखाती है
ओ सरला ने पहली बार देखी थी।
ऐसे की पहनो या न पहनो बराबर है।

सरला अरुन के कान में मुझे नहीं लेने ये वाले
अरुण: क्यु।
सरला: कितने छोटे है । मेरे में आयेंगे भी नही।
अरुण: सब आ जाएगा ट्राई कर के लेना।
सरला: मुझे यहाँ ट्राई नहीं करना।
अरुण: ओके घर पे ट्राई कर लेना ठीक।

अरुन सेल्स गर्ल से अपनी पसंद के ४ सेट ले लेता है।

सरला अरुन के कान में ये सब छोटी है।

सेल्स गर्ल सुन लेती है।
मैम ये ऐसे ही आती है।
शो ऑफ़ के लिये।
सरला मन में जो चीज़ अंदर पहनी जाती है उसको क्या दीखाना।

अरुन पैकेट ले लेता है और घर को चल देता है।

सरला: अरुन ।
आ:हा माँ ।
सरला: और कुछ दिलाना है या हो गया।

अरुण: आप बताओ और क्या लेना है ।
सरला: अपने लिए नहीं तेरे लिये।
अरुण: क्या।
सरला: अंदरवेयर
अरुण;मेरे पास तो है।
सरला: मेरे पास भी था।
अरुण: आप के पास सिर्फ दो कलर थे।
सरला; तुम्हारे पास भी २ ही है।
चलो तुम्हारे लिए लेते है।
और जेंट्स शॉप में जाते है।

सरला: सेल्स बॉय को ।
येस मैम
सरला: ८५ नं के फ़्रांची दिखाना लेटेस्ट
सैल्स बॉय - येस मम
अरुण: माँ मैं ये नहीं पहनूँगा।
सरला: मैं भी वो नहीं पहनती जो तुम ने लिए है।
और उसमे से अपने पसंद के ४ फ़्रांची ले लेती है।
और दोनो बाहर आ कर -
अब घर चले या कहीं और जाना है।
अरून आप बताओ मोम।
सरला:काफी टाइम हो गया घर चलते है
अरुण: बस एक मिनट सामने मेडिकल स्टोर है आप के लिए व्हिस्पर ले लु दो दिन बाद ज़रूरत पडेगी।
Reply
06-16-2019, 12:34 PM,
#16
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
सरला: तुझे सब याद रहता है मैं अपनी डेट भूल गई पर तुझे याद है ।
पत्नी वाला प्यार जो करता हूं।
सरला: बाजु पे मुक्का मारते हुए।
अरुण-;
मेडिकल शॉप पर व्हिस्पर देना
शॉप कीपर से।
बो निकल कर देता है।
अरुण: इससे भी कोई अच्छा आता है।
शॉप किप्पर एक पैकेट दीखाता है ।
अरुण:ये क्या है ।
सरला: चुप चाप खड़ी हो कर देख रही थी और सोच रही थी जो काम मेरे पति को करना चाहिए वो मेरा बेटा क्र रहा है।
शॉप कीपर-
इसको यूज करने का तरीके एक पेपर पर पढ़ा देता है और अरुन उसको समझ कर खरीद लेता है।

शॉप से बहार आ कर-
सरला: क्या है ये और व्हिस्पर क्यों नही लिया।
अरुण: घर चल कर सब बताता हूँ।

और सरला कमर में हाथ डालकर बाइक पे बैठ जाती है
ओर दोनों घर की और चल देते है।

घर पहुच कर

दोनो थोड़ी देर आराम करते है

फिर सरला अरुन से-

फ़्रांची ट्राई करके तो दिखा।
अरुण: अपने रूम मैं जाता है
सरला: कहाँ जा रहा है।
अरुण: ट्राई करने
सरला: यही कर मेरे सामने मैं भी तो देखु मेरा बेटा कैसे लगता है फ़्रांची में।
अरुण: टॉवल लेकर चेंज करता है।
सरला: घुर कर।
अरुण: ऐसे क्या देख रही हो।
सरला: कुछ नहीं अछि लग रही है आगे से ये ही पहन ना।
अरुण: माँ आप भी दिखाओ।
सरला: क्या
अरुण : वही पेंटी और ब्रा।
सरला: शर्म नहीं आती अपनी माँ से ऐसी बात करते हुए
अरुण: मैंने भी तो दीखाया।
सरला: तुझे मैंने बचपन से देखा है।
अरुण: कोई बात नहीं मैं अभी देख लेता हू।
सरला: कुछ नहीं बोलति रूम में चलि जाती है।

अरुन को लगता है की माँ मान गई है।

सरला रूम में चेंज करती है अरुन की दिलाई हुए ब्रा और पेंटी और आईने
के सामने चेक करती है दोनों ब्रा और पेंटी एकदम फिट आई थी ढक कम और दिखा ज्यादा रही थी और कुछ सोचने लगती है।
काफी देर सोचने के बाद सरला डीसाईड नहीं कर पाती की क्या करे अगर ऐसे अरुन के सामने पहली बार में ही चली जायेगी तो अरुन उसके बारे में गलत सोच सकता है उसे थोड़ा टाइम लेना चहिये।
फिर वो बाहर आती है।
Reply
06-16-2019, 12:34 PM,
#17
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
इधर अरुन बेसब्री से अपनी माँ का इंतज़ार करता है
दरवजा खुलता है
और सरला को पिंक सूट में देख कर-

अरुण: माँ ये चीटिंग है।
सरला; बाहर आते हुए क्यों चीटिंग क्या।
अरुण: माँ ब्रा और पेंटी की बात हुई थी।
सरला: धीरे से उसे अपने गले लगाते हुए
और उसके कान में-

अरुन पहनी है पर मुझे ऐसे बाहर आने में शरम आ रही थी इस लिए सूट डाल लिया पर एक बात बोलू बहुत ही सेक्सी और कम्फर्टेबल है और पिंक सूट के निचे पिंक ब्रा और पेंटी पहनी है मैचिंग की।

अरुण: सरला के आँखों मैं देखते हुए-

पक्का।

सरला: हाँ बाबा पक्का थोड़ा टाइम दे अपनी इस प्यारी वाली बीवी को वो सब करेगी जो तू बोलेगा जैसे तूने मेरे कहने पर मुझे पहन कर दिखाया।

अरुण: सरला की बात से खुश हो कर प्यार से उसके गाल पे किस कर देता है।
जवाब में सरला भी उसके गाल पर किस कर देती है।

अरुन कुछ कहने वाला था की
डोरबेल बाजति है।

सरला अरुन से अलग हो जाती है।।

और घडी देख कर लगता है तेरे पापा आ गये और घबरा जाती है क्यों की वो सूट मैं थी।

अरुन समझ जाता है और उसे अपने रूम के बाथरूम मैं भेज देता है और उसे उसके कपडे दे कर दरवाजा खोलने जाता है।
इधर सरला सूट चेंज कर के बाहर आ जाती है।

रमेश क्या हुआ ।अरुन के रूम में क्या कर रही थी।

सरला: कुछ नहीं बेडशीट गन्दी थी उसे चेंज कर रही थी।
आप कब आए।

रमेश: अभी अभी।

सरला पानी देती है और किचन में खाना बनाने चली जाती है।
अरून अपने रूम में और रमेश फ्रेश होने चला जाता है

सरला को याद आता है की उसने कपडे चेंज करके अरुन के बाथरूम में छोड़ दिए है जिस मैं ब्रा पेंटी भी है ।

सरला भाग कर अरुन के रूम में जाती है।
अरुण: क्या हुआ मोम।
सरला: वो मेरे कपडे।
अरुण: एक पॉलीबैग उसको देता है।
सरला: इस मैं क्या है।
अरुण: आप के कपडे।
ऐसेसे क्या देख रही हो बाक़ायदा सहेज के रखे है।
सरला; नहीं मैं सोच रही थी की।
अरुण: कुछ मत सोचो
और सरला उसको हग कर लेती है।
अरुण: माँ पापा घर में है।
सरला: तो क्या हुआ अपने बेटे को हग कर रही हूँ।
अरुण: बेटे को या प्यार करने वाले पति को।
सरला: अरुन को कस कर भीचते हुए दोनों को।
औरर अरुन के कान में-
आई लव यु ।

अरुण-
आई लव यु टू।
और कुछ देर यु ही खड़ी रहती है।

अरुन माँ खाना बनाना है।
सरला अरुन से अलग होती है और किचन में चलि जाती है।

फिर सब मिल कर खाना खाते है।

और रमेश अपने रूम में चला जाता है अरुन टीवी देखता रहता है और सरला अपना किचन का काम ख़तम करती है।
तभी उसकी मोबाइल की रिंग बजती है।

सरला कॉल पिक्क करती है
कॉल उसकी सिस्टर की थी।
Reply
06-16-2019, 12:34 PM,
#18
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
अपनी सिस्टर की बात सुन कर बहुत खुश होती है और रमेश से बात करने अपने रूम में जाती है।
रमेश कौन है।
दीदी है।
उनके घर साक्षी की शादी फिक्स हो गई है हमें इनवाइट कर रही है कार्ड पोस्ट कर दिया है।

रमेश अपनी बड़ी साली से बात करता है और अपने आने की बात बोल कर फ़ोन रख देता है।

सरला दीदी तो ४ दिन पहले बोल रही है कब चलना है।

रमेश: पागल हो गई हो क्या कौन जायेगा मैं नहीं जा रहा।
सरला: वो तो नीतू की शादी में आये थे ।
रमेश: एक बार मना किया न और अगर जाऊँगा तो उसी दिन जाउँगा।
सरला: पर वो।
रमेश : सो जाओ बोल दिया ना।

सरला उदास हो कर ड्राइंग रूम में आ जाती है और रोने लगती है।
उसकी सुनने वाला कोई नहीं है।
अब वो कैसे जाये उसकी दीदी के घर की पहली शादी है।
वो सोच २ के रो रही थी अरुन आ जाता है
ओर अपनी माँ को रोते हुए देख कर।

क्या हुआ मोम।
सरला: कुछ नही।
अरुण: बोलो भी माँ मुझे आप रट हुए बिलकुल अच्छी नहीं लगती ।
सरला: वो तेरी मौसी का फ़ोन आया था साक्षी की शादी तय हो गई है और वो हमें बुला रही है पर तेरे पापा मना कर रहे है।

अरुण: बस इतनी सी बात पर मेरी बीवी रो रही है
अरुन ने ये बात कुछ इस तरह बोली की सरला की हसी छुट गई।

अरुन कब जाना है मोम।
सरला: शादी नेक्स्ट वीक है और वो कल ही बुला रहे है
अरुण: तो चलते है कल।
सरला: पर तेरे पापा ।
अरुण: कोई बात नहीं वो शादी वाले दिन आ जायेंगे हम कल चलते है।
सरला: पर वो राजी नहीं होंगे।
अरुण: वो मुझ पर छोड़ दो।
सरला: हस्ते हुए मैं तो भूल ही गई मेरा प्यार करने वाला पति तो तू ही है।
और अरुन को हग कर लेती है।
दोने गुड नाईट किस देते है और अपने २ रूम में चले जाते है।

अगली सुबह

ब्रेकफास्ट टेबल पे-

अरुन रमेश से-

अरुण: पापा आप बिजी हो ज्यादा।
रमेष: हाँ भी और नहीं भी क्यु।
अरुण: वो मौसी की कॉल आई थी।
रमेश : हाँ कल बुला रही है पर इतनी जल्दी जाने की क्या ज़रूरत है।
अरुण: पर पापा वो भी तो ५ दिन पहले आये थे और हमारी हेल्प कराइ थी दीदी की शादी में।
रमेश: वो तो है पर मैं नहीं जा सकता और तेरी माँ अकेली जायेगी नही।
अरुण; मैं ले जाता हूं।
रमेश: सरला को देखते हुआ बोलो जाओगी या मेरा वेट करना है।
वैसे भी मेरे बिना तुम जाओगी नही।
Reply
06-16-2019, 12:34 PM,
#19
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
अरुन जानता था की पापा की इस बात के बाद माँ जल्दी से हाँ नहीं करेगी इसलिये।

माँ चलो न प्लीस मेरे साथ मैं भी काफी टाइम से मौसी के यहाँ नहीं गया हु प्लीज पापा बाद में आ जाएंगे।

सरला समझ गई थी अरुन मेरे को बचने के लिए बोल रहा है क्यों की इस बात पर सरला अरुन के साथ ख़ुशी २ चलि जाती ।
पर रमेश को एहसास नहीं करना था इस लिये।

पर तेरे पापा तो नहीं जा रहे।
अरुण: रमेश को पापा प्लीज बोल दो माँ को की मेरे साथ चली जाए।

रमेश चली जाओ न सरला अरुन इतना बोल रहा है तो।

सरला पर
रमेश पर बर कुछ नहीं तुम लोग जा रहे हो ये पकडो।
रूपये देते हुए।मेरी भी टेंशन ख़तम हो जाएगी।
सरला: बनते हुए आप का खाना
रमेश: उसकी चिंता मत करो ६ दिन की बात है मैं मैनेज कर लुंगा।
ओके काफी देर हो गई ऑफिस के लिए लेट हो रहा है
अरून सारी चिजे अपने आप मैनेज कर लेना ।
और ऑफिस के लिए निकल जाता है।

सरला दरवाजा बंद कर के भाग कर अरुन के गले लग जाती है।
अरुण: क्या हुआ मोम।
सरला: कुछ नहीं मेरा मन किया तो गले लग गई
नही लग सकती क्या।
अरुण: क्यों नहीं
सरला: अरुन के गाल पे किस करते हुए।
बोलो कैसे जाना है।
अरुण: आप बताओ कैसे जाना है और अब हम तो गुलाम है मैडम के।
सरला: ओह हो
बताओ न अरुण।

अरुण: कल चलते है रिजर्वेशन मैं करा देता हूँ।
और शॉपिंग आज कर लेते है।
सरला: तो कॉलेज तुम्हारे।
अरुण: कोई नहीं ६ दिन में कुछ नहीं हो जाएगा।
और उससे ज्यादा इम्पोर्टेन्ट अपनी बीवी की बात मानना है।

सरला अरुन के गाल पे और माथे पे किस करते हुए बदमाश।
मै तेरे पापा की बीवी हूँ।
अरुण: हो पर प्यार वाली मेरी हो ।
बालो हो ना।
सरला: है सिर्फ तेरी। मेरे राजा बेटे
आई लव यू।
अरुण: लव यु टू।
और दोनों एक दूसरे की आँखों मैं देखते है।
सरला: क्या देख रहा है।
अरुण: कुछ नही।
सरला: बोल ना।
अरुण: आप कितनी अच्छी हो।
सरला: केवल अच्छी।
अरुण: बहुत अच्छी।

और सरला के हाथों के पास अपने होठ ले जाता है।

करीब और करीब

सरला: अरुन
अरुण: हाँ मा।
सरला: प्लीज मत करो।
अरुण: क्या।
सरला: जो करने जा रहे हो।
अरुण: क्या करने जा रहा हू।
सरला: किस मेरे हाथों पे।
अरुण: करुं या नही।
सरला कुछ नहीं बोलती।
अरुण: जल्दी बोलो।

और अरुन पूछता रह जाता है और सरला अलग हो जाती है ।
और बेशरम बोलते हुए अपना रूम में चलि जाती
है ये कहते हुए की रेडी हो जाओ शॉपिंग पे जाना है।
अरुण: मंद मंद मुस्कुराते हुए अपने रूम में चला जाता है रेडी होने के लिये।

सरला अपने रूम मैं आ के अपनी साँसे दुरुस्त करती है
और सोचने लगती है की क्या पहनु।
ओर मोबाइल उठाती है ।
और अरुन को मैसेज करती है।

" मैं क्या पहनू "

थोड़ी देर बाद रिप्लाय अरुन का-
" कुछ नही"

सरला : मार खाएगा।

अरुण: मार लो।

सरला: बोलो ना।

अरुण: जो बोलूँगा पहनोगी।
सरला: हाँ बोलो क्या पहनू।
अरुण: सब बोलू या कुछ।
सरला समझ जाती है सब बोलो अरुण।
अरुण: ब्लैक साडी।
सरला: और
अरुण: ब्लैक ब्लाउज।
सरला: हा
अरुण: ब्लैक ब्रा।
सरला: और
अरुण: और
सरला: हाँ बोलो अरुण।
सरला: है और बोलो अरुण।
अरुण; कुछ नही।
सरला; मतलब
अरुण: मतलब और कुछ नही।
सरला: मतलब
अरुण; वही जो पढ़ रही हो या खुल के बोलु।
सरला: खुल के बोलो।
अरुण: ओके पेंटी नहीं पहहनी बिना पेंटी के जाना है आज।
सरला: पर तुम्हे क्या फायदा।
अरुण: फायदा कुछ नहीं पर मेरी बात माननी है या ना।

सरला: मानूगी नहीं पहनुंगी पेंटी तुम्हारे लिए ।
१५ मिनट दो अभी रेडी होती हुँ।
सरला मैसेज करती है।
अरून
हा मोम
तूम भी फ़्रांची नहीं पहनोगे।
वनली जीन्स टी शर्ट और बनियान।
डन।

अरुन
जैसी मेरी बीवी की मर्ज़ि।

बस ५ मिनट में रेडी हुआ बाय।

ओर १५ मिनट बात दोनों माँ बेटे बाइक पे सवार हो कर शॉपिंग के लिए निकल जाते है।

सरला अरुन की कमर पे हाथ रख कर उसके कान में
ये क्या शरारत है अरुण।
कौन सी।
पेंटी न पहनने की
कुछ नहीं ऐसे ही मन किया।
आज कल की साडी लड़कियाँ भी पेंटी नहीं पहनति।
सरला: तो मुझे उनसे कया।
अरुण: आप मेरी बीवी हो है या ना।
सरला: नही
अरुण: पक्का।
सरला: हूँ और अपना सीना अरुन की पीठ में गडा देती है।
अरुण: तो मैं जैसे चहुँगा वैसे रखूँगा अपनी बीवी को।
सरला: कुछ नहीं बोलति सिर्फ ३ लफ़्ज़ निकलते है ।

आई लव यू अरुन मेरे नए हस्बैंड।
और अपना सर टीका लेती है अरुन की पीठ पर।
Reply

06-16-2019, 12:35 PM,
#20
RE: Maa Sex Kahani माँ की अधूरी इच्छा
शॉपिंग मॉल पहुच कर अरुन सरला को २ साड़ी दिलाता है २ सूट सलवार आज मना नहीं करती सूट के लिये, चप्पल हाई हील वाली और सरला अरुण के लिए एक फॉर्मल ड्रेस और जीन्स और फिर उसके बाद अरुन सरला को अन्देरगारर्मेन्ट्स की दुकान पे ले जाता है ।

सरला: कल ही तो ली थी।
अरुण: वो दूसरी थी।
सरला : तो आज।
अरुण: देखती जाओ।

अरुन सेल्स गर्ल से

२ ३६ साइज की पैड़ वाली ब्रा
और २ पुश-उप वाली ब्रा ।
और ४ लेटेस्ट वाली २ थोंग और २ जी स्ट्रिंग
सेल्स गर्ल: ओके सर

और अरुन अपने पसंद के कलर चूज करके ले लेता है।
सरला कुछ भी नहीं बोलती और अरुन पैक करा कर बाहर आ जाते है।

सरला: और कुछ भी बचा है ।
अरुण: है पर बाद मैं लुंगा।
वहाँ से अरुन सरला को शहनाज़ पार्लर ले जाता है।
सरला: यहाँ क्यु।
अरुण: ब्यूटी पार्लर में क्या करते है।
सरला: मेरी क्या उम्र है ब्यूटी पार्लर जाने की।
अरुण: आज बोली तो बोली अब दोबारा मत बोलना ।
सरला: सॉरी ओके चल।

फिर दोनों अंदर जाते है और अरुन अपनी पसंद का पैक परचेज करता है लड़की सरला को अंदर ले जाती है और ३ घंटे बाद आने के लिए बोल देती है।अरुन बाइक लेके टिकट्स बुक करने चला जाता है।

इधर सरला ३ घंटे बाद शीशे में देखते हुए अपने आप को पहचान नहीं पाती।
और बाहर आ कर अरुन का वेट करती है।
फिर कॉल करती है।
सरला: कहाँ हो मेरे पति।
अरुण: बस ५ मिनट में आया।
सरला: ओके जल्दी आओ मैं अकेली हूं।
अरुण: ओके बाय।

और १० मिनट में आ जाता
अरून सरला को देख कर
चले।
सरला: कुछ बोलोगे नही।
अरुण: क्या बोलु।
सरला: मैं कैसे लग रही हूँ।
अरुण: मुझे पता था की आप ऐसे ही दिखति हो पर आप अपना ख्याल नहीं रखती थी इस लिए आप को पता नहीं था ।
सरला: ख़ुशी के मारे रोने लगती है।
अरुण; यहाँ नहीं मेरी जान।
सरला: क्या कहा।
अरुण: जान
सरला: ओके चलो जानु।
और हँस कर दोनों साथ चल देते है।
३० मिनट में दोनों घर पहुच जाते है।
दोनो फ्रेश हो कर।
सरला: अपने अन्देरगारर्मेन्ट्स का पैकेट खोल कर देखने लगती है।
क्यों की शॉप पर उसे शरम आ रही थी
सरला अरुन से
जैसे तूने मुझे आज पेंटी नहीं पहनने दी।
फिर ये ४ पेंटी क्यों ख़रीदी।
और जब इतनी छोटी ख़रीदनी है तो पहनने की क्या ज़रूरत है।
अरुण: माँ आज कल की लड़िकियन येही पहनती है।
और अब आप मेरी बीवी हो तो जो मैं कहुँगा वही पहनना है।

सरला: ओके बॉस
और हस देती है।

अरुण: जेक चेक कर लो फिटिंग ।
सरला; आज नहीं बोलोगे दिखाने के लिये।

अरुण: जब आप कम्फर्टेबल हो तब दिखा देना कोई जल्दी नहीं है।
पर पहनना मेरी पसंद की है और मुझ से पुछकर।
कोर डिज़ाइन एवेरिथिंग।
सरला: जो कहोगे वही पहनुंगी।

तभी सरला को कमर में हल्का हल्का पेन सुरु हो गया।
और वो समझ गई की पीरियड्स आने वाले है।
अरुण: क्या हुआ मोम।
सरल: पेन सुरु हो गया है।
अरुण: पीरियड्स के।
सरला: हाँ।
तभी अरुन को याद आता है।
कल जो वो पैकेट लाया था व्हिस्पर की जग़ह
और अपने रूम में से ले आता है।
और सरला को दे देता है।
सरला: ये क्या है।
अरुण: इसे टम्पोंस कहते है।
और इसे पैड्स की जगह यूज करते है
सरला: यूज कैसे करते है
अरुण: माँ इस में लिखा हुआ है आप पढ़ लो।
सरला: तुम ने पढ़ लिया है ना।
अरुण: हाँ
सरला: तो तुम हे बता दो।
अरुण: आप पढ़ लो ना।
सरला: शरम आ रही है क्या बताने में।
अरुण: ऐसे बात नहीं है
सरला: तो बता ब्रा और पेंटी ख़रीदने मैं शर्म नहीं आ रही और जब ये टम्पोंस लाया तब शरम नहीं आती अब क्या।

अरुण: इसको पैकेट खोल कर उसको एक पीेछे दिखा कर । इसको अंदर डालते है और इस का ये धागा बाहर रहता है।
सरला: अंदर मतलब।
अरुण: जैसे जहाँ पैड्स बाहर लगाये जाता है वही पर इसको अंदर डालते है और ये धागा बाहर रहता है जब ये भर जाता है ये फूल जाता है और इस धागे तो पकड़ कर बाहर खिंच देते है।।
और दुसरा अंदर डाल देते है जब तक पीरियड्स ख़तम नहीं होता।
सरला: बाप रे मुझे यूज नहीं करना अंदर रह गया तो
अरुण: ऐसा नहीं होता।
सरला; नहीं होता पर मुझ से डाला भी नहीं जायेगा अंदर।
और शरमा जाती है। मुझे वही व्हिस्पर ला दे इसको किसी के हेल्प से ही यूज कर पाऊँगी पहली बार।
अरुण: तो मैं ।
सरला: अभी सोचना भी मत टाइम आएगा तो मैं तुझे खुद बोल दूँगी।
अरुण: ओके माँ मैं व्हिस्पर ला देता हुँ।
सरला: ओके मैं जब तक खाना बना लेती हु तेरे पापा के आने का टाइम भी हो गया है उनसे पहले ले आ।
अरुण: ओके मोम।

रमेश के आने के बाद कुछ भी बात नहीं होती।

सरला काम ख़तम करने के बाद अपने बैडरूम में

रमेश : तो जा रही हो ना।
सरला: मन नहीं है पर आप जा नहीं रहे।
रमेश: क्या करुं काम बहुत है।
सरला: जैसी आप की मर्ज़ि।
रमेश: मैं तो कहता हु अरुन बड़ा हो गया है।
उसी को लेके जहा जाना हो चलि जाया करो।
सरला: ठीक है
रमेश: शॉपिंग कर लेना।
सरला: कहाँ आप ने बोला ही नही।
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Thriller Sex Kahani - आख़िरी सबूत desiaks 74 12,096 07-09-2020, 10:44 AM
Last Post: desiaks
Star अन्तर्वासना - मोल की एक औरत desiaks 66 49,945 07-03-2020, 01:28 PM
Last Post: desiaks
  चूतो का समुंदर sexstories 663 2,317,364 07-01-2020, 11:59 PM
Last Post: Romanreign1
Star Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास desiaks 131 120,900 06-29-2020, 05:17 PM
Last Post: desiaks
Star Hindi Porn Story खेल खेल में गंदी बात desiaks 34 51,077 06-28-2020, 02:20 PM
Last Post: desiaks
Star Free Sex kahani आशा...(एक ड्रीमलेडी ) desiaks 24 27,709 06-28-2020, 02:02 PM
Last Post: desiaks
Star Incest Porn Kahani चुदाई घर बार की hotaks 49 217,134 06-28-2020, 01:18 AM
Last Post: Romanreign1
Exclamation Maa Chudai Kahani आखिर मा चुद ही गई sexstories 39 321,591 06-27-2020, 12:19 AM
Last Post: Romanreign1
Star Incest Kahani परिवार(दि फैमिली) sexstories 662 2,413,631 06-27-2020, 12:13 AM
Last Post: Romanreign1
  Hindi Kamuk Kahani एक खून और desiaks 60 26,293 06-25-2020, 02:04 PM
Last Post: desiaks



Users browsing this thread: 16 Guest(s)