Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
06-29-2020, 04:36 PM, (This post was last modified: 06-29-2020, 05:19 PM by desiaks.)
#1
Star  Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम अर्जुन है मेरी पिछली सत्य कहानी
"संस्कारी मॉम"
आपने पढ़ी ही होगी, अगर नहीं पढ़ी तो प्लीज़ पढ़ ले जिससे सत्य घटनाओं पर आधारित यह कहानी आपको ज्यादा पसंद आएगी, और सारे किरदारों के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।
पिछली कहानी में मैने अपने और मेरी सौतेली मां सीमा जिसे में मॉम कहकर बुलाता हूं जिनके साथ मेरे शुरू हुए सैक्स संबंधों के पहले दिन की पूरी घटनाक्रम के बारे में लिखा था
अच्छा दोस्तो, अब आगे बढ़ते है
फिर रात को मॉम अपना एक हाथ और एक टांग,मेरे ऊपर रख कर सो गई थी में भी सो गया था क्योंकि में बहुत थक गए था
मेरा पहली बार था और मैने सैक्स शक्तिवर्धक गोली ली थी इस कारण ज्यादा थकान अा गई थी मॉम शायद ज्यादा थकी नहीं थी क्योंंकि उनका मेरे पापा के साथ लंबे समय तक सेक्स करने की आदत थी

अगले दिन सुबह मेरा कॉलेज जाने का मन नहीं हो रहा था क्योंंकि आज पूरे दिन मॉम के साथ रहना चाहता था उनके बूब्स के साथ खेलना चाहता था चूत और गान्ड के साथ अपने लन्ड का एनकाउंटर करना चाहता था
रोज सुबह मॉम जल्दी नहा धोकर तेयार हो जाती थी क्योंकि वो संस्कारी के साथ धार्मिक भी बहुत थी वो रोज नियमित रूप से भगवान की पूजा करती थी इसलिए उन्हें सुबह भगवान की पूजा भी करनी होती थी

फिर सुबह सुबह मॉम ने मुझे नींद से उठा दिया और जल्दी से तैयार होकर कॉलेज जाने को बोल कर बाहर चली गई
मॉम रोज सुबह की तरह आज भी साड़ी में ही थी
में जल्दी से बेड से उठा और बाथरूम में चला गया फिर थोड़ी देर बाद एकदम तेयार होकर अपने कॉलेज का बुक्स का बैग लेकर डायनिंग रूम की डायनिंग टेबल वाली चेयर पर बैठ गया।
तब तक मॉम की पूजा भी पूरी हो चुकी थी
और उन्होंने रोज की तरह मुझे खाने के लिए सुबह का नाश्ता और पीने के लिए जूस दिया और दोपहर के नाश्ते का टिफिन भी दे दिया
और मेरे पास वाली चेयर पर बैठ कर खुद नाश्ता करने लगी

मैने बोला " मॉम आज कॉलेज नहीं जाने का मन कर रहा है आज पूरे दिन आपके साथ रहना चाहता हूं"
मॉम बोली "बेटा पहले पढ़ाई फिर उसके बाद सब कुछ, में कहीं भागी थोड़ी जा रही हूं इधर ही तो हूं मुझे भी कल बहुत मज़ा आया लेकिन सब कामों का एक समय होता है पढ़ाई के समय पढ़ाई और सैक्स के समय सेक्स,अभी तुझे अपना फ्यूचर कैरियर बनाना है समझा"

में बोला "यस मॉम"
फिर में नाश्ता और जूस खत्म करके मॉम को बाय करके कॉलेज के लिए चला गया।
कॉलेज में मेरा मन लग ही नहीं रहा था
ख्याल में मॉम और उनका सेक्सी नंगा बदन ही अा रहा था और पिछली रात की चुदाई भी याद अा रही थी
जल्दी से जल्दी, में घर जाना चाहता था और मॉम के साथ सब कुछ करना चाहता था जो कल बाकी रह गया था ख़ास तौर पर मॉम के तरबूज जैसे बूब्स के साथ खेलने और चूसना चाहता था

फिर दोपहर के 3 बजे कॉलेज की छुट्टी हो गई
और में बहुत खुश और एक्साइटेड होकर घर की और निकल गया
मैने घर के दरवाजे की बेल बजाई
मॉम ने दरवाजा खोला
मॉम ने मस्त डिजाइनर सलवार कमीज़ पहन रखी थी।
कमीज़ टाईट तो थी ही उसमे बूब्स बाहर निकले हुए थे मॉम के कपड़े ज्यादातर
टाइट फिटिंग ही होते थे

मॉम ने बोला "अा गया बेटा,फ्रेश हो जा और कपड़े चेंज कर ले में खाना लगाती हूं"

फिर में चेंज करके अा गया
तब तक मॉम ने खाना लगा दिया था
और हम दोनों खाना खाने बैठ गए

मैने बोला "मॉम आप इन कपड़ो में हॉट और बहुत सुंदर दिख रही हो, और आज आपने घर पर यह डिज़ाइनर प्रीमियम क्वालिटी के सलवार कमीज़ कैसे पहने है यह कपड़े तो आप शादी फंक्शन जैसे इवेंट्स में पहनती है"

तब मॉम बोली "अजू बेटा थैंक्स ,आज अपनी बिल्डिंग सोसायटी की औरतो की किट्टी पार्टी थी आज सारा प्रोग्राम मेरी सहेली रेशमा के घर पर था इसलिए यह कपड़े पहनकर गई थी अभी उतारने वाली ही थी कि तू अा गया"

मैने बोला "मॉम किट्टी पार्टी में सबसे सेक्सी और हॉट, आप ही दिख रही होगी"

मॉम बोली "नहीं बेटा और भी है 3-4 लेडिस जो मेरी जैसे फिगर वाली है और दिखने सेक्सी और हॉट नजर आती,तूने मेरी सहेली रेशमा को तो देखा ही है वो तो मुझसे से ज्यादा सेक्सी और हॉट है,

में बोला "हां मॉम, रेशमा आंटी हॉट और सेक्सी है लेकिन आपके जितनी नहीं"

फिर मॉम बोली " थैंक्स मेरा प्यारे बेटा जी"

फिर हमारा खाना खत्म हो गया मॉम ने बरतन किचन में रख दिए और बेडरूम की और चली गई, में भी पीछे पीछे मॉम के बेडरूम में चला गया,मॉम अलमारी खोलकर घर के पहनने की कपड़े निकालने लग गई

मैने बोला "मॉम में निकालू आपके कपड़े"

मॉम कतिला अंदाज़ में मुस्कराकर के बेड
पर बैठ कर बोली "आप ही अपने चॉइस के कपड़े निकाल दीजिए"

मैने अलमारी से एक टाईट पिंक कलर की लेडिस सेक्सी हाफ पैंट, जो लेडीज पैंटी से थोड़ी सी लंबी होती है और जो शायद मॉम बेडरूम में जब पापा होते थे तब ही पहनती होगी ,मेरे सामने तो कभी भी मॉम इतने छोटे कपड़ों में नहीं दिखी, वो निकाली और एक छोटा सा टाईट लेडीज बनियान जो खाली बूब्स को ढकता था वो निकाला ,

और बोला मॉम "इन्हे पहन लीजिए"

मॉम ने कपडे ले लिए
फिर में बोला "मॉम आप क्या यह कपडे अभी पहनने वाली हो क्या ?

मॉम ने बोला "हां बेटा अभी चेंज करके थोड़ी देर नींद ले लेती हूं किटी पार्टी के कारण शरीर में थकान अा गई है"

में सोच रहा था मॉम को कल का वादा याद होगा और वो आज अपने बूब्स को चूसने का मौका देगी और चुदाई का भी मौका भी देगी मॉम वो कपड़े लेकर बाथरूम में चली गई
में तो सोच रहा था मॉम कपडे मेरे सामने ही चेंज कर देगी और मॉम के चिकने,सेक्सी और नंगे बदन की दर्शन हो जाएंगे लेकिन मॉम तो अभी मुझसे क्यों शरमा रही है कल रात तो हमारे बीच सब कुछ तो हो गया था मुझे थोड़ी चिंता होने लग गई की मॉम ने कई अपने इरादे तो नहीं बदल दिए,कहीं उनके संस्कार, मां बेटे के सैक्स के रिश्ते को गलत तो नहीं मानने लग गए,
तभी मॉम बाथरूम से आई ,टाईट शॉर्ट टी शर्ट पहने हुए ,जो लंबाई में ब्रा जितना ही था जिसमे मॉम के तरबूज जैसे बूब्स बाहर अा रहे थे मॉम का गोरा पेट पूरा दिख रहा था और सेक्सी हाफ पैंट पहने हुई थी,मॉम का हॉट,सेक्सी और अर्ध नग्न बदन मेरे होश उड़ाए जा रहा था और मेरा नीचे का सामान खड़ा हो गया था मॉम ने अपनी डिजाइनर सलवार कुर्ती को अलमारी में रख दिया और पलंग पे लेट गई

और मुझे बोली "बेटा तू भी लेट जा थोड़ा आराम कर ले" फिर में भी मॉम के बाजू में लेट गया,मुझे नींद तो आने वाली नहीं थी और ना ही में थका हुआ था मेरा तो प्रोग्राम कुछ और ही था लेकिन मॉम का शायद मूड कुछ और ही था, और में कोई जबरदस्ती भी नहीं कर सकता था जिससे मामला पूरा उल्टा हो जाए,
फिर मैने हिम्मत और साहस करके पूछ लिया " मॉम आप मुझसे नाराज़ हो क्या"

तो मॉम बोली "नो बेटा तू ऐसे क्यों बोल रहा है"

मैने बोला " मॉम फिर आपने कपड़े भी मेरे सामने चेंज नहीं किए कल रात को हमारे बीच सब कुछ हो गया था ना"

फिर मॉम हल्के से मुस्करा और हल्की सी हंसी से बोली "ओह माय गॉड ,तो तू इस बात से परेशान है अरे वो मुझे ख्याल ही नहीं आया था नहीं तो में तेरे सामने ही चेंज कर देती"
मॉम की यह बात सुनकर मेरे जान में जान आई और में अंदर से बहुत खुश हुआ और मीरा नीचे का लौड़ा भी अंडरवियर में नाचने लगा,

फिर में बोला "ओह ओके मॉम"
फिर मॉम ने बोला "अभी सो जाते है क्योंंकि में बहुत थक गई हूं फिर रात को अपना प्रोग्राम करेंगे"

में नकली मुस्कराहट से बोला "ओ.के. मॉम नो प्रॉब्लम"
फिर हम दोनों सो गए, मॉम को तो गहरी नींद अा गई थी और मुझे कच्ची पक्की नींद अा रही थी क्योंंकि मेरे अंदर की वासना चरम पर थी और मेरा लन्ड भी अपने लिए खड़ा यानी चूत मांग रहा था लेकिन में कर भी क्या सकता था रात का इंतजार हीं कर सकता था
मैने अपने मन में रात के लिए मॉम के साथ सेक्स करने के तरह तरह के प्लान बना रहा था,
पोर्न वीडियो जैसे सारे तरीके आज मॉम के साथ करूंगा, बस यही सोचकर खुश हो रहा था

करीब 2 घंटे बाद मॉम के मोबाइल में रिंग आई ,मॉम फटाफट नींद से जाग गई और मोबाइल में देखा और मुझे जगाकर बोली " बेटा तेरे पापा का कॉल है" में भी जागने का नाटक जैसा कर उठ गया और बेड पर बैठ गया फिर मॉम ने कॉल उठाया और उनकी और पापा की बातें होने लग गई,
मॉम बोल रही थी " आप कैसे है में ठीक हूं अर्जुन भी ठीक है वो अभी अपने दोस्त के इधर स्टडी के लिए गया घंटे भर बाद आएगा"
शायद यह सब पापा फोन पर पूछ रहे थे फिर 2 मिनट बाद मॉम ने हल्की टेंशन में कॉल डिस्कनेक्ट कर दिया और
मुझे बोली " बेटा पापा अभी 5 मिनट में मुझे वीडियो कॉलिंग में बात करेंगे, और आज उन्होंने ड्राइंग हाल की बड़ी वाली एंड्राइड इंटरनेट टीवी से वीडियो कॉलिंग की बात बोली है तू जाकर टीवी चालू कर तब तक में यह कपडे चेंज करके आती हूं"

में ड्रॉइंग हाल की 80 इंच की टीवी को चालू कर दिया और टीवी इंटरनेट से जुड़ी हुई थी और कैमरा उसमे पहले से ही लगा ही था मेरे को कुछ कुछ समझ में अा गया था कि पापा वीडियो कॉलिंग से मॉम को नंगी करेंगे और और मॉम के चूत को संतुष्ट करेंगे और खुद भी अपना वीर्य निकाल देंगे, पापा बड़े कमीने है जो खुद तो विदेश में दूसरी औरतों के साथ चुदाई करते है अपनी प्यास बुझाते है लेकिन मॉम कहीं अपनी प्यास बुझाने इधर उधर नहीं भटके जाए इसलिए वो वहीं से बैठे बैठे मॉम की प्यास बुझा रहे है
वाह पापा वाह,
लेकिन यह वीडियो कॉलिंग चुदाई में भी देखना चाहता था तो मैने फटाफट अपने दिमाग की लाइट चलाई और अपने मोबाइल के कैमरा को ऑन किया और उसको मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से लाइव कर दिया और मोबाइल हाल के एक कोने में टेबल पर ऐसा रख दिया जिससे मॉम को भी मालूम नहीं चले कि मोबाइल का कैमरा चालू है और वो हाल में जो होगा वो में अपने बेडरूम में लैपटॉप से लाइव देखूंगा
फिर मॉम कपडे चेंज करके आई, साथ में वो नकली वाइब्रेट वाला लिंग भी लेकर आई थी
मॉम ने अभी लॉन्ग ग्राउन वाली ब्लैक कलर की फुल साइज की नाइटी पहने के आई जिसमें मॉम का पूरा अंग ढका हुआ रहता है यह नाइटी के आगे इसको उतारने के लिए छोटी रिबन लगी रहती है और ऐसे ही कपडे मॉम मेरे सामने पहनती थी
संस्कारी जो है और पापा को भी यही दिखाना चाहती थी मॉम

फिर मॉम ने बोला "बेटा तू बेडरूम में जाकर बैठ जा तेरे पापा को मालूम नहीं चलना चाहिए की तू इधर ही है क्योंंकि अब वो मुझसे वीडियो कॉलिंग से सेक्स करेंगे और जिससे मुझे और तेरे पापा को संतुष्टि मिलेगी, इसलिए मैने तेरे बारे में झूठ बोला कि तू बाहर है और में वीडियो कॉलिंग सैक्स का मना करूंगी तो वो फालतू में परेशान होंगे"
मैने बोला "ओके मॉम"
फिर में अपने बेडरूम में चला गया और दरवाजा बंद कर दिया और अपना लैपटॉप चालू करके सोशल मीडिया अकाउंट को लॉगिन करके लाइव वीडियो देखने लगा इसमें मॉम तो साफ साफ दिख ही रही थी साथ में टीवी भी, तभी मॉम के मोबाइल में पापा का फोन आया और वो कॉल टीवी से ऑटोमैटिक कनेक्ट हो गया
अब मॉम और पापा, दोनो लाइव थे वीडियो में,
पापा ने जेंट्स ग्राउन पहन रखा था
फिर पापा ने बोला "सीमा तुम्हारी याद बहुत आती है तुम्हारी जैसी बात यहां की औरतें में नहीं है "
मॉम बोली " फिर जल्दी अा जाओ आपकी सीमा भी आपके बिना अधूरी है"
पापा बोले " जल्दी ही आऊंगा अभी अपना काम चालू करते है मुझे फिर ऑफिस जाना है

फिर पापा ने अपना ग्राउन उतार दिया अब पापा पूरी तरह नंगे थे लेकिन पापा का लन्ड देख कर तो मेरा दिमाग चकरा गया बहुत बड़ा और मोटा था मेरे से बहुत बड़ा था और एकदम सीधा खड़ा था फिर मॉम ने अपनी नाईटी के आगे का रिबन निकाला और नाइटी को उतार दी अब मॉम ब्रा और पैंटी में थी। सारी ब्रा पैंटी मॉम की सेक्सी और हॉट ही थी। दोनो का कलर काला था मेरा तो यह लाइव वीडियो देख के बुरा हाल था और में खुद भी नंगा हो गया था
मेरा लन्ड तो ऐसे चीजों से जल्दी ही खड़ा हो जाता था फिर मॉम ने अपनी ब्रा और पैंटी उतार दी पूरी नंगी खड़ी थी

पापा बोले " सुंदर अती सुंदर मेरी जान"

फिर मॉम, सोफे पर बैठ गई और बोली " मेरी दोनो दूध के डेयरी यानी मेरे दोनो बूब्स में अभी दर्द र है और लाल भी बहुत है डॉक्टर ने बूब्स के साथ कुछ दिनों तक कुछ नहीं करने को कहां है"।
पापा बोले "अच्छा डार्लिंग"।
फिर मॉम ने नकली लन्ड
को अपनी चूत में डालना शुरू कर दिया और पापा ने भी अपने लन्ड को नकली चूत में डालना शुरू कर दिया, मॉम आज यह सभी बिना मन के कर रही थी क्योंंकि उनकी प्यास तक कल रात को ही बुझ गई थी वो भी असली वाले लन्ड से, मॉम खाली पापा की दिखाने के लिए यह नाटक कर रही थी वो जल्दी जल्दी यह खत्म करना चाहती थी तो उसने नकली लन्ड को अपनी चूत में स्ट्रोक मारना शुरू कर दिया और पापा भी नकली चूत में शॉट मारे जा रहे थे पापा की स्पीड तो बहुत तेज थी लेकिन मॉम धीरे धीरे कर रही थी
और आवाज भी करनी शुरू कर दी " अा अा अा ह ह ह ई "

5 मिनट में ही मॉम ने नकली लन्ड से अपनी चूत की चुदाई बंद कर दी ,मॉम की चूत से पानी नहीं निकला था लेकिन पापा को यह दिखाई नहीं दे रहा था और
वो पापा को बोली " मेरा हो गया"
फिर पापा ने अपने लन्ड की नकली चूत से चुदाई बीच में रोक दी, पापा अभी भी संतुष्ट नहीं हुए थे
उन्होंने बोला " सीमा डार्लिंग आज जल्दी ही झड़ गई हो लेकिन संतुष्ट हो गई ना"
फिर मॉम ने बोला "हां आज थोड़ी थकी हुई हूं इसलिए जल्दी हो गया लेकिन आपका नहीं हुआ अभी तक सॉरी"

पापा बोली " अरे सॉरी की जरूरत नहीं है सीमा, में तो तेरे लिए कर रहा था मेरे लिए यहां पर बहुत सारी चूत तेयार रहती है"
फिर पापा ने बोला " अच्छा सीमा अभी वीडियो कॉलिंग डिस्कनेक्ट करता हूं मुझे ऑफिस जाना अपना और अर्जुन का ध्यान रखना"
और दोनो तरफ से "बाय बाय लव यू". कहकर वीडियो कॉलिंग डिस्कनेक्ट हो गई,
मैने फटाफट अपने कपड़े पहन लिए और लैपटॉप में देख रहा था मॉम भी अपनी ब्रा पैंटी पहन रही थी फिर उन्होंने अपनी नाइटी भी पहन ली और नकली लन्ड को लेकर अपने बेडरूम की चली गई फिर मैने लैपटॉप बंद कर दिया और अपने बेड पर सोने का नाटक करने लग गया क्योंंकि मॉम नकली लन्ड को अपने कमरे में रखकर मेरे कमरे में आएगी

ऐसा ही हुआ मॉम ने मेरे रूम का दरवाजा खोल कर अंदर अा गई और बोली
" बेटा सो गया क्या"
मैने आंखे खोलकर बेड पर बैठ कर बोला "नहीं मॉम ऐसे ही लेटा था आपकी बात हो गई पापा से"
मॉम वो ही नाइटी में थी
मॉम बोली "हां हो गई बेटा तू अभी हाल में टीवी बंद कर दे और पढ़ाई कर फिर में भी रात का खाना बना देती हूं फिर में भी हाल में आती हूं"

फिर मैने ड्रॉइंग हाल में टीवी को बंद कर दिया और अपने मोबाइल के कैमरा को भी
और अपनी कॉलेज की बुक्स लेकर हाल में ही पढ़ाई करने लगा, करीब एक या डेढ़ घंटे बाद

मॉम हाल में आई और बोली " बेटा खाना बना दिया, तू टेबल पर अा जा खाना खा लेते है"
फिर रोज की तरह हम दोनों मां बेटे ने रात का खाना आया फिर मॉम किचन चली गई फिर थोड़ी किचन का काम निपटा के हाल में अा गई,
मैने बोला "मॉम, पापा से कैसी बात हुई"
मॉम बोली " वैसी जैसी रोज होती कुछ खास नहीं, वो तेरी और मेरे फिक्र करते रहते है"
फिर मॉम के मोबाइल पर उनकी सहेली रेशमा का कॉल अा गया और दोनों के बीच औरतों वाली बातें शुरू हो गई और में भी अपने मोबाइल में चैटिंग में व्यस्त हो गया, आधे घंटे बाद मॉम और रेशमा की बात खत्म हुई

फिर मॉम बोली " बेटा में नहाने जा रही हूं थोड़ा फ्रेश फिल करूंगी"

में बोला "ओ.के.मॉम"

मॉम अपने कमरे में चली गई
में समझ गया था मॉम अपनी चूत को साफ करना चाहती थी पापा के कारण गंदी हो गई
थी मेरी इच्छा तो मॉम के साथ नहाने की थी
लेकिन ज्यादा जल्दबाजी करने से सब काम खराब हो सकता था
थोड़ी देर बाद मॉम की कमरे से आवाज आई

"अर्जुन बेटा, बेडरूम में अा जा"

में बेडरूम में गया वहां मॉम ड्रेसिंग टेबल अपने बाल बना रही थी और उन्होंने वो ही दोपहर वाला टाईट टी शर्ट जैसा लेडीज बनियान और लेडीज सेक्सी हाफ पैंट पहन रखी थी
में बेड पर बैठ गया और मॉम को बाल बनाते देख रहा था मॉम तो मॉम ही थी पूरी तरह सेक्सी गुडिया नजर आ रही थी नहाने के बाद तो और भी कड़क और मलाई माल नजर आ रही थी फिर मॉम ने बाल बनाकर मेरे पास बेड पर आकर बैठ गई और मेरे गाल को प्यार से हल्का खींच के बोली
" क्या हाल है मेरे बेटा जी का ,मॉम से नाराज़ तो नहीं"
मैने बोला " नहीं मॉम, में क्यों आपसे नाराज़ होऊंगा ,आप जैसी मॉम तो किस्मत वालों को मिलती है"
मॉम मेरे जवाब से मुस्कराई और बोली " गुड बेटे"
"बेटे आज पूरे दिन मैने तेरी परीक्षा ली थी तेरा मेरे प्रति,मेरे सेक्सी शरीर के प्रति और तेरी वासना के प्रति ,कंट्रोल देखना चाहती थी और उसमें तू पूरा पास हो गया
तू मेरा गुड बेटा है अगर तेरी जगह कोई दूसरा लड़का होता वो भी एक अकेली सेक्सी औरत के साथ रहता होता और मेरे जैसी सेक्सी क्वीन और सेक्सी हॉट फिगर वाली औरत की देख कर वो कंट्रोल नहीं कर पाता और सुबह से अब तक जबरदस्ती मेरी चुदाई कर लेता, मेरे चूत को फ़ाड़ देता और बूब्स को चूस चूस के सुजा देता"
"लेकिन तू तो एक सगे बेटे से भी ज्यादा मेरा ध्यान रखता है मेरी भावनाओं का सम्मान करता है मुझे प्यार करता है तेरे पापा से भी ज्यादा तू मुझे प्यार करता है मेरे शरीर के अंगो का ध्यान रखता है बेटा एक बड़ी बात और बोलूंगी की मेरे दिल में तेरे पापा से भी ज्यादा तेरे लिए प्यार हो गया है आई लव यू बेटा"

यह कह कर मॉम ने भावुक होकर मुझे बाहों में भर लिया और मेरे सर पर ,गाल पर और होंठ पर ममता वाली किस और चुम्बन दिया और में भी बड़ा प्रसन्न और खुश था मॉम की बातें सुनकर थोड़ा में भी भावुक हो गया था,
की में मॉम की परीक्षा में, में पास हो गया,
यह तो खाली में ही जानता था, कि मैने आज पूरे दिन कैसे कंट्रोल किया और कैसे अपनी हवस और उत्ताजनाओ पर काबू रखा,
कोई बात नहीं आखिरकार मेहनत रंग लाई।
अब मॉम ने मुझसे अपने आप को अलग किया
और बोली
" बेटा टैबलेट खा ले मैने तो स्प्रे की डबल डोज चूत पर लगा दी है"
मैने टैबलेट की बोतल से टैबलेट निकाली और बोला "मॉम कितनी लू डबल लू"
मॉम बोली "बेटा डबल से पूरी रात प्रोग्राम चलेगा,मेरी तो हालत खराब हो जाएगी लेकिन तुझे अब सब छूट है डबल ले ले तेरे पापा तो ट्रिपल भी लेते थे"
फिर मैने टैबलेट की डबल डोज पानी के साथ ले ली,
फिर मॉम ने बोला "आज जो करना है तू कर अपने हिसाब से, जैसी पोजिशन में करना है कर, तेज धीरे जैसे भी करना है कर , में कुछ नहीं बोलूंगी और मैने अपने स्तनों के दर्द के लिए पैन किलर गोली ली हुई है अब पूरी रात बूब्स में कोई दर्द नहीं होगा"

फिर मैने बोला "थैंक्स मॉम"

फिर मैने मॉम का खड़ा होने को बोला
वो खड़ी हो गई
मैने मॉम का बनियान उतार दिया
अब मॉम काली कलर की सेक्सी ब्रा में थी
फिर मैने ब्रा भी अपने हाथ से उतार दी, अब मॉम के शांत बैठे दो बड़े वाले तरबूज जैसे स्तन आजाद हो गए थे आज बूब्स थोड़े लाल काम थे लेकिन सेक्सी और हॉट तो जबरदस्त थे
मॉम की हाइट मेरे जितनी ही थी इसलिए खड़े खड़े बूब्स चूसने और दबाने में मुझे तकलीफ़ होती तो मैने मॉम को पलंग पर पालती मार के बैठने को बोला, और मॉम बैठ गई
फिर में एक छोटे दूध पीते बच्चे की तरह पलंग पर लेटकर अपना मुंह मॉम की गोद में ले गया और बोला
" मेरी प्यारी मॉम, अब आपका बेटा आपका दूध पियेगा"
मॉम मुस्करा के बोली "पी लीजिए बेटा जी मॉम की दूध की डेयरी आपके लिए खुली है"
फिर मैने मॉम के एक बूब्स को अपने मुंह में लगा दिया और छोटे बच्चे की तरह निप्पल चूसने लगा, मॉम भी सपोर्ट कर रही थी ,
में बूब्स को भींच कर चूस रहा था मुझे तो असीम आनंद की प्राप्ति हो रही थी दूध तो नहीं आने वाला था फिर दूसरे बूब्स को मुंह में ले लिया, मॉम को भी मज़ा आ रहा था मॉम के बूब्स का वजन बहुत था मेरा मुंह पर दबाव बना रहे थे लेकिन मुझे तो चूसने में मज़ा आ अा रहा था मेरा लन्ड तो पहले से खड़ा था और टैबलेट लेने के बाद तो आग की रोड बन गया था मॉम ने बैठे बैठे ही मेरी हाफ पैंट और अंडरवियर उतार दी और मेरा लन्ड बाहर अा गया था मॉम ने बोला"
मस्त बेटा आज तेरा सामान बहुत बड़ा नजर अा रहा है"
में तो मॉम के बूब्स पर टूटा हुआ था मैने अब स्पीड बड़ा दी और ज़ोर से एक एक करके दोनो बूब्स को चूसे जा रहा था और ज़ोरदार भींच भी रहा था मॉम हल्की हल्की आवाज़ कर रही थी मॉम मेरे लन्ड का बैठे बैठे अपने हाथ से खेलना चाहती थी लेकिन मैने मॉम के हाथों को रोक रखा था फिर 20 मिनट के बाद मैने दोनों बूब्स को जमकर चूस लिया था भींचा भी जबरदस्त था अब में उठा
और मॉम को सीधा लेटा दिया और बोला
"मॉम अभी में जो करूंगा उससे आप गुस्सा मत होना और दर्द हो तो मना कर देना , में फिर रोक दूंगा
मॉम ने बोला" बेटा तू कुछ भी कर ,कुछ नहीं बोलूंगी".
फिर मैने पलंग पर बैठे बैठे मॉम के दोनो बूब्स को ज़ोरदार उपर की खींचने लगा
जैसे रबड़ को खींचते है
बहुत बड़े थे बूब्स और सॉफ्ट भी बहुत थे
मॉम की हल्की चीख निकल रही थी खाली "आह आह आह आह अा"
लेकिन मॉम मना नहीं कर रही थी
मैने फिर पूछा "मॉम रुक जाऊं की चालू रखी आपको अच्छा लग रहा है"
मॉम बोली "चालू रख मज़ा आ रहा दर्द तो थोड़ा होता ही है तेरे पापा का तो यह रोज का था बूब्स को इतना खींचते थे कि में खुद बूब्स के साथ उठ जाती थी"

यह सुनकर मैने थोड़ी तेजी से बूब्स को खींचना शुरू किया एक एक करके बूब्स को खींच रहा था
और मॉम के होंठो पे अपने होंठ चिपका दिए जिससे मॉम की आवाज़ भी बंद हो गई और मॉम को मस्त जबरदस्त चुम्मा दे रहा था मॉम के मीठे,गुलाबी,मोटे और कोमल होंठो को मैने अपने मुंह में डाल दिए थे मॉम को मज़ा आ रहा था इधर मेरे हाथों से मॉम की बूब्स खींचने का कार्यक्रम जारी था
15 मिनट बाद यह प्रोग्राम समाप्त हुआ मॉम के निर्दोष दोनो तरबूज मेरे बेहरम हाथों से आजाद हुए और मॉम के मलाई से भी ज्यादा कोमल दोनो होंठ मेरे कठोर होंठो से आजाद हो गए थे अब मॉम ने थोड़ी राहत ली, हल्की थक गई थी फिर मैने मॉम का मूड बनाने और खुश करने के लिए
उनके एक बूब्स को उनके मुंह में डालने की कोशिश की और में सफल हो गया मॉम के बूब्स उनके मुंह में जा रहे थे
मैने बोला "मॉम आपके बूब्स तो आपके मुंह तक जा रहे है यह तो चमत्कार है,
मॉम बोली " बड़े बूब्स वाली औरतें के बूब्स उनके मुंह तक जाते है और मेरे तो बड़े तो है ही साथ में लंबे नुकीले है"
Reply

06-29-2020, 04:36 PM,
#2
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
फिर मैने बोला "चूसोगी अपने बूब्स को"
मॉम बोली " हां बेटे चुसुंगी, में अपने हाथ से अपने बूब्स अपने तक नहीं ले जा सकती थी
तेरे पापा ने एक दो बार ऐसा किया लेकिन उन्हें तो खुद चूसने से फुर्सत मिले तो करे ना"

फिर मैने एक एक करके मॉम के स्तनों को खींच खींचकर उनको मुंह तक ले गया और मॉम ने अपने रसीले होंठो से चूसना शुरू कर दिया, मॉम के चूचियों की निप्पल बड़ी थी वो आराम से मॉम के मुंह मे पहुंच रही थी बाकी पूरे बूब्स तो नहीं पहुंच सकते थे मॉम अपनी स्तन की बड़ी बड़ी काली निप्पलों को, छोटे बच्चों की तरह चूसे जा रही थी मॉम के चेहरे पर रौनक अा गई थी क्योंंकि मॉम को स्तन अच्छे लगते है 15 मिनट तक में मॉम को उनके स्तन चूसाता रहा फिर यह सेशन भी मैने खत्म किया
मॉम बहुत एन्जॉय महसूस कर रही थी
मैने अपना टी शर्ट अब उतार दिया
अब में पूरी तरह से नंगा था
लेकिन मॉम की हाफ पैंट अभी तक नहीं उतारी थी मैने जानबूझकर, क्योंकि चूत और गान्ड देखकर,बूब्स चूसने और खेलने का मज़ा चला जाता,
अब मैने सोचा आज तो रात भर यह चुदाई,खिंचाई और गान्ड मरवाई का प्रोग्राम तो चलता रहेगा
अब थोड़ा मॉम को और खुश करता हूं
फिर मैने मॉम के पेट के साथ खेलना शुरू कर दिया, पेट पर नाभि में जीभ डालकर चाटने लग गया मॉम को मज़ा आने लगा ,मॉम का पेट तो इतना गोरा और चिकना था कि मेरी जीभ भी फिसल रही थी में, मॉम का पेट मस्त चाट रहा था और साथ चुम्मा भी दे रहा था मॉम का खुशी और उत्तेजना से बुरा हाल हो रहा था वो अपने दोनों हाथो से अपने बूब्स दबाए जा रही है में 10-12 मिनट तक यह करता रहा
फिर मैने मॉम की सेक्सी हाफ पैंट उतार दी
और अब मॉम काली कलर की पैंटी में थी
वो भी जालीदार थी
मैने पैंटी भी उतार दी
मॉम को लगा कि, अब में चूत को चाटूंगा,उंगली से चूत को खोदुंगा,या मुंह से चूत के अंदर के दाने को काटूंगा,और गान्ड को निचोड़ेगा,
लेकिन
मेरा इरादा कुछ दूसरा था
मॉम पहले से ही गरम हो चुकी थी
और मैने ऐसा इंटरनेट में पढ़ा था की जब औरत एक बार गरम हो जाए तो चूत में लन्ड डालने में देरी नहीं करनी चाहिए
सही समय पर लन्ड को चूत के अंदर प्रवेश कर लेना चाहिए जिससे चूदने वाली औरत खुश हो जाती है और आगे चुदाई में पूरा सपोर्ट करती है
मैंने ऐसा ही किया
मैने मॉम के दोनो पैरो के सामने बैठ गया
और मॉम के दोनो पैरो अपने कंधे पर रख दिया
जिससे मॉम की आधी गान्ड,चूत और कमर थोड़ी उपर उठ गई, जिससे मेरे लन्ड को मॉम की चूत तक जाने का रास्ता साफ दिखाई देने लगा,
अब मुझे चूत एकदम साफ दिख रही थी
मैने कुछ रुके मैने सीधा मेरा
लन्ड मॉम की चूत में बुलेट ट्रेन की स्पीड जैसे डाल दिया
मॉम की चीख निकली
"अा आए आई कोहह ओएचएच क"
मॉम ,मेरे इस कदम से मॉम चंकित हो गई और मन ही मन में खुश हो रही थी क्योंंकि उन्हें अभी चुदाई की जरूरत थी
मॉम की पता नहीं चला कि में यह करने वाला हूं
मुझमें टैबलेट का असर तो था ही
में अब धमा धम अपने लन्ड के शॉट मॉम की चूत में मारे जा रहा था
मॉम की सिसकारियां चालू हो गईं थी
क्योंंकि मेरा लन्ड पूरा मॉम की चूत में जा रहा था चूत के अंदर के बीज से टकरा रहा था और
लन्ड भी सख्त हो गया था एकदम लोहे की रॉड की तरह, इसलिए मॉम को दर्द भी हो रहा था और एंजॉयमेंट भी हो रहा था।
लन्ड और चूत के एनकाउंटर का साउंड भी अा रहा था "धक धक धक " लन्ड
मेंरा मॉम को चोदे जा रहा था और साथ में मेरे दोनो हाथ वापस मॉम के बूब्स पर चले गए
में उत्तेजना की चरम सीमा में पहुंच गया था
ताकत बहुत अा गई थी
मैने दोनो हाथो से मॉम के बूब्स को मसलने शुरू कर दिए
निप्पल पर चुटी काटने लग गया
मॉम की आवाजे "आह आह आई "
चालू थी एक तरफ मॉम के शरीर के नीचे वाले पार्ट में से दर्द और मस्ती में हाई स्पीड चुदाई चल रही थी दूसरे मॉम के शरीर के बीच वाले पार्ट में दूध के दोनो बड़ी डेयरी से मेरे दोनो हाथ दूध निकालने में लगे हुए थे
मुझे मॉम के स्तनों में बहुत मज़ा आ रहा था
एक तो इतने बड़े,सॉफ्ट,गोरे,चिकने और एकदम साफ सुथरे थे
फिर मैने बोला " मॉम कोई दर्द तो नहीं हो रहा है चालू रखूं ना"
मॉम बोली "हां चालू रख,मज़ा आ रहा है आज तेरा लन्ड कल से भी ज्यादा कड़क और कठोर हो गया तूने सही समय पर चुदाई शुरू की, मुझे जरूरत हो भी रही थी "

15 से 20 मिनट तक यह करने के बाद,मैने चुदाई और बूब्स दबाने बंद कर दिए और फिर
मैने कुछ दूसरा सोचा,
क्योंंकि आज हम लोग इतना जल्दी झड़ने वाले तो थे नहीं,
और आज सब मेरी ही चल रही थी में मॉम पर हावी था और उनके ऊपर में ही था
में थोड़ी देर रुक गया
और बेड पर बैठ गया और बोला
"मॉम थोड़ी थकावट आई आपको"
मॉम बोली "हां थकावट तो है "
मैने कहा " 10 मिनट को ब्रेक लेते है तब तक दोनो में एनर्जी अा जाएगी"

मॉम बोली "गुड बेटा"
फिर मॉम भी पलंग पर तकिए का सहारा लगा के बैठ गई।
में बोला "मॉम यह लेडीज किट्टी पार्टी में सैक्स वगेरह की बातें होती है क्या "
मॉम बोली " हां होती है ना एक दूसरे के पर्सनल लाइफ के सैक्स के बारे,मज़ा आता है किस के पति ने कितने मिनट तक चोदा, ऐसी थोड़ी बहुत हल्की फुल्की बातें होती है"
मैने बोला "मैने सुना है की किटी पार्टी सैक्स गेम भी होते"
मॉम बोली " हां होते है लेकिन हमारी वाली पार्टी में नहीं होते है क्योंंकि कुछ पुराने खयालात वाली औरतें भी है कुछ मेरी तरह संस्कारी भी ,जो ऐसे कामों से दूर ही रहती है लेकिन ऐसे गेम खेलने में कोई बुराई भी नहीं है क्योंकि है सब औरतें ही ना"

में बोला "मॉम आपने ,आपकी तरह सेक्सी फिगर वाली औरत के शरीर को टच किया है"
मॉम बोली " हमारे ग्रुप में 5-6 औरतों का फिगर मेरा जैसा है या मेरे से भी अच्छा है मतलब मान ले वो सभी खूबसूरत और सेक्सी फिगर वाली है लेकिन मैने खाली मेरी बेस्ट फ्रेंड रेशमा के बूब्स और गान्ड को बाहर से टच किया है और उसने भी मेरे बूब्स और गान्ड को टच किया है बस इतना ही हुआ है"

में बोला " वाउ गुड मॉम"

में बोला " मॉम यह औरत के बूब्स से दूध औरत से बच्चा होने के बाद ही निकलता है
और कोई तरीका नहीं है क्या"
मॉम हंसके बोली " हां बच्चे होने के बाद ही औरत के स्तन में दूध बनना शुरू होता और कोई तरीका नहीं है लेकिन तेरे पापा बोले रहे थे वो इस बार अमेरिका से कोई इंजेक्शन लेकर आएंगे
और वोह इंजेक्शन बूब्स पर लगाने के कुछ देर बाद थोड़ा दूध अा सकता है"
मैने बोला" मॉम फिर तो मज़ा आ जाएगा"
मॉम बोली "हां बेटा तेरे पापा मेरा दूध निकालकर ही रहेंगे"
अब हम लोगो में एनर्जी अा गई थी
मैने पलंग पर खड़ा हो गया और
मॉम के पास अपना लन्ड लेके गया
और बोला
"मॉम अभी इसे आपके गले तक पहुंचा देता हूं"
फिर मॉम कुछ बोलती मैने
अपना लन्ड मॉम के मुंह में डाल दिया और शॉट मारना शुरू कर दिया
पता नहीं मॉम को यह अच्छा लग रहा था कि नहीं लेकिन खड़े खड़े मॉम के मुंह में शॉट मारे जा रहा था 10-12 मिनट तक मॉम के मुंह को अपने लन्ड से चोदने के बाद मैने यह बंद किया
मॉम का बुरा हाल था
मैने बोला "मॉम आपको यह अच्छा नहीं लगा"
मॉम बोली "नहीं ठीक था तेरे पापा तो तगड़ा और गहरा गले तक डालते थे कई बार तो मुझे उल्टी अा जाती थी"
में बोला "पापा तो बेहरम इंसान है में तो वो ही करूंगा जिससे आपको खुशी हो,अभी बताइए आगे क्या करू"
मॉम बोली "थैंक्स बेटा,आगे जो तुझे अच्छा लगे वो कर"

मैने बोला "ओके मॉम"
फिर मैने मॉम को घोड़ी जैसे पलंग पर उनके घुटनों के सहारे बैठा दिया ,मॉम को लग रहा था अब में घोड़ी स्टाईल में चूत चोदूंगा
लेकिन मेरा इरादा कुछ और था
मैने फटाफट ड्रेसिंग टेबल पर पड़े केमिकल ऑइल को अपने लन्ड पर लगाया
और मॉम की गौरी चिकनी गान्ड के छेद में अपना डालना शुरू कर दिया
पहला शाट में लन्ड पूरा गया नहीं
लेकिन दूसरे झटके में लन्ड पूरा, मॉम की गान्ड चला गया और इधर मॉम की ज़ोरदार चीख निकली,
में धमा धम गान्ड में लन्ड के शॉट मारने लग गया
और मॉम के बूब्स झुल रहे थे आगे और पीछे,
मॉम की आवाज ज्यादा नहीं अा रही थी
क्योंंकि उनको तो पापा के साथ यह सब करने का अनुभव तो था ही,
मस्त गान्ड की चुदाई हो रही थी
मुझे बहुत मज़ा आ रहा था
मॉम को ज्यादा मज़ा नहीं अा रहा होगा
क्योंंकि दर्द भी हो रहा होगा उनको,
फिर मैने अचानक अपने लन्ड को मॉम गान्ड की गान्ड में 2 मिनट के लिए रोक दिया
बाहर निकाला ही नहीं
मॉम को ज़ोरदार दर्द हुआ
मॉम बोली "बेटा निकाल दर्द हो रहा है"
मैने निकल दिया
फिर गान्ड चुदाई बंद कर दी
और उल्टा ही लेटा दिया
मतलब गान्ड और कमर मेरे सामने रखी
अब मैने मॉम की गर्दन से कमर तक मॉम को अपनी जीभ से चाटना और चूमना शुरू किया
ऐसा लग रहा था
जैसे रबड़ी चाट रहा हूं
मॉम की कमर तो एकदम लाजवाब थी
गौरी,चिकनी और एक दम साफ थी
एक दाग भी नहीं था
ऐसे करते करते में मॉम की बड़ी,तगड़ी और कोमल गान्ड तक पहुंच गया
गान्ड को ज़ोरदार और तेजदार चाटने लगा
मॉम को गुदगुदी हो रही थी
मज़ा भी उनको अा रहा था
मॉम के स्तन पलग के बेड पर चिपक गए थे
मैने मॉम की गान्ड के छेद में भी जीभ डालकर चाटने लग गया
फिर अपनी हाथों की उंगली, मॉम की गान्ड के छेद में डालकर
कुछ उंगली से शॉट मारे,
मॉम की गान्ड को अपनी दातों से भी 3-4 बार हल्के से काटा
मॉम की प्यारी से चीख अा रही
एंजॉयमेंट भी ले रही थी
15 मिनट तक मॉम की मखन गान्ड के साथ खेलता रहा
अभी में थक गया था और झड़ भी नहीं पा रहा था
शायद मॉम भी थक चुकी थी
फिर मैने मॉम को बोला "
मॉम एक बार दोनो झड़ जाते है में भी थक गया हूं और आप भी"
मॉम बोली "हां बेटा थक गई हूं में"
फिर में लेट गया और मेरा लन्ड बिजली के खंबे की तरह सीधा खड़ा था और मॉम को बोला
"मॉम अब आप मेरे लन्ड पर अपनी चूत को बैठा दो और ऊपर नीचे हो तो रहो झटके मारो"
मॉम समझ गई थी
फिर मॉम मेरे लन्ड पर चूत डाल दी
और मेरे पैरो पर बैठकर उपर नीचे होने लग गए
इससे मुझे थोड़ा दर्द हो रहा था
लेकिन लन्ड ,मॉम की चूत की बहुत गहराई तक जा रहा था
मॉम को भी दर्द हो रहा था
लेकिन चुदाई भी बिना दर्द के थोड़े ही होती है
मॉम ने अपनी स्पीड तेज कर दी थी
मॉम वासनाओं में डूब गई थी
सैक्स की चरम सीम में पहुंच गई थी
जहां पर हर औरत अपनी चूत से जल्दी जल्दी पानी निकालना चाहती है मेरा शेर
लन्ड मॉम की चूत को खोदे जा रहा था
इसी बीच मैने लेटे लेटे ही अपने दोनो हाथ मॉम की छाती पर लटक रहे दो बड़े तरबूजों रूपी बूब्स
पर टिका दिया और मसलने शुरू कर दिए
क्योंंकि मॉम के बूब्स मेरी सबसे बड़ी कमजोरी है
मुझे चूत नहीं मिलती तो चल जाता लेकिन
मॉम के गोरे,चिकने,दूध के भंडार रूपी स्तनों के बिना नहीं चलता
मॉम अपनी चूत मेरे लन्ड में घुसाई जा रही थी
और दूसरी ओर में मॉम के बूब्स को ज़बरदस्त भींचे, दबाएं और चूटी काटे जा रहा था
यह प्रोग्राम 15 मिनट करीब चला
फिर मॉम बोली " बेटा मेरा होने वाला है"
और ऐसा कहकर उन्होंने अपने चूत को मेरे मुंह के ऊपर लाकर बैठा दिया
और मॉम का रबड़ी जैसा सारा मीठा, टेस्टी पानी मेरे मुंह में अा गया
मैने चाट चाट के सारा पानी पी लिया
फिर मॉम धड़ाम से मेरे साथ बेड पर लेट गई
क्योंंकि उनका काम हो गया था
मस्त संतुष्टि मिल गई थी
में अभी झड़ नहीं पा रहा था
टैबलेट की डबल डोज महंगी पड़ गई थी
फिर मॉम लेटे लेटे बोली " बेटा चिंता मत कर तुझे अभी झड़ा देती हूं"
फिर मॉम बेड पर बैठ गई
अपने हाथो से मेरे लन्ड से मुठ मारने लग गई
वो भी बहुत तेज गती से
मेरा हाल बुरा था
मॉम को तो मज़ा आ रहा था मेरे लन्ड के साथ खेल रही थी वो भी एकदम स्पीड में,

और मेरे मुंह से आवाजें निकल रही थी
"अा उ च अा आऊच मॉम धीरे आउच अा ई"
लेकिन मॉम तो अपनी मस्ती में थी
उनको इसका भी अनुभव था
की लन्ड के साथ कैसे खेले
और लन्ड को कैसे झड़ावे,
आखिरकार मेरे झड़ने का सिग्नल अा गया
मैने मॉम को बोला "मॉम झड़ रहा हूं"
तो मॉम ने अपना मुंह लन्ड में डाल दिया
और मेरा एकदम शुद्ध सफेद गाढ़ा वीर्य मॉम के मुंह में चला गया और मॉम ने गटक के,चाट के सारा पीं लिया
अब वो मेरे बाजू में लेट गई
और में तो लेटा हुआ था ही
दोनो ही थक गए थे
करीब 4 घंटे रहा यह चुदाई सैक्स का कार्यक्रम,फिर
मॉम लेटे लेटे ही बोली
" बेटा मज़ा अा गया, मस्त संतुष्टि मिल गई"
में बोला " हां मॉम, बहुत एंजॉयमेंट रहा "
में बोला "मॉम आप बहुत ही खूबसूरत हो, हॉट और सेक्सी हो, आपके शरीर का एक एक अंग भगवान ने बहुत ही प्यार से बनाया है "

मॉम हल्के से हंसके बोली "थैंक यू बेटा"
और रात बहुत हो गई थी
हम दोनों थक चुके थे

इसलिए जल्दी हम दोनों को नींद अा गई थी
और हम दोनों नंगे ही बेड पर सो गए थे

दोस्तो इस तरह इस सत्य घटना के कहानी रूपी वर्णन का यही अंत होता है
आगे और क्या क्या होगा और कौन कौन से नए
किरदार इस कहानी में आएंगे
वो आपको आगे की मेरी कहानियां में पता चलेगा
धन्यवाद

,
[/size]
Reply
06-29-2020, 04:38 PM,
#3
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
दोस्तों,
मेरी गलती से कहानी का प्रथम और रोमांचक भाग
दूसरे सेक्शन में पोस्ट हो गया
में ऐसे दोबारा इधर पोस्ट कर रहा हूं
आप कंफ्यूज मत होएगा
ऐसे प्रथम पार्ट समझकर ही पढ़िएगा
इसका टाइटल मैने

"संस्कारी मॉम"

रखा है

[b][color=#0000FF]
मेरा
नाम अर्जुन है, मे 18 साल का हूँ, मे अपने पापा और सोतेली मां के साथ दिल्ली में रहता
हूं मेरे पापा विदेशी कंपनी अमेरिका में बड़े ऑफिसर के पद पर काम करते है इसलिए उनकी इनकम बहुत अच्छी है और दिल्ली में हम बहुत हाई प्रोफ़ाइल बिल्डिंग सोसायटी में रहते है पापा हर 3 महीने में भारत आते है और 10-12 दिन रुक कर वापस चले जाते है मेरी सगी माँ और पापा का कुछ महीनों पहले तलाक हो गया था मेरी एक सगी बड़ी बहन भी है तलाक के बाद मेरी सगी मां ने दूसरी शादी कर दी थी और मेरी बड़ी बहन मेरी मां के साथ रहती है और में पापा के साथ, तलाक के
कुछ दिनो बाद मेरे पापा ने दूसरी शादी कर दी थी मेरे पापा दिखने मे स्मार्ट और यंग दिखते है और पैसे वाले भी है
इसलिए एक गरीब परिवार ने पैसो के कारण अपनी जवान और खूबसूरत लड़की से मेरे
पापा की शादी कर दी.
मेरी
सोतेली माँ का नाम सीमा है वो बहूत गौरी,स्लिम और बड़े फिट फ़िगर वाली है वो
24 साल की है वोह काफी पढ़ी लिखी और दिखने में संस्कारी औरत है शादी के बाद वो मुझे अपने बेटे की तरह मेरा ख्याल रखती थी और मेरे पापा काफी सेक्सी है शादी के बाद कुछ दिनो तक
उन्होने सीमा के साथ बहूत मज़े किये। मे रात को उनके बेडरूम मे चोरी छुपे
देखा करता था और सीमा की हल्की चीखने की आवाज भी सुनाई देती थी मे 12 साल की उम्र से ही पोर्न नंगी वीडियो देखा करता था शादी के कुछ
दिनो बाद मेरे पापा को उनके ऑफिस अमेरिका में जाना पड़ा तो वो अकेले ही चले गए थे
अभी मे और सीमा अकेले ही घर मे रह रहे थे मेरे पापा करीब 3 महीने बाद ही आने वाले
थे धीरे धीरे मे और सीमा अच्छे दोस्त बन गए थे मे उसको मॉम कहकर बुलाता था वोह
Reply
06-29-2020, 04:38 PM,
#4
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
< मुंह मीठा कर दो>

नमस्कार दोस्तों,

में अर्जुन,
लेकर आया हूं कहानी का अगला भाग
पिछली कहानी के भाग
"संस्कारी मॉम"
और
"मॉम की परीक्षा में पास"
तो आप लोगो ने पढ़ ही लिया होगा
अब लाया हूं

"मुंह मीठा कर दो"

टाइटल के नाम से ,

अब देखिए आगे क्या होता है


फिर अगली सुबह जैसे रोज होता है वैसे ही हो रहा था मॉम जल्दी उठकर स्नान करके तेयार होकर, साड़ी पहनकर ,भगवान की पूजा करने लग गई ,
फिर बेडरूम में आकर मुझे नींद से जगाने लग गई, में जाग गया और मॉम को देखा वो एकदम मस्त अप्सरा लग रही थी मस्त महकदार खुशबू अा रही थी मॉम के बदन से,
साड़ी ,टाईट ब्लाउस और टाईट पेटीकोट में मॉम एक खूबसूरत और हुस्न की रानी नजर आ रही थी
फिर जैसे ही मॉम रूम से जाने लगी तो मैने लेटे लेटे ही मॉम का हाथ पकड़ लिया और बोला "मॉम ऐसा नहीं उठूंगा सुबह सुबह मुंह मीठा कराओगी तब ही उठूंगा"
मॉम मेरा मतलब समझ गई थी
मॉम मेरे पास आकर मेरे सर पर मस्त चुम्बन दिया फिर गाल पर और फिर मेरे होंठो पर
और
में मॉम के चुम्मा से एकदम पावर में अा गया था ,मेरे नीचे का सामान में भी हल चल शुरू हो गई,तब मैने मॉम की कमर को पकड़कर मॉम के चेहरे को नीचे झुका दिया और मैने मॉम के होंठो को अपने होंठो में डाल दिया और करीब दो मिनट तक मॉम के रसीले होंठो का रस पीता रहा, धाकड़ चुम्बन किया
फिर मॉम मुस्करा के बोली
"अब जल्दी तैयार हो जा कॉलेज के लिए देर हो जाएगी"
और यह बोलकर वो कमरे से बाहर चली गई

फिर में भी तैयार होकर अपने कॉलेज जाने की तैयारी करने लग गया,फिर हम दोनों ने साथ में नाश्ता खाया ,
मॉम रोज की तरह साड़ी में सेक्सी ही लग रही थी साला कोई भी ऐसे देखले तो घर से बाहर जाने की इच्छा ही नहीं हो
वो ही मस्त फिगर,खूबसूरत चेहरा,बड़े बड़े बूब्स, चोड़ी भरी हुए गान्ड, मलाईदार गाल,चिकनी कमर और मस्त डूबने वाला पेट,काले लम्बे बाल,नशीली आंखें,रस भरे होंठ दोस्तो यह ही मान लीजिए कि
स्वर्ग की अप्सरा जैसी ही लग रही थी
फिर में
कॉलेज जाने लगा तभी
मॉम बोली " बेटा फ्लैट की एक चाभी है ना तेरे पास"
में बोला "हां मॉम, बैग में रखी है"

मॉम बोली " में आज डॉक्टर मैडम के पास चेक अप के लिए जाऊंगी और वहीं से मार्केट में शॉपिंग के लिए चली जाऊंगी , इसलिए मुझे घर आते शाम हो जाएगी, में खाना बनाकर जाऊंगी, तू कॉलेज से आने के बाद गरम करके खा लेना"

में बोला "ओ.के. मॉम"

जब से मॉम ने मुझे यह बोला की वो मुझसे, पापा से ज्यादा प्यार करती है तब से मुझे आत्मविश्वास और हिम्मत बहुत अा चुका था
और में अब मॉम को पूरी तरह से अपनी ही समझने लग गया था जैसे मेरी ही बीवी हो,
फिर मेरे दिमाग में थोड़ी शरारत आई

मैने मॉम से बोला

"मॉम बेटे को ऐसे सूखा सूखा कॉलेज भेज रही हो, मुंह मीठा करके भेजो जिससे कॉलेज में पढ़ाई में मेरा पूरा मन लगे"

मॉम अपने दातों को अपने होंठो पर हल्के से कांट कर मुस्करा के बोलीं

"बेटा जी आजकल आप मिठाई बहुत ज्यादा ही खाने लग गए हो"

फिर मॉम ने अपने दोनो हाथ फैलाकर मुझे अपनी बाहों में ले लिया

और में भी मॉम की सेक्सी बाहों में समा गया
मॉम के दोनो दूध से भरे तरबूज बूब्स मेरे छोटे छोटे नींबू जैसे बूब्स से चिपक गए थे मॉम के दोनो हाथ मेरे कमर को कस के पकड़े हुए थे फिर मैने अपने दोनो हाथ मॉम के कमर पर रखे फिर उन दोनों हाथों को
मॉम की कमर के नीचे गान्ड पर ले गया
पेटीकोट तो टाईट था ही उसके उपर साड़ी भी थी लेकिन मॉम की गान्ड की चिकनी चमड़ी और भरी हुई चोड़ी मोटी गान्ड को में महसूस कर रहा था
मैने अपने दोनो हाथो से मॉम की दोनो गान्ड को अपने दोनो हाथो से ज़ोरदार भींच दिया और मॉम की मुंह से हल्की आवाज आई
"अाअाह"
फिर मैने अपने दोनो होंठो को मॉम के सरबत की दुकान यानी गुलाबी होंठो पर लगा दी
और मस्त तेजदार चुम्बन चूमना शुरू कर दिया
और साथ में अपने दोनो हाथो से मॉम की गान्डे भी दबाए जा रहा था

पेटीकोट टाईट की वजह से थोड़ी गान्ड अच्छी तरह से दबाने में दिक्कत अा रही थी लेकिन मैने अपनी ताकत अपने हाथों में लगा दी थी
और मस्त दोनो गान्ड को भींच दिया और मुझे पेटीकोट और साड़ी के अंदर मॉम की पतली पैंटी का भी अहसास होने लग गया था और दूसरी ओर मॉम के होंठो को में नींबू के रस तरह निचोड़ रहा था मुझे अब यह पता था कि मॉम अब मेरी कोई हरकत से नाराज़ या गुस्सा तक कभी नहीं होगी
करीब 3 मिनट तक यह चलता रहा है फिर मेरा लन्ड बहुत कठोर हो गया था और मॉम भी थोड़ी गरम हो रही थी उन्हें मेरे लन्ड के कठोर और सख्त का अहसास हो गया था क्योंंकि मेरा लन्ड उनके साड़ी और पेटीकोट के अंदर उनकी चूत के उपर वाले अंग पर टच हो रहा था
लेकिन मॉम तो इन सब मामलों की अनुभवी थी उन्हें अपने सैक्स भावनाओं पर कंट्रोल करना आता था और वो इस समय मेरे कॉलेज जाने का प्रोग्राम कैंसल करके, चुदाई का प्रोग्राम चालू नहीं करना चाहती थी
फिर उन्होंने मुझे अपने से अलग किया और हंसके बोली
"मुंह बहुत मीठा कर दिया तेरा,
और तूने मेरे पिछवाड़े में भी बहुत कुछ कर दिया अब इससे आगे कुछ नहीं, तेरे कॉलेज में जाने की देरी हो जाएगी ,जा अब"
और फिर में हल्की उदासी वाले अंदाज में बाय बाय बोलकर निकल गया ।

दोपहर को कॉलेज की छुट्टी के बाद, में घर
पहुंचा ,फ्रेश होकर कपडे चेंज करके, खाना गर्म करके खाया,
फिर अपने रूम में जाकर सो गया,

करीब दो घंटे बाद ,मॉम बाहर से आई
उनके पास भी घर की एक्स्ट्रा चाभी थी तो घर का दरवाजा खोलकर मेरे बेडरूम में आकर मुझे नींद से उठाया

में उठ गया ,

में बोला "मॉम अा गई आप"

मॉम बोली "हां,तू बाहर ड्रॉइंग रूम में आ जा ,रेशमा भी मेरे साथ आई है
हम दोनों साथ में गए थे मार्केट"

फिर में हम दोनों ड्रॉइंग हॉल में अा गए
मैने बोला " हेल्लो रेशमा आंटी कैसी है आप"
रेशमा बोली "में ठीक हूं अर्जुन, तू कैसा है "
फिर मॉम बोली "तुम दोनों बातें करो में कुछ स्नैक्स और पीने की लिए कुछ लेकर आती हूं"

फिर मॉम किचन में चली गई
मॉम लाइट ब्लू कलर की साड़ी में थी
जिसमे में उन्होंने तरबूज रूपी बूब्स को छिपा रखे थे फिर भी स्तनों को उभार बाहर दिख ही रहा था और पेटीकोट भी बड़ा मस्त और टाईट था कि पीछे गान्ड भी पूरी दिख रही थी मॉम की,
कोई बूढ़ा भी देख ले मॉम के इस रूप को तो उसके नीचे का सामान खड़ा तो होना पक्का है ही ,फिर जवान और लड़कों का तो पूछो ही मत,
अब में और रेशमा आंटी इधर उधर की बातें करने लग गए,
रेशमा आंटी को में पहले से ही जानता था
वो हमारे फ्लैट की दो फ्लोर उपर ही अपने पति के साथ रहती है
मॉम जितनी संस्कारी है उतनी है रेशमा आंटी मॉडर्न और बोल्ड है हर वक़्त वेस्टर्न आउटफिट में ही रहती है उम्र भी मॉम के आस पास की थी, उन्होंने आज जीन्स पहन रखी थी और ऊपर फैंसी टाईट टॉप जो थोड़ा गहरा था मतलब आंटी की गर्दन तो पूरी तरह से नंगी थी साथ में उनके बूब्स का थोड़ा हिस्सा उपर की तरफ से बाहर से दिख रहा था
वो भी मॉम जैसे ही फिगर की मालिक थी
उनके भी तरबूज बूब्स भी टॉप के बाहर दिखाई दे रहे थे
लेकिन में चोरी छिपे ही उनके बूब्स पर नजर डाल रहा था कभी उनकी जीन्स पर भी, वो भी जीन्स के उस हिस्से में जहां से उन्होंने अपनी चूत को छुपा रखी थी टाइट जीन्स थी इसलिए जीन्स एक दम चूत वाले हिस्से में चिपकी हुए थी
गोरा पेट आधा बाहर नजर अा रहा था
नाभि भूरे रंग मस्त दिख रही थी
मस्त और पतला पेट था
कोई भी देखे तो देखता ही रह जाए
एकदम सफ़ेद मखन के माफिक,

लेकिन मेरा ऐसा कोई मतलब या इरादा नहीं था सैक्स वाला या बुरी नजर वाला,या गंदी नीयत वाला,
क्योंंकि मुझे तो मेरी सपनों की रानी, हुस्नों की मल्लिका ,सैक्स की रानी, मेरे मॉम मुझे मिल चुकी थी
ऐसे देखो तो आज रेशमा आंटी मॉम से भी थोड़ी ज्यादा हॉट लग रही थी
क्योंंकि मस्त बाल बनाए हुए थे
मैक अप भी मस्त था
में सोच रहा था भगवान भी ऐसे खूबसूरत और सेक्सी औरतें क्यों बनाता है जिससे ऐसी खूबसूरती को देखकर मर्दों का नीचे का लौड़ा अपने आप खड़ा हो जाता है और कहीं लोगो का तो अंडरवियर ही गीला हो जाता होगा,

और रेशमा आंटी के पति तो इधर ही काम करते है और उनकी 4 साल की एक बेटी भी है
रेशमा आंटी के पति की किस्मत कितनी अच्छी थी
क्योंंकि उसे रोज दिन रात को चोदने, गान्ड मारने और बूब्स को चूसने लिए ऐसी खूबसूरत और सेक्सी बदन वाली बीवी जो मिल गई है
फिर मॉम अा गई,खाने का कुछ लेकर
फिर हम तीनो ने खाया पिया ।
थोड़ी देर बाद रेशमा आंटी बोली
"सीमा में अब घर चलतीं हूं"

फिर रेशमा आंटी हम दोनों को bye bye बोलकर चली गई
तभी मेरे पापा का मॉम के मोबाइल पर
कॉल आया
में सोचने लगा कि मेरे पापा भी बड़े वो है
अब वो वीडियो कॉलिंग से वापस मॉम को नंगी करके नकली, लन्ड से चुदाई कराके, पानी निकालेंगे, और मॉम बिना मन की अपनी चूत का पानी निकालेगी,जबकि मॉम को तो असली और फ्रेश ताजा लन्ड मिल चुका है

मॉम की पापा से बात हो रही थी
पापा ने मॉम को बोला कि वो ऑफिस के काम से 5 दिन के लिए कनाडा जा रहे है तो यह वीडियो कॉलिंग चुदाई वाला प्रोग्राम अगले 5 दिन तक नहीं हो पाएगा
मॉम ने भी मन ही मन में मुस्करा के उदास वाले स्वर में बोली "कोई बात नहीं डार्लिंग,में चला लूंगी"
फिर पापा ने मेरे बारे में पूछा
मॉम ने मोबाइल मुझे दे दिया
और पापा ने कहा "अपना और मॉम का ध्यान रखना"
मैने भी मन ही मन में मुस्कराया और मन में सोचा कि दिन रात मॉम की चुदाई का ध्यान रख रहा हूं
लेकिन मैने पापा को ओ.के. कह दिया , फिर कॉल डिस्कनेक्ट हो गया
मॉम के चेहरे में खुशी दिख रही थी
फिर

मॉम ने बोला "बेटा यह शॉपिंग के समान मेरे बेडरूम में लेकर आ जा"
मॉम बेडरूम में चली गई और मैने मॉम के शॉपिंग किए सामान उनके बेड रूम में ले गया
फिर मैने मॉम को पूछा " मॉम ,डॉक्टर ने क्या बोला"
मॉम बोली " बूब्स में इंप्रूवमेंट हो रहा है क्रीम और मेडिसिन चालू रखनी है कुछ दिन और,
बाकी सारी हैल्थ अच्छी है"
में बोला "गुड"
मॉम ने बोला "बेटा यह शॉपिंग के कपडे मेरे अलमारी में जमा दे"

मैने मॉम के कपडे अलमारी में अच्छी तरह से रख दिए
फिर मॉम ने अपनी साड़ी उतार दी
और बोली "बेटा यह साड़ी भी अच्छी तरह से जमाकर अलमारी में रख दे"
मॉम अब टाइट ब्लाउस और सुपर टाईट पेटीकोट में थी
मैने साड़ी जमाकर अलमारी में रख दी
मॉम ने बोला "थोड़ा नहा लेती हूं शरीर पसीने से भरा है"
फिर उन्होंने ब्लाउस और पेटीकोट भी उतार दिया
और दोस्तो आगे क्या बोलूं
जन्नत का नज़ारा था
स्वर्गलोक की अप्सरा मेरे सामने थी
मॉम ने ब्लू कलर की ब्रा और पैन्टी पहनी थी
मॉम ने दोनो उतार दी

और मज़ाक और मस्ती में ब्रा पैंटी मेरे मुंह पर फेक दी
और हंस के बोली
"मेरे राजा इनसे काम चला अभी ,
और में चली नहाने बाथरूम में"

मैने ब्रा पैंटी को हाथ में लिया और
पहले दोनो को गहरी सांस में सूंघा और
फिर होंठो के पास लेकर जबरदस्त वाला चुम्मा दिया
क्या खुशबू अा रही दोनो से
जबकि मॉम बाहर इतना घूम कर पसीने में आई थी

फिर भी पैंटी और ब्रा से मस्त और मादक करने वाली खुशबू अा रही थी

मैने रिक्वेस्ट वाला मुंह बनाकर मॉम से बोला "मॉम में भी चलू साथ में नहाने"

मॉम हल्की हंसी से बोली "नहीं मेरे राजा, बाथरूम में मुझे वो सब नहीं करना है जो तेरे पापा करते थे मेरे साथ"

फिर मॉम बाथरूम के दरवाजे तक पहुंची और कुछ सोच के रुक गई
फिर मेरे उदास चेहरे की और देखा

और बोली "कपडे खोल के अा जा"

यह सुनते ही, में मन ही मन झूम उठा
और मेरा लन्ड तो हाफ पैंट में टॉप फ्लोर पर पहुंच गया था
फिर मैने अपने कपड़े उतारे
और पूरा नंगा होकर मॉम के साथ
बाथरूम में चला गया
मॉम के बेडरूम का बाथरूम काफी बड़ा था
नहाने का टब लगा था
शॉवर भी लगा था
फिर मॉम ने टब में पानी भर दिया
और थोड़ा नहाने वाला लिक्वाइड साबुन की कुछ बूंदे टब में डाल दी
और एक महकदार शानदार परफ्यूम की कुछ कुछ बंदे भी डाल दी,
और मॉम टब में टांगे लंबी करके अपना सर बाहर रख कर लेट गई
और मुझे बोली "अा जा मेरे राजा"
फिर में भी टब में चला गया
बाथ टब बहुत बड़ा था दो लोग तो आराम से सो भी सकते थे
में मॉम के साथ ही बैठ गया
फिर मॉम बोली
"अच्छा हुआ तू नहाने साथ में अा गया मुझे अपनी कमर में साबुन से धोने में तकलीफ़ होती थी अब बेटे प्लीज़ तू मेरी कमर इस स्पॉन्ज से साफ कर दे"
ऐसा बोलकर मॉम ने पास ही पड़े एक शरीर साफ करने वाला एक सॉफ्ट स्पॉन्ज का पीस दे दिया और कमर मेरी तरफ करके बैठ गई
फिर मैने स्पॉन्ज से मॉम की कमर साफ करनी शुरू कर दी गले से लेकर कमर तक कर रहा था साबुन का पानी भी लगा रहा था
मॉम की गान्ड तो पानी के अंदर थी
मॉम की कमर के बारे में तो पहले भी बता चुका हूं
संगमरमर जैसी चिकनी और सफेद और गौरी थी मतलब चाटने का पूरा सामान थी
मुझे तो मज़ा आ ही रहा था
शायद मॉम को भी आराम सा महसूस हो रहा था
में धीरे धीरे साफ कर रहा था
फिर मैने मूड बनाने के लिए बातें शुरू कर दी
और कमर साफ करते करते मैने मॉम को एक फटाफट किस चुम्मा दे दिया
मॉम कुछ नहीं बोली

फिर
मैने बोला "मॉम यह रेशमा आंटी आपके साथ डॉक्टर के पास भी चली थी उन्हें आपके बूब्स के दर्द और लाल होने का पता है क्या"

मॉम बोली "नहीं बेटा वो तो मार्केट में मिली थी और में उसे ऐसी पर्सनल बातें, में नहीं बताती हूं"

मैने बोला "गुड मॉम"

और फिर दूसरे गाल पर एक और चुंबन कर दिया

मॉम कुछ नहीं बोली क्योंंकि
उनका तो फ़्री में सब शरीर मस्त साफ हो रहा था
मेरा लन्ड खड़ा और एक दम सीधा तना था
और मॉम के कमर के नीचे की अंग के बार बार टच कर रहा था
यह मॉम को महसूस हो रहा था
फिर मैने मॉम के कान की नीचे गर्दन पर एक kiss चुम्मा दे दिया
फिर दूसरे कान की नीचे गर्दन पत kiss चुम्बन दे दिया
मॉम को गरम कर रहा था
मॉम की कमर अच्छी तरह से मैने साफ कर दी थी
फिर मेरे से रहा नहीं गया
आखिर कंट्रोल की भी एक लिमिट होती है
मैने अपने पैर सीधे लेट ने जैसे कर दिए
और मॉम की कमर को अपना हाथ देकर
मॉम के शरीर को थोड़ा ऊपर उठा दिया और
मैने अपना शरीर मॉम के नीचे कर दिया
जैसे मॉम का बिस्तर बन गया
और अब मेरा लन्ड सीधा मॉम की चिकनी चूत में बिना मॉम की अनुमति के धड़ाम से चला गया
मॉम हल्के से ही बोली "उ ऊ ऊ आह आह आश"
मॉम के शरीर का वजन पूरे मेरे ऊपर था
और इस सैक्स की पोजिशन में शॉट मारने में तकलीफ़ हो रही थी
लन्ड जो मॉम की चूत में गया तो वापस अंदर बाहर करना नहीं हो पा रहा था
और मॉम को थोड़ा दर्द भी हों रहा होगा क्योंंकि करीब साढ़े 4 इंच का रोड उनकी कोमल मखमल चूत में बैठा था
तब मॉम ने भी थोड़ा सहयोग किया और वो मेरे ऊपर लेटे लेटे ही अपने हाथो को बाथ टब का साइड का सपोर्ट पकड़कर उपर नीचे होने लग गई
और मेरा लन्ड अब बराबर चूत में शॉट मारे जा रहा था
लेकिन यह ज्यादा देर नहीं हो सकता था
तक मैने करीब 10 शॉट मॉम की चूत में मारने के बाद बंद कर दिया
और में वापस मॉम के पीछे बैठ गया
फिर मॉम बोली
"बेटा यह पोजीशन टब में होना मुश्किल होता है अगर तेरा मन हो रहा था तो बोल देता ,में सीधा हो जाती और तू मेरे ऊपर लेटकर आराम से तेरा लन्ड मेरी चूत में डाल देता को, कोई बात नहीं, अभी में तुझे अपने हाथों से झड़ा देती हूं जिससे तेरी एक्साइटमेंट खत्म हो जाएगी"
मैने बोला "नहीं मॉम मुझे आपको भी संतुष्ट करना है"
फिर मैने टब के उपर वाला शॉवर चलु कर दिया
और मॉम को खड़ा कर दिया
अब शॉवर का पानी हम दोनों के उपर अा रहा था
में मॉम के आगे खड़ा हो गया
और खड़े खड़े ही मैने मॉम की एक टांग को टब की साइड की दीवार पर रख दी
अब मॉम की चूत चोड़ी हो गई
थी
मॉम के दोनो हाथो को मेरे कंधों पर रख दिया
और अब मेरे लन्ड को मॉम की चूत साफ दिख रही थी
अब मैने बिना देर किए अपने कड़क लन्ड
को मॉम की निर्दोष मखन मलाई का भंडार चूत में डालना शुरू किया
और शॉट मारना भी
मुझे पता था यह प्रोग्राम ज्यादा देर हो नहीं पायेगा क्योंंकि ना मेने टैबलेट ली और ना ही मॉम ने अपनी चूत पर स्प्रे लगाया है दोनो आज जल्दी ही झड़ेंगे
"आह आह आई" जैसी आवाज़ मॉम के मुंह एकदम धीमे धीमे निकल रही थी
लन्ड पूरा चूत में जा रहा था मॉम के चूत के दानों से टकरा रहा था
में अपने लन्ड से शॉट और झटके मॉम की चूत में मारे जा रहा था
मॉम भी सपोर्ट कर रही थी
मज़ा आ रहा था
और मेरे दोनो हाथ मॉम के मिल्क डेयरी
यानी बूब्स पर चले गए थे
में हल्का हल्का बूब्स को दबा रहा था
अपना मुंह बूब्स पर डालना चाहता था
लेकिन मेरा लन्ड मुझे उसकी अनुमति नहीं दे रहा था
या तो लन्ड मॉम की चूत में डाल सकता था या बूब्स अपने मुंह में,
दोनो एक साथ होना मुश्किल था
इसलिए मैने अपने हाथों से मॉम के बूब्स की निपल की दबाना ही सही समझा,

और करीब 4 मिनट में ,मेरे लन्ड ने सरेंडर कर दिया और मॉम की चूत में ही झड़ गया
और मेरा सारा वीर्य मॉम की चूत में चला गया
और थक के टब में बैठ गया
मॉम शायद अभी तक झड़ी नहीं
थी
और मॉम भी टब में आकर बैठ गई
में बोला "मॉम आपका अभी तक हुआ नहीं और मेरा सारा वीर्य आपके अंदर चला गया ,कोई समस्या तो नहीं होगी ना, मेरा मतलब आपकी प्रेगनेंसी से"
मॉम उदासी वाला मुंह बनाकर बोली " मुझे चलेगा बेटा मुझे कंट्रोल करना आता है और बात प्रेगनेंसी की है
तो वो तो मेरे ऊपर है जब में और तेरे पापा चाहेंगे तब प्रेगनेंट हो जाऊंगी
तब तक गर्भ निरोधक मेडिसिन लेती रहूंगी"

मैने बोला "गुड मॉम"
अब मुझे मॉम को खुश करने का एक तरीका दिमाग में आया,

फिर मैने मॉम को सीधा टब पर लेटा दिया
और अपनी हाथो की उंगलियां को मॉम की चूत में तेज गति से डालना शुरू कर दिया
और मॉम की आवाज़ थोड़ी तेज निकली
" उफ्फ आह आह आई"
शायद उंगलियां लन्ड से ज्यादा असर कर रही थी
फिर मैने अपने होंठो को मॉम के होंठो पर लगा दिए और रसपान करना शुरू कर दिया
मॉम की आवाज भी बंद हो गई
और उधर मेरी उंगलियां मॉम की चूत के अंदर दानों से खेल रही थी
और फिर कुछ ही मिनट में मेरी उंगलियां पूरी तरह से गीली हो गई थी
मतलब मॉम ने अपना पानी निकाल दिया मॉम
पूरी तरह से झड़ गई थी
फिर मैने उन्ही उंगलियों को मॉम के मुंह में डाल दी और मॉम ने उन उंगलियां बड़ी मस्ती से चाट लिया
और बोली
"थैक्स बेटा
मुझे अपना पानी पिलाने के लिए
मज़ा आ गया "

और मुझे लेटे लेटे अपनी बाहों में भर दिया
फिर हम दोनों ने टब में अच्छी तरह से नहाके
टॉवेल से शरीर को साफ करके,
बाथरूम से नंगे ही बाहर निकले और
बेडरूम में अा गए
और बेड पर नंगे ही लेट गए

आगे जारी है दोस्तो
Reply
06-29-2020, 04:39 PM,
#5
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
<मूड नहीं है>

नमस्कार दोस्तो,

में अर्जुन, लेकर आया हूं अपनी कहानी का अगला भाग,

<मूड नहीं है>


मॉम और में बाथरूम से निकल कर नंगे ही बेड पर लेट गए

मॉम "बेटा तू पूरा मैच्योर मर्द बन गया है
तेरे सैक्स पावर और सैक्स करने की स्टाइल देखकर कोई नहीं बोल सकता कि तू 18 साल का लड़का है"

"लेकिन बेटा तू हर वक़्त मेरे बारे में ही सोचता रहता है क्या" ?

" हर वक़्त अपनी मॉम के सेक्सी बदन और शारीरिक संबंध बनाने का ही सोचता रहता है क्या" ?

में थोड़ा उदास वाले स्वर में बोला
"नो"
"आई लव यू ए लोट मॉम,
में आपसे बहुत प्यार करता हूं
में आपका पूरा ध्यान रखना चाहता हूं
में आपको कैसे भी खुश रखना चाहता हूं"

मेरे यह जवाब सुनकर मॉम ने लेटे लेटे ही मुझे
अपनी और खींच लिया
और मुझे अपनी छाती से चिपका लिया
मेरा चेहरा मॉम के नंगे और चिकने कंधो पर था
और

बोली
"बेटा, आई लव यू टू,
लेकिन इस उम्र मे ज्यादा सेक्स करने से, आगे जाकर तेरे शरीर पर बुरा असर पड़ेगा
तेरे में शारीरिक क्षमता की कमजोरी और सैक्स की कमजोरी अा जाएगी और जब तेरी शादी होगी तब तू अपनी बीवी को पूरा सेक्सुअल संतुष्ट नहीं कर पाएगा"

में थोड़ा लाड़ वाले स्वर में बोला
"मॉम , में अब कोई शादी नहीं करने वाला हूं
में आपके साथ ही रहूंगा हमेशा,
और शादी करूंगा तो आपसे ही करूंगा
चाहे आप मुझसे 6 साल बड़ी क्यों ना हो"

मॉम हल्की हंसी से बोली "
हा हा अच्छा अपनी मॉम को अपनी बीवी बनाना चाहते हो, और तुम्हारे पापा का क्या,
छोड़ फालतू की बातें,"

मैने मॉम के होंठो पे ज़ोरदार किस किया और
बोला "मॉम यह कोई फालतू की बात नहीं है
में सीरियसली बोल रहा हूं, मेरी पढ़ाई पूरी हो जाएगी और में प्रोफेशनली सेट हो जाऊंगा तब हम दोनों शादी कर सकते है और अगर पापा को कुछ हो जाता भगवान ना करे या आपका और उनका तलाक हो जाता है तब भी हम दोनों शादी कर सकते है"

मॉम मुस्करा के मेरे गाल पर चूम कर बोली
"वाह बेटा जी इतनी आगे की प्लानिंग कर दी,
देखते है आगे क्या होता है लेकिन में तो ऐसे भी तेरी अनऑफिशियल बीवी तो बन गई हूं"

फिर मॉम पलंग से उठ गई और नंगी ही ड्रेसिंग टेबल के सामने बैठ कर अपने बाल बनाने लग गई और अपने मखन जैसे बदन पर क्रीम लगाने लग गई
और बोली "बेटा आज होटल से डिनर के लिए का कुछ हल्का खाना मंगवा ले, ऐसे भी भूख कम ही है और खाना बनाने का मेरा मूड नहीं है"

मैने होटल से खाना का ऑर्डर दिया और
टी शर्ट और हाफ पैंट पहन ली
तब तक मॉम ने भी अपने सेक्सी और हॉट बदन को एक सेक्सी गाउन से ढक लिया
फिर कुछ देर बाद होटल से खाना अा गया
और हम दोनों ने खाया ,फिर मॉम किचन में कुछ काम करने लग गई
और में मॉम के बेडरूम में अपने सारे कपड़े उतार कर पूरा नंगा होकर बेड पर लेट गया
फिर मॉम अपना काम निपटाकर आई

और बोली "कल तो रविवार है तेरे कॉलेज की छुट्टी है फिर कल आराम से बिस्तर से उठना"

में "हां मॉम"
फिर मॉम ने गाउन को उतार दिया
और नंगी ही बेड पर लेट गई
और उनकी नज़र मेरे लन्ड पर गई
जो खड़ा हुआ था

और मुस्करा के बोलीं "तेरे यह हर वक़्त खड़ा ही रहता है क्या,"

में "मॉम यह खाली आपको देख कर ही खड़ा होता हैं"

में बोला "मॉम आपका मूड हो तो कुछ करें ,
नहीं तो सो जाते है"

मॉम बोली " बेटा मूड नहीं है तू खाली मेरे बूब्स को थोड़ा चूस ले बस,"

और मॉम सीधा लेट गई
में बोला "नहीं मॉम आज कुछ नहीं करते है"

मॉम खुश होकर मुझे अपने मालदार , तरबूज दार सीने से चिपका दिया
और मेरे होंठो को अपने मुलायम गुलाबी होंठो के अंदर ले लिए और ज़ोरदार दमदार चुम्बन देने लग गई, और मेरे होंठो को चूसने लग गई

मेरा लन्ड जबरदस्त सीधा खड़ा था
और मॉम ने मुझे अपने बाहों में ज़ोरदार भींचा हुआ था इस कारण मेरा लन्ड मॉम की चूत के नीचे और मॉम की टांगो के बीच में फड़ फड़ा रहा था चूत मिल नहीं रही थी
चूत का दरवाजा मॉम ने खोला नहीं था
मॉम का, चूत की चुदाई का मूड नहीं था
लेकिन मेरे लिंग के खड़ेपन और कठोरपन को मॉम ने महसूस कर लिया था
तो मॉम ने लेटे लेटे ही बेड के बाजू की टेबल से टिश्यू पेपर के 4-5 पीस अपने हाथ में लिए
और मेरे लन्ड के आगे के टॉप पर रखकर अपने हाथ से मेरे लन्ड को ज़ोरदार भींचा और ज़ोरदार मसला , की दर्द के मारे मेरे मुंह से ज़ोरदार आवाज़ आई "आह मॉम उह"
और एक मिनट में मेरा सारा वीर्य टिश्यू पेपर पर चला गया
और मेरा साढ़े 4 इंच का कड़क कठोर लिंग 3 इंच का ढीला लिंग हो गया
मेरी पूरी वासना और सेक्स की उत्तेजना खत्म हो गई
और मॉम ने मेरे वीर्य से भरे टिश्यू पेपर को पास में पड़ी डस्ट बीन में डाल दिया
शायद मॉम को यह जल्दी वीर्य निकालना का तरीका आता होगा
इसमें इनका तो कुछ जाता नहीं है लेकिन जिस बेचारे का लन्ड की बजती है उसे ही दर्द का एहसास होता है
और बोली

"सॉरी बेटा तुझे थोड़ा दर्द हुआ होगा
लेकिन तू अब संतुष्ट हो गया, अब सो जा,
मुझे अब नींद अा रही है"

और ऐसा बोलकर मॉम अपने नंगे सेक्सी बदन पर चादर ओढ़कर एक साइड में सो गई
क्योंंकि एसी की वजह से रूम ठंडा बहुत हो गया था
और मुझे वास्तव में दर्द ज़ोरदार हो रहा था पांच मिनट तक दर्द से अंदर ही अंदर कहरा रहा था
फिर में भी एक साइड में अपने नंगे बदन पर चादर ओढ़कर सो गया
चुदाई का कार्यक्रम नहीं हो सका था
क्योंंकि मॉम को नाराज़ करके
में चुदाई नहीं करना चाहता था
इसलिए मेरे खड़े लिंग को मॉम ने अपनी इस कलाकारी से शांत कर दिया था

फिर अगली सुबह,
रात को जल्दी सोने के कारण,
मेरी नींद जल्दी खुल गई
और में जल्दी बेड से उठ गया
मैने देखा मॉम बेड पर नहीं थी
फिर मैने अंडरवियर,हाफ पैंट और टी शर्ट पहनकर कमरे से बाहर निकला
मैने देखा कि मॉम हमारे घर के मिनी जिम वाले रूम में योगा और एक्सरसाइज कर रही है
पहले तो मॉम रूम अंदर से लॉक करके एक्सरसाइज और योगा करती है
लेकिन आज रूम खुला था
मॉम बहुत छोटे कपड़ों में योगा और कसरत करती थी
और अभी मॉम को मुझसे अपने सेक्सी और मादक शरीर को छिपाने की कोई जरूरत नहीं थी क्योंंकि मॉम तो नंगा तो में रोज देख ही रहा था और मॉम
मेरी अनऑफिशियल बीवी जो बन गई थी
मैने कमरे के बाहर से देखने लग गया
मॉम टु पीस में थी
मॉम ने सफेद कलर की स्पोर्ट्स ब्रा पहन रखी थी और सफेद रंग कि स्पोर्ट्स पैंटी पहन रखी थी
में बाहर से देख रहा था
मॉम जैसे एक्सरसाइज कर रही थी
उनकी छाती के दो बड़े बड़े नारियल कहों या बड़े बड़े तरबूज जैसे बूब्स उपर नीचे झूल रहे थे बाउंस हो रहे थे और मॉम की मस्त, गोल गान्ड भी दाए बाए हो रही थी
पीछे गान्ड में पैंटी पूरी घुसी हुई थी
मेरा नीचे का लौड़ा अपने मूड में अा गया था
इतना मस्त और मादक दृश्य था
की में बयां नहीं कर सकता था
मॉम इन छोटे कपड़ों में बहुत ज्यादा सेक्सी और हॉट दिख रही थी इतना तो हॉट और सेक्सी तब भी नजर नहीं आती थी जब वो पूरी नंगी होती थी

और ब्रा में फंसे हुए बूब्स,एकदम टाइट दिख रहे थे
और गोल मटोल ,चोड़ी मोटी गान्ड टाईट पैंटी में एकदम चिपकी हुई थी
मॉम का मालूम नहीं था
की में उन्हें कमरे के बाहर से चुपके से देख रहा हूं

दोस्तो आगे की घटना बहुत रोमांचक और वासना से भरी हुई है
आगे की कहानी जल्दी है पोस्ट करूंगा
धन्यवाद
Reply
06-29-2020, 04:39 PM,
#6
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास
,

मॉम की स्पोर्ट्स ब्रा टी-शर्ट में फंसे हुए बूब्स,बाहर से एकदम टाइट और सुडौल दिख रहे थे एकदम सीधे नुकीले थे में अपनी पैंट और शर्ट , इन तीखे नुकीले और लंबे स्तनों पर टांग सकता था
और कोई भी छोटा बच्चा जो 5-7 साल का हो,
वो इन तरबूज रूपी बूब्स को अपने हाथों से पकड़कर झूले का आनंद, आराम से ले सकता था वो आराम से उपर नीचे हो सकता है
और गोल मटोल ,चोड़ी मोटी गान्ड टाईट पैंटी में एकदम चिपकी हुई थी मॉम की चूत वाले हिस्से में पैंटी एकदम टाइट फिट थी मॉम की चूत पर
चिपकी हुई थी
मॉम की चूत भी एकदम टाइट और फिट थी
और मॉम की चूत में जाने वाले रास्ते का दरवाजा भी पैक ही रहता था
मॉम की इच्छा पर ही चूत का दरवाजा खुल सकता था
मॉम ने अपनी चूत को बहुत मेंटेन कर रखा था इसलिए चूत के उपर स्पोर्ट्स पैंटी भी एक दम टाइट थी
मॉम की दूध जैसी गौरी और पतली कमर तो
मादकता फेला रही थी
मस्त चिकनी और मलाई दार थी
अगर पानी की बूंदे कमर के ऊपर के हिस्से से डाले तो वो सीधी बिना रुके नीचे की और जाएगी
और नीचे मॉम की बड़ी गोल गान्ड जैसे स्पीड ब्रेकर पर आकर ही रुक जाएगी या मॉम के पैंटी से होते हुए गान्ड के छेद के ऊपर से होते हुए,जांघो से निकल जाएगी,

कमाल का फिगर था मॉम का,
बोलते बोलते ही नीचे का पानी निकल जाता है
कमरे में एयर कंडीशनर चल रहा था
योगा और एक्सरसाइज की वजह से मॉम
को हल्का पसीना भी अा रहा था
मॉम के लंबे घने काले सेक्सी बाल जिसमे गोल्डन कलर की लाइनिंग की हुए थी एकदम टाईट खिंचे हुए थे
और गुलदस्ते के तरह खड़े हुए थे
और जिस पर मॉम ने एक बड़ा क्लिप लगाकर उन्हें लॉक कर दिया था
जैसे एयर होस्टेज अपने बालों को करती है वैसे ही,मॉम ने भी अपने बालों को बना रखा था
जिससे उन्हें योगा और एक्सरसाइज करते समय बाल तकलीफ़ ना दे और बार चेहरे पर नहीं आए,

में थोड़े ही दूर से मॉम के अर्धनग्न बदन के जलवे चुपके से देख रहा था
लेकिन मुझे साफ साफ दिखाई दे रहा था

दोस्तो मैने पहले आप लोगो को बताया था
की मॉम के बूब्स,गान्ड,चूत और मॉम का पूरा शरीर ,इतना सेक्सी, हॉट और फीट और कोमल, इसलिए है क्योंकि मॉम नियमित रूप से योगा और एक्सरसाइज करती रहती है
और अपने सेक्सी हॉट लुक्स की मेंटेन करके रखती है

मॉम का मालूम नहीं था
की में उन्हें कमरे के बाहर से चुपके से देख रहा हूं
मॉम की चिकनी नंगी और दूध जैसी सफेद नंगी जांघो, को कोई देख ले तो उसका तो अंडरवियर में ही सफेद माल निकल जाएगा,
में अपने आप को कंट्रोल कर रहा था
मॉम का मलाई मखन जैसा चिकना पेट और उसमे सेक्सी भूरे कलर की नाभि गजब ढा रही थी
मन हो रहा था मॉम के पेट को अपनी जीभ से चाटता ही रहूं
और गौरी गौरी और पतली मॉम की टांगे
जो पूरी तरह से वैक्सिंग की हुई थी
एक भी बाल नजर नहीं अा रहा था

मेरा लन्ड तो खड़ा तो था वो भी एकदम धनुष के तीर के जैसा जो सीधा छूटने को तेयार था
में किसी तरह अपने हाथों से लन्ड को नीचे बैठाया, क्योंंकि अब मुझे अब मॉम के एक्सरसाइज वाले रूम में जाना था
में कमरे में गया और
मॉम को देखकर बोला

"गुड मॉर्निंग मॉम"

मॉम ने मेरे को देखा और थोड़ी आश्चर्यचकित वाले भाव में बोली "गुड मॉर्निंग बेटा,
आज जल्दी उठ गया"

मॉम की एक्सरसाइज चालू थी

में बोला "हां मॉम,जल्दी नींद खुल गई तो में उठ गया, लेकिन मॉम आपका यह योगा और एक्सरसाइज वाला हॉट और सेक्सी रूप तो मैने आज पहली बार देखा"

मॉम "बेटा पहले में यह रूम बंद करके एक्सरसाइज करती थी क्योंंकि में, एक्सरसाइज और योगा करते समय बहुत छोटे कपडे पहनती हूं और ऐसे भी तू देरी से ही उठता है और तू मुझे इन छोटे कपड़ों में देख ना ले इसलिए में रूम को अंदर से लॉक कर देती थी
और अब मेरा एक एक अंग तुझसे कुछ छुपा तो है नहीं
इसलिए रूम का दरवाजा खोल कर ही एक्सरसाइज और योगा करती हूं"

में "तभी तो मॉम आप इतनी फिट और सेक्सी हो और अपना फिगर मेंटेन कर रखा है"

मॉम "तू भी रेगुलर एक्सरसाइज किया कर, ऐसे तो तू फिट ही है तेरे पापा तो रोज एक्सरसाइज करते थे"

में "मॉम, में शाम को कभी कभी ,थोड़ा बहुत ट्रेड मिल और साइकिलिंग वाली एक्सरसाइज करता हूं आगे से कोशिश करूंगा कि रोज एक्सरसाइज करू,"

मॉम से बातें भी हो रही थी
और मॉम की एक्सरसाइज भी चल रही थी

में साइड में पड़ी एक चेयर पर बैठ गया और मॉम को एक्सरसाइज करते हुए देखना लगा,
मॉम की एक्सरसाइज चालू थी

मेरे दिमाग में कुछ शरारत अा रही थी

जो हसबैंड लोग अपनी सेक्सी बीवियों के साथ करते रहते है

क्योंंकि मॉम तो मेरी अनऑफिशियल बीवी ही थी यह बात तो मॉम ने ही कहीं थी

और पिछली रात को मॉम ने मेरे लिंग को जिस बेरहमी से दबाया था और मेरे लन्ड से वीर्य नीकाला था
उसका भी प्यार वाला बदला लेना था

में ऐसा कुछ करना चाहता था जिससे मॉम नाराज़ भी ना हो, उल्टा खुश हो जाए और मेरा भी काम हो जाए
इसलिए में एक्सरसाइज के समय सैक्स करने के साइड इफेक्ट के बारे में पता करना चाहता था जिससे मॉम की हैल्थ पर कुछ बुरा असर नहीं हो,

मैने बोला "मॉम, जब पापा और आप दोनो साथ में एक्सरसाइज करते थे तब भी पापा का सेक्स वाला काम चालू रहता था क्या ?
और योगा और कसरत के समय, सैक्स करना सही है या गलत" ?

मॉम हल्की मुस्कराहट के साथ बोली " बेटा तेरे पापा तो खुले हुए घोड़े है भला उनका वो काम कभी रुक सकता था क्या,
वो तो इस जिम वाले रूम में एक्सरसाइज करते वक़्त भी, ज्यादातर समय ,मेरे साथ सब करते थे
और एक्सरसाइज के समय सैक्स करना गलत नहीं है और ना ही कोई हैल्थ पर साइड इफैक्ट होता है"

यह सुनकर मेरे चेहरे पर वासना भरी मुस्कराहट आई
और मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया था

अभी मेरे कंट्रोल की लिमिट खत्म हो चुकी थी

Reply
06-29-2020, 04:40 PM,
#7
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास


नमस्कार दोस्तो,

में अर्जुन, लेकर आया हूं अपनी कहानी का अगला भाग,

तो दोस्तो मेरा कंट्रोल की लिमिट खत्म हो रही थी
और शायद मॉम की एक्सरसाइज और योगा का समय भी समाप्ति की और था
और मुझे मॉम के योगा खत्म होने के पहले ही मॉम के सेक्सी अंगो से छेड़छाड़ करनी थी

मॉम खड़े खड़े कोई योगा का आसान कर रही थी
और इस पोजिशन में उनकी पीठ मेरी तरफ थी
मतलब वो मुझे देख नहीं पा रही थी

मैने जल्दी से अपना टीशर्ट और हाफ पैंट उतार दी,और अंडरवियर भी उतार दी,
अब में पूरा नंगा था
मेरा लन्ड खड़ा हो चुका था
आगे की चमड़ी पीछे हो गई थी
और अंदर का सामान थोड़ा बाहर अा चुका था
और में चुपके से ,मॉम की कमर के पीछे खड़ा हो गया,
मॉम तो योगा में व्यस्त थी और उनका ध्यान भी योगा कसरत में ही था
उन्हें मालूम नहीं चला कि में उनके पीछे खड़ा हूं,

मैने जल्दी से मॉम की कमर से हाथ डालते हुए उनके छाती पर लगे दो बड़े तरबूज रूपी स्तनों
को ब्रा के ऊपर से ज़ोरदार पकड़ दिया
और मेरा लन्ड मॉम की पैंटी के गान्ड के छेद वाले हिस्से पर टच कर दिया।

फिर मैने बड़ी ताकत से मॉम के बूब्स को स्पोर्ट्स टीशर्ट ब्रा के ऊपर से दबाने लग गया

दोस्तो जैसे आपको मालूम है कि
मॉम के बूब्स बहुत बड़े थे
और मेरे छोटे हाथों में मॉम के बूब्स नहीं अा पा रहे थे
ऐसे तो में मॉम के बड़े और तगड़े बूब्स का बड़ा दीवाना था

लेकिन कभी कभी में सोचता हूं
यह तरबूज रूपी बूब्स थोड़े छोटे होते तो और मजा आ जाता और मॉम के बूब्स मेरे हाथों में समा सकते थे और में मज़े से दबा और भींच सकता था
इसकी वजह से में तो मॉम के बूब्स के निप्पल वाले हिस्से में ज़ोरदार दबाना शुरू कर दिया था
और पीछे मेरे लन्ड मॉम की पैंटी पर टच कर रगड़े जा रहा था

मॉम को मेरी यह अचानक वाली हरकत से थोड़ी कांप गई गई थी

मॉम दुखी स्वर में बोली " अरीई एरिए"
बेटा,
धीरे धीरे दबा, तू सब सरप्राइज में क्यों करता है, पहले बोल देता ना, दर्द हो रहा है"

में बोला "बोलकर सेक्स करने में मज़ा नहीं आता मॉम, सरप्राईज में ही मज़ा आता है, आप शांत रहिए, मुझ पर भरोसा रखिए,
में आपका अनऑफिशियल हसबैंड,
आपको पूरा एंजॉयमेंट और पति वाला सुख दूंगा "

और मेरा कार्यक्रम चालू था

में मॉम की कुछ सुनने वाला थोड़ा ही था
मैने मॉम के नारियल साइज के बूब्स को ज़ोरदार मसल रहा था
और पीछे से मैने अपने होंठो को, मॉम के कान, कान के पीछे वाले हिस्से को और गर्दन को चूमना और चाटना शुरू कर दिया और अपने दांतो से हल्के से और वासना वाले अंदाज में कानों को और गले वाले गोरे और सफेद अंगों को कांटे जा रहा था

मॉम को हल्का दर्द तो हो ही रहा था लेकिन इस हरकत से,
में मॉम को गरम करना चाह रहा था
उनको उत्तेजित करना चाह रहा था
मॉम की तो बोलती बंद थी
क्योंंकि एक तो वो एक्सरसाइज और योगा करके थकी हुई थी उनमें मुझे रोकने की ताकत नहीं थी
मॉम अपने हाथो से मेरे दोनो हाथो को रोकने की कोशिश कर रही थी
जो मेरे हाथ मॉम के दूध की दो बड़ी डेयरियों को दबा रहे थे लेकिन मॉम की कोशिश नाकाम ही हो रही थी
मैने अपने एक हाथ से मॉम के सेक्सी, खुशबूदार,महकदार और हॉट बालों से क्लिप को हटा दिया और बालों को पूरा खोल दिया,

बाल पूरे लंबे हो गए और मॉम के बाल उनकी कमर से लेकर गोरी और चोड़ी गान्ड तक खुल गए
जैसी मॉम सेक्सी थी वैसे ही उनके बाल भी सेक्सी थे

मेरा लन्ड खड़ा था मॉम के गान्ड के छेद के ऊपर पहनी पैंटी के हिस्से पर,
रगड़े जा रहा था

मुझे डर था मेरा लन्ड कहीं पैंटी और गान्ड से टच और रगड़े जाने के कारण कहीं जल्दी पानी नहीं निकाल दे

और मॉम को भी महसूस हो रहा था मेरे लन्ड के खड़ेपन और उत्तेजना का, और वो जल्दी से मुझे झड़ाना चाहती थी

इसलिए मॉम अपनी गान्ड को जानबूझकर पीछे के और धकेल रही थी जिससे मेरा लन्ड मॉम की गान्ड से बार बार धक्के लगने से झड़ कर वीर्य निकाल दे,

और मॉम को दर्द से राहत मिल जाएं,

लेकिन में मॉम की यह स्टाईल को सफल नहीं होने देना चाहता था

में मस्त चुदाई और बूब्स चूसाईं के मूड में था

अब मैने अपना एक हाथ मॉम के एक बूब्स से हटाकर मॉम की चूत के उपर पैंटी वाले हिस्से में रख दिया

और अपने एक हाथ की 2 उंगलियों को पैंटी के साथ ही मॉम की चूत में डालना शुरू कर दिया
मॉम का खड़ा यानी चूत तो एक दम टाइट थी ही,
साथ में मॉम की स्पोर्ट्स पैंटी भी एकदम टाइट और फिट थी

में मॉम की चूत में उंगलियां घुसाने की कोशिश कर रहा था लेकिन टाईट मॉम की चड्डी के कारण उंगलियां पूरी चूत के अंदर नहीं घुस पा रही थी
फिर मैने अपने एक हाथ की हथेलियों और उंगलियों से मॉम के चूत के बाहर वाले अंग को ज़ोर दार भींचना, दबाना शुरू कर दिया
जिससे मॉम की चूत का दरवाजा खुल जाए
और मॉम को दर्द होने के साथ मॉम भी गरम हो जाए,
और मेरा दूसरा हाथ मॉम के एक स्तन को दबाएं जा रहा था
और मेरे सख्त होंठ मॉम की गौरी और मलाई दार गले को और कानों को चाट रहे थे और दांतो से हल्के हल्के काटे जा रहे थे

और मेरा सख्त कठोर लिंग मॉम के मस्त और भरी हुई गान्ड के हिस्से पर रगड़े जा रहा था

मतलब मेरे सारे अंगो ने मॉम के सारे सेक्सी, हॉट और चिकने अंगो को अपने जाल में फसा रखा था

मॉम की आवाज़ चालू हुई

मॉम "आह आह आह अा बेटा दर्द हो रहा है"

में तो तेज और फास्ट स्पीड में चालू था
मुझमें बहुत एनर्जी थी
लेकिन मॉम एक्सरसाइज के वजह से थकी हुई थी

मॉम की शायद सैक्स करने की इच्छा नहीं
थी लेकिन मेरी सेक्स करने की इच्छा थी
मै चूत को ज़ोरदार मसल रहा था
साथ में उंगली भी चूत डालने की कोशश कर रहा था
पूरी तरह वासना का माहौल बन चुका था
अभी तक मॉम को में ब्रा और पैंटी के ऊपर से ही दबा रहा था

में अब मॉम की स्पोर्ट्स चड्डी और स्पोर्ट्स ब्रा
को उतारकर चुदाई का सोच रहा था

में सोचता था कि मैने बहुत सारी पोर्न और सेक्स मूवीज देखी है और बहुत सारी सैक्स की जानकारी इंटरनेट से ले रखी थी
और में खुद को सैक्स करने का एक्सपर्ट समझने लग गया था
एक तरह से में खुद को पोर्न मूवीज का हीरो की तरह समझता था
और मॉम को एक अबला औरत समझता था

लेकिन मॉम तो मॉम ही थी
वो इन सैक्स के मामलों में मुझसे बहुत ज्यादा अनुभवी थी
उसे ऐसी स्थति से निपटना आता था
और थकी हुई तो थी
लेकिन मेंटली स्ट्रॉन्ग थी

अचानक मॉम ने अपना हाथ अपनी कमर के पीछे कर दिया
और जल्दी से मेरे लन्ड को आगे से पकड़ दिया
अचानक पकड़ने और ज़ोर से पकड़ने से मुझे
दर्द हुआ

में बोला " मो मो मॉम मो म म हह नो नो प्लीज़"

और दर्द के कारण मेरे दोनो हाथ मॉम के बोबे से और मॉम की चूत से हट गए
और मेरी सारी ताकत का ध्यान अब मेरे लिंग के दर्द पर चले गए,

और अब मॉम मेरे चुंगल से आज़ाद हो गई थी
अब मॉम पीछे घूम गई
अब मॉम के आगे का हिस्सा मतलब चूत और चेहरे वाला हिस्सा मेरे सामने था

अब मॉम ने अपना दूसरा हाथ मेरे लन्ड के नीचे की दोनो अंडाशय यानी बॉल पर रख दिया
एक हाथ से मॉम मेरे लन्ड को ज़ोरदार और तेजधार भींच दबा रही थी
और दूसरे हाथ से मेरे दोनो बॉल को पकड़कर दबा - दबा कर छोड़ रही थी
मेरे बुरा हाल था
मेरी आंखों में दर्द के थोड़े आंसू अा गए थे
में कराह रहा था,

"मॉम आह आउच प्लीज छोड़ो छोड़ो ,दर्द हो रहा है "

मैने मॉम का चेहरा देखा तो अब वो कातिलाना अंदाज़ में मुस्करा रही थी

मॉम बोली
" मेरे अनऑफिशियल पतिदेव ,आप शांत रहिये, आपकी यह अनऑफिशियल वाइफ आपको खुश कर देगी और सैक्स का मज़ा तो सरप्राइज और दर्द देकर ही आता है"

मेरा डायलॉग मेरे ऊपर ही मॉम ने दे मारा

मेरे दर्द का मॉम पर कुछ असर हो नहीं रहा था
और 2 मिनट के अंदर ही मेरा वीर्य निकल गया
इस बार वीर्य की मात्रा थोड़ी कम थी मेरा लिंग वापस अपने असली रूप में अा गया
मतलब छोटा हो गया था
वीर्य रूम के फ्लोर पर गिर गया था
थोड़ा मॉम के हाथ में लग गया था
और मेरा निर्दोष लन्ड और मेरी दोनो अबला बॉल, मॉम के कातिल हाथ से आज़ाद हो गए थे
और दर्द तो अभी मुझे हो ही रहा था

में फ्लोर पर लेट गया
और चेन की सांस तेज तेज लेना लगा

मॉम खड़ी थी
और मुझे नीचे देखकर मुस्करा के बोली
" अच्छा बेटा में अपने रूम में नहाने जा रही हूं फिर मुझे पूजा भी करनी है,तू ईधर ही थोड़ा आराम करले , फिर आराम के बाद यह फ्लोर पर गिरे वीर्य को कपडे से साफ कर देना,
कामवाली आएगी तो फालतू में दो बातें पूछेगी"
और बाद ने तू भी नहा लेना"

मैने लेटे लेटे ही दुखी स्वर में जवाब दिया
"ओके मॉम"

में मॉम से यह सारे सवाल पूछना चाहता था कि

"मॉम चुदाई क्यों नहीं करवा रही है" ?

और मेरे लन्ड को इतना दर्द क्यों दे रही" ?

और आज मेरे बॉल को क्यों दबा रही थी"?

लेकिन दर्द के मेरे मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी

एक तो मॉम ने इतना मेरे लिंग और बॉल को दर्द दिया ही था
साथ में चुदाई भी नहीं करने दिया था
और अब जाते जाते और दर्द दे गई ,

मॉम ने अपनी ब्रा और पैंटी मेरे सामने उतार दी
मॉम अब नंगी थी
वो ही तरबूज बूब्स और मखन चूत और गोल मटोल गान्ड मेरे सामने थी
मॉम ने अपनी गीली चड्डी और गीली ब्रा को मेरे मुंह के ऊपर फ़ेंक दिया
पसीने के कारण ब्रा पैंटी थोड़े गीले हो गए थे

मॉम बोली " बेटा ,इन कपड़ो को बाद में वासिंग मशीन में डाल देना ,कामवाली आएगी तब इनको भी साथ में धो देगी" तब तक तू चाहे तो इनके साथ एन्जॉय कर सकता है"

और मॉम हंसते हुए अपने सेक्सी और कातिलाना नंगे बदन को लेकर कमरे से बाहर चली गई
में दर्द के कारण फ्लोर पर ही लेटा था
मेरी सारी उत्तेजना और वासना तो खत्म हो चुकी थी और अब
में पैंटी और ब्रा के साथ क्या करू
फिर भी मैने पैंटी और ब्रा को अपने मुंह और होंठो पर रख दिया
खुशबू तो कमाल की थी
मॉम इतने पसीने से भरी थी
फिर भी मॉम की चड्डी और ब्रा
में मादक मोहक सेक्सी और वासना से भरी महक अा रही थी
में थोड़ी देर उस रूम में ही फ्लोर पर लेटा रहा
चड्डी और ब्रा के साथ,

फिर बाद में मैने टिश्यू पेपर से गिरे हुए वीर्य को साफ कर दिया
और मॉम की ब्रा पैंटी को कपडे धोने वाले कपड़ो के साथ रख दिया
और अपने रूम में जाकर नहाने लगा,

कहानी जारी है दोस्तो
आगे का हिस्सा और किस्सा जल्दी ही पोस्ट करूंगा
Reply
06-29-2020, 04:43 PM,
#8
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास


हेल्लो दोस्तो,

में अर्जुन, पेश कर रहा हूं मेरी कहानी का
अगला हिस्सा,

फिर में अपने रूम में नहाने चला गया
थोड़ी देर बाद में नहाकर ,अंडर वियर और उसके ऊपर हाफ पैंट पहनी और टी शर्ट पहन लिए, और जैसे कि उस दिन रविवार था तो कॉलेज की छुट्टी थी
फिर में कमरे से बाहर अा गया,

मैने देखा मॉम स्नान करके ,साड़ी ब्लाउज, पेटीकोट पहनकर तैयार हो चुकी थी
और पूजा भी कर चुकी थी
अब वो किचन में काम कर रही थी
मॉम ने पिंक कलर की साड़ी पहनी थी
और ब्लाउस और पेटीकोट भी पिंक कलर के मैचिंग के ही पहनी थी

जैसे रोज पहनती थी
वैसे ही टाइट पेटीकोट और टाइट ब्लाउस में थी
पीछे का पोर्शन गान्ड तो बाहर आई हुई थी
और आगे का पोर्शन में दो बड़े स्तन बाहर निकले थे
मॉम सेक्सी और हॉट तो थी ही, और साथ में
अच्छा सा मेकअप किया हुआ था
और बाल भी अच्छे से बनाए हुए थे खूबसूरती के देवी लग रही थी
जैसे मॉम रोज दिखती है वैसे ही आज भी दिख रही थी
एकदम संस्कारी औरत के रूप में मॉम नजर आ रही थी

मेरा मन और दिमाग तो यह बोल रहा था
किचन में जाकर मॉम की गान्ड और बूब्स को ज़ोरदार दबा दू, और गुलाबी नर्म होंठो का रस निकाल दू, जिससे मॉम दर्द से तड़प जाए और वासना और उत्तेजना से भर जाए और गरम होकर अपनी चुदाई की अनुमति दे दे,

लेकिन मेरी सेक्स की वासना और उत्तेजना तो पहले से खत्म हो चुकी थी
और अब में यह सब करके मॉम को गुस्से नहीं दिलाना चाहता था

में किचन में गया और मॉम ने मुझे देखकर

बोली "तैयार हो गया बेटा"

और ऐसे बोलकर मॉम ने मेरे होंठ पर अपने गुलाबी मीठे होंठो से एक मां की ममता वाला चुम्मा दे दिया जैसा वो रोज मुझे प्यार से देती थी
मैने भी इस चुम्मे में उनका साथ दिया,

फिर मैने बोला "मॉम क्या बना रही हो"

मॉम "बेटे तेरे पसंद के आलू के परांठे बना रही हूं"

में खुश होकर "वाउ मॉम, ग्रेट, मज़ा आ जाएगा थैंक्स, मेरे फेवरेट आलू के पराठे"

ऐसे बोलकर मैने मॉम के चिकने और दूध जैसे सफेद और बिना कोई दाग वाले गाल पर थैंक्स वाला चुम्बन कर दिया

मॉम पराठे बना रही थी

मैने बोला "मॉम, यह जो आपने कल रात और आज सुबह , मेरे लिंग के साथ जो किया ,वो आप पापा के साथ भी करती हो क्या ?

"और यह मेरे नाजुक बॉल को आपने दबाए थे और इससे मेरी हैल्थ पर असर पड़ सकता है क्या" ?

मॉम ने मेरी तरह देखा और मुस्कुरा के बोली

"पहले तो बता दू तुझे की ,इससे किसी भी तरह का कोई भी साइड इफेक्ट या बुरा असर नहीं पड़ेगा
तेरी हैल्थ पर, उल्टा तेरी शारीरिक क्षमता और बड़ जाएगी और तेरे दोनो बॉल्स को मैने खाली धीरे और हल्का ही दबाए थे
और इससे तेरे बॉल्स के भी साइज भी बड़ जाएंगे, क्योंंकि तू अभी अभी जवान हो रहा है और तू ज्यादा देर सैक्स कर सकेगा"

"और दूसरा में ,यह तेरे पापा के साथ कभी कभी करती थी जब उनकी एक्साइटमेंट और उत्तेजना हद से ज्यादा हो जाती थी और वो जंगली बन जाते थे और मुझे दर्द देने लग जाते थे और मेरे अंगो को नुकसान पहुंचाने लग जाते थे और मेरी इच्छा सैक्स करने की नहीं होती तब मेरा सब्र टूट जाता था और में ऐसा कर देती थी"

में बोला "ओके मॉम, में आगे से इस पर ध्यान रखूंगा "

मॉम " कोई बात नहीं बेटे, सब चलता है,"

"अच्छा नास्ता रेडी हो गया है तू डायनिंग रूम में जा, में नाश्ता लेकर आती हूं"

में डायनिंग रूम में टेबल पर बैठ
गया और मॉम ने नाश्ता लगा लिया
जितनी मॉम खूबसूरत और सेक्सी थी
वैसी ही मॉम खाना बनाने में भी एक्सपर्ट थी
गजब और लाजवाब नाश्ता बनाया था

फिर हम दोनों ने नाश्ता खाया,
फिर कुछ देर बाद नाश्ता खत्म करके मॉम किचन के काम व्यस्त हो गईं और में ड्रॉइंग हॉल में अपने कॉलेज का होम वर्क में बिजी हो गया,
फिर कुछ देर बाद मॉम भी ड्रॉइंग रूम में अा गई और बड़े वाले सोफे पर बैठ कर बोली

"बेटा, अभी थोड़ी देर में कामवाली आएगी, और उसके सामने तू मेरे से, मां बेटे जैसे रिश्ते जैसे ही पेश आना कोई गलत हरकत मत कर लेना
जिससे तेरे और मेरे बीच के सैक्स के रिश्ते को उसे मालूम चले और वो फिर पूरी सोसायटी में यह बात वाइरल कर देगी"

में मुस्करा के बोला "डोंट वरी मॉम, में यह सब समझता हूं आप मुझ पर भरोसा रखिए,उसे बिल्कुल भी शक नहीं होगा"

मॉम मुस्करा के बोल
"गुड"

और फिर मॉम अपने मोबाइल में बिजी हो गई
और में अपने पढ़ाई में,

दोस्तो अब में आपको हमारे यहां काम करने वाली नौकरानी के बारे में कुछ बताता हूं,

हमारी कामवाली का नाम स्नेहा है
वो उम्र में करीब 28 साल के आस पास होगी
शादीशुदा है, दो बच्चों की मां है
दिखने में ठीक ठाक है कुछ ख़ास नहीं है

ऐसे मैने कभी उसको ऐसी नज़र से देखा ही नहीं ,

मीडियम गोरे रंग की है थोड़ी से मोटी है
ज्यादा मोटी नहीं है उसके स्तनों को देखना का तो मौका कभी मिला नहीं है लेकिन ब्लाउस और टाईट कुर्ती से पता चल जाता था कि साइज में उसके बूब्स ज्यादा बड़े नहीं थे
नारंगी या सेब के आकार के होंगे,

और गान्ड भी ठीक ठाक ही थी
पेटीकोट और सलवार से जितना उसका पिछ्वाड़ा देख सका था उस हिसाब से
गान्ड मीडियम साइज की ही थी
वो कभी साड़ी पहनती थी तो कभी सलवार सूट पहनती थी

मेरा उससे मुलाकात रविवार या कॉलेज की छुट्टी के दिनों में ही होती थी,

है तो वो कामवाली,लेकिन रहती थी एकदम लल्लन टॉप लुक्स में,
क्योंंकि मैकअप पूरा करती थी अपने चेहरे पे,
और कपडे भी ठीक ठाक अच्छे ही पहनती थी
टाइट फिटिंग के कपडे ही पहनती थी

में जब रोज कॉलेज चला जाता हूं उसके कुछ देर बाद ,वो हमारे घर पर आती थी
और करीब 2-3 घंटे हमारे घर पर ही काम करती थी, किचन बर्तन, झाड़ू, पोछा, बाथरूम,और कपडे वाशिंग मशीन में धोना, जैसे घर के सारे काम वो ही करती थी

मॉम की उससे अच्छी बनती थी और मॉम की बहुत रेस्पेक्ट करती थी
मॉम को वो दीदी कहकर ही बुलाती थी

अभी मॉम मोबाइल में बिजी थी और में पढ़ाई करने में, मेरा कॉलेज का होम वर्क पूरा हो गया तो फिर में भी अपने मोबाइल में लग गया
मैने मॉम की और देखा , फिर उनकी छाती पर बूब्स वाले हिस्से को देखा, जो मॉम ने टाइट ब्लाउस से ढक रखा था और उस पर साड़ी का पल्लू डाल रखा था लेकिन बूब्स इतने बड़े थे कि बाहर से कोई भी देख सकता था

मॉम सोफे पर बैठी थी और मोबाइल में शायद अपने दोस्तो के साथ चैटिंग कर रही थी
चेहरे से मॉम का मूड अच्छा लग रहा था

मैने सोचा अभी स्नेहा कामवाली का आने में समय है तब तक मॉम को थोड़ा छेड़ लेता हूं
टाइम पास भी हो जाएगा,

मैने मॉम को बोला
"मॉम आप मोबाइल में बहुत व्यस्त हो ,मेरा होम वर्क पूरा हो चुका है में अभी बोर हो रहा हूं चलो कुछ गप्पे मारते है"

मॉम मोबाइल में चैटिंग करते हुए
बोली "बेटा मेरा अभी कुछ जरूरी काम चल रहा है ,थोड़ी देर रुक जा ,बाद में गप्पे मारेंगे"

में थोड़ा उदास हो गया, मॉम कुछ भाव ही नहीं दे रही है मुझे, मैने सोचा कुछ दूसरी तरकीब लगाता हूं,

में मॉम के पास जाकर बड़े वाले सोफे पर बैठ गया
और थोड़ा उदासी और रोने वाले स्वर में बोला

" मॉम आपकी मेरी कुछ फिक्र ही नहीं है, आप मुझसे प्यार ही नहीं करती हो"

मॉम ने मेरे रोने जैसे चेहरे को देखा
और मुस्करा के बोली

" अरे मेरे राजा बेटा ,तू रोने लग गया,देख मॉम को मोबाइल पर थोड़ा जरूरी काम है,
तू एक काम कर मेरी गोद में अपना सर रख कर सोफे पे लेट जा"

सोफ़ा तीन सीट वाला बड़ा सोफ़ा था मॉम एक साइड के कोने में बैठी थी

मॉम ने ऐसा बोलकर अपने साड़ी का पल्लू नीचे कर दिया और एक साइड से अपने टाइट सेक्सी ब्लाउस को थोड़ा ऊपर कर दिया
और ब्लाउस के साथ मॉम के ब्लाउस के अंदर की पिंक कलर की ब्रा भी थोड़ी ऊपर कर दी

इससे मॉम का एक दूध का भंडार बूब्स बाहर अा गया
यह देखकर तो मेरे मुंह में वासना और उत्तेजना वाली पानी अा गया, मेरा लिंग सलामी लेने के लिए खड़ा होना शुरू हो गया
मेरी ठंडी पड़ी सैक्स की भावनाएं वापस जाग उठी

फिर मॉम ने अपनी आंखो और चेहरे से मुझे अपनी गोद में सर रखकर लेटने का और गोद से ही अपने एक बूब्स को चूसने का इशारा किया,

में तो बहुत एक्साइटेड हो चुका था
मैने बिना एक सेकंड खर्च किए तुरंत मॉम की सेक्सी गोद को अपना तकिया बना दिया और उसमे अपना सर रख सोफे पर सीधा लेट गया
और मॉम के तरबूज बूब्स को चूसना शुरू कर दिया
अपने दोनो हाथों से स्तन को हल्का दबा भी रहा था और मॉम के बूब्स की मस्त मोटी निपल को अपने मुंह से चूसने लग गया

मॉम अपने मोंबाइल में बिजी थी
उन्हें तो कुछ फर्क ही नहीं पड़ रहा था
में एक दूध पीते छोटे बच्चे की तरह मॉम
के एक बड़े और मालदार बूब्स को हाथ से दबाए भी जा रहा था और मुंह से चूस भी रहा था
बहुत ही मज़ा आ रहा था इस पोजिशन में बूब्स के साथ खेलने में ,
और मेरा लन्ड तो हाफ पैंट में खड़ा हो चुका था लेकिन मुझे पता था कि इस खड़े और भूखे लिंग को चूत का स्वाद तो कुछ और समय तक मिलना वाला ही नहीं है,

इसलिए जो मिल रहा है उससे से ही एन्जॉय कर लेता हूं
में मॉम के बूब्स का बड़ा दीवाना था
जैसे भेंस और गाय की स्तनों को दबाकर दूध निकाला जाता है
वैसे ही में मॉम के एक तरबूज रूपी बूब्स को साइड से दबा रहा था और निपल को अपने मुंह से चूस रहा था
मन हो रहा था कि बूब्स को अपने दांतो से थोड़ा थोड़ा काटता रहूं, जिससे मॉम को भी थोड़ा दर्द हो और उनके मुंह से थोड़ी सेक्सी आवाजे आए
और थोड़ी गरम हो जाए
लेकिन मॉम के गुस्से से डर भी लगता था
कहीं ऐसा करू और वो नाराज़ होकर अपना एक बूब्स को चूसवाना बंद कर देगी
और बैठे बैठे ही अपने कातिल हाथों से मेरे लन्ड को हाफ पैंट और अंडर वियर में ज़बरदस्ती भींच देगी और अंडरवियर में ही पानी निकाल देगी,
इसलिए मैने सोचा जो मिल रहा है उससे ही काम चला लेता हूं

मॉम के बूब्स तो वजन में भी भारी ही थे
मेरे मुंह पर सारा वजन अा रहा था
लेकिन मज़ा भी बहुत अा रहा था
मॉम की जांघे बहुत ही सॉफ्ट थी
एकदम नर्म कोमल तकिए जैसी,
मेरा सर का पीछे वाला हिस्सा महुसूस कर रहा था
करीब 10 मिनट तक में बूब्स की चुसाई और दबाई करता रहा
मॉम तब तक मोबाइल में लगी रही

तभी घर के दरवाजे की घंटी बजी

j
Reply
06-29-2020, 04:43 PM,
#9
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास

घर के दरवाजे की बैल बजी,

मॉम ने फटाफट अपने एक बूब्स को मेरे मुंह से निकाला और अपनी ब्रा को नीचे कर दिया जिससे तरबूज बड़े बूब्स, सेक्सी ब्रा में कैद हो गए और ऊपर से ब्लाउस को नीचे कर दिया
जिससे ब्रा भी टाईट ब्लाउस में केद हो गई
और साड़ी के पल्लू को ऊपर कर दिया,

और मुझे बोली " बेटा दरवाजा खोल,शायद स्नेहा अा गई है"

में बड़ी मुश्किल से अपने हाफ पैंट में खड़े और सीधे लिंग को नीचे बैठाया, जिससे स्नेहा की नजर मेरी लिंग पर ना जाएं

मे सोफे से उठ गया और घर का दरवाजा खोला तो सामने स्नेहा खड़ी थी
मुझे देखकर हल्की से हेल्लो वाली स्माइल देकर घर के अंदर अा गई और मॉम को भी
हेल्लो वाली स्माइल देखकर अंदर चली गई

स्नेहा ने सलवार सूट पहना था वो भी टाईट फिटिंग था उसके छाती पर मेरी नजर नहीं पहुंच पाई थी लेकिन उसके पिछवाड़े में गान्ड पर नजर पहुंच गई थी, गान्ड ठीक ठाक ही लग रही थी मोटी और चोड़ी ही नजर आ रही थी पर गोल ही नजर आ रही थी

फिर मॉम वापस मोबाइल में बिजी हो गई थी
स्नेहा ने सबसे पहले मेरे बेडरूम की सफाई कर दी थी

और अब वोह मॉम के बेडरूम की सफाई कर रही थी

मैने सोचा अभी अपने रूम में जाकर लैपटॉप पर कुछ काम कर लेता हूं

में बोला "मॉम में अपने रूम में जाता हूं कंप्यूटर पर कुछ काम कर लेता हू और फिर कुछ देर के लिए सो जाऊंगा

मॉम "ओके बेटा ठीक है"

फिर में अपना रूम में आकर दरवाज़ा अंदर से बंद करके लैपटॉप स्टार्ट कर दिया
और हेड फोन कान में लगाकर नेट पर कोई नई पोर्न वीडियो देखना लग गया

में सौतेली मां और बेटे की सैक्स वीडियो देखने लग गया, नया कुछ अनुभव लेने के लिए,

करीब 5 मिनट बाद मुझे प्यास लगी,और में पानी की बोतल, किचन में फ्रिज से लेने के लिए दरवाजा खोल कर बाहर निकला

में किचन कि तरफ गया
मॉम ड्रॉइंग रूम में नहीं दिखाई दे रही थी
और ना ही स्नेहा दिखाई दे रही थी
शायद मॉम अपने बेडरूम में होगी और स्नेहा मॉम के रूम की सफाई कर रही होगी,

मैने फ्रिज से पानी की बोतल निकालकर पानी पिया और बोतल लेकर मॉम के बेडरूम की तरफ गया

तो मैने देखा मॉम का बेडरूम का दरवाजा बंद था में दरवाजे के पास गया
पहले मैने सोचा दरवाजा नॉक करू
फिर सोचा मॉम शायद सो रही होगी
और मेरे दरवाजा खटखटाने से नींद खुल जाए

लेकिन मन नहीं मान रहा था क्योंंकि स्नेहा भी नजर नहीं आ रही थी

फिर मैने चुपके से मॉम के बेडरूम में देखने का सोचा,

मॉम बेडरूम में बाहर की तरफ एक बड़ी बालकनी थी और वो बालकनी हमारे घर के मंदिर वाले रूम से जुड़ी हुई थी
मतलब मंदिर वाले रूम की बालकनी से मॉम के रूम की बालकनी में एक छोटी दीवार पार करके जाया जा सकता है

पता नहीं मेरे मन कुछ अलग ही ख्याल अा रहे थे और मेरी, मॉम के रूम में क्या हो रहा है यह देखने की इच्छा बहुत तेज हो गई थी

मैने पानी की बोतल अपने रूम में रखी और लैपटॉप बंद किया और हेडफोन को उधर ही रखा और रूम के दरवाजे को बंद किया ,जिससे अगर मॉम अपने रूम से बाहर अा जाती है तो उन्हें यह लगे की में अपने रूम में सो रहा हूं,

फिर मैने मंदिर वाले रूम की बालकनी की दीवार को बिना कोई आवाज़ किए चुपके से
पार करके, मॉम के रूम की बालकनी में अा गया ,

फिर बालकनी में एक खिड़की भी थी और वो काच से कवर रहती थी लेकिन उससे अंदर क्या हो रहा है देखा जा सकता था

ऐसे हमारा फ्लैट एक हाई फ्लोर वाली बिल्डिंग में था और हम भी हाई फ्लोर पर रहते है और आज पास में कोई ऐसी हाई फ्लोर वाली बिल्डिंग नहीं थी जिससे दूसरी बिल्डिंग वाले हमारे घर पर झांक सकते थे हमारे घर से खाली ऊपर नीला आकाश ही दिखता था

इसलिए मॉम इस खिड़की के पर्दे ज्यादातर खुले ही रखती थी और मॉम बिना एयर कंडीशनर के रहती नहीं थी इसलिए उनका रूम का एसी हर वक़्त चालू ही रहता था
इसलिए खिड़की हर वक़्त कांच से ढकी रहती थी

और मेरी बदकिस्मती से उस समय खिड़की पर पर्दे लगे हुए थे लेकिन एक कोने में पर्दा थोड़ा खुला हुआ था और उस कोने से में अंदर देख सकता था और अंदर से कोई मुझे नहीं देख सकता था क्योंकि मॉम का बेडरूम बहुत बड़ा था और खिड़की रूम के बेड से बहुत दूर थी

में उस खिड़की की कोने से खिड़की में लगे कांच से देखते हुए चुपके से कमरे में झांकने लगा

मुझे मॉम के रूम का ज्यादातर हिस्सा दिखाई दे रहा था बेड भी दिखाई दे रहा था और कुछ कमरे का खाली पोर्शन भी थोड़ा थोड़ा दिखाई दे रहा था

अंदर का सीन देखकर मेरा दिमाग चकरा गया
स्नेहा टॉपलेस दिखाई दे रही थी उसके शरीर के उपर के हिस्से में कुछ भी पहना हुआ नहीं था
उपर से पूरी नंगी नजर अा रही थी
उसका कुर्ता और दुप्पटा बेड पर पड़े थे
साथ में एक सफेद कलर की ब्रा भी बेड पर पड़ी थी

नीचे सलवार पहनी हुई थी उसकी छाती पूरी नंगी थी उसके बड़े गोल बूब्स मुझे दूर से दिखाई दे रहे थे नारंगी और सेब जैसी साइज के लग रहे थे दूर से देखकर सही साइज का पता करना मुश्किल था लेकिन दूर से मस्त ही दिख रहे थे नीचे की और थोड़े लटक रहे थे

मॉम के बूब्स की तरह सीधे, नुकीले और कड़क नजर नहीं आ रहे थे पेट थोड़ा उसका मोटा था बूब्स की निपल भी साइज में ठीक ठाक ही थी
अब मॉम के अंगो से तुलना हो नहीं सकती थी
मॉम तो अप्सरा थी

स्नेहा एक खाली दीवार के सहारे अपनी पीठ और गान्ड चिपका कर खड़ी थी

'ओह माई गोड..!

मॉम खड़े खड़े उस बेचारी के बूब्स को चूस रही थी मॉम अपने पूरे कपड़ो में थी
मतलब साड़ी ब्लाउस पेटकोट में थी
मॉम ने अपना एक भी कपड़ा नहीं उतारा था

मॉम अपने दोनो हाथो से बारी बारी से स्नेहा के बूब्स को ज़ोरदार दबा रही थी और अपने कोमल नर्म और गुलाबी होंठो से उसके बूब्स की निपल को चूस रही थी

बूब्स का और निपल का रंग, मुझे दूर से साफ दिखाई नहीं दे रहा था बीच में कांच होने की वजह से धुंधला ही दिखाई दे रहा था

आवाज़ भी कुछ सुनाई नहीं दे रही थी
लेकिन स्नेहा के मुंह के एक्सप्रेशन से मालूम चल रहा था उसे हल्का दर्द हो रहा होगा और वो वासना वाली हल्की आवाजे निकाल रही होगी

स्नेहा के दोनो हाथ मॉम के कंधो पर थे
और मॉम के दोनो हाथ स्नेहा के छोटे तरबूज बूब्स पर थे

मॉम स्नेहा के आगे खड़ी थी इसलिए
मॉम की पीठ वाला हिस्सा मतलब मॉम की मोटी गान्ड जिसे पेटीकोट और साड़ी ने ढक रखा था वो ही मुझे दिखाई दे रहा था

मॉम का सर नीचे स्नेहा की छाती तक झुका हुआ था और मॉम का पूरा मुंह स्नेहा की छाती पर था और बड़े मस्ती से स्नेहा के स्तनों की चुसाई और दबाई कर रही थी

यह तो मेरे से भी ज्यादा सेक्सी और फास्ट चुसाई और दबाई मॉम कर रही थी

और यह पोजिशन तो मैने पोर्न फिल्मों में ही देखी थी बड़ी सेक्सी,हॉट और मादक पोजिशन थी

यह देखकर मेरा लन्ड तो खड़ा हो गया था और मेरा मन हो रहा था कि रूम में चला जाऊ और
मॉम के पिछवाड़े से साड़ी और पेटीकोट ऊपर करके मॉम की मोटी,चोड़ी और गान्ड के छेद में अपना लन्ड डालकर मॉम की गांड़ मार दू,

लेकिन यह मेरी औकात की बात नहीं थी

और मॉम का यह रूप देखकर मेरा माथा घूम गया ,
मॉम को यह लेस्बियन वाला शौक है

यह तो मॉम ने मुझ बताया ही नहीं था
खाली यह ही बताया था उसे भी दूसरों के स्तनों को चूसने का मन करता है

लेकिन वो भी कामवाली के बूब्स चूसना ,

में सोच में पड़ गया

और अंदर मॉम बेचारी स्नेहा की बूब्स चूस भी रही थी खिंचाई भी कर रही थी और दबाना भी चालू था

में सोचा स्नेहा के नीचे के कपडे तो पूरे पहने हुए है और मॉम का तो एक भी कपड़ा उतारा हुआ नहीं है

शायद मॉम को खाली किसी दूसरी औरत के बूब्स से एन्जॉय करना होगा
और स्नेहा को कुछ पैसे देकर मॉम अपनी बूब्स चूसने कि प्यास बुझाती होगी

इसमें कोई गलत तो नहीं है

फिर कुछ मिनट बाद मॉम ने स्नेहा के होंठो को चूसा और उसके होंठो का रस पीने लग गई

स्नेहा की गर्दन और गालों की चुंबा चाटना शुरू किया
स्नेहा चुपचाप थी वो कोई विरोध भी नहीं कर रही थी, मतलब उसकी पूरी रजामंदी ही होगी,

और कुछ मिनट के बाद मॉम बेड पर बैठ गई
और स्नेहा को भी बेड पर बैठा दिया
और उनकी आपस में कुछ बातें हो रही थी
रूम पूरा एयर पैक और साउंड प्रूफ था
इसलिए मुझे कुछ सुनाई नहीं दे रहा था

और अभी भी मॉम की पीछे वाला हिस्सा ही दिखाई दे रहा था अभी स्नेहा का भी कमर वाला हिस्सा दिखाई दे रहा था

फिर स्नेहा ने बेड पर पड़ी अपनी सफेद कलर की ब्रा पहनी ली, और बेड पर ही पड़े कमीज़ कुर्ते को उठा कर पहन ने लगी,

में समझ गया ,मॉम का यह चुदाई का प्रोग्राम खत्म हो गया है और घर में मेरी मौजूदगी के कारण मॉम कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी जिससे मेरे सामने इनका यह राज खुल ना जाएं,

अब यह लोग दरवाजा खोल कर बाहर आएंगे

मैने फटाफट मॉम के रूम की बालकनी को पारकर मंदिर वाले रूम की बालकनी से होते हुए मेरे बेडरूम में आकर अपने रूम के दरवाजे को बंद करके
अपने बेड पर लेट गया
Reply

06-29-2020, 04:43 PM,
#10
RE: Maa Sex Kahani मॉम की परीक्षा में पास


में अपने कमरे में आकर, बेड पर लेट गया
और सोचने लगा मॉम और स्नेहा के बारे में,

मेरा मन तो कर रहा था
दोनो के पास जाकर
दोनो की एक साथ चुदाई कर दू
दोनो की गान्ड मार दू
और दोनो के दूध के डेयरी बूब्स को ज़ोरदार मसल दू,
क्योंंकि स्नेहा के बूब्स मॉम के बूब्स से छोटे थे
और उन्हें दबाने में बड़ा मज़ा आएगा,

लेकिन यह मेरी बस की बात नहीं थी
ना ही मेरे पास इतनी हिम्मत थी यह करने की,

लेकिन पता नहीं कितने दिनों से मॉम यह सब स्नेहा के साथ कर रही थी,
मॉम तो बड़ी संस्कारी बनती है
और इस तरह के लेस्बियन वाला शोक भी रखती है और मुझे बताया भी नहीं था
मतलब मॉम काफी बातें मुझसे छुपाती है

मेरे मन में दूसरा ख्याल भी आया कि
मॉम भी बेचारी एक औरत ही है
उसकी भी तो कुछ इच्छाएं होती होगी
उसका भी कुछ नया करने का मन होता होगा ,
मॉम के सेक्सी हॉट शरीर की भी कुछ जरूरतें होती होगी,

तो उसे पूरा करने में क्या गलती है
वो भी एक दूसरी औरत के साथ ही तो कर रही है
कोई पराए मर्द के साथ तो नहीं करती है ना,

मर्द का सुख देने के लिए, में मॉम को मिल चुका हूं और रही औरत की बात तो स्नेहा इसके लिए ठीक थी

मॉम दूसरे मर्दों को कभी भी अपने पास आने ही नहीं देती थी, मॉम के सेक्सी फिगर के लिए कोई भी आदमी कुछ भी कर सकता है
लेकिन मॉम का चरित्र एकदम साफ था

वो कोई चालू और चरित्रहीन औरत नहीं थी

मेरे दिल में मॉम के लिए रेस्पेक्ट और बड़ गई

करीब आधा घंटा बीत गया था में ऐसे ही बेड पर लेटा था मॉम मेरे कमरे में आई नहीं थी

में सोचा शायद स्नेहा घर के बाकी के काम निपटा रही होगी,इसलिए मॉम उसके जाने के बाद शायद मुझे देखने मेरे कमरे में आए
इसलिए मैने दरवाजा अंदर से लॉक नहीं किया था

फिर कुछ देर बाद मेरे रूम का दरवाजा खुला
और वो मॉम थी उसने मुझे आवाज दी

"बेटा सो गया क्या, उठ जा और हाल में चल,दोनो गप्पे मारेंगे,
स्नेहा काम करके चली गई"

में उठने का नाटक करते हुए

" ओके मॉम आता हूं लेकिन पहले मेरा मुंह मीठा करो"

मॉम मेरा मतलब समझ गई
मेरे पास आकर झुककर मेरे होंठो पर ज़ोरदार किस कर दी,

मेरा तो लन्ड पहले से खड़ा था ही,
और अब कंट्रोल हो नहीं रहा था

और शायद मॉम भी स्नेहा के अधूरी चुसाई के बाद प्यासी होगी
शायद उन्हें लन्ड की जरूरत होगी

और मैने इस बात का फायदा उठाते हुए
मॉम के हाथो को पकड़कर अपने लेटे हुए शरीर ऊपर खींच
लिया

मॉम मेरे ऊपर थी

मॉम के मलाईदार होंठों पर मेरे होंठ थे और ज़ोरदार मॉम के नर्म होंठो का रस पी रहे थे

मॉम को कुछ बोल नहीं पा रही थी
मेरी इस अचानक वाली हरकत से,

फिर मैने मॉम की नीचे कर दिया और में अब मॉम के सेक्सी शरीर के उपर था

मेरे होंठो ने मॉम के मुंह को लॉक लगा रखा था

मैने बिना देरी किए
मॉम की साड़ी के साथ टाइट और सेक्सी पेटीकोट को मॉम के पेट तक उपर कर दिया

अब मॉम की पिंक कलर की जालीदार सेक्सी पैंटी दिख रही थी

जैसे कि मेरा अंदाजा था
मॉम के पैंटी चूत की साइड से थोड़ी गीली नजर आ रही थी
मतलब मॉम स्नेहा के साथ चुसाई और खिंचाई करते समय गरम हो चुकी थी

मैने अपनी हाफ पैंट और अंडरवियर को थोड़ा नीचे किए

और मेरा 4 इंच का खड़ा लन्ड फड़फड़ाते बाहर अा गया

मैने मॉम की हॉट पैंटी को जांघो तक नीचे कर दिया
जिससे मॉम की चिकनी चूत का खड़ा मेरे लन्ड को आराम से दिख जाए

और मैने मॉम के दोनों हाथों को अपने कठोर हाथों से पकड़कर बेड पर दबा दिए

जिससे कहीं मॉम वापस अपने हाथो से मेरे लन्ड को भींच ना दे,

और मुझे ज़बरदस्ती झड़ा ना दे,

मॉम के पैरो को थोड़ा चोड़ा कर दिया था
जिससे चूत ऊपर अा जाए और चूत का दरवाजा थोड़ा खुल जाए

और लन्ड को अंदर जाने का खुला रास्ता मिल जाए

मॉम के पैरो पर मेरे पैर थे
मेरे पैरो के कब्जे में थे

इसलिए मॉम के पैर भी कुछ हरकत नहीं कर सकते थे मुझे रोक नहीं सकत थे

अब मैने अपना लन्ड मॉम की टाइट चूत में ज़ोरदार और झ्टके से डालना शुरू कर दिया

धड़ाधड़ स्ट्रोक मारना शुरू कर दिया

लन्ड के चूत से टकराने का साउंड
अा रहा था
"धप धाप धाप धाप धप"

और मैने मॉम के होंठो को मेरे होंठो से अब आज़ाद कर दिया

मॉम की हल्की से आवाज़ आई

"आहग आह एए एए आह आह"

मॉम अब मेरे सामने सरेंडर थी

क्योंंकि मॉम की चूत को मेरे लन्ड ने कब्जा कर दिया था
और खुदाई चालू हो गईं थी

इसलिए अब मैने मॉम के दोनो हाथो
को अपने हाथो से आज़ाद कर दिया

और अपने दोनो हाथो से मॉम के ब्लाउज के ऊपर से मॉम के तरबूज रूपी बूब्स को ज़ोरदार दबाने लगा

मॉम का सेक्सी ब्लाउस बहुत टाइट था
लेकिन बूब्स का अहसास हो रहा था

में बेरहमी से दोनो बूब्स को मसल रहा था

और नीचे मॉम की चिकनी,टाइट और फिट चूत पर स्ट्रोक मारे जा रहा था

मॉम के मुंह से "अा' अा' आए' अा' आह हम्म हुम्म आह"

सेक्सी आवाजे अा रही थी

मॉम पूरी तरह मेरे कब्जे में थी

मेरी गिरफ्त में थी

इसलिए अब उसकी कुछ चलने वाली नहीं थी

10-12 ज़ोरदार शॉर्ट मारने के बाद
मेरा लन्ड जवाब दे गया

और मेरा सारा वीर्य मॉम की चूत में चला गया
और मॉम भी झड़ गई थी

और उनका सफेद गाढ़ा पानी भी चूत से बाहर अा गया था थोड़ा मेरे लन्ड पर चिपक गया था

मेरा लन्ड अपनी असली रूप में अा गया था

छोटा और ढीला हो गया था

मॉम बेड पर थकी हुई लेटी ही थी

मैने अपने रूम में पड़े टिश्यू पेपर से मॉम की सेक्सी चूत को बाहर से एकदम साफ कर दिया,

मेरा वीर्य मॉम की चूत के बाहर भी थोड़ा चिपक गया था
और अपने लन्ड को भी साफ कर दिया

और मॉम की पैंटी को उपर कर दिया
और पेटीकोट और साड़ी को नीचे कर दिया

और मॉम के मुंह के पास जाकर मॉम के होंठो पर प्यार से चुम्मा देकर बोला

" सॉरी मॉम, मुझसे कंट्रोल नहीं हो पाया, आप नाराज़ तो नहीं हो ना"

मॉम ने लेटे लेटे मुस्करा कर बोली
"नहीं बेटा, इट्स ओके, में समझती हूं ऐसी चीजों पर कंट्रोल होना मुश्किल होता है फिर भी तू बहुत कंट्रोल करता है"

मॉम की यह बात से में बहुत खुश हो गया

और मॉम के पास ही बेड पर लेट गया

फिर मॉम बेड से उठी और
बोली

"चल ड्रॉइंग हाल में अा जा , बातें और गप्पे मारते है,
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
  Antarvasnax क़त्ल एक हसीना का desiaks 100 807 5 hours ago
Last Post: desiaks
Thumbs Up MmsBee कोई तो रोक लो desiaks 264 110,703 Yesterday, 12:59 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb Thriller Sex Kahani - मिस्टर चैलेंज desiaks 138 8,168 09-19-2020, 01:31 PM
Last Post: desiaks
Star Hindi Antarvasna - कलंकिनी /राजहंस desiaks 133 16,585 09-17-2020, 01:12 PM
Last Post: desiaks
  RajSharma Stories आई लव यू desiaks 79 13,976 09-17-2020, 12:44 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb MmsBee रंगीली बहनों की चुदाई का मज़ा desiaks 19 9,697 09-17-2020, 12:30 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb Incest Kahani मेराअतृप्त कामुक यौवन desiaks 15 7,700 09-17-2020, 12:26 PM
Last Post: desiaks
  Bollywood Sex टुनाइट बॉलीुवुड गर्लफ्रेंड्स desiaks 10 4,415 09-17-2020, 12:23 PM
Last Post: desiaks
Star DesiMasalaBoard साहस रोमांच और उत्तेजना के वो दिन desiaks 89 33,528 09-13-2020, 12:29 PM
Last Post: desiaks
  पारिवारिक चुदाई की कहानी Sonaligupta678 24 257,827 09-13-2020, 12:12 PM
Last Post: Sonaligupta678



Users browsing this thread: 2 Guest(s)