Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
01-30-2021, 12:18 PM,
#21
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
ये दीदी क्या कह रही है? मेरे मूठ मारने से वो खुश है? समर ने सोचा भी ना था ये। फिर से उसके पास कहने के लिए कुछ नहीं था। उसका हाथ अभी भी पाजामे के अंदर था।

.
नेहा- “चल अब जो कर रहा था उससे पूरा कर.." नेहा बोली।

समर बौखला गया- “नहीं दीदी, बिल्कुल नहीं। मैं आपके सामने ऐसा कुछ नहीं कर सकता...” वो बोला।

नेहा- “अभी तो कर रहा था। मैंने देखा तू क्या कर रहा था पाजामे के अंदर। मुझे सब समझ आता है...” नेहा बोली- “तुझे कहा ना मेरे सामने शर्माने की जरूरत नहीं है। आराम से मूठ मार...”

समर ये बातें सुन तो रहा था मगर उसे यकीन नहीं हो रहा था। एक नार्मल भाई बहन का रिश्ता इस मोड़ तक कैसे पहुँच गया, जहाँ बहन अपने भाई को मूठ मारने के लिए उकसा रही है।

नेहा- “चल चालू कर..." नेहा ने फिर कहा।

समर- "नहीं..." वो अपना हाथ बाहर निकालने लगा की नेहा ने उसका हाथ पकड़ लिया।

नेहा- “सेक्सुवलिटी को लेकर शर्माना नहीं चाहिये। तू एक नौजवान है। मूठ मारना बहुत नार्मल है। और तू अपने रूम में है, बाहर सड़क पे नहीं जो शर्मा रहा है." नेहा बोली- “मैं तेरी बहन हूँ। हाँ... मगर उससे ज्यादा मैं तेरी दोस्त हूँ। तू कुछ गलत नहीं कर रहा। इसे समझ, और अब पूरा कर इसे.."

समर की शकल के तोते उड़े हुए थे। लेकिन वो बुत बनकर बैठा हुआ था।

नेहा- “एक और कारण है जो मैं तुझे ये करने को बोल रही हूँ.." नेहा बोली।

समर- “क्या दीदी?"

नेहा- “समर तू मेरा छोटा भाई है मगर तुझे मैं ये एक दोस्त के नाते बता रही हूँ। मैंने आज तक कभी किसी लड़के को असलियत में खुद से खेलते नहीं देखा। मैं बहुत उत्सुक हूँ। इसलिए मैं चाहती हूँ की तू मुझे दिखाए। अब जब इतना अच्छा मर्द मेरे घर में है तो मैं बाहर किसी और से ये क्यों कहूँ?" नेहा ने कहा।

समर फिर हैरान हो गया। उसकी दीदी एक लड़के को मूठ मारते हुए देखना चाहती थी, और वो लड़का आज समर बनने वाला था।

समर- “दीदी, मुझे ये अच्छा आइडिया नहीं लगा...” समर बोल ही रहा था।

तभी नेहा बोल पड़ी- “ओहह... अब समझी। तुझे विजुवल स्टीम्युलेशन नहीं मिल पा रहा.” और वो फिर से खिड़की की ओर मुँह करके खड़ी हो गई, और कहा- “ये ले... पहले भी तू मेरी आस देखकर मूठ मार रहा था ना...

ले अब फिर से देख मेरी आस...” वो बोली- “आस को हिन्दी में क्या कहते है... ओहह... हाँ... गाण्ड.."
Reply

01-30-2021, 12:18 PM,
#22
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
अपनी दीदी के मुंह से गाण्ड शब्द सुनकर समर का लण्ड मचल गया। नेहा पीछे मुड़ी और उसने एक कातिल मुश्कान दी। उसकी सेक्सी गाण्ड फिर से समर की आँखों के सामने थी। ना चाहते हुए भी समर का लण्ड बड़ा हो गया। ना वो उससे सहलाने लगा।

नेहा की आँखों में चमक आ गई। फँसा लिया था उसने अपने भाई को अपने जाल में। उसकी खुद की चूत एकदम गीली हो चुकी थी। निपल हार्ड होकर पत्थर बन गये थे। वो भी उत्तेजना की लहर पे सवार थी। उसका भाई अपने पूरे होशो-हवास में अपना लण्ड सहला रहा था अपने पाजामे के अंदर।

समर मन में- “ये मैं क्या कर रहा हूँ? ये गलत है..” समर फिर रुक गया।

नेहा ने ये देखा- “अब क्या हुआ? तुझे अच्छी नहीं लगी मेरी आस, मेरी गाण्ड.." नेहा बोली- “मजा नहीं आया क्या? हम्म्म्म , लगता है मुझे अपनी शार्ट नीचे करनी पड़ेगी..”

समर अपने कानों पे, अपनी आँखों, अपनी किश्मत पे यकीन नहीं कर पा रहा था। क्या ये असल में हो रहा है? मेरी अपनी बड़ी बहन मेरे सामने अपनी गाण्ड का प्रदर्शन कर रही है। मुझे मूठ मारने के लिए उत्तेजित कर रही है। और तो और अपनी शार्ट नीचे भी करने को कह रही है। ये सपना था। मगर उसे समझ में नहीं आ रहा था

की ये बुरा सपना है या अच्छा सपना बुरा या अच्छा, उसके हाथ ने फिर से लण्ड को पकड़ लिया। अब उसे मूठ मारना ही था। अब वो और नहीं रुक सकता था।

नेहा- “गुड समर... करते रहो ऐसे ही.."

नेहा भी उत्तेजित हो चुकी थी। उसे भी अपनी चूत से खेलने का मन कर रहा था। मगर वो ये नहीं कर सकती थी। उसे इस तड़प को कंट्रोल करना पड़ा। कुछ नहीं होता नेहा, एक बार इसको अपने काबू में कर ले। फिर तो मजे ही है। उसने सोचा। गाण्ड अपने भाई की तरफ करके नेहा उसे दिखा रही थी।

उसके भाई की आँखों में ठरक और सेक्स भरा हुआ था। वो धीरे-धीरे अपने पाजामे के अंदर लण्ड को मसल रहा था। नेहा ने ये सीन अपनी लाइफ में पहली बार देखा था। उसने कभी किसी लड़के के साथ ऐसी बातें नहीं की थी, जैसी उसने आज समर से की। शायद वो उसका भाई था इसलिए नेहा के मन में भी डर नहीं बचा था। वो तो बिना किसी फिकर के अपने भाई के पाजामे में बनी उसके लण्ड की शेप देख रही थी। लण्ड तो बहुत अच्छा और तगड़ा लग रहा है इसका। कितने प्यार से हिला रहा है अपना लण्ड। काश मैं समर के लण्ड को देख पाती। एक असल लण्ड का दीदार कर पाती। मगर कैसे? कैसे ये लण्ड पाजामे से बाहर निकाले वो? नेहा के मन में गंदे ख्याल घूम रहे थे।
Reply
01-30-2021, 12:18 PM,
#23
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
उसके भाई की आँखों में ठरक और सेक्स भरा हुआ था। वो धीरे-धीरे अपने पाजामे के अंदर लण्ड को मसल रहा था। नेहा ने ये सीन अपनी लाइफ में पहली बार देखा था। उसने कभी किसी लड़के के साथ ऐसी बातें नहीं की थी, जैसी उसने आज समर से की। शायद वो उसका भाई था इसलिए नेहा के मन में भी डर नहीं बचा था। वो तो बिना किसी फिकर के अपने भाई के पाजामे में बनी उसके लण्ड की शेप देख रही थी। लण्ड तो बहुत अच्छा और तगड़ा लग रहा है इसका। कितने प्यार से हिला रहा है अपना लण्ड। काश मैं समर के लण्ड को देख पाती। एक असल लण्ड का दीदार कर पाती। मगर कैसे? कैसे ये लण्ड पाजामे से बाहर निकाले वो? नेहा के मन में गंदे ख्याल घूम रहे थे।

उसे अब अपने भाई का लण्ड देखना था। उसकी चूत का यही हुक्म था, नेहा ने अपनी गाण्ड घुमाई, और कहा “अच्छा लग रहा है ना समर?"

समर के लण्ड ने झटका मारा। उसकी बहन उसे मूठ मारते देख रही थी, मगर वो अब रुकने नहीं वाला था। वो रुक नहीं सकता था- “एम्म... ओहह...” करके समर सिसकियां भर रहा था।

नेहा- “समर... तुझे ऐसे पाजामे में मूठ मारने में परेशानी नहीं हो रही... ये सही तरीका थोड़ी है। मूठ मारते वक्त पेनिस खुलकर हवा में होना चाहिये। असली मजा तो तब आता है। मैं सोचती हूँ की तुझे अपना पेनिस बाहर निकाल लेना चाहिये..." नेहा मन गढ़ंत कहानी बना रही थी। उसे तो बस लण्ड देखना था।

समर फिर दुविधा में फँस गया। मगर अब उसका दिमाग सही से नहीं सोच पा रहा था। आखीरकार वहां तो बस सेक्स और उसकी दीदी का बदन घूम रहा था। मन में- “मैं ऐसा तो बिल्कुल नहीं कर सकता। अपनी बहन को अपना लण्ड नहीं दिखा सकता। मगर अपनी बहन के सामने मूठ तो मार ही रहा हूँ। मेरी बहन भी बड़े आराम से अपनी गाण्ड दिखा रही है। जब इतना कुछ हो चुका है फिर लण्ड बाहर निकालने में क्या जाता है? मैं तो खुद चाहता हूँ आराम से लण्ड बाहर निकालकर मूठ मारना, मगर अपनी बहन के सामने..” समर ये सब सोच रहा था।

नेहा- “समर... अपनी दीदी की बात मान और अपना पेनिस बाहर निकाल..." नेहा ने बोला।

समर- “आपके सामने नहीं कर सकता दीदी..” समर ने कहा।

नेहा- “फिर शर्मा रहा है तू? चल समझती हूँ मैं। ओके... मैं पीछे नहीं देखूगी। नहीं देखूगी तेरे पेनिस को। बस तू मेरी गाण्ड को देख और बाहर निकाल उसे। और आराम से मूठ मार..."

नेहा बोली और आगे मुँह करके खड़ी हो गई। एक बार लण्ड बाहर निकल जाए फिर तो वो किसी ना किसी तरह उसे देख ही लेगी। समर ने देखा की नेहा अब नहीं देख रही है। क्या मैं निकाल लूँ लण्ड बाहर? उसने सोचा।

नेहा- “निकाला...” नेहा ने पूछा।

समर- “क्या करूं? मन तो बहुत कर रहा है..” उसने अपने पाजामे के नाड़े पकड़ा।

नेहा- “निकाला समर?”

सब कुछ भूलकर समर ने अपने कपड़े नीचे सरका दिए।

नेहा- “निकाला या नहीं?"

“हम्म्म्म

..” समर बोला, और उसका तना हुआ लण्ड खुली हवा में आ गया।

समर का लण्ड अब बाहर था। ऐसा लगा जैसे वो लण्ड आजादी की साँस ले रहा हो। समर का लण्ड 5/" इंच का था। उसे अपना लण्ड पसंद था। आज तो वो और ज्यादा लंबा हो गया था। अपनी बहन के सामने लण्ड प्रदर्शन करने से वो और भी ज्यादा उत्तेजित था। उसने अपने इंडे को पकड़ा और उसे ऊपर-नीचे करने लगा। उसकी आँखों के सामने इतना सुंदर दृश्य था।

उसकी नेहा दीदी... इतने छोटे कपड़ों में। उसकी टाँगें, उसकी बाहें, उसके निपल, उसकी गाण्ड, सब समर को पागल कर रहे थे। मगर वो जितना हो सके उतना आराम से मूठ मार रहा था। वो जितना हो सके उतनी देर इस पल का मजा लेना चाहता था।

नेहा- “तेरा पेनिस बाहर है ना समर.." नेहा ने पूछा।

समर- “हाँ... दीदी..” समर ने कहा।

ये सुनकर नेहा की चूत टपकने लगी, दो बूंदें और बही उसकी चूत से। उसके गुलाबी निप्पल टाप के अंदर और ज्यादा तन गई। मन किया की बस मुड़ जाए और देख ले उसका लण्ड। मगर ऐसा करने से समर घबरा जायगा
और सब खतम हो जायेगा। उसे कुछ और सोचना था।

नेहा- “गुड समर... अब आराम से, प्यार से खेल अपने पेनिस से। जितना हो सके आनंद ले इस पल का, और अपने पेनिस को भी लेने दे.." नेहा बोली।

समर बिल्कुल अपनी बहन की बात मान रहा था।
Reply
01-30-2021, 12:18 PM,
#24
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
नेहा- “मैं भी क्या पेनिस पेनिस कर रही हैं। हिन्दी में ज्यादा अच्छा लगता है। लण्ड... हाँ, खेल अपने लण्ड से..." नेहा ने पहली बार किसी के सामने ऐसे शब्द बोले थे, और उससे मजा आ रहा था।

“हाईए.” अपनी दीदी के मुँह से ये शब्द “लण्ड” सुनकर तो समर मूड में आ गया। एक लड़की के मुँह से ऐसे शब्द सुनना कितना अच्छा लगता है, और अगर वो लड़की खुद अपनी बहन हो तब तो पूछो ही मत। उसका लण्ड प्री-कम से गीला हो चुका था।

वहीं उसकी दीदी अपने शातिर दिमाग में आगे का प्लान सोच रही थी। नेहा बोली- “समर, तुझे मजा आ रहा है ना... मुझे पता है लड़कों को मूठ मारते वक्त विजुवल स्टिम्युलेशन चाहिये होती है... क्या मुझे ऐसे देखकर तुझे अच्छा लग रहा है... तू चाहे तो मैं कुछ और भी कर सकती हूँ..."

समर सोचने लगा। ऐसा क्या करेगी दीदी मेरे लिए? क्या वो और कुछ दिखायेगी मुझे? कहा- “क्या और कुछ दीदी?” उसने हिम्मत करके पूछा।

नेहा- “और कुछ जैसे मैं तुझे थोड़ा और शरीर दिखा सकती हूँ अपना..” नेहा बोली।

समर का दिल दौड़ने लगा।

नेहा- “तू चाहे तो मैं अपनी टाप ऊपर करके तुझे अपनी कमर दिखा सकती हूँ.." नेहा बोली- “और तू चाहे तो अपनी निक्कर नीचे करके अपनी गाण्ड दिखा सकती हूँ..."

समर का दिल इतनी जोर से धड़कने लगा जैसे लगा की अभी सीने से बाहर निकल आयेगा- “आप ऐसा......."

नेहा- “हाँ... मैं ऐसा कर सकती हूँ, अगर तू चाहे तो। बड़ी बहन अपने भाई के लिए इतना तो कर ही सकती है..."

समर सोचने लगा। दीदी की कमर मेरे सामने नंगी, और गाण्ड... मेरी बहन की गोरी बड़ी-बड़ी गाण्ड। मेरे सामने नंगी। सेक्स का भूत उसके सिर पर नाच रहा था।

नेहा- “तू चाहता है मैं ऐसा करूं... हाँ?" नेहा बोली।

"उम्म्म्म

...” समर बस इतना बोल पाया।

Reply
01-30-2021, 12:19 PM,
#25
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
समर सोचने लगा। दीदी की कमर मेरे सामने नंगी, और गाण्ड... मेरी बहन की गोरी बड़ी-बड़ी गाण्ड। मेरे सामने नंगी। सेक्स का भूत उसके सिर पर नाच रहा था।

नेहा- “तू चाहता है मैं ऐसा करूं... हाँ?" नेहा बोली।

"उम्म्म्म

...” समर बस इतना बोल पाया।

नेहा के लिए इतना ही काफी था। उसने पीछे से अपनी टाप का निचला हिस्सा पकड़ा और धीरे-धीरे उसे ऊपर करने लगी। धीरे-धीरे नेहा की गोरी दूधिया कमर दिखने लगी।

..” अपनी बहन को ऐसी सेक्सी हरकत करते हुए देखकर धीरे-धीरे समर का बी.पी. बढ़ता गया- “म्म्म्म मुँह में पानी आ गया।

नेहा ने अपनी चूचियों के लेवेल तक टाप ऊपर कर दी। हाई... क्या नजारा था। अपनी दीदी की पतली गोरी कमर देखकर समर पागल सा हो गया। एकदम परफेक्ट कमर, फैट का नामो निशान नहीं। मक्खन जितनी कोमल लग रही थी। और नेहा का वो पोज लण्ड झड़ाने के लिए काफी था। मगर समर कंट्रोल कर रहा था।

नेहा- “कैसी लगी मेरी कमर?" नेहा ने पूछा।

समर- “मैंने ऐसा नजारा अपनी लाइफ में कभी नहीं देखा, दीदी...” समर बोला, बिना शर्म के।

नेहा समर का उत्तर सुनकर हैरान हो गई। अब ये बस एक लड़का है जो एक लड़की का बदन देख रहा है। भाई बहन का रिश्ता पीछे रह गया। ये सोचकर नेहा खुश हो गई- “वाओ... बैंक यू भाई। तो क्या ये काफी है या अपनी निक्कर को और नीचे करूं... तू क्या चाहता है?" नेहा ने पूछा।

समर लण्ड हिलाते-हिलाते सोच रहा था। वो तो चाहता था अपनी बहन की गाण्ड देखना। सेक्स जो सवार था सिर पे। मगर कैसे बोले ये अपनी बहन से... वो चुप रहा।

नेहा- “मैं भी किससे पूछ रही हूँ... तू तो मुँह खोलेगा नहीं। चल छोड़... मुझे पता है तू मेरी गाण्ड देखने के लिए तड़प रहा है..” नेहा बोली- “इसको मेरी तरफ से गिफ्ट समझ..” ये बोलकर नेहा ने अपनी शार्टस के वेस्टबैंड में अपना हाथ डाल दिया। नेहा ने अपनी शार्ट में अपना हाथ घुसा दिया। ऐसा लग रहा था की अब किसी भी पल शार्टस नीचे और गाण्ड बाहर आ जायेगी।

समर के दिल की धड़कनें बुलेट ट्रेन से भी तेज चल रही थी। मैं अपनी बहन की गाण्ड देलूँगा, मैं अपनी बहन की गाण्ड देखूगा। बस यही घूम रहा था उसके दिमाग में। उसकी बेसब्र और उत्तेजित आँखें अपनी बहन के हाथों पर टिकी हुई थी। चाहे वो उसकी बड़ी बहन क्यों ना हो, मगर इस वक्त वो सब भूल चुका था। वो अब बस नेहा की प्यारी और सेक्सी गाण्ड देखना चाहता था। वो इसके लिए कुछ भी कर सकता था।
Reply
01-30-2021, 12:19 PM,
#26
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
समर के दिल की धड़कनें बुलेट ट्रेन से भी तेज चल रही थी। मैं अपनी बहन की गाण्ड देलूँगा, मैं अपनी बहन की गाण्ड देखूगा। बस यही घूम रहा था उसके दिमाग में। उसकी बेसब्र और उत्तेजित आँखें अपनी बहन के हाथों पर टिकी हुई थी। चाहे वो उसकी बड़ी बहन क्यों ना हो, मगर इस वक्त वो सब भूल चुका था। वो अब बस नेहा की प्यारी और सेक्सी गाण्ड देखना चाहता था। वो इसके लिए कुछ भी कर सकता था।

और नेहा इसी चीज का फायदा उठाने वाली थी। नेहा का दिमाग बहुत शातिर था। वो सेक्स का मजा लेना चाहती थी। वो अपने जिश्म का प्रदर्शन करना चाहती थी। मगर इतनी आसानी से नहीं। वो भी अपने छोटे भाई को तो बिल्कल नहीं। अपने छोटे भाई को तो वो अपना सेक्स टाय बनाना चाहती थी। अपने वश में करना चाहती थी। नेहा अपनी शार्ट को पकड़े हुई थी। समर की सांसें अटकी हुई थी। मगर वो शार्टस नीचे नहीं हुई।

समर की सांसें उलझी ही रह गई।

नेहा मन में- “ओहह... मैं अपने छोटे भाई को अपनी गाण्ड दिखाने जा रही हँ.."

नेहा ने नाटक स्टार्ट किया- “समर, ना चाहते हुए भी शर्म आ रही है। अब समझ में आया की तुझे इतनी शर्म क्यों आ रही थी। आखीरकार तू मेरा छोटा भाई है। तू मेरे सामने इतना शर्मा रहा था। और मुझे देख, कैसे बेशर्मों की तरह तेरे सामने अंग प्रदर्शन कर रही हैं। क्या हो गया है मझे?"

समर का दिल तो जैसे बैठ सा गया। दीदी को भी अभी ही होश में आना था। बस कुछ ही पल बचे थे, और दीदी की गाण्ड मेरी आँखों के सामने नंगी होती। मैं भी असल जिंदगी में एक गाण्ड देख लेता। समर को इतना बुरा लगा। जैसे कोई बहुत बड़ा मौका उसके हाथ से निकल गया था।

नेहा ने अपने हाथ शार्टस से बाहर निकाल दिए- “और वैसे भी तूने भी कहां कहा की तू मेरी गाण्ड देखना चाहता है। मैं फालतू में कर रही हूँ..." नेहा बोली।

समर- “दीदी... मैं......” समर ने कुछ बोलने की कोशिश की।

नेहा- “क्या?" नेहा बोली।

समर- “दीदी... मैं... वो..."

नेहा- “जो बोलना है ढंग से बोल समर..."

समर- “दीदी, मैं आपकी गाण्ड देखना चाहता हूँ..” समर को विश्वास नहीं हुआ की उसमें इतनी हिमत कैसे आ गई?

नेहा भी अपने छोटे भाई के मुंह से ये शब्द सुनकर उतनी ही हैरान थी। मगर ये शब्द समर का दिमाग नहीं, उसका लण्ड उससे बुलवा रहा था।

नेहा- “ओह्ह... वाह... मुझे लगा नहीं था की तू ऐसा कुछ बोल सकता है। मगर अच्छा है समर, एक लड़का किसी लड़की की गाण्ड देखने के मौके को कैसे गवां सकता है?” नेहा मन ही मन हँस रही थी- “मगर मुझे पता नहीं क्यों शर्म आ रही है..."

समर को लगा जैसे सब खतम हो गया हो। अब ना तो दीदी की गाण्ड देखने को मिलेगी और दीदी को ये बोलकर मैंने अपने आपको और मुश्किल में डाल दिया। समर का लण्ड बैठने लग गया था।
Reply
01-30-2021, 12:19 PM,
#27
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
समर को लगा जैसे सब खतम हो गया हो। अब ना तो दीदी की गाण्ड देखने को मिलेगी और दीदी को ये बोलकर मैंने अपने आपको और मुश्किल में डाल दिया। समर का लण्ड बैठने लग गया था।

नेहा अभी भी अपना मुँह मोड़कर खड़ी हुई थी, कहा- “एक काम हो सकता है... क्योंकी मैं तुझे अपनी गाण्ड दिखा रही हूँ, तो तुझे भी इसके बदले में अपना कुछ दिखाना होगा.."

समर का लण्ड फिर से साँस लेने लगा- “क्या दीदी?"

नेहा- “क्या होता है लड़कों के पास समर?" नेहा ने कहा- “लण्ड.."

समर के कान खड़े हो गये।

नेहा- "तू मुझे अपना लण्ड दिखा। मैं तुझे अपनी गाण्ड दिखाऊँगी। फिर दोनों में से किसी को शर्म नहीं आयेगी.." नेहा ने शर्त रखी- “बोल मंजूर है?"

अब ये समर के लिए मुश्किल सवाल था। मगर उसके दिमाग और लण्ड में जो हवस झूम रही थी उसने समर को अपने काबू में कर लिया था। वो तो अपनी दीदी की गाण्ड देखने चाहता था। उसके लिए वो कुछ भी कर सकता था।

नेहा- “मंजूर है समर?"

समर ने एक लंबी साँस भरी- “हाँ... दीदी, मंजूर है...”

नेहा का मन तो जैसे नाच उठा, और चूत भी खिल गई। नेहा बोली- “बहत अच्छे समर... मगर मैं पहले तेरा लण्ड देदूंगी, फिर तुझे गाण्ड दिखाऊँगी। ठीक है?"

समर को थोड़ा अजब लगा। मगर वो मान गया। उसे तो बस अपनी दीदी की गाण्ड नजर आ रही थी।

नेहा- “ओके.. तो तेरा लण्ड बाहर है ना?" नेहा ने पूछा।

समर- “हाँ... दीदी..” समर ने अपने लण्ड की तरफ देखा जो फिर से खड़ा हो गया था।

नेहा की चूत बेचैन हो रही थी- “गुड.. तो मैं पीछे मुइँ?"

समर ने हिमत इकट्ठा की, और कहा- “हाँ... हाँ दीदी..”

नेहा की बुर उत्तेजना के मारे फूल गई थी। उसको अपनी जिंदगी का पहला लण्ड दिखने वाला था। नेहा और समर, भाई और बहन, दोनों की सांसें भाग रही थी- “ओके... मैं मुड़ रही हूँ... 1-दो-तीन..” और एकदम से नेहा मुड़ गई।
Reply
01-30-2021, 12:19 PM,
#28
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
नेहा की बुर उत्तेजना के मारे फूल गई थी। उसको अपनी जिंदगी का पहला लण्ड दिखने वाला था। नेहा और समर, भाई और बहन, दोनों की सांसें भाग रही थी- “ओके... मैं मुड़ रही हूँ... 1-दो-तीन..” और एकदम से नेहा मुड़ गई।

नेहा की आँखें और उसका मुँह जितना बड़ा खुल सकता था उतना बड़ा खुल गया। उसकी नस-नस में बिजली सी दौड़ गई, रोंगटे खड़े हो गये, चूत हवस के सागर में डूब गई, निपल्स इतने सख्त हो गये की उनमें दर्द होने लगा। हाँ... उसकी आँखों के सामने बस 5 फूट की दूरी पर एक लण्ड था। एक अच्छा खासा तगड़ा फुदकता लण्ड,

अपनी पूरी शान से खड़ा हुआ लण्ड, उसके अपने भाई का लण्ड।

समर की भी नेहा की तरह साँस अटकी हुई थी। उसके मुँह पे शर्म और उत्तेजना दोनों साफ नजर आ रही थी। वो अपनी बहन को अपना लण्ड दिखा रहा था। उसने सपने में भी नहीं सोचा था की कभी ऐसा दिन भी आयेगा उसकी जिंदगी में। मगर वो दिन आ गया था, जब भाई बहन के रिश्ते के नियम बदल दिए जायेंगे। समर अपनी दीदी के रिएक्सन को देख रहा था। उससे पता नहीं था की अब आगे क्या होगा?

नेहा ने कुछ मिनटों तक कुछ नहीं बोला। वो बस टकटकी लगाये अपने छोटे भाई के बड़े लण्ड को निहार रही थी। एक असली लण्ड की तस्वीर को अपने दिमाग में कैद कर रही थी। पूरे कमरे में सन्नाटा था। मानो समय रुक गया हो।

कुछ पलों बाद नेहा ने आखीरकार कुछ कहा- “ओहह... माई गोड... आई कान्ट बिलीव दिस... तू तो कहीं से भी छोटा नहीं रह गया है समर..."

समर को थोड़ा गर्व महसूस हुआ। उसकी बहन उसके लण्ड की तारीफ कर रही थी। इस प्रदर्शन से समर का लण्ड और भी ज्यादा उताजित हो गया था। नेहा थोड़ा आगे बढ़ी। समर को थोड़ा अजब लगने लगा। उसकी बहन उसके सामने बेड पे आकर बैठ गई। अब लण्ड नेहा से बस कुछ ही इंच की दूरी पर था।

नेहा की चूत में तो मानो ज्वालामुखी फट रहा था। मन कर रहा था की बस अपने कपड़े फाड़कर चूत में उंगलियां घुसा दे। मगर वो खुद पे काबू कर रही थी। उसने पूछा- “वाउ... कितना लंबा है तेरा लण्ड?"

समर ने भी बता ही दिया- “स्-स-साढ़े पांच इंच, दीदी..."

नेहा- वाह... बहुत सुंदर है तेरा लण्ड समर... कितना प्यारा... बस थोड़ा साफ रखा कर इसे." नेहा ने उसकी झांट के बालों की तरफ इशारा करते हुए कहा।

समर शर्म से तिलमिला गया। मगर अपनी बहन के मुँह से अपने लण्ड की तारीफ सुनकर उत्तेजित भी बहुत हुआ।

नेहा- “ओहह... ये क्या निकल रहा है इसमें से समर? ये कम तो नहीं है, ये तो प्री-कम है ना?"

समर को लगा की उसकी दीदी इन चीजो के बारे में कितना जानती है- “हाँ दीदी..” वो बोला।

नेहा- “हम्म... बहुत सेक्सी लग रहा है. पता नहीं इसका टेस्ट कैसा होता होगा?"

समर को लगा उसका लण्ड उसी वक्त झड़ जायेगा। उसकी दीदी उसके प्री-कम के टेस्ट के बारे में सोच रही थी।

नेहा- “समर, मुझे दिखा ना तू मूठ कैसे मारता है?" नेहा ने एक प्यारा सा चेहरा बनाते हुए कहा- “प्लीज.” ये कहते हुए उसने अपनी बांहों को ऐसे मिलाया जिससे उसकी चूचियों की बड़ी सी क्लीवेज दिखने लगी।
Reply
01-30-2021, 12:19 PM,
#29
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
समर को लगा उसका लण्ड उसी वक्त झड़ जायेगा। उसकी दीदी उसके प्री-कम के टेस्ट के बारे में सोच रही थी।

नेहा- “समर, मुझे दिखा ना तू मूठ कैसे मारता है?" नेहा ने एक प्यारा सा चेहरा बनाते हुए कहा- “प्लीज.” ये कहते हुए उसने अपनी बांहों को ऐसे मिलाया जिससे उसकी चूचियों की बड़ी सी क्लीवेज दिखने लगी।

समर को तो बस जैसे जन्नत मिल गई हो। उसका हाथ एक पल में लण्ड तक चला गया और वो उसे सहलाने लगा। इतने पास से ये दृश्य देखकर नेहा के बदन में हवस की ऐसी आग उठी जैसी कभी ना उठी हो। वो नेहा जिसने आज तक अपने सेक्स इंटरेस्ट को अपने ढेरों बायफ्रेंडों से बचाकर रखा था, आज वो नेहा सब कुछ भूलकर सेक्स के सागर में डूबना चाहती थी, लण्ड को देखना चाहती थी, छूना चाहती थी, चखना चाहती थी।

उसका एक हाथ ना जाने कैसे अपने आप उसकी चूत तक पहुँच गया। वो शार्टस के ऊपर से ही अपनी चूत को छूने लगी, और कहा- “हाँ... समर, मार मूठ। दिखा मुझे अपने लण्ड का जलवा..”

समर ये दृश्य देखकर और बावला हो गया। दीदी मेरे सामने अपनी चूत छू रही है। ये कैसा सपना है? जैसा भी है बहत हाट है। समर पागलों की तरह अपने लण्ड को हिलाने लगा। नेहा अपने भाई के हाथ से ऊपर-नीचे हिलते उसके लण्ड को देख रही थी। और उसी तरह अपने हाथ को अपनी चूत पे फिरा रही थी। उसपे उत्तेजना छा रही थी।

नेहा- “समर, आई वांट टु टच इट। मुझे तेरा लण्ड छूना है..”

समर का दिमाग और लण्ड दोनों हिल गये।

नेहा- “समर, प्लीज... आई वांट टु टच युवर काक। मना मत करियो..."

नेहा की खूबसूरत आँखें, उसके चेहरे पे बिखरे बाल, उन छोटे कपड़ों से ढका उसका अप्सरा जैसा बदन, और अपनी गीली चूत पे अपना हाथ फेरते हए समर की आँखों में आँखें डालकर ये कहना। समर ने अपने सपनों में भी इतना गरम सीन नहीं देख था।

नेहा- "प्लीज समर... मैं मारूं तेरा मूठ... अपने हाथों से..." नेहा बोली। वो बेताब हुई जा रही थी।

समर के लिए तो ये सपने जैसा था। उसकी बहन उसे हैंडजाब देना चाहती थी। आज तक किसी लड़की ने उसको छुआ नहीं था, लण्ड छूना तो बहुत दूर की बात है। मगर आज उसका लण्ड छूने के लिए दुनियां की सबसे सेक्सी लड़की बेताब हुई जा रही थी। बात बस ये थी की वो लड़की उसकी अपनी बड़ी बहन थी।

नेहा- “समर... मैं पकड़ इसे? प्लीज.." नेहा ने फिर रिक्वेस्ट की।

समर- “ओके ओके... दीदी। जैसा आप ठीक समझें.” समर ने आखीरकार अपना मुंह खोला।

नेहा की आँखों में चमक आ गई, और उसकी चूत में भी। उसने अपनी चूत से अपना हाथ हटाया और धीरे-धीरे अपने दोनों हाथ समर के लण्ड की ओर बढ़ाये। दोनों भाई बहन इस पल के लिए बेताब थे। जब उन दोनों की स्किन पहली बार एक दूसरे को छयेगी। समर तो उत्तेजना से तड़पने लगा। नेहा की एक उंगली समर के लण्ड पे पड़ी।

Reply

01-30-2021, 12:19 PM,
#30
RE: Desi Porn Stories नेहा और उसका शैतान दिमाग
"अया...” समर उत्तेजना में बोला।

नेहा ने अपना हाथ समर के लण्ड पर फेरा। उसकी चूत इतनी गीली हो चुकी थी की शार्टस के होते हुए भी उसकी बेडशीट तक पानी आ गया था- “वाउ...” नेहा ने सेक्सी और उत्तेजित आवाज में कहा- “कितना गरम और सख्त है ये...”

समर की हालत खराब होने लगी। नेहा ने दोनों हाथों से उससे पकड़ लिया।

समर- “एम्म ओह्ह... दीदी..” समर फिर हँसकर बोला।

नेहा का एक सपना तो पूरा हो गया था। वो एक लण्ड को पकड़े हुए थी, एक जीते जागते लण्ड को। उसके निप्पल उसकी पतली टाप से बाहर पोक कर रहे थे, और समर ये देख रहा था। नेहा ने धीरे से अपने हाथ ऊपर नीचे करे।

समर- “अया... दीदी... ना... समर ने नेहा को सावधान किया।

नेहा ने बस थोड़ा और लण्ड को हिलाया की।

समर- “दीदी... नहीं... ओह्ह... आआआ... आअहह... हाई... ऊऊओ..” जितनी तेजी से समर के मुंह से ये शब्द निकले उतनी ही तेजी से उसके लण्ड से एक के बाद एक वीर्य की धारें उछलकर नेहा की ओर उड़ने लगी।

नेहा की आँखें फटी रह गईं। एक के बाद एक धारें, कभी उसके गले, कभी उसकी छाती पे गिरती चली गई। समर अपने आपको कंट्रोल नहीं कर पाया था। अपनी बहन के हाथों का स्पर्श पाते ही वो झड़ गया था, और नेहा अपने भाई के क्रीम में सन गई थी।

नेहा तो ये देखकर हैरान रह गई थी। इतना सारा क्रीम निकला था समर के लण्ड से, और सब उसके ऊपर आकर गिरा। वो तो ये देखकर और बावली हो गई।
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Lightbulb Maa ki Chudai ये कैसा संजोग माँ बेटे का sexstories 28 442,800 Yesterday, 01:46 AM
Last Post: Prakash yadav
Thumbs Up MmsBee कोई तो रोक लो desiaks 273 659,349 05-13-2021, 07:43 PM
Last Post: vishal123
Lightbulb Thriller Sex Kahani - मिस्टर चैलेंज desiaks 139 71,431 05-12-2021, 08:39 PM
Last Post: Burchatu
  पारिवारिक चुदाई की कहानी Sonaligupta678 27 804,529 05-11-2021, 09:58 PM
Last Post: PremAditya
Star Rishton May chudai परिवार में चुदाई की गाथा desiaks 21 208,303 05-11-2021, 09:39 PM
Last Post: PremAditya
Thumbs Up bahan sex kahani ऋतू दीदी desiaks 95 69,923 05-11-2021, 09:02 PM
Last Post: PremAditya
Thumbs Up Desi Porn Kahani ज़िंदगी भी अजीब होती है sexstories 439 909,229 05-11-2021, 08:32 PM
Last Post: deeppreeti
Thumbs Up XXX Kahani जोरू का गुलाम या जे के जी desiaks 256 55,415 05-06-2021, 03:44 PM
Last Post: desiaks
Thumbs Up Porn Story गुरुजी के आश्रम में रश्मि के जलवे sexstories 92 551,631 05-05-2021, 08:59 PM
Last Post: deeppreeti
Lightbulb Kamukta kahani कीमत वसूल desiaks 130 339,543 05-04-2021, 06:03 PM
Last Post: poonam.sachdeva.11



Users browsing this thread: 2 Guest(s)